Connect with us

अपना शहर

पिता का इलाज कराने आये सीआरपीएफ व आईटीबीपी के जवानों की हॉस्पिटल प्रशासन ने की पिटाई

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला केके हॉस्पिटल एसपी ऑफिस के सामने का है, जहां पर सीआरपीएफ और आईटीबीपी का जवान अपने रिटायर्ड एयर फोर्स के पिता का इलाज कराने 8 अप्रैल को आया था। इलाज के दौरान फौजी जवानों के पिता की मौत हो गई। फौजी जवानों का आरोप है कि डॉक्टर के स्थान पर नर्सिंग स्टाफ इलाज कर रहा था, जिससे उनके पिता की मृत्यु हो गई । इतना कहने के बाद ही हॉस्पिटल प्रशासन और हॉस्पिटल के मालिक के के सिंह ने दोनों फौजी जवानों को हॉस्पिटल के अंदर बंद कर पीटा जिससे फौजी जवानों को गंभीर चोटें भी आई।

एसएसपी ऑफिस के सामने संचालित हो रहा केके हॉस्पिटल अक्सर विवादों के घेरे में रहता है। कई बार तो अस्पताल सीज भी हो चुका है। अस्पताल सीज होने के साथ ही अस्पताल के मालिक के के सिंह व उनकी पत्नी जो डॉक्टर हैं, जेल भी जा चुकी है । लेकिन फिर भी पैसे और रसूख के दम पर मरीजों के जान के साथ खिलवाड़ करना बंद नहीं कर रहा हैं केके हॉस्पिटल । आपको बताते चलें कि फौजी जवान अपने पिता का हॉस्पिटल में इलाज के दौरान लापरवाही के कारण जवानों के पिता की मौत हो गई।

यह भी पढ़े: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात में डाला वोट, लोगों से की बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील…

जिससे जवानों ने अस्पताल पर लापरवाही के साथ हॉस्पिटल के स्टाफ ने हॉस्पिटल का दरवाजा बंद कर दोनों जवानों के साथ जवानों के भांजे की जमकर पिटाई की जिससे जवानों को चोटे आई जवानों का कहना है, कि वह अपना घर-परिवार छोड़कर देश की रक्षा के लिए सदैव तैयार रहते हैं। लेकिन देश के अंदर जवानों के साथ ऐसा बर्ताव हो रहा है इससे जवानों का मनोबल भी टूटता है। शासन प्रशासन को अस्पताल और डॉक्टर के ऊपर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए ताकि अन्य को नुकसान ना उठाना पड़े।

http://www.satyodaya.com

अपना शहर

कोरोना दूर रखेंगे मास्क-सैनिटाइजर, इसलिए इन्हें अपने पास रखें: नीरज सिंह

Published

on

भाजपा नेता ने राजधानी में मास्क व सैनिटाइजर का वितरण लोगों को किया जागरूक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब तक यूपी में कोरोना के एक लाख से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। प्रदेश में मरीजों का कुल आंकड़ा 1 लाख 35 हजार से ज्यादा हो चुका है। जबकि इस बीमारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। वहीं अभी एक दिन पहले यानी बीते मंगलवार को राजधानी लखनऊ में भी एक दिन में कोरोना के 831 रिकॉर्ड मामले सामने आए। जिसके बाद अब भाजपा के युवा नेता नीरज सिंह ने कहा है कि कोरोना से बचने के लिए केवल मास्क और सैनिटाइजर ही एकमात्र विकल्प है।

लखनऊ में कोरोना के लगातार बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए भाजपा नेता नीरज सिंह ने आज राजधानी के हनुमान सेतु मंदिर से मास्क और सैनिटाइजर वितरित करने के महाअभियान की शुरुआत की है।

श्री सिंह ने बताया कि जन्माष्टमी के मौके पर जिस तरह से श्रद्धालुओं की भीड़ एकत्र हो रही है, उसे देखते हुए लोगों के बीच मास्क और सैनिटाइजर वितरित किए गए। नीरज सिंह ने कोरोना महामारी से देशवासियों को जल्द से जल्द छुटकारा दिलाने के लिए मंदिर में प्रार्थना भी की।

यह भी पढ़ें-कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

इस मौके पर नीरज सिंह के अलावा लखनऊ से सांसद और देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के प्रतिनिधि दिवाकर त्रिपाठी, भाजपा लखनऊ महानगर उपाध्यक्ष आनंद द्विवेदी, पूर्व पार्षद प्रमोद सिंह, टिंकू सोनकर, किसान मोर्चा के प्रमोद सिंह, पार्षद राघव राम तिवारी समेत कई लोग मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ने लखनऊ को 21 दिन के लिए लाॅकडाउन करने की उठाई मांग

Published

on

सीएम योगी को लिखा पत्र, कहा, लापरवाही अधिकारियों के खिलाफ भी करें कार्रवाई

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष लखनऊ राम निवास यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर लखनऊ जनपद को तीन सप्ताह के लिए लाॅकडाउन करने की मांग की है। साथ ही कोरोना संक्रमण के प्रति लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। भाजपा नेता ने अपने पत्र में लिखा कि राजधानी में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले कुछ दिनों में लखनऊ कोरोना संक्रमण का सबसे बड़ा केन्द्र बनता जा रहा है। जनपद में अब तक बड़ी संख्या में लोगों की जान भी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें-पीस पार्टी के अध्यक्ष डाॅ. अय्यूब अंसारी पर लखनऊ पुलिस ने लगाया रासुका

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने कहा कि राजधानी में तैनात अफसर भी कोरोना संक्रमण के प्रति लापरवाही बरत रहे हैं। जिसके चलते कोरोना महामारी बनता जा रहा है। ऐसे अधिकारियों को चिन्हित कर उन्हें राजधानी से बाहर किया जाए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

लखनऊ: शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अफसरों की सुस्ती पर बिफरे जिलाधिकारी

Published

on

कहा, कोरोना मरीज मिलते ही तत्काल उस इलाके की कराएं बैरिकेडिंग व सैनिटाजेशन

लखनऊ। पिछले कुछ दिनों से राजधानी में कोरोना संक्रमण की गंभीर स्थिति के बावजूद बरती जा रही लापरवाही पर जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने सख्त नाराजगी जताई है। रविवार को स्मार्ट सिटी कार्यालय में एक बैठक कर जिलाधिकारी ने नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि शहर के किसी भी इलाके में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने पर तत्काल उस क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित कर उसी समय बैरिकेडिंग कराई जाए। एक केस पाये जाने पर 100 मीटर और एक से अधिक रोगी मिलने पर 200 मीटर के क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन बनाकर बैरिकेडिंग कराएं।

डीएम ने कहा कि सोमवार से अभियान चलाकर सभी क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन कराया जाए। प्रत्येक घर पर एसएएन व दिनांक लिखकर सेनेटाइजेशन किया जाएगा। जिलाधिकारी ने सोमवार को स्थानीय पार्षद की अध्यक्षता में मोहल्ला निगरानी समितियों की वार्डवार बैठक करने का निर्देश दिया है। डीएम ने बताया कि प्रत्येक निगरानी समिति को पल्स ऑक्सीमीटर व नाॅन कान्टैक्ट इन्फ्रारेड थर्मोमीटर दिया गया है। समिति मोहल्ले में आइसोलेशन में रहे सभी व्यक्तियों की जांच करेगी। उनके घर पर एक फ्लायर चस्पा जायेगा।

यह भी पढ़ें-राज्यपाल ने ‘सचिवालय दर्पण-2020’ व ‘विज्ञान की नई दिशाएं’ का किया विमोचन

इसके अतिरिक्त समिति माइक्रोप्लान बनाकर अपने वार्ड में सभी घरों में सर्दी-जुखाम-बुखार से पीड़ित व्यक्तियों, श्वास रोगियों, गर्भवती महिलाओं और 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों की लिस्ट तैयार करेगी। शहर के प्रमुख 50 क्षेत्र व चैराहों पर माइक लगाकर बीमारी से बचाव के उपाय करने का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। बैठक में नगर आयुक्त डाॅ. इन्द्रमणि त्रिपाठी, सभी अपर नगर आयुक्त, नगर अभियंता, जोनल अधिकारी व अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

चल फेरी वालों को मिलेगा पीएम स्वनिधि योजना का लाभ

जिलाधिकारी ने सभी जोनल अधिकारियों को उनके क्षेत्र में चल फेरी का कार्य करने वाले व्यक्तियों का सर्वे करने को कहा है। ताकि उन्हें पीएम स्वनिधि योजना का लाभ पहुंचाया जा सके। प्रत्येक जोन में 500 चल फेरी का कार्य करने वाले व्यक्तियों का पंजीकृत करने का लक्ष्य दिया गया।

न बैरिकेडिंग न कन्टेनमेंट जोन की जानकारी

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से राजधानी लखनऊ में भारी संख्या में कोरोना मरीज मिल रहे हैं। लेकिन किसी भी इलाके में न तो बैरिकेडिंग की जा रही है और न ही कन्टेनमेंट जोन घोषित कर संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर अब शहर के कन्टेनमेंट जोन की जानकारी भी नहीं अपडेट की जा रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 13, 2020, 6:51 am
Rain
Rain
27°C
real feel: 33°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:07 am
sunset: 6:15 pm
 

Recent Posts

Trending