Connect with us

अपना शहर

राजधानी में डॉक्टरों की हड़ताल का असर दिखना शुरू, हंगामा करते हुए गेट पर डाला ताला…

Published

on

लखनऊ। पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं बंगाल सहित देश के कई राज्यों में डॉक्टरों के साथ हुई इस हिंसा के विरोध में डॉक्टरों ने हड़ताल और प्रदर्शन किया था। डॉक्टरों की हड़ताल में मरीज और उनके परिजनों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं अस्पताल के मरीजों को अभी भी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि एक बार फिर डॉक्टरों ने देशव्यापी हड़ताल की घोषणा की है। वहीं लखनऊ में भी डॉक्टरों की हड़ताल का असर दिखना शुरू हो गया है, क्योंकि केजीएमयू के ट्रामा सेंटर की इमरजेंसी में भी इलाज नहीं हो पा रहा है। आपको बता दें कि इमरजेंसी के बाहर स्ट्रेचर पर मरीजों की लंबी कतारें लगी हुई है, जिससे मरीजों और उनके परिजनों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ओपीडी में आने वाले गंभीर मरीज ट्रामा सेंटर  पहुंच रहें हैं।

ये भी पढ़े: सांसद के रूप में पीएम नरेंद्र मोदी आज सबसे पहले ग्रहण करेंगे शपथ…

ट्रामा सेंटर के बाहर से लेकर अंदर तक मरीजों का तांता लगा हुआ है। वहीं केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थान स्ट्राइक पर चल रहें है। करणवश बलरामपुर अस्पताल, सिविल अस्पताल और लोकबंधु की ओपीडी चल रही है। इसके साथ ही केजीएमयू और पीजीआई में जूनियर रेजिडेंट हंगामें पर उतारू हो गए है। वहीं न्यू ओपीडी में रेजिडेंट डॉक्टरों ने हंगामा करते हुए गेट पर ताला दाल दिया है और वह किसी को भी अंदर नहीं जाने दे रहें है।

जानकारी के मुताबिक कुलपति, प्रॉक्टर और सीएमएस की भी सुनी को डॉक्टर अनसुना कर रहें है। वहीं जूनियर रेजिडेंट्स डॉक्टर पीजीआई की ओपीडी में ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर जबरदस्त हंगामा कर रहें है, जिससे मरीजों को परेशानियां उठानी पड़ रही है। बता दें कि बंगाल में हुई डॉक्टरों के साथ हिंसा के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक दिन की हड़ताल की घोषणा की है। फिलहाल इमरजेंसी सेवाओं पर इसका असर नहीं पड़ेगा। इस हड़ताल की वजह से दिल्ली में सोमवार को करीब 80 फीसदी ओपीडी सेवाएं बंद रहेंगी।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

सिविल अस्पताल में स्ट्रेचर नहीं मिलने पर मरीज को अपनी गोद में ले जा रहे तीमारदार

Published

on

लखनऊ।  सिविल अस्पताल में मंगलवार को मरीज को लेकर आए एक तीमारदार को स्ट्रेचर के लिए अस्पताल परिसर में इधर से उधर भटकना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि स्ट्रेचर न मिलने पर एक मां अपने बच्चे को नाक में नली और यूरिन थैली के साथ गोद में लेकर सिटी स्कैन कराने अस्पताल पहुंची।

ये भी पढ़ें: सिविल अस्पताल में हटाए गए 17 संविदा कर्मचारी, मरीज परेशान

देखने वाली यह है कि सिविल अस्पताल में क्रिटिकल कंडीशन के मरीजों को भी स्ट्रेचर की सुविधा नहीं मिल पा रही है। तीमारदार अपनी गोद में मरीजों को इलाज के लिए ले जा रहें है, जिससे कि सिविल अस्पताल में अव्यस्थाओं के चलते मरीजों व उनके तीमारदारों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। यह सब देख ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सिविल अस्पताल के डॉक्टरों व अस्कीपताल प्रशासन की मरीज़ों के प्रति संवेदना खत्म होती नजर आ रही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

दादा मियां के उर्स का आगाज 20 को, एसपी पूर्वी ने सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा

Published

on

लखनऊ। माल अवेन्यु स्थित शहर की प्रसिद्ध दादा मियां दरगाह पर प्रतिवर्ष लगने वाले उर्स का आगाज बुधवार को होगा। उर्स की सभी तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं। चार दिन लगने वाले इस उर्स में प्रदेश भर से जायरीन आते हैं। दादा मियां का 112वां उर्स 20 से 24 नवंबर तक चलेगा। मंगलवार को एसपी पूर्वी सुरेश चंद्रावत ने दरगाह पर पहुंच कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। एसपी पूर्वी ने दादा मियां को पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद दरगाह के प्रबंधकों से उर्स संबंधी अन्य जानकारियां भी ली।

दरगाह के सज्जादा नशीन सबाहत हसन शाह ने प्रेस वार्ता कर बताया कि उर्स में मिलाद शरीफ, तरही मुशायरा, सरकारी चादर, पांचवा आलमी सेमिनार जैसे कार्यक्रम होंगे। सज्जादा नशीन ने बताया कि 24 नवंबर को गुसल शरीफ, गैर तरही मुशायरा के साथ उर्स का समापन होगा। उर्स में कई राजनीतिक हस्तियां भी शामिल होंगी। हर बार की तरह इस बार मजार पर सरकारी चादर लखनऊ के जिलाधिकारी चढ़ाएंगे।

उर्स में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी चादर चढ़ाएंगी। सज्जादा नशीन ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी न्यौता भेजा गया है। दरगाह के प्रबंधकों ने बताया कि उर्स के लिए प्रशासन की तरफ से हमेशा सहयोग मिलता रहा है। इस बार भी प्रशासन का पूरा सहयोग और मदद मिल रही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

यूनीसेफ के साथ मिलकर लखनऊ‌ मेट्रो चला रहा है जागरुकता अभियान

Published

on

लखनऊ: लखनऊ मेट्रो यूनिसेफ के साथ जुड़कर बच्चों के स्वास्थ्य, सुरक्षा और शैक्षिक अधिकारों के बारे में जागरूकता अभियान चला रहा है। हजरतगंज मेट्रो स्टेशन पर एक प्रदर्शनी के साथ-साथ मेट्रो ट्रेनों में बाल अधिकारों के बारे में जागरूकता के लिए वीडियो चलाई जा रही है।

यह भी पढ़ें:शिवपाल सपा से गठबंधन को तैयार, कहा अखिलेश मान जाएंगे तो 2022 में बनाएंगे सरकार

प्रदर्शनी का अंतिम दिन 20 नवंबर 2019 है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विश्व बाल दिवस के रूप में मनाया जायेगा। बाल अधिकारों पर कन्वेंशन के बारे में यात्रियों को जागरूक करने के लिए हजरतगंज, विश्व विद्यालय, चारबाग, ट्रांसपोर्ट नगर और भूतनाथ मेट्रो स्टेशन पर पांच फोटो बूथ बनाए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 21, 2019, 12:31 am
Fog
Fog
17°C
real feel: 18°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 87%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:00 am
sunset: 4:44 pm
 

Recent Posts

Trending