Connect with us

अपना शहर

आर्ट्स कॉलेज में गूंजे विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारे, पीने के पानी से लेकर महिला वाशरूम तक का भी नहीं है उचित प्रबंध

Published

on

छात्राओं के लिए नहीं है हॉस्टल

लखनऊ‘लखनऊ विश्वविद्यालय’, लखनऊ के लिए ही नहीं बल्कि आस-पास के पढ़ने वाले बच्चों के लिए उम्मीद की किरण है। दूर-दराज के छोटे-बड़े शहरों से बच्चे यहां पढ़ने आते हैं।पर राज्य का शिक्षा केंद्र लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं अव्यवस्थाओं की मार झेल रहे हैं।इन्हीं अव्यवस्थाओं के परेशान छात्र-छात्राओं ने आज विश्वविद्यालय के आर्ट्स कॉलेज में प्रदर्शन किया।

अपनी मूलभूत मांगों को लेकर भारी संख्या में इकठ्ठा हुए छात्र-छात्राओं ने नारेबाजी करने के साथ-साथ प्रधानाचार्या के कमरे का घेराव किया।मीडिया से बात करते हुए आर्ट्स कॉलेज के विद्यार्थियों ने बताया कि हॉस्टल में मूलभूत सुविधाएं जैसे की पीने का पानी, सैनिटेशन और पार्किंग व्यवस्था तक की सुविधा नहीं है।हर दूसरे-तीसरे कई बच्चे डिहाइड्रेशन के कारण बेहोश होते रहते हैं।छात्रों ने आरोप लगाया कि कई बार शिकायत करने के बाद भी प्रशासन इन कमियों का कोई समाधान नहीं निकाल रहा है।छात्रों ने आर्ट्स कॉलेज कैम्पस को सील करने की योजना बनायी है।अब तक छात्र कॉलेज परिसर के कई कमरों पर ताला लगा चुके हैं।

वहीं दूसरी ओर कैलाश छात्रावास में रह रही छात्राओं का कहना है कि लड़कों को कम-से-कम हॉस्टल उपलब्ध कराए गए हैं। थर्ड और फोर्थ इयर की छात्राओं का कहना है कि छात्राओं के लिए कोई अलग हॉस्टल निर्धारित नहीं किया गया है। कैलाश हॉस्टल में सीट्स बच जाने पर उन्हें जगह दे दी जाती है। उसमें भी सही सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई गयी है। छात्राओं के लिए वाशरूम का भी उचित प्रबंध नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें- पिछले 25 घंटों से जारी है गाढ़ा भंडार मालिक के घर पर छापेमारी, आयकर टीम को मिली कई ठोस जानकारी 

हाथों में तख्तियां लिए प्रशासन के खिलाफ नारे लगा रहे छात्र-छात्राओं का आक्रोश लगातार बढ़ता जा रहा है। प्रदर्शन कर रहे छात्रों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। जिसके बाद मामले को शांत कराने के लिए प्रधानाचार्य डॉक्टर रतन कुमार ने छात्र/छात्राओं से मुलाकात की है। जानकारी मिलने के बाद से मौके पर स्थानीय पुलिस टीम के साथ सीओ मौजूद हैं।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

मछली पकड़ने गए शिकारियों के जाल में फंसा मगरमच्छ, मचा हड़कंप…

Published

on

लखनऊ: राजधानी के इंदिरा नगर थाना क्षेत्र में सोमवार को उस वक्त लोगों के बीच हड़कंप मच गया, जब एक तालाब में मगरमच्छ निकलकर बाहर आ गया। जानकारी के मुताबिक रसूलपुर स्थित मछली के तालाब में मगरमच्छ निकला है। तालाब में मछली पकड़ने वाले एक शिकारी ने बताया कि उन लोगों ने जब मछली को पकड़ने के लिए जाल को तालाब में फेंका, जिसके बाद जाल को बाहर की ओर घसीटने पर वह भारी सा महसूस हुआ। जाल को बाहर लाने पर शिकारियों को उसमें से एक मगरमच्छ मिला। जिसको शिकारियों ने रस्सी की मदद से तालाब के किनारे बांध के रखा हुआ है।

ये भी पढ़ें: काशीवासियों पर चढ़ा मिट्टी के बर्तनों का जादू, बोतल और ग्लास आ रहे पसंद…

तालाब से निकलने हुए मगरमच्छ को देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है। घटना की सूचना लोगों ने आनन-फानन में वन विभाग को दी। लोगों के मुताबिक वन विभाग को सूचना देने पर अभी तक कोई भी मगरमच्छ को पकड़ने के लिए नहीं आया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

राजधानी में बढ़ा डेंगू का प्रकोप, बलरामपुर अस्पताल में प्रतिदिन पहुंच रहे 8 से 10 मरीज

Published

on

प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ। शहर में बदलते मौसम को देखते हुए डेंगू का प्रकोप भी बढ़ता नजर आ रहा है। ऐसे में अगर हम राजधानी के बलरामपुर अस्पताल की बात करें तो जनवरी से लेकर अब तक कुल 52 मरीजों की संख्या सामने आ चुकी है। जिसमें बच्चे ही नहीं बड़ों की इसमें संख्या अधिक देखने को मिल रही है। जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप है और लगातार साफ-सफाई के साथ ही कालोनियों में फॉगिंग करने के नगर निगम को निर्देश दिए जा रहे हैं।

वहीं आज सत्योदय मीडिया के संवादाता ने बलरामपुर अस्पताल के सीएमएस डॉक्टर हिमांशू चतुर्वेदी से बात की तो उन्होंने बताया कि अब तक बलरामपुर में जनवरी से लेकर अक्टूबर 2019 तक डेंगू के 52 मरीज सामने आ चुके हैं। जिसमें 29 बच्चे पाए गए हैं और 23 बड़े पाये गए हैं। जिनका उपचार किया गया और उसमें कुछ मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज कर दिए गये हैं। वहीं उन्होंने बताया कि अभी 10 अक्टूबर से लेकर 14 अक्टूबर तक 34 मरीज देखे गये हैं। जिनमें 0-13 उम्र के 12 मरीज पाये गये और 20 जवान मरीज पाये गये हैं।

वहीं लगातार डेंगू के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए डॉक्टरों द्वारा आये दिन लोगों से अपील की है कि लोगों को अपने आस-पास सफाई रखने के साथ ही खाने-पीने पर भी ध्यान देना चाहिए। उसके साथ लोगों को घरों में इस्तेमाल करने वाले कूलर व गमलों में पानी को इकट्ठा न होने दिया जाए। जिससे डेंगू से बचा जा सकता है। वहीं अगर बात की जाये तो डेंगू की शिकायत लखनऊ के साथ ही गैर जनपदों से भी आ रही है जिसके कारण डेंगू के मरीजों का आकड़ा काफी बढ़ता दिख रहा है।

ये भी पढ़े- BJP के चुनाव प्रचार वाली टी-शर्ट पहनकर किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

अभी कुछ दिनों पहले डेंगू मरीज पाए जाने वाले स्थानों में खदरा, कुर्सी रोड, मोहनलालगंज, तेलीबाग, गोमतीनगर, आट्र्स कॉलेज, बांग्ला बाजार, मल्हौर, चिनहट, विशालखंड, इंदिरानगर, विभवखंड, बड़ा पकरिया, तकरोही, विक्रांतखंड, मलिहाबाद, जानकीपुरम के साथ ही कई अन्य जगह भी शामिल हैं। जिसके बाद से ही इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन तथा स्वास्थ्य संबन्धित जानकारी भी दी गई। साथ ही उक्त क्षेत्रों में सघन फॉगिंग एवं व्यापक सफाई व्यवस्था कराने के लिए नगर निगम को निर्देश भी दे दिया गया है।

बताते चलें कि शिक्षा निदेशालय कॉलोनी समेत 31 घर व स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियां पाए जाने पर नोटिस भी जारी की गई है। जिसमें सीएमओ प्रवक्ता डॉ.योगेश रघुवंशी के मुताबिक फाइट द वाइट अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य विभागों की टीमों ने 1845 घरों तथा विभिन्न स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियों का सर्वेक्षण किया। जिनमें 31 घर स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियां मिलने पर उन्हें नोटिस भी दी गई है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

करवाचौथ कार्यक्रम में महिलाओं ने गीतों की धुन पर बिखेरे अपने जलवे…

Published

on

लखनऊ। रविवार को हजरतगंज में ‘इसी का नाम जिंदगी‘ ने करवाचौथ सेलिब्रेशन का आयोजन किया। इस कार्यक्रम का संचालन कविता शुक्ला ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत बॉलीवुड सिंगर अनुपमा राग, कविता शुक्ला, मधु अग्रवाल ने दीप प्रज्वलन करके की।

करवाचौथ कार्यक्रम में 70 से अधिक महिलाओं ने हिस्सा लिया। इस मौके पर महिलाओं ने सुहाग के गीत गाए और डांस किया। दीप्ति ने धोली तारो, मंझरी ने चूड़ी भी जिद पर, भावना श्रीवास्तव ने मेरे ढोलना सुन, कंचन ने पान खाए सैंया, हमारे गीत पर नृत्य किया गया। वहीं अनीता शर्मा, रूपाली गुप्ता, नीता शुक्ला, लीना रस्तोगी और दर्शिका ने सुहाग के गीत गाए। कार्यक्रम में दिव्या शुक्ला रुचि अग्रवाल आकांक्षा अवस्थी निर्णायक भूमिका में रहीं।

यह भी पढ़ें :- डांडिया नाइट पर फिल्मी गीतों की धुन पर थिरके छात्र-छात्राएं

‘इसी का नाम जिंदगी’ की अध्यक्ष कविता शुक्ला ने कहा कि जितनी भी महिलाओं ने हिस्सा लिया वह सब सुहागवती हैं। क्योंकि करवा सुहागवती और सौभाग्यवती महीलाओं के लिए होता है और जो हमारा लक्ष्य है, वह लाल ही है क्योंकि हिंदू धर्म में लाल रंग को मेन माना जाता है। हमने इसमें कंपटीशन डांस सिंगिंग का किया है। वह करवाचौथ से सम्बन्धित है। क्योंकि हमारे जितने गाने हैं वो पति सम्बन्धित हैं। जिससे हमारी सभ्यता और भारतीय संस्कृति को बढ़ावा मिल सके। वहीं डांस विनर शिल्पा बीनू, रीना सक्सेना, करवा क्वीन नेहा गुप्ता, माधवी सिंह, कंचन रस्तोगी, सिंगर विनर नीता शुक्ला मौजूद रहीं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 15, 2019, 11:56 am
Hazy sunshine
Hazy sunshine
31°C
real feel: 37°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 54%
wind speed: 1 m/s SSE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 5:35 am
sunset: 5:09 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending