Connect with us

अपना शहर

डेंगू की गलत रिपोर्ट देने पर दिव्यांश पैथोलॉजी का पंजीकरण निरस्त…

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ। राजधानी में डेंगू की गलत रिपोर्ट देकर इलाज के नाम पर मरीजों से वसूली की शिकायत पर स्वास्थ्य मंत्री की फटकार के बाद से विभाग के अफसरों की नींद टूट गई है। शहर के केशव नगर स्थित दिव्यांश पैथोलॉजी का पंजीकरण निरस्त होगा। इसके साथ ही उस पर कानूनी कार्यवाही के भी निर्देश दिए गए हैं। सीएमओ ने यह कार्यवाही एक मरीज द्वारा डेंगू की गलत रिपोर्ट दिए जाने व इलाज के नाम पर पैसे वसूलने की शिकायत के बाद की है।

सीएमओ के निर्देश पर स्टेट पैथोलॉजिस्ट डॉ. राजेश, डॉ. केपी त्रिपाठी एवं उनकी टीम ने दिव्यांश पैथोलॉजी का निरीक्षण किया गया। सीएमओ डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि पैथोलॉजी द्वारा डेंगू मरीजों की जांच एलाइजा विधि द्वारा रिपोर्ट दी जा रही थी। निरीक्षण के दौरान पैथोलॉजी में अफरा-तफरी मच गई। टीम के निरीक्षण में वहां एलाइजा विधि से जांच की कोई भी मशीन नहीं मिली। यहां तक कि कोई भी साक्ष्य एलाइजा विधि द्वारा जांच का उपलब्ध नहीं कराया गया। सीएमओ ने तत्काल दिव्यांश पैथोलॉजी का पंजीकरण निरस्त करने एवं कार्यवाही के निर्देश दे दिए हैं।

ये भी पढ़ें: पटना: डीजल चोरी करते पकड़ा गया युवक, भीड़ ने लाठी-डंडे से पीट-पीटकर की हत्या

ये था मामला

यह मामला 8 नवम्बर का बताया गया है। मड़ियांव के नौबस्ता निवासी शहनवाज अहमद (19) को तेज बुखार था। परिवारजन मरीज को लेकर निजी अस्पताल गए। डॉक्टर ने शहनवाज के खून की जांच लिखी। ऐसे में पांच नवंबर को दिव्यांश पैथोलॉजी पर ब्लड सैंपल भेजा गया। यहां रिपोर्ट में डेंगू की पुष्टि का दावा किया गया। डेंगू सुनकर परिवारजन घबरा गए। वहीं इलाज का पैसा अधिक खर्च होने पर मरीज शहनवाज को बलरामपुर अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती करा दिया।

वहीं इमरजेंसी में तैनात डॉक्टरों ने शहनवाज की ब्लड जांच कराई। इसमें टायफाइड की पुष्टि हुई। परिवारजनों ने मामले की शिकायत सीएमओ से की थी और आरोप लगाया था कि गलत रिपोर्ट से मरीज का इलाज भी गलत किया गया। परिवारजन ने पैथोलॉजी पर सख्त कार्रवाई की मांग की थी। पैथोलॉजी पर ब्लड की जांच में करीब 1600 रुपये वसूलने का आरोप लगा था। http://www.satyodaya.com

अपना शहर

राष्ट्रीय युवा उत्सव पर खर्च होंगे 25 करोड़, देश भर से कलाकार करेंगे प्रतिभाग

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 12 से 16 जनवरी तक होने जा रहे 23वें राष्ट्रीय युवा उत्सव- 2020 में देश के 28 राज्यों व 9 केन्द्र शासित प्रदेशों के कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। इस आयोजन के लिए कुल 25 करोड़ 14 लाख 83 हजार रुपए की रकम स्वीकृत हुई है। जिसमें से 6 करोड़ 30 लाख रुपए केन्द्र सरकार जबकि 18 करोड़ 84 लाख 83 हजार रुपए उत्तर प्रदेश सरकार खर्च करेगी। यह जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने मंगलवार को युवा उत्सव के आयोजन के संबंध में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित एक प्रेस वार्ता में दी। प्रेस वार्ता में ही राज्य मंत्री ने लखनऊ मंडलायुक्त मुकेश कुमार मेश्राम और जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के साथ युवा महोत्सव का पोस्टर भी लांच किया।

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए उपेन्द्र तिवारी ने कहा, राष्ट्रीय युवा उत्सव की तैयारियों की समीक्षा बैठक केन्द्रीय खेल व युवा कार्यक्रम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरेन रिजीजू की अध्यक्षता में हो चुकी है। साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम के आयोजन की समीक्षा कर रहे हैं। युवा उत्सव की तैयारियां तेजी से चल रहीं हैं। इसके सफल आयोजन से देश भर में यूपी की ओर से एक नया संदेश भी जाएगा। राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने बताया कि कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता केन्द्रीय मंत्री किरेन रिजीजू करेंगे।

यह भी पढ़ें-यूपीएमआरसी ने रॉबिनहुड आर्मी के साथ मिलकर जरूरतमंदों को बांटे गर्म कपड़े

उत्तर प्रदेश सरकार में खेल एवं युवा कल्याण मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि वह खुद इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि होंगे। युवा उत्सव का समापन 16 जनवरी को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल करेंगी। श्री तिवारी ने बताया कि इस बार के युवा उत्सव की ’फिट यूथ फिट इण्डिया’ व मैस्कॉट का नाम ’बन्धु’ है। युवा उत्सव में संस्कृति निदेशालय, लखनऊ की टीम सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेगी। सभी प्रदेशों व केन्द्र शासित प्रदेशों की प्रतिभागी टीमें सांस्कृतिक मार्च-पास्ट का प्रदर्शन करेंगी। विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजयी कलाकारों को पुरस्कार राशि, प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जाएगा।

विजेताओं के लिए पुरस्कार राशि

प्रतियोगी विधाओं की व्यक्तिगत श्रेणी की प्रतियोगिताओं के लिए प्रथम पुरस्कार रू. 30,000 रुपए, द्वितीय पुरस्कार में 20,000 रुपए और तृतीय पुरस्कार में 10,000 रुपए की रकम दी जाएगी। जबकि टीम श्रेणी की प्रतियोगिताओं में प्रथम पुरस्कार 1,50,000 रुपए, द्वितीय पुरस्कार 1,00,000 रुपए और तृतीय पुरस्कार 50,000 रुपए की नकद धनराशि प्रदान की जाएगी।

नामचीन युवा खिलाड़ी बढ़ाएंगे कार्यक्रम की शोभा

कार्यक्रम को भव्यता प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों से न्यूनतम 25 युवा प्रतिभागी, दो युवा आदर्श व कुल 28 राष्ट्रीय युवा पुरस्कार प्राप्त विजेताओं को भी आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए युवा कल्याण व प्रान्तीय रक्षक दल विभाग, नेहरू युवा केन्द्र व राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों द्वारा भी प्रतिभाग किया जाएगा।

कार्यक्रमों के आयोजन के लिए स्थान निर्धारित

13 से 15 जनवरी, के मध्य एलोक्यूशन, लोकनृत्य, लोकगीत, शास्त्रीय गायन, शास्त्रीय नृत्य की विधाओं का आयोजन इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में किया जाएगा। जबकि राज्य मानवाधिकार भवन स्थित आडिटोरियम संख्या-4 में शास्त्रीय वादन व बाबू बनारसी दास आडिटोरियम में एकांकी विधा की प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया जाएगा। 12 से 15 जनवरी तक जर्मन हैंगर, इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें-कार की किस्त न जमा होने पर फाइनेंस कंपनी के ‘दबंगों’ ने ड्राइवर को पीटकर गाड़ी छीनी

गैर प्रतिस्पर्धी विधाओं के अन्तर्गत 13 से 15 जनवरी तक 1090 चौराहा, रूमी गेट व जीपीओ हजरतगंज पर स्टेज बनाकर विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। सुविचार व युवा सम्मेलन, युवा कृति, युवा शिल्प ग्राम एवं फूड फेस्टिवल का आयोजन 13 से 15 जनवरी, तक इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में किया जाएगा। एडवेंचर विलेज की स्थापना पीआरडी ग्राउण्ड, जेल रोड पर की गयी है। जहां 13 से 15 तक विविध साहसिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

सभी तैयारियां पूरी, कार्यक्रम का किया जा रहा प्रचार-प्रसार

उपेन्द्र तिवारी ने बताया कि कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए उप समितियां गठित की गयी हैं। सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को उनके कार्य समझा दिए गए हैं। युवा कल्याण और प्रान्तीय रक्षक दल महानिदेशालय व इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान, में कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए कन्ट्रोल रूम की स्थापित किए गए हैं। लखनऊ के विभिन्न स्थलों पर बैनर और पोस्टर लगाकर कार्यक्रम का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को भी पोस्टर, स्टीकर भेज दिए गए हैं। प्रतिभागियों को विशेष रूप से टोपी, स्वामी विवेकानन्द के व्यक्तित्व व कृतित्व से सम्बन्धित पुस्तकें, किट बैग व ब्लेजर भी प्रदान किए जा रहे हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

यूपीएमआरसी ने रॉबिनहुड आर्मी के साथ मिलकर जरूरतमंदों को बांटे गर्म कपड़े

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (यूपीएमआरसी) ने और रॉबिनहुड आर्मी (एक स्वैच्छिक गैर-लाभकारी संगठन) ने मिलकर मंगलवार को राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर जरूरतमंदों को गर्म कपड़े वितरित किए। यह कपड़े 6 जनवरी को शहर के मेट्रो स्टेशनों पर ‘क्लोथ्स कलेक्शन कैंप’ में लगाकर एकत्रित किए गए थे। यूपी मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने मुन्शीपुलिया और आलमबाग स्टेशन परिसर एवं प्रशासनिक भवन में कलेक्शन कैंप केंद्र बनाया था।

कलेक्शन कैंप में लखनऊ के लोगों के साथ यूपीएमआरसी के कर्मचारियों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। इस कलेक्शन कैंप से जमा किये कपड़ो को आज उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (यूपीएमआरसी) के अधिकारियों ने शहर के प्रमुख जनसंख्या वाले क्षेत्रों आशियाना, जनेश्वर मिश्र पार्क, डालीगंज क्रासिंग, मुन्शीपुलिया आदि में जाकर जरूरतमंदों में वितरित किया।

यह भी पढ़ें-सूरत में बैठे हैकरों ने लखनऊ के बैंक खाते में लगायी सेंध, हजारों की नकदी उड़ाई

ठण्ड के बीच गर्म कपड़े पाकर जरूरतमंदों के चेहरे खिल उठे। बता दें कि राबिन हुड आर्मी मुख्य रूप से शहर के विभिन्न रेस्तरां से भोजन एकत्र कर जरूरतमंदों को वितरित कर उनकी भूख मिटाने की दिशा में काम कर रहा है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

प्रसिद्ध संगीतकार व इप्टा की राष्ट्रीय समिति के सदस्य अखिलेश दीक्षित ‘दीपू’ का निधन

Published

on

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के जाने माने लेखक, अनुवादक, संगीतकार, रंगकर्मी और इप्टा की राष्ट्रीय समिति के सदस्य अखिलेश दीक्षित ‘दीपू’ का मंगलवार को निधन हो गया। 2मई 195को जन्मे अखिलेश दीक्षित अपने पीछे रंगकर्मी पत्नी संध्या, बेटे नमन, माँ,  तीन भाई और बहन को छोड़कर इस दुनिया को अलविदा कह गए।  अखिलेश शुरुआत में पत्रकारिता से जुड़े और राष्ट्रीय सहारा तथा पायनियर में कला समीक्षक रहे।

वे शुरू में प्रसिद्ध ऑरकेस्ट्रा ग्रुप स्पार्क्स से ड्रमर के रूप में जुड़े  और बाद में स्वतंत्र लेखन एवं अनेक किताबों के अनुवाद किए। उन्होंने कई नाटकों में संगीत दिया तथा अभिनय भी किया। कामतानाथ की कहानी पर आधारित नाटक ‘दाखिला डाट कॉम’  इप्टा लखनऊ ने उनके निर्देशन में प्रस्तुत किया, जिसे भरपूर सराहना मिली। वे 2008 से 2012 तक महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में नाट्य विभाग में स्थापना समय से ही जुड़े रहे।

ये भी पढ़ें: निर्भया के गुनहगारों का डेथ वाॅरंट जारी, 22 जनवरी को दी जाएगी फांसी

उन्होंने लखनऊ में इप्टा, मेघदूत, दर्पण, थिएटर आर्ट्स वर्कशॉप और भारतेंदु नाट्य अकादमी के साथ जुड़कर कई नाटकों में संगीत दिया। प्रसिद्ध रंगकर्मी राज बिसारिया,  डॉ अनिल रस्तोगी, राकेश,नदीम हसनैन,  चित्रा मोहन, सूर्य मोहन कुल श्रेष्ठ, वेदा राकेश, उत्तम चटर्जी,  मृदुला भारद्वाज आदि ने उनके निधन को रंगकर्म की एक बड़ी क्षति बताया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 7, 2020, 10:36 pm
Mostly clear
Mostly clear
15°C
real feel: 15°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 93%
wind speed: 1 m/s ENE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:26 am
sunset: 4:59 pm
 

Recent Posts

Trending