Connect with us

अपना शहर

एसटीएफ ने 750 पेटी अवैध शराब की बरामद, आरोपी गिरफ्तार

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

हरियाणा से तस्करी कर लाई जा रही थी अवैध देशी शराब

लखनऊ। एसटीएफ ने अंतरराज्यीय स्तर पर हरियाणा से अवैध शराब की तस्करी करने वाले गिरोह के एक सदस्य को धर दबोचा है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से तस्करी कर लाई गई, देशी शराब की 36 हजार क्वाटर की शीशी बरामद की है। ये सारी बोतले हीट ब्रांड प्रीमियर विस्की है, जिनकी कीमत बाजार में 40 लाख रूपए बताई जा रही है।  

एसटीफ के एसएसपी राजीव नारायण मिश्रा ने बताया कि शराब तस्करी की काफी समय से सूचना मिल रही थी। इस गिरोह के सदस्यों के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए पुलिस उपाध्यक्ष एसटीएफ प्रमेश कुमार शुक्ल के निर्देशन में एक टीम लगे गई थी। जिसमें जानकारी मिली कि हरियाणा राज्य से अवैध शराब की तस्करी करने वाले गिरोह के कुछ सदस्य अवैध देशी शराब की खेप लेकर यूपी के कुशीनगर जिले से होकर जा रहे हैं और आगरा एक्सप्रेस-वे पर स्थित लखनऊ टोल प्लाजा को पार कर शहर की नो-इन्ट्री खुलने तक आस-पास कहीं रूकेंगे।

ये भी पढ़ें: नगर निगम ने डुगडुगी बजाकर सीज की शुक्ला मार्केट, हटाया गया अतिक्रमण

इस सूचना पर तत्काल एसटीएफ की एक टीम मुखबिर के बताए गए स्थान पर पहुंची। रिंग रोड नहर पुलिया के पास उक्त गाड़ी खड़ी दिखाई दी। जिसपर बैठे चालक उपरोक्त को हिरासत में लेकर वाहन की तलाशी पर तस्करी कर लाई गई अवैध देशी शराब की 750 पेटी बरामद हुई। पकड़े गए आरोपी ने पूछताछ पर बताया कि इस गाड़ी में हीट ब्रांड की अवैध देशी शराब लदी है, जिसका परिवहन करने के लिए बच्चों की साइकिल की फर्जी बिल्टी तैयार की गई है।

इन कागजातों को दिखा कर हम पुलिस वालों को धोखे में डालते है। बिल्टी लुधियाना से पटना तक बच्चों की साइकिल पहुंचाने के लिए तैयार की गई है। गाड़ी में लदी शराब कुशीनगर के सूरज नाम के व्यक्ति को पहुंचाना था। जिसके एवज में मेरे गांव का ही संदीप पुत्र सत्यवान प्रत्येक चक्कर का 25 हजार रुपए देता है। गिरफ्तार किए गए आरोपी प्रवीन पुत्र सुरेन्द्र सिंह निवासी ग्राम सहरवा थाना हिसार, हरियाण के खिलाफ पारा थाना में मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवार्ई की जा रही है।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

लखनऊ: कल से सिर्फ अपनी ड्यूटी करेगी पुलिस, लाॅकडाउन पर होगा पूरा फोकस

Published

on

लखनऊ। 7 तारीख से लखनऊ पुलिस फिर से अपने उसी पुराने रूप में नजर आएगी। मंगलवार से राजधानी पुलिस हाथों में भोजन की थाली नहीं बल्कि लाठी लेकर लाॅकडाउन तोड़ने वालों का इलाज करने में जुट जाएगी। इस संबंध में सोमवार को सभी थाना प्रभारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय की ओर जारी इस निर्देश में कहा गया है कि लाॅकडाउन के दौर पुलिसकर्मी गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन भी पहुंचा रहे हैं। लेकिन इसके चलते वह लाॅकडाउन का पालने कराने में अपना पूरी ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। जिससे लोग सड़कों पर बिना वजह घूम रहे हैं। अब जनपद में भोजन बांटने का काम समाजसेवी संस्थाओं और प्रशासन के पास ही होगा। पुलिस भोजन या राशन वितरण नहीं करेगी।

लखनऊ पुलिस ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक रूप से इजाफा हुआ है। जिसके पीछे जनता द्वारा लाॅकडाउन का उल्लंघन और निर्देशों का पूर्णतः पालन न होना भी है। बड.ी संख्या में संक्रमित जमातियों को सामने आने के बाद स्थिति गंभीर हो गयी है। लखनऊ पुलिस अपना पूरा ध्यान और ताकत लाॅकडाउन का पालने कराने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने पर लगाएगी। इसके साथ अपराध और यातायात नियंत्रण पर भी फोकस किया जाएगा।

जरूरी काम व सेवाओं के लिए चलने वाले वाहनों के लिए निर्देश

जरूरी काम और सेवाओं के लिए सड़कों पर चलने वाले वाहनों के लिए भी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। दोपहिया वाहन पर केवल एक व्यक्ति को चलने का आदेश है। किसी भी दशा में एक बाइक पर दो लोगों को नहीं चलने दिया जाएगा। दूसरा व्यक्ति बैठा होने पर मुकदमा दर्ज कर वाहन सीज कर दिया जाएगा। चार पहिया वाहनों पर केवल दो व्यक्तियों के चलने की इजाजत है। जिसमें से एक एक ड्राइविंग सीट पर जबकि दूसरा पीछे बैठेगा।

यह भी पढ़ें-बरेलीः लाॅकडाउन का पालन कराने गई पुलिस टीम पर सैकड़ों ग्रामीणों ने किया हमला

भारी माल वाहक गाड़ियों पर ड्राइवर और क्लीनर के अलावा कोई तीसरा व्यक्ति सफर नहीं करेगा। गाड़ी में तीसरा व्यक्ति मिलने पर ड्राइवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जायेगा। बेवजह बिना पास निकलने वाले लोगों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। मेडिकल, प्रेस, बैंक, पुलिस, सचिवालय या अन्य कोई भी बहाना बनाकर लोगों को पुलिस अधिकारी से विवाद न करने की अपील की गयी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

धर्मगुरुओं ने की अपील- शब-ए-बरात पर कब्रिस्तान न जाएं…घरों में ही करें इबादत

Published

on

लखनऊ। एक तरफ जहां दिल्ली के तब्लीगी जमात में शामिल रहे मुस्लिमों के कारनामों से देश अचंभित और आक्रोशित है। वहीं दूसरी ओर लखनऊ के तमाम मौलाना और मुस्लिम समुदाय कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में सरकार के साथ खड़ा है। लाॅकडाउन के बीच 9 अप्रैल को शब-ए-रात पड़ रही है। ऐसे में सोमवार को शहर के तमाम धर्मगुरुओं और मौलानाओं ने बयान जारी कर लोगों से घरों में ही रहने और भीड़ न एकत्र करने की अपील की है।

मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने अपने बयान में सभी से अपील की है कि शब-ए-रात के दिन भी कोई भीड़ के साथ कब्रिस्तान में ना जाए। सभी अपने घरों में रहकर ही इबादत करें। घरों में रहकर अपने मरहूमात के लिए इबादत करें। कलाम-ए-पाक की तिलावत करें। ज्यादा से ज्यादा गरीबों की मदद कर और उनको दान कर अपने मरहूमात को सवाब पहुंचाएं। धर्मगुरू ने कहा कि आप सभी से गुजारिश है, 10 अप्रैल को सभी लोग रोजा रखकर अल्लाह तबारक ताला से दुआ करें।

शिया धर्मगुरु मौलाना यासूब अब्बास-

शिया धर्मगुरु मौलाना यासूब अब्बास ने अपने बयान में कहा है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी लोग इस बार सब-ए-बरात का त्यौहार अपने घरों में मनाएं। आप तमाम हजरात से गुजारिश है कि अपने मरहूम के लिए जो भी इशा ले सवाब करना हो, फातिहा देना हो, नजर करवाना हो, अपने घरों पर करें। जो हजरात से तवस्सूल करना हो, वह अपने घरों पर बैठकर करें। इसलिए कि जो महामारी फैली हुई है वह बहुत घातक है।

एक इंसान की कीमत तमाम इंसान की कीमत के बराबर

मौलाना ने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते ही यह वायरस स्वस्थ व्यक्ति में भी पहुंच जाता है। इस्लाम में कहा गया है कि एक इंसान की कीमत तमाम इंसान की कीमत के बराबर है। जब इस्लाम एक इंसान की कीमत तमाम इंसानों की कीमत की अहमियत दे रहा है, तो हमको भी कब्रिस्तान, मस्जिद, दरगाह व कर्बला में नहीं जाना चाहिए। इस वास्ते जो खाना-ए-काबा अल्लाह का घर है, वहां भी महामारी के इस वक्त सन्नाटा है। तमाम हजरात के पास मेरी आवाज जहां-जहां तक पहुंचे वह अपने घरों में रहे।

शिया धर्म गुरु मौलाना सैफ अब्बास-

शिया धर्म गुरु मौलाना सैफ अब्बास ने भी लोगों से इस बार सब-ए-बरात घरों में ही मनाने की अपील की है। धर्मगुरू ने कहा, शब-ए-रात पर सैकड़ों लोग अपने घरों से निकलकर कब्रिस्तान जाते हैं। मेरी अपील है कि इस बार ऐसा कतई न करें। जो इबादत करनी है, जो फातिहा पढ़नी है, जो भी इशाले सवाब करना है, वह सब घरों में बैठकर ही करें। 9 अप्रैल को घरों से बाहर न निकलें। अल्लाह सभी की इबादत कबूल करेगा।

यह भी पढ़ें-UP: 30 जिलों में कोरोना का कहर, इस राज्य में 13 हजार लोग किये गए क्वारनटीन

मौलाना सैफ अब्बास ने कहा, कोरोना वायरस पूरी दुनिया में फैला हुआ है। हर रोज दुनिया में हजारों लोग मर रहे हैं। यह मूजी मरज हर किसी को एहतियात की जरूरत है। सभी ने देखा कि किस तरह तब्लीगी जमात के लोगों ने एकत्र होकर वायरस को फैला दिया है। सैकड़ों लोग कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं।

मजहब इजाजत नहीं देता कि नुकसान का सबब बनो

धर्मगुरू ने कहा, मैं सभी से अपील करता हूं कि जो भी इन लोगों या संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में रहा हो, वह खुद अस्पताल और प्रशासन को सूचना देकर अपनी जांच और इलाज कराए। यदि कोई ऐसा नहीं करेगा तो कल उसकी बीवी, बच्चे और अन्य परिवार वाले महामारी की चपेट में आ जाएंगे। कहा कि हम जिस मजहब को मानते हैं, वह इसकी इजाजत नहीं देता कि तुम किसी के लिए नुकसान का सबब बनो। हम अपनी भी सुरक्षा करें व दूसरों को भी आगाह करें कि वह भी अपनी सुरक्षा और हिफाजत करें।

डिस्टेंस बनाकर रखें…लाॅकडाउन का पालन करें।

कोई भी शख्स बाहर निकलता है और अपने घर वापस लौट कर आता है उससे घर के अंदर और आस-पास के लोगों में भी वायरस फैल सकता है। अब आप सोचिए यह कितना बड़ा सर्कल बन सकता है। लिहाजा इस वक्त हमारी हुकूमत और हमारे डाक्टर जो कह रहे हैं, वह बातें माननी चाहिए। डिस्टेंस बनाकर रखें। लाॅकडाउन का पालन करें। तभी हम कोरोना को हरा पाएंगे। साथ पूरी दुनिया को बता पाएंगे कि हम 130 करोड़ भारतीयों ने करोना को पराजित किया है।

टीले शाह मस्जिद के इमाम मौलाना फजले मन्नान-

टीले शाह मस्जिद के इमाम मौलाना फजले मन्नान ने सोमवार को एक बयान जारी कर लोगों से अपील की है कि वह सरकार और डाक्टरों के निर्देशो का पालन करें। इमाम ने कहा, शब-ए-बरात के मौके पर सभी लोग अपने घरों में रहकर मरहूम के लिए दुआ करें। अल्लाह की इबादत करें। अपने मरहूम के साथ ही उनके लिए भी दुआ करें, जो इस दुनिया से चले गए हैं। अल्लाह से माफी मांगे और इस महामारी को जड़ से खत्म करने की दुआ मांगें। अपने घरों में बैठकर कलाम-ए-पाक की तिलावत करें और दूसरे दिन शहरी का एहतिमाम करके नफिल रोजा जरूर रखें, साथ ही लोग दुआ करें। मेरी यही लोगों से अपील है की लोग कहीं भी किसी भी कब्रिस्तान में या मस्जिद में भीड़ ना लगाएं।

महामारी लोगों के बीच न फैल पाए

इमाम ने कहा, मैं लोगों से अपील करता हूं जो भी इस महामारी से पीड़ित हैं या बीमारी हैं, वह घरों से निकलकर डॉक्टर के पास जाएं और जांच कराएं जिससे कि महामारी लोगों के बीच न फैल पाए। आपके जो पड़ोसी हैं उनका भी ख्याल रखें। बीमारी से बचाने के साथ ही उनके खाने-पीने का भी इंतजाम देखें जिससे कि कोई भूखा ना रह सके। इमाम ने कहा, डाक्टर, मीडिया और पुलिसकर्मी अपनी जान की परवाह न करते हुए लोगों की सेवा कर रहे हैं। इसके लिए मैं सभी को मुबारकबाद देता हूं। साथ ही इस महामारी को जल्द खत्म करने के लिए अल्लाह से दुआ करता हूं।

निजामुद्दीन कांड के लिए वहां की सरकार भी जिम्मेदार

टीले शाह मस्जिद के इमाम ने दिल्ली के निजामुद्दीन कांड पर दिल्ली की सरकार और पुलिस को भी कटघरे में खड़ा किया है। कहा, जमातियों के साथ गलती सरकार की भी है। लोग इतनी बड़ी संख्या में वहां एकत्र हो गए और प्रशासन चुप बैठा रहा। अब जब यह महामारी फैल गयी है तो सभी लोगों को एहतियात बरतना होगा, और डाक्टरों की सलाह माननी होगी। सरकार और डाक्टरों की बात माननी होगी, क्योंकि यह मुल्क की हिफाजत के लिए जरूरी है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

लखनऊः जमातियों का इलाज करने वाले डाॅक्टर में मिले कोरोना के लक्षण

Published

on

कैंट में पकड़े गए जमातियों ने प्राइवेट डाक्टर से कराया था इलाज

लखनऊ। तब्लीगी जमात के लोगों ने पूरे देश में कोरोना वायरस ऐसा फैलाया है कि अब स्थिति पर काबू पाना मुश्किल हो रहा है। उत्तर प्रदेश में दर्जनों जमातियों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इन सभी को विभिन्न अस्पतालों में क्वारंटाइन कर इलाज किया जा रहा है। इस बीच रविवार को लखनऊ में एक डाक्टर में भी कोरोना के संदिग्ध लक्षण दिखे हैं। बांग्ला बाजार निवासी डॉ. आसिफ खान की सदर में अलीजान मस्जिद के पीछे क्लीनिक है। पिछले दिनों अलीजान मस्जिद से 12 जमातियों को पकड़ा गया था। इन सभी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। जिसके बाद इन सभी को बलरामपुर और लोकबंधु अस्पताल में क्वारंटाइन किया गया है।

यह भी पढ़ें-राहतः नोएडा व लखनऊ में लाॅकडाउन के बीच बच्चों से फीस वसूली पर रोक

डॉ. आसिफ खान ने इनमें से कई जमातियों का इलाज किया था। इसी बीच डॉ. आसिफ भी संक्रमण की चपेट में आ गए। फिलहाल डाक्टर को बीकेटी के जीसीआरजी मेडिकल हॉस्पिटल में क्वारंटाइन किया गया है। डॉ आसिफ खान की पत्नी और बच्चों को एहतियातन घर पर ही आइसोलेट किया गया है। सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। इसके साथ डाॅक्टर के क्लीनिक और घर के साथ आस-पास के क्षेत्र को सैनिटाइज किया जा रहा है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 7, 2020, 4:22 am
Mostly clear
Mostly clear
24°C
real feel: 22°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 40%
wind speed: 3 m/s NW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:20 am
sunset: 5:57 pm
 

Recent Posts

Trending