Connect with us

अपना शहर

मायानगरी गए बिना ही मॉडलिंग की दुनिया में लखनऊ के युवा दिखा रहे हैं अपनी प्रतिभा…

Published

on

स्थानीय युवाओं से ही लोग करा रहें मॉडलिंग और अपने ब्रांड का प्रमोशन

करीब डेढ़ दशक पहले जब आनंदी वॉटर पार्क के मालिक पकंज अग्रवाल ने अपना काम शुरू किया था, तो अपने पार्क के प्रमोशन के लिए मुम्बई और दिल्ली जैसे शहरों के मॉडल बुलाए थे। जिससे कि वह अपने ब्रांड का प्रमोशन कर सकें। अब एक बार फिर वह आनंदी मैजिक वर्ल्ड के नाम से कानपुर रोड बन्नी के पास अपना नया एडवेंचर लेकर आए हैं। इस बार भी कुछ होर्डिंग और प्रमोशन के लिए उनको मॉडल की जरूरत पड़ी। हालांकि इस डेढ़ दशक में एक नया परिवर्तन देखने को मिला है। पकंज अग्रवाल को अपने काम के लिए सभी मॉडल लखनऊ और पड़ोसी शहर कानपुर में ही मिल गए। अपने शहर के युवाओं को प्रमोट करने के लिए पंकज गुप्ता, विशाल गुप्ता और राहुल गुप्ता ने फैसला लिया कि वह अपना सारा काम इन्हीं युवाओं से करायेंगे। 

आनंदी ड्रीम वर्ल्ड की तरह ही शहर में आए दिन प्रमोशन और मॉडलिंग के नए-नए कार्यक्रम होते रहते हैं। शहर में होने वाले मॉडलिंग या फैशन शोज में कभी-कभी  दिल्ली,  मुम्बई,  कलकता और चंडीगढ़ के युवा मॉडलों के चेहरे होते थें, लेकिन आज यह सभी कार्यक्रम लखनऊ और कानपुर के युवाओं के सहारे हो रहें हैं। पिछले तीन से चार सालों में इन युवाओं ने सभी बड़े शहरों के मॉडल्स को पीछे छोड़ दिया है। बुलंदियों को छूने वाले यह युवा पीछे मुड़कर भी देखना पसंद नहीं करते हैं। हालांकि बाकी लोगों की तरह वह भी मायानगरी का सपना जरूर देखते हैं, लेकिन वहां जाने से पहले वह इतना नाम कमा लेना चाहते हैं कि किसी तरह का कोई स्ट्रगल उन्हें न करना पड़े। दोनों शहरों के कुछ ऐसे ही उभरते कलाकारों को लेकर सत्योदय रिपोर्टर नंदिनी कुंवर ने अपनी रिपोर्ट तैयार की है।
 


मीनू दीक्षित 

राजाजीपुरम लखनऊ में रहने वाली और कॉमर्स से मास्टर डिग्री लेने वाली मीनू दीक्षित न सिर्फ पढ़ाई में अव्वल है, बल्कि महज कुछ साल के करियर में शहर के प्रमुख मॉडलों में शुमार हो चुकी हैं। filpkard और amazon जैसे बड़े अन्तर्राष्ट्रीय कम्पनियों के लिए शूट करने वाली मीनू के पास ढेरों काम हैं। लखनऊ जैसे शहर में आज मीनू अपने शूट के लिए हजारों रुपये चार्ज करती हैं। वे बताती है कि जब एक शहर में आपका नाम हो जाए तो दूसरी जगह भी काम करना आसान हो जाता है। इसलिए अभी वह लखनऊ में काम कर रही हैं।  


शिखर 

मिस्टर कानपुर समेत कई बड़े मॉडलिंग कांटेस्ट जीत चुके शिखर किसी परिचय के मोहताज नहीं है। हालांकि पिछले कुछ महीनों तक परिवारिक समस्याओं की वजह से उनको मॉडलिंग से दूरी बनानी पड़ी थी, लेकिन आज वह फिर से सक्रिय हैं। अभी दिल्ली में हुए एक बड़े ब्रांड की प्रतियोगिता में उनको पूरे देश से आए पांच हजार लड़कों में टॉप 50 में चुना गया था। शिखर के पास मुम्बई के कई कम्पनियों के ऑफर भी है। जिसके लिए वह अक्सर वहां भी जाते है। हालांकि अभी पूरी तरह वहां शिफ्ट होने से बचते है। दलील है कि अभी फैमिली बिजेनस में भी कुछ समय देना पड़ता है। वहां से छूटने के बाद वह फिल्म इंडस्ट्री और बाकी जगह के बारे में भी विचार करेंगे। 


रिया सिंह राजपूत 

छोटा पैकेज बड़ा धमाका यह लाइन लखनऊ की रिया के लिए ही है। क्लास 11 से ही इन्होंने मॉडलिंग शुरू कर दी थी। मिस यूपी समेत कई ब्यूटी प्रतियोगिताओं में वह अपना जौहर दिखा चुकी हैं। आज शहर के कई बड़े  कपड़े,  ज्वैलरी,  होटल,  रेस्त्रा , डिस्को को यह प्रमोट करती है,  जिसके लिए इनको अच्छा  मेहनताना भी मिलता है। मॉडलिंग के साथ अपनी पढ़ाई को भी वह उतना ही महत्व देती है,  जिसकी वजह से वह कई बड़े ऑफर ठुकरा भी देती है। रिया बताती है कि जून में  उनका पेपर है,  जिसकी वजह से उनको एक दर्जन से ज्यादा मॉडलिंग ऑफर और प्रमोशन के ऑफर ठुकराने पड़े  हालांकि उनको उसका मलाल नहीं है। 


भूमिका 

लखनऊ में भूमिका मौजूदा दौर की  सबसे कम उम्र की उभरती हुई मॉडल में एक हैं। फैशन शो के अलावा वह कई वीडियो सोंग में भी काम कर चुकी हैं। मॉडलिंग के अलावा डांस और एक्टिंग  का शौक रखने  वाली भूमिका के पास भी काफी काम आता है। मॉडलिंग के साथ वह लोगों को फिटनेस ट्रेनिंग भी देती है। दोस्तों के साथ हर समय मौज मस्ती करने वाली  भूमिका काम के समय उतना ही सक्रिय रहती है। बतौर मॉडल और एक्टर भूमिका चाहती है कि उनका काम लोग लंबे समय तक याद करें। 


इलिशा सिंह 

अगर हम यह कहे कि सबसे ज्यादा काम का अनुभव और अलग – अलग सेक्टर में काम करने का अनुभव इलिशा के पास है तो गलत नहीं होगा। बचपन से ही एक बड़ी मॉडल और एक्टर बनने का सपना देख रही इलिशा के कई वीडियो यूट्यूब पर लाखों बार देखे गए है। आज वह शहर की कई बड़े ब्यूटी पॉर्लर और ब्रांड को प्रमोट करती है। इसके साथ ही उनके पास बीस से ज्यादा शॉट  मूवी में काम करने का अनुभव भी प्राप्त है। पूरे काम और मॉडलिंग के साथ एक्टिंग के प्रति इस जोश में उनके पापा का हर समय सहयोग रहता है। इलिशा मॉडलिंग और एक्टिंग के अलावा एडिटिंग का काम भी सीख रही हैं,  जिससे कि वह अपने काम में परफेक्ट हो सकें ।


तुषार

लखनऊ के तुषार ने महज एक साल के  करियर में  वह मुकाम हासिल कर लिया है, जिसके लिए बाकी लोगों को कई साल लग जाते है। एक्टिंग के साथ डांस के शौकीन तुषार अभी ग्रेजुएशन के छात्र है। दोस्तों की सलाह पर शौक से शुरू हुआ मॉडलिंग का काम आज उनका जुनून बन गया है। यही वजह है कि आज उनके पास लखनऊ के कई बड़े प्रोजेक्ट के काम पड़े हुए है। यहां तक की कई सरकारी एजेंसियों ने अपने प्रोजेक्ट के लिए तुषार से सम्पर्क किया है। घर से बहुत ज्यादा सपोर्ट न होने के बाद भी आज  वह लगातार कामयाबी के शिखर पर पहुंचते जा रहे हैं। लखनऊ में उसके  पास दस से ज्यादा प्रोजेक्ट है। 


आरुषि

खूबसूरती के साथ टैलेंट भी हो यह बहुत कम लोगों में देखने को मिलता है, लेकिन लखनऊ आलमबाग की आयुषी के पास यह दोनों है। बोल्ड शूट हो या पारम्परिक परिधान दोनों में ही आरुषि का जवाब नहीं है। मॉडलिंग के साथ वह अपना फैमिली बिजनेस भी देखती हैं। उनके पास मौजूदा समय में शहर के कई बड़े ज्वैलरी हाउसेस के  शूट के काम है। शहर की मीडिया और अखबारों में पेज थ्री के पन्नों में वह अपने काम की वजह से अक्सर नजर आती हैं। होली हो या दीपावली त्योहार के प्रमोशन के लिए भी कई बड़े दुकानदान और कारोबारी अपने साथ आरुषि  को जोड़ते है।  काम के साथ अपने नेचर की वजह से वह आज काफी लोकप्रिय है।


गर्विता मन्धान 

मॉडलिंग के पेशे में जो मुकाम लोग चार से पांच सालों में नहीं हासिल कर पाते हैं, कानपुर की गर्विता ने महज चार से पांच माह के कैरियर में अपनी अलग पहचान बना ली है। पढ़ाई में अव्वल रहने वाली गर्विता टीचिंग का भी शौक रखती हैं। इस वजह से वह छोटे बच्चों के साथ जुड़ी रहती हैं। उनकी खूबसूरती और लुक की वजह से उनके पास आज काम चल के आता है। काम के प्रति ईमानदार गर्विता खुद स्वीकार करती है, कि इंडस्ट्री में नए होने की वजह से  उनको अभी बहुत कुछ सीखना है। हालांकि अनुभव कम होने के बावजूद उनके पास कानपुर और लखनऊ के कई बड़े प्रॉजेक्ट से ऑफर आ चुके हैं। 


गरिमा तिवारी 

कहा जाता है कि शादी के बाद मॉडलिंग के दरवाजे बंद हो जाते है, लेकिन लखनऊ की गरिमा तिवारी इसको झूठलाती नजर आती है। पेशे से टैक्सटाइल डिजाइनर गरिमा पिछले दो साल से मॉडलिंग कर रही हैं। वह मौजूदा समय में  शहर में  महिलाओं का सबसे चर्चित कार्यक्रम मल्लिकाए – अवध की ब्रॉड एंबेसडर हैं। महज दो साल में ही इस कामयाबी के लिए वह अपने पति से मिले सहयोग को सबसे प्रमुख मानती है। आम तौर पर यह देखा जाता है कि पतियों का सहयोग नहीं होता लेकिन गरिमा अपने आप को इसको लिए काफी भाग्यशाली मानती हैं। 


अनामिका यादव 

यूं तो यह माना जाता है कि आप साइंस के स्टूडेंट हो तो मॉडलिंग और बाकी काम के लिए आपके पास समय ही नहीं है। लेकिन कानपुर की अनामिका न सिर्फ साइंस की छात्रा बल्कि मॉडलिंग में भी काफी नाम कमा रही हैं। कहने के लिए तो इनके  पास अभी महज दो शो में ही रैप वॉक करने का अनुभव है, लेकिन उनका आत्मविश्वास गजब का है। चेहरे पर हर समय मनमोहक हंसी रखने वाली अनामिका के पास भी बहुत सारे ऑफर हैं। हालांकि वह अभी अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहती है। इसकी वजह से मॉडलिंग को अभी बहुत सीरियसली नहीं ले रही हैं, लेकिन उसके बावजूद भी उनके पास लगातार काम के ऑफर आ रहे हैं।  


जारा शेख 

लिस्ट में भले ही जारा का जिक्र सबसे अंत में  हो रहा हो, लेकिन वह अपने काम की वजह से आज सबसे ऊपर है। कोलकाता में जन्मीं और लखनऊ में पली- बढ़ी जारा मॉडलिंग के साथ पढ़ाई भी करती है। अपने टैलेंट के बल पर आज के उनके पास न सिर्फ लखनऊ से काम आता है, बल्कि दिल्ली जैसे शहर से कई बड़े ऑफर आते हैं। जारा वेडिंग ड्रेस के लिए कई शूट दे चुकी हैं। इसके अलावा जारा शहर में होने वाले कई बड़े फैशन इवेंट की शो स्टॅापर बने भी दिख जाती हैं। आज उनके पास  ऑनलाइन की कई बड़ी कम्पनियों के काम पड़े हैं। इसके अलावा वे कारोबारी भी जो अपने ब्रांड को सोशल मीडिया पर प्रमोट करते है, उनके लिए भी जारा लोगों की पहली पसंद है। ट्रैडिशनल परिधान हो या वेर्स्टन  हर तरह के  ड्रेस में वह उतनी ही खूबसूरत लगती है।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

38वें कलमवीर दिवस पर किया डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी जन्मोत्सव समारोह का आयोजन

Published

on

लखनऊ। अखिल भारतीय अगीत परिषद् मीडिया फाउंडेशन एवं नवसृजन साहित्यिक और सांस्कृतिक संस्था लखनऊ के संयुक्त तत्वाधान में कौन दिशा में कर्मवीर दिवस का आयोजन किया गया। जिस पर डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी का जन्म उत्सव समारोह और सरस काव्य गोष्ठी का आयोजन वरिष्ठ साहित्यकार साहित्यभूषण डॉ. रंगनाथ मिश्र ’सत्य’ द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर योगेश द्वारा शनिवार को यूपी प्रेस क्लब में किया गया।

समारोह में महेश चंद्र द्विवेदी, प्रोफेसर डॉक्टर वी.जी. गोस्वामी, इक्तिदार हुसैन फारूकी, हेमंत तिवारी, पंडित हरिओम शर्मा को सुल्तान चक्रव्यूह सम्मान 2019 से तथा नवसृजन साहित्यिक व सांस्कृतिक संस्था द्वारा डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी को अवध गौरव सम्मान से सम्मानित पत्र प्रतीक चिन्ह अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर डां. सुल्तान शाकिर हाशमी के महाकाव्य जयप्रकाश नारायण का लोकार्पण अतिथियों द्वारा किया गया। सभी अतिथियों ने संग्रह के प्रति अपने अपने विचार व्यक्त करते हुए डॉक्टर सुल्तान शाकिर हाशमी को जन्मदिवस व रचना के लोकार्पण की शुभकामनाएं दी।

यह भी पढ़ें :- महाराष्ट्रः शिवसेना का चुनावी वादा, सत्ता में आए तो किसानों का कर्ज माफ…

वहीं वाहिद अली ’वाहिद’ की वाणी वंदना से प्रारंभ इस समारोह में नगर के अनेक वरिष्ठ और युवा रचनाकारों ने भाग लिया। प्रमोद चैधरी, प्रोफेसर रमेश दीक्षित, सुहेल काकोरवी, अफजल अंसारी, कुमार तरल, राम प्रकाश शुक्ल ’प्रकाश’, डॉ. शिवमंगल सिंह मंगल, अनिल किशोर शुक्ल ’निडर’, प्रोफेसर रफत सायरा भारती, रत्ना बापुली ’रत्ना’ मंजू सक्सेना ’विनोद’, मुरली मनोहर कपूर ’निर्दोष’, डॉ. योगेश आदि लोगों ने डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी के जन्मदिवस पर अपनी शुभकामनाएं दीं।

इस कार्यक्रम के संरक्षक न्यायमूर्ति वी.के. दीक्षित, मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार महेश चंद्र द्विवेदी पूर्व महानिदेशक उत्तर प्रदेश, अध्यक्ष साहित्यभूषण डॉ. रंगनाथ मिश्र ’सत्य’ संस्थापक अध्यक्ष अखिल भारतीय अगीत परिषद् लखनऊ व संरक्षक नवसृजन साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था, अति विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार प्रोफेसर डॉ. विजय गोस्वामी पूर्व अधिष्ठाता विधि संकाय लखनऊ विश्वविद्यालय, विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर डॉ. उषा सिन्हा पूर्व अध्यक्ष भाषा विज्ञान विभाग लखनऊ यूनिवर्सिटी उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

पुलिस के बीच छात्राओं ने पहुंचकर जानी उनकी बारीकियां

Published

on

लखनऊ। केंद्रीय गृह मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय की संयुक्त परियोजना ‘स्टूडेंट पुलिस कैडेट’ के तहत शनिवार को राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की छात्राएं अपने शिक्षकों के साथ महिला थाना हजरतगंज पहुंची। यहां छात्राओं ने पुलिस के बारे में बारीकी से जानकारियां हासिल की। भ्रमण के दौरान एसपीसी की ट्रेनिंग में स्कूली छात्राओं को बुनियादी कानून और पुलिस की कार्यप्रणाली से रूबरू कराया गया। ट्रेनिंग में आदर्श मूल्यों और नैतिकता की शिक्षा देकर पुलिस और स्कूली छात्रों के बीच मजबूत रिश्ता बनाने पर बल दिया गया। वहीं बच्चों को बाल गृह और मदर टेरेसा वृद्धा आश्रम भी ले जाकर कार्यप्रणाली को समझाया गया।

यह भी पढ़ें :- दहेज लोभी पति ने उतारा पत्नी को मौत के घाट, गिरफ्तार

वहीं ‘स्टूडेंट पुलिस कैडेट’ (एसपीसी) की नोडल अधिकारी नीलिमा सिंह ने बताया कि ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत स्कूल के 52 बच्चे महिला थाना गए थे। चार घंटे के भ्रमण में बच्चों के साथ अंजू यादव, सुनीता कुमारी, नोडल पुलिस राजनाथ यादव मौजूद रहे। वहीं महिला थाना की अतिरिक्त इंस्पेक्टर नीलम राणा और उपनिरीक्षक सुमित्रा देवी ने छात्राओं को पुलिस की कार्यशैली और कानून का पाठ पढ़ाया। इंस्पेक्टर नीलम राणा ने छात्राओं को बताया कि आप किसी अंजान व्यक्ति से दोस्ती न करें। अगर दोस्ती हो जाये तो अकेले किसी के साथ मत जाएं। जो बात हो अपनी शिक्षक या माता पिता को अवश्य बताएं। अगर किसी से खुद को असहज महसूस करती हैं या कोई आप को परेशान कर रहा है तो बिना हिचक और डरे पुलिस से शिकायत करें। बेटियों ने शपथ लेते हुये कहा कि आज से हम किसी से नहीं डरेंगे, अगर कुछ भी गलत होता है तो पुलिस से शिकायत करेंगे। इस दौरान छात्राओं ने कविता और लघु नाटक प्रस्तुत किये हैं। वहीं बता दें कि पुलिस के बीच खुद को पाकर छात्राओं में खुशी और जोश साफ तौर पर देखने को मिल रहा था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

केजीएमयू में मिली स्वाइन फ्लू की महिला मरीज, इलाज जारी

Published

on

लखनऊ। राजधानी में डेंगू के बाद स्वाइन फ्लू ने भी दस्तक दे दिया है। केजीएमयू में रविवार को एक महिला मरीज में इसकी पुष्टि हुई है। 55 वर्षीय महिला का मेडिसिन विभाग के आईडीएस वार्ड में उपचार चल रहा है। इससे पहले शुक्रवार को भी हरदोई के संडीला निवासी (28) महिला में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी, हालांकि उसकी सेहत में सुधार होते ही उसे उसी दिन डिस्चार्ज कर दिया गया।

लखनऊ में बीते जनवरी से 4 अक्टूबर तक स्वाइन फ्लू के 545 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पांच की मौत हो चुकी है। 4 अक्टूबर को क्वीन मेरी अस्पताल में स्वाइन फ्लू से संक्रमित पांच मरीज मिले तो स्वास्थ्य विभाग थोड़ा गंभीर दिखा।

ये भी पढ़ें: J&K : डीजीपी ने कहा- 200 से 300 आतंकी हुए एक्टिव, पाकिस्तान कर रहा ये कोशिश….

वहीं इसके गाइड लाइन के शुरू होने में भी देरी हो रही है। संयुक्त निदेशक संचारी रोग डॉ. विकाशेंदु अग्रवाल का कहना है कि स्वाइन फ्लू के अभी तक बड़ी संख्या में मरीज नहीं आ रहे हैं। वहीं उन्होंने इन केसों को सामान्य बताया और कहा कि अक्टूबर में एक-दो केस मिलते रहते हैं।

गौरतलब है कि हरदोई के संडीला निवासी (28) साल की महिला साढ़े सात माह की गर्भवती थी। उसे चार दिन पहले प्रसव पीड़ा होने पर क्वीन मेरी लाया गया था। यहां दो दिन बाद उसमें स्वाइन फ्लू के लक्षण पाए गए। जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। उसके पति का कहना था कि मेरी पत्नी को क्वीन मेरी के ही संक्रमण से स्वाइन फ्लू हुआ है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 13, 2019, 6:16 am
Clear
Clear
22°C
real feel: 25°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 89%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:11 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending