Connect with us

अपना शहर

मायानगरी गए बिना ही मॉडलिंग की दुनिया में लखनऊ के युवा दिखा रहे हैं अपनी प्रतिभा…

Published

on

स्थानीय युवाओं से ही लोग करा रहें मॉडलिंग और अपने ब्रांड का प्रमोशन

करीब डेढ़ दशक पहले जब आनंदी वॉटर पार्क के मालिक पकंज अग्रवाल ने अपना काम शुरू किया था, तो अपने पार्क के प्रमोशन के लिए मुम्बई और दिल्ली जैसे शहरों के मॉडल बुलाए थे। जिससे कि वह अपने ब्रांड का प्रमोशन कर सकें। अब एक बार फिर वह आनंदी मैजिक वर्ल्ड के नाम से कानपुर रोड बन्नी के पास अपना नया एडवेंचर लेकर आए हैं। इस बार भी कुछ होर्डिंग और प्रमोशन के लिए उनको मॉडल की जरूरत पड़ी। हालांकि इस डेढ़ दशक में एक नया परिवर्तन देखने को मिला है। पकंज अग्रवाल को अपने काम के लिए सभी मॉडल लखनऊ और पड़ोसी शहर कानपुर में ही मिल गए। अपने शहर के युवाओं को प्रमोट करने के लिए पंकज गुप्ता, विशाल गुप्ता और राहुल गुप्ता ने फैसला लिया कि वह अपना सारा काम इन्हीं युवाओं से करायेंगे। 

आनंदी ड्रीम वर्ल्ड की तरह ही शहर में आए दिन प्रमोशन और मॉडलिंग के नए-नए कार्यक्रम होते रहते हैं। शहर में होने वाले मॉडलिंग या फैशन शोज में कभी-कभी  दिल्ली,  मुम्बई,  कलकता और चंडीगढ़ के युवा मॉडलों के चेहरे होते थें, लेकिन आज यह सभी कार्यक्रम लखनऊ और कानपुर के युवाओं के सहारे हो रहें हैं। पिछले तीन से चार सालों में इन युवाओं ने सभी बड़े शहरों के मॉडल्स को पीछे छोड़ दिया है। बुलंदियों को छूने वाले यह युवा पीछे मुड़कर भी देखना पसंद नहीं करते हैं। हालांकि बाकी लोगों की तरह वह भी मायानगरी का सपना जरूर देखते हैं, लेकिन वहां जाने से पहले वह इतना नाम कमा लेना चाहते हैं कि किसी तरह का कोई स्ट्रगल उन्हें न करना पड़े। दोनों शहरों के कुछ ऐसे ही उभरते कलाकारों को लेकर सत्योदय रिपोर्टर नंदिनी कुंवर ने अपनी रिपोर्ट तैयार की है।
 


मीनू दीक्षित 

राजाजीपुरम लखनऊ में रहने वाली और कॉमर्स से मास्टर डिग्री लेने वाली मीनू दीक्षित न सिर्फ पढ़ाई में अव्वल है, बल्कि महज कुछ साल के करियर में शहर के प्रमुख मॉडलों में शुमार हो चुकी हैं। filpkard और amazon जैसे बड़े अन्तर्राष्ट्रीय कम्पनियों के लिए शूट करने वाली मीनू के पास ढेरों काम हैं। लखनऊ जैसे शहर में आज मीनू अपने शूट के लिए हजारों रुपये चार्ज करती हैं। वे बताती है कि जब एक शहर में आपका नाम हो जाए तो दूसरी जगह भी काम करना आसान हो जाता है। इसलिए अभी वह लखनऊ में काम कर रही हैं।  


शिखर 

मिस्टर कानपुर समेत कई बड़े मॉडलिंग कांटेस्ट जीत चुके शिखर किसी परिचय के मोहताज नहीं है। हालांकि पिछले कुछ महीनों तक परिवारिक समस्याओं की वजह से उनको मॉडलिंग से दूरी बनानी पड़ी थी, लेकिन आज वह फिर से सक्रिय हैं। अभी दिल्ली में हुए एक बड़े ब्रांड की प्रतियोगिता में उनको पूरे देश से आए पांच हजार लड़कों में टॉप 50 में चुना गया था। शिखर के पास मुम्बई के कई कम्पनियों के ऑफर भी है। जिसके लिए वह अक्सर वहां भी जाते है। हालांकि अभी पूरी तरह वहां शिफ्ट होने से बचते है। दलील है कि अभी फैमिली बिजेनस में भी कुछ समय देना पड़ता है। वहां से छूटने के बाद वह फिल्म इंडस्ट्री और बाकी जगह के बारे में भी विचार करेंगे। 


रिया सिंह राजपूत 

छोटा पैकेज बड़ा धमाका यह लाइन लखनऊ की रिया के लिए ही है। क्लास 11 से ही इन्होंने मॉडलिंग शुरू कर दी थी। मिस यूपी समेत कई ब्यूटी प्रतियोगिताओं में वह अपना जौहर दिखा चुकी हैं। आज शहर के कई बड़े  कपड़े,  ज्वैलरी,  होटल,  रेस्त्रा , डिस्को को यह प्रमोट करती है,  जिसके लिए इनको अच्छा  मेहनताना भी मिलता है। मॉडलिंग के साथ अपनी पढ़ाई को भी वह उतना ही महत्व देती है,  जिसकी वजह से वह कई बड़े ऑफर ठुकरा भी देती है। रिया बताती है कि जून में  उनका पेपर है,  जिसकी वजह से उनको एक दर्जन से ज्यादा मॉडलिंग ऑफर और प्रमोशन के ऑफर ठुकराने पड़े  हालांकि उनको उसका मलाल नहीं है। 


भूमिका 

लखनऊ में भूमिका मौजूदा दौर की  सबसे कम उम्र की उभरती हुई मॉडल में एक हैं। फैशन शो के अलावा वह कई वीडियो सोंग में भी काम कर चुकी हैं। मॉडलिंग के अलावा डांस और एक्टिंग  का शौक रखने  वाली भूमिका के पास भी काफी काम आता है। मॉडलिंग के साथ वह लोगों को फिटनेस ट्रेनिंग भी देती है। दोस्तों के साथ हर समय मौज मस्ती करने वाली  भूमिका काम के समय उतना ही सक्रिय रहती है। बतौर मॉडल और एक्टर भूमिका चाहती है कि उनका काम लोग लंबे समय तक याद करें। 


इलिशा सिंह 

अगर हम यह कहे कि सबसे ज्यादा काम का अनुभव और अलग – अलग सेक्टर में काम करने का अनुभव इलिशा के पास है तो गलत नहीं होगा। बचपन से ही एक बड़ी मॉडल और एक्टर बनने का सपना देख रही इलिशा के कई वीडियो यूट्यूब पर लाखों बार देखे गए है। आज वह शहर की कई बड़े ब्यूटी पॉर्लर और ब्रांड को प्रमोट करती है। इसके साथ ही उनके पास बीस से ज्यादा शॉट  मूवी में काम करने का अनुभव भी प्राप्त है। पूरे काम और मॉडलिंग के साथ एक्टिंग के प्रति इस जोश में उनके पापा का हर समय सहयोग रहता है। इलिशा मॉडलिंग और एक्टिंग के अलावा एडिटिंग का काम भी सीख रही हैं,  जिससे कि वह अपने काम में परफेक्ट हो सकें ।


तुषार

लखनऊ के तुषार ने महज एक साल के  करियर में  वह मुकाम हासिल कर लिया है, जिसके लिए बाकी लोगों को कई साल लग जाते है। एक्टिंग के साथ डांस के शौकीन तुषार अभी ग्रेजुएशन के छात्र है। दोस्तों की सलाह पर शौक से शुरू हुआ मॉडलिंग का काम आज उनका जुनून बन गया है। यही वजह है कि आज उनके पास लखनऊ के कई बड़े प्रोजेक्ट के काम पड़े हुए है। यहां तक की कई सरकारी एजेंसियों ने अपने प्रोजेक्ट के लिए तुषार से सम्पर्क किया है। घर से बहुत ज्यादा सपोर्ट न होने के बाद भी आज  वह लगातार कामयाबी के शिखर पर पहुंचते जा रहे हैं। लखनऊ में उसके  पास दस से ज्यादा प्रोजेक्ट है। 


आरुषि

खूबसूरती के साथ टैलेंट भी हो यह बहुत कम लोगों में देखने को मिलता है, लेकिन लखनऊ आलमबाग की आयुषी के पास यह दोनों है। बोल्ड शूट हो या पारम्परिक परिधान दोनों में ही आरुषि का जवाब नहीं है। मॉडलिंग के साथ वह अपना फैमिली बिजनेस भी देखती हैं। उनके पास मौजूदा समय में शहर के कई बड़े ज्वैलरी हाउसेस के  शूट के काम है। शहर की मीडिया और अखबारों में पेज थ्री के पन्नों में वह अपने काम की वजह से अक्सर नजर आती हैं। होली हो या दीपावली त्योहार के प्रमोशन के लिए भी कई बड़े दुकानदान और कारोबारी अपने साथ आरुषि  को जोड़ते है।  काम के साथ अपने नेचर की वजह से वह आज काफी लोकप्रिय है।


गर्विता मन्धान 

मॉडलिंग के पेशे में जो मुकाम लोग चार से पांच सालों में नहीं हासिल कर पाते हैं, कानपुर की गर्विता ने महज चार से पांच माह के कैरियर में अपनी अलग पहचान बना ली है। पढ़ाई में अव्वल रहने वाली गर्विता टीचिंग का भी शौक रखती हैं। इस वजह से वह छोटे बच्चों के साथ जुड़ी रहती हैं। उनकी खूबसूरती और लुक की वजह से उनके पास आज काम चल के आता है। काम के प्रति ईमानदार गर्विता खुद स्वीकार करती है, कि इंडस्ट्री में नए होने की वजह से  उनको अभी बहुत कुछ सीखना है। हालांकि अनुभव कम होने के बावजूद उनके पास कानपुर और लखनऊ के कई बड़े प्रॉजेक्ट से ऑफर आ चुके हैं। 


गरिमा तिवारी 

कहा जाता है कि शादी के बाद मॉडलिंग के दरवाजे बंद हो जाते है, लेकिन लखनऊ की गरिमा तिवारी इसको झूठलाती नजर आती है। पेशे से टैक्सटाइल डिजाइनर गरिमा पिछले दो साल से मॉडलिंग कर रही हैं। वह मौजूदा समय में  शहर में  महिलाओं का सबसे चर्चित कार्यक्रम मल्लिकाए – अवध की ब्रॉड एंबेसडर हैं। महज दो साल में ही इस कामयाबी के लिए वह अपने पति से मिले सहयोग को सबसे प्रमुख मानती है। आम तौर पर यह देखा जाता है कि पतियों का सहयोग नहीं होता लेकिन गरिमा अपने आप को इसको लिए काफी भाग्यशाली मानती हैं। 


अनामिका यादव 

यूं तो यह माना जाता है कि आप साइंस के स्टूडेंट हो तो मॉडलिंग और बाकी काम के लिए आपके पास समय ही नहीं है। लेकिन कानपुर की अनामिका न सिर्फ साइंस की छात्रा बल्कि मॉडलिंग में भी काफी नाम कमा रही हैं। कहने के लिए तो इनके  पास अभी महज दो शो में ही रैप वॉक करने का अनुभव है, लेकिन उनका आत्मविश्वास गजब का है। चेहरे पर हर समय मनमोहक हंसी रखने वाली अनामिका के पास भी बहुत सारे ऑफर हैं। हालांकि वह अभी अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहती है। इसकी वजह से मॉडलिंग को अभी बहुत सीरियसली नहीं ले रही हैं, लेकिन उसके बावजूद भी उनके पास लगातार काम के ऑफर आ रहे हैं।  


जारा शेख 

लिस्ट में भले ही जारा का जिक्र सबसे अंत में  हो रहा हो, लेकिन वह अपने काम की वजह से आज सबसे ऊपर है। कोलकाता में जन्मीं और लखनऊ में पली- बढ़ी जारा मॉडलिंग के साथ पढ़ाई भी करती है। अपने टैलेंट के बल पर आज के उनके पास न सिर्फ लखनऊ से काम आता है, बल्कि दिल्ली जैसे शहर से कई बड़े ऑफर आते हैं। जारा वेडिंग ड्रेस के लिए कई शूट दे चुकी हैं। इसके अलावा जारा शहर में होने वाले कई बड़े फैशन इवेंट की शो स्टॅापर बने भी दिख जाती हैं। आज उनके पास  ऑनलाइन की कई बड़ी कम्पनियों के काम पड़े हैं। इसके अलावा वे कारोबारी भी जो अपने ब्रांड को सोशल मीडिया पर प्रमोट करते है, उनके लिए भी जारा लोगों की पहली पसंद है। ट्रैडिशनल परिधान हो या वेर्स्टन  हर तरह के  ड्रेस में वह उतनी ही खूबसूरत लगती है।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

GOOD WORK: घर से गायब हुई लड़की को किया सकुशल बरामद

Published

on

लखनऊ। राजधानी की नाका हिंडोला पुलिस ने एक परिवार के चेहरे पर मुस्कान लौटाई है। एक फेरी करने वाले परिवार ने नाका थाने में एक मुकदमा दर्ज कराया था जिसमें बताया गया था कि उनकी बेटी घर से लापता हो गई है। जिसमें नाका पुलिस ने मुकदमा दर्जकर तुरंत ही मामले को गम्भीरता से लेते हुए सर्विलांस की मदद से उस युवती का मोबाइल ट्रेस करके उस युवती को कुछ ही घंटों में खोज निकाला और उसके परिजनों को सुपुर्द किया।

यह भी पढ़ें :- राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के संविधा कर्मचारियों ने वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर की बैठक…

वहीं पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरती (काल्पनिक नाम) का विवाह उसके परिजन कराना चाह रहे जो लड़का उसको पसंद नहीं था लेकिन उसके विरोध करने के बावजूद उससे कराना चाह रहे थे जिसके कारण ही वह लड़की घर से भाग गई। जिसको नाका पुलिस ने कुछ ही घंटों में बरामद कर परिजनों को सुपुर्द किया है। साथ ही बताया है कि वह युवती ऐशबाग की रहने वाली है और उसकी 1 जुलाई को शादी भी होनी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

समान कार्य-समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओं को लेकर विद्धुत संविदा कर्मियों का धरना-प्रदर्शन

Published

on

Uppcl

लखनऊ । उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन निविदा संविदा संघ के बैनर तले प्रदेश भर से एकत्र हुए विद्युत विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग संविदा कर्मियों ने हाइकोर्ट द्वारा आदेशित समान कार्य समान वेतन समेत 12 सूत्रीय समस्याओ को लेकर आलमबाग के इको गार्डन पार्क में धरना-प्रदर्शन किया । गुरुवार को कड़ी धूप में सैकड़ो की संख्या में संविदा कर्मियों ने पावर कार्पोरेशन के प्रबंधन के खिलाफ हल्ला बोला ।

धरने का नेतृत्व कर रहे संघ के महामंत्री देवेन्द्र कुमार पांडेय ने बताया कि आउटसोर्सिंग के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों को आधा अधुरा वेतन, ईपीएफ और ईएसआई में घोटाला, अधिकारियों द्वारा सौतेला व्यवहार बिना सुरक्षा उपकरण के दबाव बनाकर कार्य कराने से आये दिन होने वाली दुर्घटनाओं में मृत्यु-अपंग समेत कई समस्याओं के समाधान के लिए अध्यक्ष कारपोरेशन से वार्ता के लिए पत्र भेजा था पर उस पर कोई निर्णय नही लिया गया ।

संविदा कर्मियों के समर्थन में सांसद मोहनलालगंज ने भी प्रस्तावित पत्र भेजा था लेकिन उसमें भी कोई रुचि नही दिखाया गया । इस कारण हम सभी संविदा कर्मी आंदोलन करने को मजबुर हैं । वहीं संघ के प्रदेश अध्यक्ष मो. खालिद ने बताया कि प्रबंधन या सरकार कोई कदम नही उठाती है तो संविदा कर्मी-क्रमिक अनशन करने को मजबूर हो गए हैं । उन्होंने कहा कि रात हो या दिन, बरसात के मौसम हो या तेज धूप संविदा कर्मी हमेशा उपभोक्ताओं को 24 घण्टे बिजली देने के लिए तैयार रहता है, हां उसे बस किसी इंजीनियर के कहने भर का इंतजार होता है । जबकी संविदा कर्मी कार्य करते समय कोई घटना हो जायें तो इंजीनियर का कहना होता है कि वह प्राइवेट कार्य करने गया था ।

यहां तक की दुर्घटना के बाद भी संविदा कर्मी का सही इलाज तक नही हो पाता है । धरना स्थल पर संतोष कुमार फतेहपुर के बिन्दकी सब स्टेशन पर संविदा नौकरी कर रहा था, बीते वर्ष बिजली का कार्य करते समय संतोष का दुर्घटना में पैर और हाथ झुलस गया था । जिसे कुछ दिन तक अधिशासी अभियंता ने इलाज कराया फिर कुछ दिन बाद उसे नौकरी से निकाल दिया गया । धरना स्थल पर संतोष अपनी पत्नी के साथ आया था और अधिकारियों से अपनी गुहार लगा रहा था कि 16 वर्ष विभाग में नौकरी करने के बाद अब कटा हुआ हाथ लेकर किससे नौकरी मांगू । इतना कहते ही धरना स्थल पर मौजूद लोगों की आखो में आशू आ गया ।

यह भी पढ़ें: कल्बे जव्वाद ने सरकार को लिया आड़े हाथ, कहा- पहले करवाती थी एनकाउंटर अब करा रही है मॉब लिंचिंग

प्रदेश महामंत्री देवेंद्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि तमाम आश्वासन के बाद भी संविदा कर्मियों को शोषण जारी है । संविदा कर्मियों को समय से वेतन मिलना दूर, कई कई माह से वेतन नहीं दिया जा रहा है, ईपीएफ व ईएसआई के मद्द में करोड़ों का घोटाला किया जा रहा है । यही नहीं संविदा कर्मियों से सौतेला व्यवहार बिजली विभाग में किया जा रहा है ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

ट्रांसफार्मर में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंचे दमकल कर्मी…

Published

on

लखनऊ। जहां एक तरफ लोग भीषण गर्मी से परेशान वहीं दूसरी तरफ शहर में आग लगने का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला हजरतगंज थाना क्षेत्र स्थित कसमंडा अपार्टमेंट का है, जहां ट्रांसफार्मर में भीषण आग लग गई है।

ये भी पढ़े: पुलिस ने चोरी के विद्युत केबिल के साथ युवक को किया गिरफ्तार…

आग लगने से इलाके में हड़कंप मच गया है। लोगों ने मौके पर इस घटना की सूचना दमकल विभाग को पहुंचाई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ी कड़ी मशक्कत के साथ आग बुझाने के प्रयास में जुटी हुई है। फिलहाल ट्रांसफॉर्मर में आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 30, 2019, 10:21 am
Cloudy
Cloudy
27°C
real feel: 32°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 83%
wind speed: 4 m/s E
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending