Connect with us

अपना शहर

गलत नस कटने से हुई थी महिला की मौत, राजेन्द्रनगर स्थित नर्सिंग होम पर लगा था आरोप

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ। राजधानी में निजी अस्पतालों की मनमानी इसलिए नहीं रूकती है कारण या तो अधिकारियों की धीमी गति की जांच या फिर अपने ही मामहतों को बचाने की प्रतिबद्धता है। दोनों ही वजहों में एक आम इंसान को न्याय नहीं मिल पाता है। मामला राजेन्द्रनगर स्थित सुनीता चंद्रा नर्सिंग होम का है, जहां ऑपरेशन के दौरान गलत नस कटने की वजह से एक महिला की मौत हो गई थी। पीडि़त परिवार का आरोप है कि नर्सिंग होम की तरफ से लगातार जांच को प्रभावित करने की कोशिशें भी की जा रही हैं, जिसकी वजह से जांच अटकी हुई है।

क्या था पूरा मामला

सआदतगंज निवासी 26 वर्षीय दिव्या शुक्ला का बच्चेदानी का ऑपरेशन होना था। उसे 17 मार्च को राजेंद्र नगर स्थित सुनीता चंद्रा नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने का निर्णय लिया और परिजनों से 10 हजार रुपये भी जमा करवा लिये। वहीं ऑपरेशन के दौरान मरीज की गलत नस कट गई। जिसकी वजह से काफी ब्लीडिंग हुई और मरीज की मौत हो गई।

दिव्या के पति मोहित का आरोप है कि नर्सिंग होम के डॉक्टरों ने मामला बिगड़ने पर जबरन मरीज को दूसरे निजी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया था। लेकिन अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सकों ने बताया कि मरीज की काफी देर पहले ही मौत हो चुकी है। जब परिजन सुनीता चंद्रा अस्पताल पहुंचे और ऑपरेशन में लापरवाही का आरोप लगाने लगे तो डॉक्टरों ने खुद ही माना कि ऑपरेशन के दौरान हमसे गलती से दूसरी नस कट गई है। इसीलिए हमने मरीज को दूसरे अस्पताल भेजा था। हम इलाज का पूरा खर्च भी उठाने को तैयार थे, लेकिन मरीज की मौत हो गई तो क्या कर सकते हैं।

डॉक्टरों ने गलत नस कटने की बात कबूल की थी

दिव्या के पिता दुर्गा प्रसाद अवस्थी का आरोप है कि ऑपरेशन के दिन अस्पताल के डॉक्टरों ने गलत नस कटने की बात कबूल की थी। उन्होंने मरीज के इलाज का सारा खर्च उठाने का वादा भी किया था, लेकिन जैसे ही मरीज के मौत की जानकारी मिली। अस्पताल प्रशासन ने अपनी गलती मानने से इंकार कर दिया। इतना ही नहीं इलाज का खर्च अस्पताल की तरफ से वहन करने की बात को भी नकार दिया।

नहीं मिली तीन दिन की जांच रिपोर्ट

पीड़ित परिवार ने मामले में न्याय के लिए सीएमओ लखनऊ से लिखित शिकायत कर जांच करवाने की मांग की थी। जबकि मृतका के पति मोहित और पिता दुर्गा प्रसाद का कहना है कि सीएमओ ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किए जाने और तीन दिन में जांच रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद अब तक न तो कोई रिपोर्ट आई और न ही अस्पताल के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई की गई।

यह भी पढ़े:  मायावती से एक कदम आगे निकले सिद्धू, भाषा की मर्यादा भी लांघे, चुनाव आयोग ने तलब की रिपोर्ट

इस मामले में नाका थाने में सुनीता चंद्रा नर्सिंग होम के खिलाफ तहरीर भी दी गई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई । दिव्या के पिता दुर्गा प्रसाद अवस्थी ने बताया कि नर्सिग होम से लगातार फोन पर धमकी दी जा रही है । हमारे ऊपर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। अभी तक इसकी कोई जांच रिपोर्ट नहीं आयी है। इससे पहले भी सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने मामले को गंभीर बताकर कहा था कि जांच के लिए नियुक्त टीम अपना काम कर रही है । जल्द ही आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

http://www.satyodaya.com

अपना शहर

विकासनगर के फेडरल बैंक में लगी भीषण आग, मची अफरा-तफरी

Published

on

लखनऊ। राजधानी के विकासनगर थाना क्षेत्र स्थित मामा चौराहे पर एक बिल्डिंग में मौजूद फेडरल बैंक में अचानक शार्ट-सर्किट से आग लग गई। आग लगने से बैंक के ऊपर रह रहे लोगों में हड़कम्प मच गया और लोग अपनी जान बचाने के लिए बाहर भाग निकले। वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने फायर बिर्गेड को सूचना दी। सूचना पाते ही मौके पर पहुंची इंदिरानगर की फायर विभाग की एक गाड़ी ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाया।

ये भी पढ़े- बच्चों ने किया सामूहिक भोज, जाना सही पोषण का राज

वहीं पुलिस अधिकारी ने बताया कि फेडरल बैंक में आग लगने की सूचना मिली थी। जिसपर मौके पर पहुंची फायर विभाग की टीम ने बैंक के बाहरी हिस्से का शीशा तोड़कर अंदर पहुंचकर आग पर काबू पाया। वहीं बताया कि बैंक में आग लगने से अंदर रखे दस्तावेज जल गए हैं। साथ ही आगे की जानकारी उस वक्त मिल पाएगी जब बैंक मैनेजर द्वारा कोई तहरीर दी जाएगी उसके बाद ही आगे की जानकारी हो पाएगी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

बच्चों ने किया सामूहिक भोज, जाना सही पोषण का राज

Published

on

6 महिने के बच्चों का किया गया अन्नप्राशन

लखनऊ। सही पोषण, देश रोशन के साथ पोषण माह मनाया जा रहा है। इस अभियान से कुपोषण को मात देने का प्रयास किया जा रहा है। इस अभियान के लिए शासन से पूरे माह की गतिविधियों का कैलेंडर जारी किया गया है। इस कैलेंडर के मुताबिक शुक्रवार को जिले के मलिहाबाद,  माल,  मोहनलालगंज सहित सभी ब्लॉक के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर अन्नप्राशन के साथ बाल सुपोषण उत्सव मनाया गया।

मलिहाबाद ब्लॉक के पूर्वा -2 आंगनबाड़ी केंद्र पर अन्नप्राशन के साथ 6 माह से ऊपर के बच्चों के लिए सामूहिक भोज का आयोजन किया गया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नविता ने बताया कि केंद्र पर 14 बच्चों की माताएं अपने घर से खिचड़ी, तहरी, नमकीन दलिया, दाल, चावल बनाकर लाईं। जो बच्चे खुद नहीं खा सकते थे उन्हें उनकी माताओं ने तथा जो बच्चे खुद से खाना खा सकते थे, उन्हें कटोरी में खाना परोसा गया और हमारा यह प्रयास रहा कि बच्चे स्वयं खाना खाएं। पहले तो बच्चों ने आनाकानी की लेकिन अन्य बच्चों को देखकर उन्होने खाना खाया। साथ ही छ्ह माह की आयु पूरी कर चुकी काव्या, मोनू व वेदांश को मीठी दलिया खिलाकर उसका अन्नप्राशन किया गया। नविता ने बताया कि केंद्र पर रुद्र, मानवी, अधिकांश, मिष्ठी, शिवि, विवान सहित उनकी माताओं ने प्रतिभाग किया।

ये भी पढ़े- अमर सिंह ने ट्वीट कर ली चिदंबरम की चुटकी, पूछा- जेल का मौसम

अधिकांश की मां राधा ने कहा कि वह केंद्र पर दाल-चावल बना कर लायी हैं। उनका बेटा एक साल का हो चुका है। वह घर पर तो अपने आप खाना खाता ही नहीं है मुझे ही खिलाना पड़ता है। लेकिन यहां पर दूसरे बच्चों को खाना खाता देखकर उसने खुद से खाया व रोज के मुकाबले ज्यादा खाना खाया। मलिहाबाद ब्लॉक की प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी निरुपमा ने बताया कि बाल सुपोषण उत्सव के आयोजन का उदेश्य यह है कि छोटे बच्चों को एक साथ बैठकर खाना खिलाया जाए। क्योंकि जब बच्चे एक साथ बैठकर खाना खाते हैं तो वह एक दूसरे को देखकर चाव से खाना खा लेते हैं। साथ ही बच्चों की माताओं और अभिभावकों को ऊपरी आहार के बारे में बताया कि छह माह की आयु के बाद बच्चे को स्तनपान के साथ ऊपरी आहार देना आवश्यक होता है। साथ ही बच्चे को दिन में कब-कब और कितना आहार देना चाहिए इसके बारे में भी बताया। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

मां की डांट से नाराज होकर मुंबई जा रही बहनों को पुलिस ने किया बरामद

Published

on

लखनऊ। राजधानी में शुक्रवार को ठाकुरगंज पुलिस की सक्रियता से दो छात्राओं के साथ होने वाली एक बड़ी अनहोनी टल गई है। बताया जा रहा है कि अपनी मां की डांट से नाराज होकर कक्षा 10वीं की दो छात्राएं घर छोड़कर मुंबई जा रही थी।

वहीं इस मामले की सूचना मौके पर परिजनों ने पुलिस को पहुंचाई। परिजनों की सूचना पर तत्काल हरकत में आई पुलिस ने 12 घंटों के अंदर ही दोनों छात्राओं को सकुशल बरामद कर लिया और उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया।

ये भी पढ़ें: भाकपा ने भाजपा के खिलाफ निकाला विरोध मार्च, कहा- मोदी राज में अर्थव्यवस्था चौपट है

बता दें कि सीओ चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी और इंस्पेक्टर ठाकुरगंज नीरज ओझा ने एसपी पक्षिम विकासचन्द्र त्रिपाठी के नेतृत्व में पूरी रात जीतोड़ मेहनत कर छात्राओं को उरई क्षेत्र से सकुशल बरामद किया है। वहीं बेटियों को वापस पाकर परिजनों के चेहरे पर मुस्कान लौट आई। साथ ही परिजनों ने पुलिस के कार्य की सराहना करते हुए एसएसपी, एसपी पक्षिम, सीओ चौक और इंस्पेक्टर समेत पूरी पुलिस टीम को कोटि कोटि धन्यवाद दिया। पुलिस की तत्परता व सक्रियता से एक बड़ी घटना घटित होने से पहले टल गई। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 23, 2019, 7:31 am
Rain
Rain
25°C
real feel: 29°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 94%
wind speed: 1 m/s NNE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:25 am
sunset: 5:32 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending