Connect with us

क्राइम-कांड

9 दिन पहले होटल में हुई स्टाफ नर्स की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

Published

on

लखनऊ । राजधानी के नाका थाना क्षेत्र के होटल सेतु शर्मा के कमरा नम्बर-110 मे अपनी प्रेमिका की हत्या कर फरार हुए कातिल प्रेमी को नाका पुलिस ने मध्य प्रदेश के जबलपुर से गिरफ्तार कर लिया है । नाका पुलिस को कामयाबी मिलने में सिर्फ नौ दिनों का समय लगा । प्रेमिका की हत्या करने वाले कातिल प्रेमी ने बन्थरा के होटल में अपना सुसाईड नोट छोड़ कर पुलिस को पसोपेश में डाल दिया था । कातिल ने अपने गुनाह को मजबूरी में करना बताते हुए तीन लोगों को जिम्मेदार ठहराने की कोशिरूा भी की, लेकिन नर्स हत्याकाण्ड की जांच मे जुटे इन्स्पेक्टर नाका विश्वजीत सिंह की जांच मे सब कुछ स्पष्ट हो गया । जिसके बाद ही गिरफ्तार किए गए कातिल ने पुलिस के सामने अपना जुर्म कुबूल किया है ।

यह भी पढ़ें : बिहार में नक्सलियों के पाकिस्तान से जुड़े हैं तार, कुछ इस तरह मिला सुराग, यह खतरनाक खुलासा चौंका सकता है आपको

आपको बता दे कि 30 जनवरी को नाका के दूधमंडी के पास होटल सेतु शर्मा के कमरा नम्बर-102 में ठहरी महरूआ अम्बेडकर नगर की रहने वाली समता निशाद की उसी के प्रेमी नवीन गल्ला मंडी गांधी नगर महोबा के रहने लाले राजेश कुमार त्रिपाठी ने हत्या कर दी थी । अपनी प्रेमका की हत्या कर राजेश आराम से फरार हो गया था । होटल के कमरे में हुई हत्या की सूचना के बाद पुलिस ने होटल के रजिस्टर चेक किए तो शव और कातिल की शिनाख्त हुई । पुलिस ने होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से कातिल की पहचान की और होटल के कमरे से मिले मृतिका के मोबाईल में मिले नम्बरों से उसकी लोकेशन पर नजर रखी ।

यह भी पढ़ें : बॉलीवुड अभिनेत्री विद्या बालन ने किया खुलासा, कहा 40 वर्ष के बाद महिलाएं हो जाती हैं अधिक हॉट और नॉटी

समता निषाद की गला कस कर हत्या करने के बाद कातिल बन्थरा के एक होटल मे ठहरा जहां उसने एक सुसाईड नोट लिखा और मृतिका पर आरोप लगाया कि वो उसे शादी करने के लिए ब्लैकमेल कर रही थी इसलिए उसने उसकी हत्या कर दी । अपने सुसाईड नोट में राजेश ने तीन लोगों के नाम लिखकर उन्हे भी शक के दायरे मे लाकर खड़ा कर दिया था । बन्थरा के होटल की लोकेशन ट्रेस करते हुए पुलिस वहां पहुंची तो वहां राजेश नहीं मिला, बल्कि उसके द्वारा लिखा गया सुसाईड नोट मिल गया । प्रेमिका का कातिल पुलिस को गुमराह करता रहा बन्थरा से वो फतेहपुर गया वहां से चित्रकूट गया फिर उसने मैहर कूच किया और वहां कुछ समय रूकने के बाद राजेश मध्य प्रदेश के जबलपुर पहुंचा और एक होटल मे ठहर गया । राजेश की लोकेशन पर लगातार निगाह रख रही पुलिस भी उसके पीछे जबलपुर पहुंच गई और वहां उसे पुलिस ने दबोच लिया ।

यह भी पढ़ें : संघ नेताओं की हत्या की सचिश रच रहे तीन संदिग्ध गिरफ्तार, आईएसआई और डी कंपनी से कनेक्शन का हुआ खुलासा

वारदात का खुलासा करते हुए एएसपी पश्चिम विकास चन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि राजेश खुद शादीशुदा है । राजेश खुद भी डाक्टर है और उसकी पत्नी भी डाक्टर है और उसका एक बेटा भी है । उन्होने बताया कि साल 2016 में राजेश और समता निषाद में करीबी हुई थी जब राजेश मानिकपुर बांदा में सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र में संविदा पर डाक्टर था और समता संविदा पर स्टाफ नर्स थी । दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ती गई ।

एएसपी ने बताया कि समता राजेश पर शादी के लिए दबाव बना रही थी जबकि राजेश पहले से शादीशुदा था, इसलिए वो शादी से कतरा रहा था और 30 तारीख को समता और राजेश के बीच शादी को लेकर विवाद हुआ । जिसके बाद नाराज राजेश ने समता को पहले धक्का दिया फिर उसी के दुपटटे से उसका गला कसकर उसकी हत्या की और सुबह लगभग 10 बजे होटल से फरार हो गया । उन्होने बताया कि घटना के बाद से पुलिस लगातार उसकी गिरफ्तारी के प्रयास में लगी थी जिसके फलस्वरूप गुरूवार को राजेश त्रिपाठी जबलपुर से गिरफ्तार किया गया ।

प्रेम-प्रसंग की जानकारी से अन्जान नहीं थी राजेश की पत्नी

लखनऊ के नाका थाना क्षेत्र में स्थित होटल सेतु शर्मा में अपनी प्रेमिका की हत्या करने वाले बीएएमएस डाक्टर राजेश कुमार त्रिपाठी के पिता रामफल त्रिपाठी प्रतिरक्षा अधिकारी हैं । राजेश ने साल 2011 में लखनऊ के राजकीय आयुर्वेद कालेज से बीएएमएस की पढ़ाई पूरी की थी । राजेश की पत्नी भी बीएएमएस डाक्टर है और उसकी पत्नी को अपने पति के प्रेम-प्रसंग के बारे में पूरी जानकारी थी, इसलिए दोनों के बीच लगभग डेढ़ साल से विवाद चल रहा था जिसके उसकी पत्नी उससे अलग रहती थी । साथ ही बताया कि समता की हत्या करने के बाद राजेश ने अपनी पत्नी को काल कर हत्या करने की बात भी बताई थी ।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्राइम-कांड

दबंगो की दबंगई से ट्राॅमा के बाहर दर्द से तड़पते रहे मजदूर

Published

on

साथी के हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाने के बावजूद नहीं पसीजा इनका दिल, पूरा दिन रहा वीवीआईपी का जमावड़ा

लखनऊ। दबंगो की दबंगई से मरीजों और आम आदमी का जीना दुश्वार है। ऊंचे रसूक वाले दबंगों की वजह से केजीएमयू ट्राॅमा के सामने बुधवार को तीन मजदूर इलाज के अभाव में करीब चार घंटे से तड़पते रहे। वहां से गुजरने वाला हर वीआईपी उस भीड़ से कटता रहा। मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना को जिसने भी देखा उसकी आंखे भर आयी। इनका साथी जगत राम हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाता रहा पर किसी ने दरिया दिली नहीं दिखायी। इसी दिन केजीएमयू के कलाम सेंटर में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के एक कार्यक्रम को लेकर पूरे दिन अफसरों का जमावड़ा रहा। इसके बावजूद भी किसी की नजर इस पर नहीं गयी। बहराइच निवासी माता प्रसाद, (35) जगत राम (36), व मूरत (40) का गरीबी से बुरा हाल था। इससे आजिज ये तीनों लखनऊ के जियामऊ में स्थित बालू अड्डा पर मजदूरी का काम करते हैं। प्रतिदिन की तरह बुधवार को भी ये तीनों सड़क के किनारे से बालू अड्डा जा रहे थे। तभी अचानक सुबह करीब 7 बजे मारूति कार सवार ने पीछे से जोरदार टक्कर मार दिया। इससे तीनों बुरी तरह से जख्मी हो गए। वाहन चालक ने वहां से तत्काल भागने की कोशिश की लेकिन आगे भीषड़ जाम की वजह से उसने वहीं अपनी कार को रोक दिया।

यह भी पढ़ें :- jio के ‘‘डिजिटल उड़ान’’ लांन्च से पहली बार इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों को होगा फायदा…

मौके पर इन तीनों मजदूरों के साथी भी पहुंच गए और खून से लथपथ देखकर रोने गिड़गिड़ाने लगे। इनका साथी जगत राम गाड़ी चालक के आगे हाथ जोड़कर इनके इलाज करवाने की बिनती करने लगा। मजबूरन कार चालक ने वहीं किसी डाॅक्टर के पास मलहम पट्टी करके केजीएमयू ट्राॅमा रेफर कर दिया। यहां आने पर कार चालक दंबगई दिखाने लगा। उन पर समझौते का दबाव बनाता रहा। ट्राॅमा के बाहर इनका साथी जगत राम दबंग व्यक्ति के पैरों पर इलाज के लिए रोता गिड़गिड़ाता रहा। साहब इन तीनों साथी के इलाज करवा दें बड़ी कृपा होई आपके एहसान कभो न भूलब। इन सब का भी असर उन दबंगों पर नहीं पड़ रहा था। ट्राॅमा के बाहर लगी उस भीड़ से गुजरने वाला हर डाॅक्टर, अफसर नजर अंदाज करता रहा। इसी दिन केजीएमयू कलाम सेंटर में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के एक कार्यक्रम की वजह से पूरा दिन यहां वीवीआईपी लोगों का जमावड़ा लगा रहा। बावजूद किसी ने इसे देखने की कोशिश नहीं की। दंबग कार चालक ने वहां अपने कुछ और साथियों को बुला रखा था। ये लोग तड़पते मरीजों की इलाज की जगह समझौते का दबाव बनाते रहे। खबर लिखे जाने तक घायल मजदूर इलाज के अभाव में वहीं ट्राॅमा के बाहर स्ट्रेचर पर तड़पते रहे और पत्थर दिल दंबग इन पर बार-बार समझौते का दबाव बनाते रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

रोड रोलर के नीचे दबने से दो मासूमों की हुई मौत…

Published

on

लखनऊ। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र स्थित हरदोई रोड बरी गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 4 हजार मकानों का काम किया जा रहा था जिसमें एक रोड रोलर के नीचे दबने से दो मासूमों की मौत हो गई। रोलर के नीचे दबने से हुई मौत के बाद मजदूरों ने हंगामा काटना शुरू कर दिया जिसकी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस आक्रोशित लोगों के बीच से किसी तरह दोनों मासूम के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। लेकिन शव को ले जाने से पहले मजदूरों की पुलिस से काफी नोंकझोंक भी हुई है।

यह भी पढ़ें: TikTok वीडियो ने ढ़ूंढ निकाला लापता पति, पुलिस भी नहीं लगा पाई थी पता…

बरी गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत काम करने वाले मजदूर ने बताया कि रोड रोलर से काम चल रहा था और रोलर चलाने वाला युवक कानों में हेड फोन लगाये हुए था जिसको बच्चों पर रोलर चलने की जानकारी नहीं हो पाई और बच्चों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। बच्चों की मौत होते ही रोलर चालक और ठेकेदार मौके से फरार हो गये। आक्रोशित मजदूरों के बीच से दोनों मासूम के शव को ले जाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कतों का सामना करना पड़ा। परिजनों की मांग है कि रोलर चालक और ठेकेदार की गिरफ्तारी कर कार्रवाई की जाये।

पुलिस से मिली जानकारी मुताबिक, हरिप्रसाद और पुरूषोत्तम छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं जिनके बच्चे प्रीती (4) और रचना (4) एक साथ बैठ कर खाना खा रहे थे तभी रोलर उन दोनों बच्चों पर चढ़ गया और बच्चों की मौत हो गई। बच्चों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और रोलर को पुलिस कस्टडी में ले लिया गया है। मजदूरों को ठेकेदार राहुल छत्तीसगढ़ से लाया था, जो दो महीने से आवास योजना में काम कर रहे थे। घटना के बाद से ही रोलर चालक और ठेकेदार मौके से भाग निकले हैं। फिलहाल मृतक के परिजनों की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

चाट खाने गए दबंगों ने मामूली कहासुनी में नौकर की जमकर की पिटाई

Published

on

प्रतीकात्मक चित्र

लखनऊ। राजधानी में एक बार फिर दबंगों ने अपनी दबंगई दिखाते हुए मामूली कहासुनी को लेकर युवक की जमकर पिटाई की है। ताजा मामला बुधवार को कैंट थाना क्षेत्र स्थित सदर इलाके में देखने को मिला है, जहां दुकान पर चाट खाने गए युवक राजेन्द्र की दुकान के नौकर के साथ मामूली बात पर कहासुनी हो गई, जिसके बाद राजेन्द्र ने अपने साथियों को मौके पर फोन करके दुकान में बुलाया।

वहीं राजेन्द्र द्वारा बुलाने पर करीब आधा दर्जन दबंग साथियों ने दुकान में घुसकर तोड़फोड़ के साथ ही लोहे की रॉड और डंडों से नौकर की बुरी तरह से पिटाई भी की है।जिसके बाद इस पूरी घटना की सूचना पीड़ित इंद्रेश कुमार यादव पुत्र राम लाल ने पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर मुकदमे को दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक दबंगों की दबंगई का पूरा वाक्या सीसीटीवी में कैद हो गया है।

ये भी पढ़े: बरेली: लव मैरिज करने पर पहले दोनों को जमकर पीटा फिर लड़की को जबरन उठा ले गए

जिसमें तीन आरोपी प्रकाश में आए हैं, जिनकी पहचान कलीम, आरिफ और शानू के रूप में हुई है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश भी दे रही है, जानकारी के मुताबिक पुलिस ने एक आरोपी की गिरफ्तारी भी कर ली है और बाकी आरोपी अभी फरार चल रहे हैं। वहीं पुलिस फरार आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुटी हुई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 3, 2019, 11:26 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
32°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 66%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:48 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending