Connect with us

क्राइम-कांड

शादी में शामिल होने के बाद घर जा रहे युवकों से कार सवार दबंगों ने मारपीट के बाद की लूट

Published

on

लखनऊ । राजधानी के कप्तान जहां एक तरफ पुलिस को लोगों के प्रति संवेदना रखने की सलाह दे रहें हैं तो वहीं दूसरी ओर उनके ही मातहत उनको ठेंगा दिखाने से बाज नहीं आ रहे हैं । जिसके कारण ही पुलिस के पास जाने से लोग डरते नजर आ रहे हैं क्योंकि जब पुलिस ही बदमाशों की रक्षक बनती जा रही है तो आम जन अपने आपको कैसे महफूज समझे ।

यह भी पढ़ें :- OLX पर जीप बेचने का विज्ञापन देख बदमाशों ने रची थी लूट करने की साजिश

अभी गोसाईगंज पुलिस का कारनामा शांत भी नहीं हुआ था कि विभूतिखंड पुलिस के पास पहुंचे पीड़ित ने बदमाशों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करानी चाही लेकिन पुलिस ने एफआइआर तो दूर पीड़ितों की बात तक सुनना उचित नहीं समझा और कई घंटे तक पीड़ितों को थाने पर खड़ा रखा ।

यह भी पढ़ें :- बॉर्डर पर रहकर देश की सेवा कर रहा जवान, नकली पुलिस बनकर महिला ने उसी के घर में की लूटपाट  

बताया जा रहा है कि बाराबंकी निवासी मोहम्मद हारिश और आसिफ अंसारी विभूतिखंड थाना क्षेत्र में अपने रिश्तेदार के घर शादी समारोह में शामिल होने आये थे लेकिन जब वापस घर जा रहे थे तभी कुछ कार सवार दबंगों ने पीड़ित की गाड़ी में टक्कर मार दी उसके बाद ही उनके साथ मारपीट के दौरान ही उनके पास मौजूद मोबाइल फोन और पर्स छीन ली । जिसके बाद ही आरोपी ने अपना नाम अनुज बताते हुए मौके से भाग निकले, तभी पीड़ित ने 100 नंबर पर पुलिस को सूचना दी लेकिन हाइटेक कही जाने वाली पुलिस काफी देर से पहुंची और उनको थाने जाने की सलाह देकर चलती बनी ।

वहीं पीड़ित का आरोप है कि ज बवह दोनों थाने पहुंचे तो पुलिस ने उनकी बात तक सुनना उचित नहीं समझा और कई घंटे तक उनको थाने के बाहर ही खड़ा रखा । अब सोचने वाली बात तो सह है कि अधिकारी मित्र पुलिस बनाने की बात कर रही है लेकिन उनकी मित्र पुलिस कुछ और ही बनती नजर आ रही है जिसके कारण ही लोग पुलिस से मदद मांगने से घबराते नजर आ रहे हैं ।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्राइम-कांड

‘रंग में पड़ा भंग’, बहन की शादी में व्यस्त भाई के हाथों से पैसों भरा बैग ले उड़ा चोर…

Published

on

बैग में थें डेढ़ लाख रुपये

लखनऊ। खरमास के खत्म होते शादी-ब्याह जैसे शुभ कामों ने एक बार फिर जोर पकड़ लिया है।ऐसे में जहां घर-परिवार के लोग काम में व्यस्त रहते है, वहीं बदमाश मौके की तलाश में बैठे रहते है।ताजा मामला विकास नगर विकास नगर थाना क्षेत्र के सेक्टर-1 के कल्याण मंडप का है। जहां शादी के मंडप से चोरों ने डेढ़ लाख रुपए पार कर दिए।

 

जानकारी के अनुसार कल्याण मंडप दीन दयाल उपाध्याय पार्क में शादी हो रही थी। बहन की शादी में व्यस्त सुनील कुमार ने पैसों से भरा बैग अपने पास रखा था। काम में डूबे सुनील को ये पता भी नहीं चला की कब चोर ने उनका पैसों से भरा बैग उड़ा लिया। बैग खोने का एहसास होने के बाद सुनील ने पुलिस को सूचना दी।

यह भी पढ़ें- रांची: डायन बताकर ओझा ने महिलाओं के उतरवाए कपड़े, किसी को गमछा पहनाकर घुमाया तो किसी की हत्या कर दी

सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शक के बिनाह पर एक युवक को गिरफ्तार किया है। पैसों से भरा बैग खोने से शादी में आये लोगों में अफरा-तफरा मच गयी है। फिलहाल युवक को गिरफ्तार करने के साथ ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

गरीबों के पेट पर पड़ रही है पुलिस की लात, हफ्ता ना देने पर तोड़-फोड़ के साथ दुकान लगाने से किया मना…

Published

on

हफ्ता न मिलने पर प्रताड़ित करती है पुलिस

लखनऊ। राजधानी में एसएसपी कलानिधि नैथानी की सख्ती के बाद भी पुलिसकर्मी किसी भी तरह का सबक नहीं ले रहें हैं।ताजा मामला गोमतीनगर थाने का सामने आया है, जहां कार्यरत दरोगा कुशल तिवारी की लोगों से गुंडई करते नजर आ रहे है । वहीं दूसरा नजारा गोमतीनगर के अम्बेडकर चौराहे पर देखने को मिला है, जहां फुटपाथ पर लगी दुकानों से वसूली न मिलने पर दरोगा ने अपनी दबंगई दिखाकर दुकानों का सामान फेंक दिया ।

इतना ही नहीं दरोगा कुशल तिवारी ने दुकानदारों को हफ्ता वसूली के लिए डराया-धमकाया और दुकानों को हटवाने की बात भी कही है । जानकारी के मुताबिक जो दुकानदार हफ्ता वसूली देते है दरोगा उनकी दुकानें बेबाकी से बाजार में सजवाते हैं। वहीं हफ्ता न देने वालों को पुलिस द्वारा प्रताड़ित किया जाता है।इसी क्रम में एक पीड़ित दुकानदार ने बताया कि उसकी दुकान पर दरोगा कुशल तिवारी ने आकर दुकान में रखें चिप्स और कोल्डड्रिंक की बोतलें तोड़ दी और दुकान नहीं खोलने देने की धमकी भी दी है।

बताया जा रहा है कि दरोगा गरीबों पर अत्याचार कर उनसे वसूली करने में सफल हो रहा है और वसूली न देने पर अपनी दबंगई से लोगों में डर पैदा कर रहा है । वहीं दूसरी तरफ यह दरोगा मॉल व फेमस रेस्टोरेंट के बाहर गाड़ियों से लगने वाले जाम पर भी अपनी आंखे बंद किये हुए हैं । शिकायत करने के बाद भी किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जाती है।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के बाद गठबंधन ने भी समर्थन के लिए मुस्लिम धर्मगुरुओं से लगायी आस…

जहां एक तरफ दरोगा दुकानदारों से अवैध रूप से वसूली कर रहा है,वहीं दूसरी तरफ पुलिस चौकी के ठीक पीछे अवैध रूप से स्टैंड का गोरखधंधा भी चला रहा है। जिससे की दरोगा दोगुनी कमाई कर सकें । इस पूरे मामले के प्रकाश में आने के बाद दरोगा कुशल तिवारी की दबंगई पर एसएसपी ने अपने सख्त तेवर दिखाएं और सीओ गोमतीनगर अवनीश्वर चंद्र श्रीवास्तव को पूरे मामले की जांच सौंपी है । जांच में दोषी पाए जाने के बाद दरोगा के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

रांची: डायन बताकर ओझा ने महिलाओं के उतरवाए कपड़े, किसी को गमछा पहनाकर घुमाया तो किसी की हत्या कर दी

Published

on

गमछा पहनाने के साथ महिलाओं का बाल कटा

सिमडेगा। जहां एक तरफ दुनिया चांद पर पहुंच गयी है।वहीं आज भी झारखंड के कई हिस्सों में चुड़ैल-प्रथा के नाम पर हर दिन कई महिलाओं की जान ली जा रही है।ताजा मामला सिमडेगा जिला के सिमडेगा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत स्थित टुंबा टोली का है।यहां डायन-बिसाही के आरोप में एक ही परिवार के दो लोगों की हत्या कर दी गयी है। इसके साथ ही एक अन्य महिला को घायल भी कर दिया।

जानकारी के अनुसार ग्रामीण बताते हैं कि अंधविश्वास में डूबे लोगों को डायन-बिसाही की आशंका थी। जिसके बाद कुदरूम पंचायत में छत्तीसगढ़ से ओझा-गुणी को बुलाकर गांववालों ने एक बैठक की थी। वहां आए ओझा ने ही बताया थी कि रामकुमार सिंह (60) एवं बिरसामनी देवी (80) डायन हैं। इस बात की खबर लगते है कि गांव वालों ने उन दोनों को गांव से बाहर निकाल दिया।

यह भी पढ़ें- धनबाद: एक ही घर में रह रहे बेटा-बहू को नहीं हुआ मां की मौत का एहसास, दो दिनों तक सड़ती रही लाश…

कुछ दिन पहले ही रामकुमार सिंह व बिरसामनी देवी अपने घर कुदरूम पहुंचे थे। शनिवार देर शाम को डायन-बिसाही मामले में बिरसामनी देवी एवं रामकुमार सिंह के परिवार के ही रमेश सिंह (25) ने जलावन की लकड़ी से पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी।गंभीर रूप से घयल दोनों लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। परिवार की एक अन्य महिला कलावती देवी पर भी जानलेवा हमला किया गया। हमले से बेहोश कलावती को हमलावर मृत समझ कर छोड़ कर चले गए।

ग्रामीण जहां घटना को दबाने का प्रयास कर रहे थें वहीं  मुखिया अलेक्सियन बरला ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। एसडीपीओ राजकिशोर एवं थाना प्रभारी रवींद्र कुमार सिंह रविवार को सशस्त्र बलों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। शव को अपने कब्जे में लिया और गांव के चौकीदार के घर से हत्या के आरोपी रमेश सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- रांची: ‘कुदरत का करिश्मा’ वापस लौटी 6 साल पहले मरी बहू, ससुराल खुश तो जानें मायके वाले क्यों हैं मायूस…

इसके अतिरिक्त ग्रामीणों ने बताया कि छत्तीसगढ़ से आये ओझा के इशारे पर कई महिलाओं के शरीर से आधे कपड़े उतार दिये गये। साथ ही उन्हें गमछा पहनने के लिए मजबूर करने के साथ ही महिलाओं के बाल भी काटे गए थें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

Failure notice from provider:
Connection Error:http_request_failed

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Trending