Connect with us

क्राइम-कांड

रेलवे में बाबू बनाने के सपने दिखाकर लाखों लूटने वाले गैंग को पुलिस ने पहुंचाया हवालात…

Published

on

बेरोजगारों का उठाते थें फायदा

लखनऊ। बेरोजगारी से जूझ रहे लोगों से नौकरी के नाम पर करोड़ो की ठगी करने वाला गिरोह राजधानी पुलिस के हत्थे चढ़ा है। एसपी ट्रांसगोमती की सर्विलांस टीम एवं विकास नगर पुलिस ने ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। हाईटेक तरीके से फर्जी ज्वाईनिंग लेटर देकर रेलवे में नौकरी लगाने का झांसा देने वाले 7 शातिर ठगों को एसपी ट्रांसगोमती की टीम ने धर दबोचा है। खुलासा करने वाली टीम को एसएसपी कलानिधि नैथानी की ओर से 25 हजार का इनाम भी दिया गया है।

पकड़े गए आरोपी ऐसे लोगों को अपना शिकार बनाते थें जो बेरोजगारी से तंग आकर नौकरी की तलाश में भटकते थें। यह गैंग पूरी ठगी की वारदात को इतने हाईटेक तरीके से अंजाम देते था की लोग इनके झांसे में आराम से फंस जाते थे। ज्वाईनिंग लेटर में एक बारकोड जेनरेट करते थें जो स्कैन करने पर पूरी डिटेल दिखा देता था इसके अलावा इनके पास से पद एवं नाम का बैच टीटी की ड्रेस समेत कई दस्तावेज पुलिस ने बरामद किये हैं जो पूरी ठगी में इस्तेमाल की जाती थी । सुशील उर्फ डीके इस पूरे गैंग का मुख्य सरगना था जो रेलवे में चतुर्थ श्रेणी का बर्खास्त कर्मचारी है।

ठगी करने वाला गिरोह ठगी की वारदात को रेलवे स्टेशन और ऑफिस के बाहर बड़ी शातिरता से अंजाम देता था। पीड़ितों को ठगों ने बादशाह नगर स्टेशन से लेकर दिल्ली गोरखपुर में बुलाकर लाखों ठगे हैं। मेडिकल के नाम पर ऑफिस के बाहर ही फर्जी डॉक्टर बनकर ब्लड सैम्पल लेते थें। हालांकि अब तक इस पूरे गिरोह के मुख्य आरोपी सहित 7 लोगों को एसपी ट्रांसगोमती टीम और विकास नगर पुलिस ने धर दबोचा है ।

यह भी पढ़ें- डिंपल यादव के काफिले की दो गाड़ियों में हुई जोरदार टक्कर, मार्ग जाम

वहीं एसपी ट्रांसगोमती अमित कुमार ने बताया यह गिरोह कई सालों से ठगी की वारदात को अंजाम दे रहा था । इसमें और कौन-कौन जुड़ा है इसकी जांच की जा रही हैऔर जल्द ही पूरे गैंग में शामिल और लोग पुलिस की गिरिफ्त में होंगे ।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

बिजली की चपेट में आने से कर्मचारी की हुई दर्दनाक मौत

Published

on

लखनऊ। राजधानी के मलिहाबाद थाना क्षेत्र में बिजली विभाग बड़ी लापरवाही देखने को मिली है जिसके कारण एक व्यक्ति की मौत हो गई। जिसमें बताया जा रहा है कि सिटडाउन न होने कारण प्राइवेट कॉन्ट्रेक्ट कर्मचारी आशोक की उसकी चपेट में आने से दर्दनाक मौत हुई। कर्मचारी की करेंट की चपेट में आने से उसकी हालत देख कंपनी के सुपरवाइजर हरिशंकर और उसका साथी मौके से फरार हो गया।

मिल रही जानकारी के मुताबिक, हादसे को हुए लगभग 6 से 7 घण्टे के बाद भी मौके पर विभाग का कोई भी जिम्मेदार अधिकारी नहीं पहुंचा। बता दें कि मृतक अशोक को के.ई.आई. कम्पनी को बिजली के खम्भे और पोल लगाने का कांट्रेक्ट मिला था। साथ ही बताया गया है कि मृतक काम कर रहा था कि तभी उसमें अचानक करेंट उतर गया और उसकी चपेट में आते ही उसकी मौत हो गई। इस घटना से ग्रामीणों में बहुत ही आक्रोश है। मौके पर आस-पास के सैकड़ों गांव के ग्रामीण हैं मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें :- कबीर हत्याकांड को लेकर छात्रों ने जीपीओ पर प्रकट की शोक संवेदना

सूत्रों के मूताबिक, ग्रामीणों का कहना है कि जब तक विभाग का कोई जिम्मेदर अधिकारी नहीं आएगा तब तक अशोक के शव को नहीं उठाया जायेगा। साथ ही कहा जा रहा है कि सम्बन्धित पॉवर हाउस का कोई भी अधिकारी अभी तक घटनास्थल पर नहीं पंहुचा है। वहीं ग्रामीणों की मानें तो इस घटना के बाद से ही पॉवर हाउस के लगभग सभी अधिकारियों के फोन भी बंद हैं और जिनके मोबाइल फोन खुले हैं उनके फोन नहीं उठाया जा रहा है। मौके पर मलिहाबाद पुलिस ग्रामीणों को समझाने का प्रयास कर रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

कबीर हत्याकांड को लेकर छात्रों ने जीपीओ पर प्रकट की शोक संवेदना

Published

on

लखनऊ। राजधानी में रविवार को बस्ती में हुए आदित्य नारायण तिवारी उर्फ कबीर हत्याकांड के विरोध में लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा कैंडल जलाकर कर गांधी प्रतिमा हजरतगंज जीपीओ पर शोक संवेदना प्रकट की गई। साथ ही छात्रों ने कबीर व उसके परिजनों के लिए न्याय की मांग की। बता दें कि पिछले दिनों 9 अक्टूबर 2019 को लगभग प्रातः 10ः00 बजे बस्ती शहर के बीचो बीच बदमाशों ने अंबिका प्रताप नारायण स्नाकोत्तर महाविद्यालय बस्ती के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष आदित्य नारायण तिवारी उर्फ कबीर को दिनदहाड़े गोलियों से छलनी कर दिया था जिसको लेकर यह शोक सभा का आयोजन किया गया था।

उक्त शोकसभा के अवसर पर लखनऊ विश्वविद्यालय के विधि छात्र प्रणव पांडेय ने कहा कि कबीर युवाओं में काफी लोकप्रिय थे। वह छात्रहितों के लिए सदैव संघर्ष करते रहे हैं। वह उबरते हुए एक अच्छे जन नेता थे। जमीन से जुड़े रहते हुए हर छात्र की हर संभव सहायता करना उनका व्यक्तित्व था। कबीर का जाना बस्ती ही नहीं अपितु पूरे प्रदेश के लिए एक भारी क्षति है। कबीर की हत्या को लेकर युवाओं में काफी आक्रोश है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रशासन से हम मांग करते हैं की कबीर के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए तथा आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हो और सख्त से सख्त सजा कानून के अनुसार सुनिश्चित की जाए। तभी कबीर की आत्मा को शांति तथा सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

यह भी पढ़ें :- बेखौफ बदमाशों ने युवक की हत्या कर शव नाले में फेंक कर हुए फरार

इस अवसर पर पूर्व छात्रसंघ महामंत्री डॉ. प्रशांत त्रिपाठी ने कहा कि छात्र हितों के सच्चे हितैषी थे, उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। प्रशासन से मेरी मांग है कि आरोपियों की यथा शीघ्र गिरफ्तारी हो तथा कठोर से कठोर सजा सुनिश्चित की जाए। इस अवसर पर लखनऊ विश्वविद्यालय के विधि संकाय के परास्नातक छात्र शुभम सिंह व प्रशांत चैहान सहित विधि स्नातक के आकाश राठौर व सूर्य प्रकाश तिवारी तथा ओमवीर सेंगर, शिवेंद्र फौजी, भूपेंद्र सिंह, रजत सिंह, राहुल यादव, प्रशांत मणि त्रिपाठी, चमन, आशुतोष मिश्रा, दीपक मिश्रा व कबीर के सैकड़ो समर्थक उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

बेखौफ बदमाशों ने युवक की हत्या कर शव नाले में फेंक कर हुए फरार

Published

on

लखनऊ। राजधानी में बेखौफ हुए बदमाशों की किसी बात को लेकर एक मजदूर से विवाद हो गया था। जिसके बाद ही ने बीती देर रात उन बदमाशों ने उस मजदूर का अपहरण कर मलिहाबाद थाना क्षेत्र में हत्या कर फेंक कर फरार हो गए। सुबह संतोष कुमार ने शव को नाले में देख पुलिस को सूचना दी। जिसमें उन्होंने बताया कि तिलुसवां गांव के मोईद के खेत के पास बेला नाले में एक व्यक्ति का शव पड़ा है। जिसकी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की जांच में जुटी है।

जिसमें मलिहाबाद पुलिस ने बताया कि मृतक आलोक गुप्ता (24) पुत्र शिव प्रसाद संडीला निवासी जो लखनऊ में रहकर मजदूरी का काम करते हैं। जिनकी पारा थाना क्षेत्र कुछ लोागों से विवाद हुआ हुआ था। जिसके बाद ही उन लोगों ने आलोक का अपहरण कर उसको मलिहाबाद लेजाकर उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी और उसको नाले में फेंक कर मौके से फरार हो गए। जिसके बाद से ही पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है। साथ ही पुलिस जांच करने के साथ ही आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें :- मोटरसाइकिल स्टैंड पर गाड़ी निकालते समय युवक की हुई मौत

वहीं अगर सूत्रों की मानें तो अवैध सम्बन्धों के चलते आलोक गुप्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है। साथ ही पारा में उसके मकान मालिक पर अपने साथियों समेत वारदात को अंजाम देने का आरोप भी लगा है। जिसमें बताया जा रहा है कि कल रात अलोक को घर में शराब पिलाने के बाद ही मौत के घाट उतार दिया था। साथ ही बताया जा रहा है मकान मालिक के यहां किराये पर रह रही एक महिला के साथ मृतक अलोक के अवैध सम्बन्ध थे जिसके कारण ही उसकी हत्या की गई है।

वहीं मलिहाबाद पुलिस ने आलोक की हत्या का खुलासा करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें पुलिस ने उनकी पहचान सिपाही लाल, मोनू, बब्लू प्रजापति और कल्लू बनिया के रूप कराई है। साथ ही पुलिस ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि आलोक हत्या करने का कारण अवैध सम्बंध है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 13, 2019, 11:06 pm
Fog
Fog
23°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:11 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending