Connect with us

क्राइम-कांड

बिकरू कांड की जांच के लिए सरकार ने गठित की एसआईटी…

Published

on

31 जुलाई तक रिपोर्ट देने को कहा-

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिकरू कांड की जांच के लिए तीन सदस्यीय एसआईटी गठित कर दी है। एसआईटी में अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी, एडीजी हरिराम शर्मा और डीआईजी जे. रविंद्र गोड़ शामिल हैं। 31 जुलाई तक एसआईटी अपनी जांच रिपोर्ट सरकार को सौंप देगी। अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी को एसआईटी को लीड करेंगे। सरकार ने दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के खिलाफ अब हुई कार्रवाई, पुलिस व स्थानीय प्रशासन द्वारा उसके खिलाफ उठाए गए कदम और उसे सजा दिलाने में स्थानीय प्रशासन की भूमिका की भी जांच के लिए एसआईटी बनाई है।

इन सवालों के जवाब खोजेगी एसआईटी

एसआईटी यह भी पड़ताल करेगी कि विकास दुबे पर दर्ज मामलों में क्या प्रभावी कार्रवाई की गई? विकास दुबे के साथियों को सजा दिलाने के लिए की गई कार्रवाई क्या पर्याप्त थी? विकास दुबे की जमानत रद्द कराने के लिए क्या कार्रवाई हुई? मार्च 2020 में दर्ज मुकदमे में जमानत निरस्तीकरण की कार्रवाई क्यों नहीं हुई? विकास दुबे के खिलाफ शिकायतों में एसओ चैबेपुर व सीनियर अफसरों ने क्या जांच की क्या कार्रवाई की? विकास दुबे और उसके साथियों पर गैंगस्टर एक्ट गुंडा एक्ट एनएसए में क्या कार्रवाई हुई? कार्रवाई में लापरवाही किस अफसर ने की?

विकास का साथ देने वाले पुलिसकर्मी भी आएंगे जद में

एसटीआई उन पुलिसकर्मियों की भी कुडली खंगालेगी जो गैंगेस्टर का साथ दे रहे थे। विकास दुबे की कॉल डिटेल खंगाली जाएगी। बीते 1 साल के दौरान गैंगेस्टर से संपर्क रखने वाले पुलिसकर्मियों के विरुद्ध साक्ष्य मिले तो कार्रवाई की अनुशंसा भी होगी? एसआईटी यह भी पता लगाएगी कि घटना के वक्त विकास दुबे और उसकी गैंग के पास मौजूद फायरपावर कैसे आई? थाने को जानकारी थी या नहीं?

यह भी पढ़ें-स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए जनसंख्या नियंत्रण जरूरी: CM योगी


विकास दुबे के खिलाफ दर्जनों मुकदमों दर्ज होने के बावजूद किस अफसर ने उसे हथियार के लाइसेंस दिलवाए और कैसे? लाइसेंस निरस्त क्यों नहीं हुए? विकास दुबे और उसके साथियों की अवैध संपत्ति धंधा व अन्य कारोबार में पुलिस में कैसे बरती ढिलाई? किस अफसर ने उसे संरक्षण दिया? कौन-कौन सी सरकारी व गैर सरकारी जमीनों पर किया कब्जा? किस अधिकारी की क्या भूमिका? जांच में विकास दोषी पाए गए अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एसआईटी संस्तुति करेगी।

गंभीरता से जांच हुई तो बड़े ‘साहबों’ का फंसना तय

सूत्रों के मुताबिक यदि एसआईटी ने गंभीरता से जांच की तो बिकरू कांड में बड़े अफसरों पर के खिलाफ कार्रवाई तय है। एसआईटी की जांच में पिछले एक साल में कानपुर में तैनात रहे डीएम, एसएसपी, आईजी, एडीजी और कमिश्नर तक जांच के दायरे में हैं। तहसील स्तर के अधिकारी भी जांच के दायरे में आएंगे। एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर बिकरु कांड के लिए जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ सरकार कार्रवाई कर सकती है।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

6 साल की मासूम को जिंदा जलाया, फिर बोरी से ढक दी अधजली लाश, फैली सनसनी

Published

on

चंडीगढ़। पंजाब के होशियारपुर जिले में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिले के गांव टांडा के जलालपुर में देर शाम उस समय अफरा-तफरी मच गई। जब एक 6 साल की मासूम बच्ची को जिंदा जला देने का मामला सामने आया। उसकी अधजली लाश को बोरी से ढक दिया गया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही टांडा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्‍ची के शव को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस के मुताबिक, इसका पता लगाया जा रहा है। कि मासूम की हत्या से पहले उसके साथ रेप तो नहीं किया गया। फिलहाल बच्ची के अधजले शव को पोस्मार्टम के लिए अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया है। बता दें किं इस घटना के बारे में उस समय पता चला जब गांव जलालपुर में बड़ी संख्या में इकठ्ठे हुए लोगों ने टांडा पुलिस को घटना के बारे में सूचित किया। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और लड़की के बारे में छानबीन करनी शुरू की।

यह भी पढ़ें: बागपत: बिना अनुमति दाढ़ी रखने पर निलंबित हुआ SI, 3 बार दी गई थी हिदायत

दोपहर से लापता थी बच्ची
जानकारी के मुताबिक 6 साल की बच्ची के पिता का नाम राहुल है जो सुजीत सिंह नाम के एक व्यक्ति का ड्राइवर है। बच्ची की मां के मुताबिक, उसकी लड़की दोपहर से ही गायब थी। लड़की की तलाश करने पर पता चला कि सुरजीत सिंह का बेटा उनकी बच्ची को अपने साथ ले गया है। इसके बाद जब सुरजीत सिंह की हवेली में जाकर देखा गया तो बोरी के साथ लड़की की अधजली लाश पड़ी हुई थी।
बता दें कि टांडा पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे मै ले लिया  है और पुलिस जांच में जुट गई है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच की बात कर रही है। पुलिस का कहना है कि जांच जारी है और जल्द ही सारी सच्चाई सामने आ जाएगी। पुलिस की मानें तो जल्द ही आरोपी उनकी गिरफ्त में होगा।http://satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

रामपुर में नाबालिग हुई हैवानियत की शिकार, पूरी रात किया गैंगरेप, FIR दर्ज

Published

on

रामपुर। उत्तर प्रदेश की सरकार भले ही चाहे कानून कितने ही सख्त करले लेकिन हवस के पुजारी आज भी अपने मंसूबो को अंजाम से नहीं चूकते ऐसे ही दरिंदगी की एक दासता रामपुर से सामने आई है जहां एक नाबालिग लड़की से गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया है आरोप है कि गांव के ही दो युवकों ने लड़की के साथ गैंगरेप किया हैउन्होंने उसे खेत में ले जाकर पूरी रात उसके साथ दुष्कर्म किया मामले में पीड़ित लड़की के पिता ने थाना कैमरी में तहरीर दी है पुलिस ने 376DA, 506 और लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 3 और 4(2) में मुक़दमा दर्ज कर लिया है शिकायत के अनुसार, घटना थाना कैमरी क्षेत्र के एक गांव की है 15 अक्टूबर की रात को घटना को अंजाम दिया गया फिलहाल आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है

यह भी पढ़ें: राजस्थान: जयपुर में ऑटोमोबाइल कंपनी के गोदाम में लगी भीषण आग

बता दें पीड़िता के पिता ने तहरीर दी है कि गांव में उसका मकान बन रहा थायहां गांव के ही रिजवान उर्फ गुड्डू और मोहम्मद आलम मजदूरी का काम कर रहे थे दोनों ने उसकी लड़की को प्रेम जाल में फंसाया और 15 अक्टूबर की रात करीब 11 बजे खेत में उसके साथ गलत काम किया और फिर सुबह 5 बजे लड़की को छोड़ा वह लौटी तो उसने हमें आपबीती बताई पिता ने कहा कि यही नहीं दोनों आरोपी दबंग किस्म के हैं और मुझे थाने न जाने की धमकी भी दी थी वह किसी तरह से हिम्मत जुटाकर इनसे छिपते हुए अपनी बेटी के साथ थाने पहुंचे हैं फिलहाल पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही हैhttp://satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

हैवानियत की सीमा पार: दो नाबालिग को अगवा कर 6 युवकों ने किया गैंगरेप

Published

on

जालोर। रेप और गैंगरेप की घटनाओं के लिये देशभर में बदनाम हो चुके राजस्थान में एक बार फिर दरिंदगी की भयावह वारदात सामने आयी है इस बार जालोर जिले के भीनमाल थाना इलाके गैंगरेप की घटना सामने आई है यहां आधा दर्जन युवक एक गांव से दो नाबालिग लड़कियों को उठाकर ले गये और उनके साथ पहाड़ियों पर गैंगरेप किया गैंगरेप के बाद आरोपी लड़कियों को जसवंतपुरा थाना इलाके के राजपुरा में सुंधामाता की पहाड़ियों पर बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए सूचना पर पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा लड़कियों को अचेत और घायल अवस्था में भीनमाल शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया वहां उनका इलाज चल रहा है

यह भी पढ़ें: करौली: घर में घुसकर महिला से गैंगरेप, विरोध करने पर पति, सास की करदी पिटाई

आरोपी लड़कियों को घर से उठा ले गए
पीड़िता के पिता ने इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज करवाई है रिपोर्ट के अनुसार चेतनराम, अशोक, तेजाराम, पीराराम भील और दो अन्य ने उनके घर में घुसकर उनकी नाबालिग बेटी और नाबालिग चचेरी बहन का अपहरण कर लिया उसके बाद आरोपी ने दोनों को जसवंतपुरा के राजपुरा गांव ले गए वहां पहाड़ियों पर आरोपियों ने दोनों के साथ गैंगरेप कियागैंगरेप के बाद आरोपी दोनों लड़कियों को वहीं छोड़कर मौके से फरार हो गए पुलिस ने पीड़िता के पिता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है

पुलिस की चार टीमें जुटी आरोपियों की तलाश में
एक पीड़िता ने होश में आने के बाद पुलिस को बयान देकर गैंगरेप की घटना बताई अब पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है सांचौर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दशरथ सिंह के नेतृत्व में थानाधिकारी जसवंतपुरा, रामसीन, बागोड़ा और भीनमाल थाना पुलिस की चार टीमें आरोपियों की तलाश में उनके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है हालांकि, अभी तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं लग पाया है वारदात की सूचना के बाद सांसद देवजी एम पटेल भी घटनास्थल पर पहुंचे और पुलिस के आला अधिकारियों से घटना की जानकारी लेकर आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग कीhttp://satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 24, 2020, 2:59 am
Fog
Fog
21°C
real feel: 23°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:41 am
sunset: 5:00 pm
 

Recent Posts

Trending