Connect with us

क्राइम-कांड

बिकरू कांड की जांच के लिए सरकार ने गठित की एसआईटी…

Published

on

31 जुलाई तक रिपोर्ट देने को कहा-

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिकरू कांड की जांच के लिए तीन सदस्यीय एसआईटी गठित कर दी है। एसआईटी में अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी, एडीजी हरिराम शर्मा और डीआईजी जे. रविंद्र गोड़ शामिल हैं। 31 जुलाई तक एसआईटी अपनी जांच रिपोर्ट सरकार को सौंप देगी। अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी को एसआईटी को लीड करेंगे। सरकार ने दुर्दांत अपराधी विकास दुबे के खिलाफ अब हुई कार्रवाई, पुलिस व स्थानीय प्रशासन द्वारा उसके खिलाफ उठाए गए कदम और उसे सजा दिलाने में स्थानीय प्रशासन की भूमिका की भी जांच के लिए एसआईटी बनाई है।

इन सवालों के जवाब खोजेगी एसआईटी

एसआईटी यह भी पड़ताल करेगी कि विकास दुबे पर दर्ज मामलों में क्या प्रभावी कार्रवाई की गई? विकास दुबे के साथियों को सजा दिलाने के लिए की गई कार्रवाई क्या पर्याप्त थी? विकास दुबे की जमानत रद्द कराने के लिए क्या कार्रवाई हुई? मार्च 2020 में दर्ज मुकदमे में जमानत निरस्तीकरण की कार्रवाई क्यों नहीं हुई? विकास दुबे के खिलाफ शिकायतों में एसओ चैबेपुर व सीनियर अफसरों ने क्या जांच की क्या कार्रवाई की? विकास दुबे और उसके साथियों पर गैंगस्टर एक्ट गुंडा एक्ट एनएसए में क्या कार्रवाई हुई? कार्रवाई में लापरवाही किस अफसर ने की?

विकास का साथ देने वाले पुलिसकर्मी भी आएंगे जद में

एसटीआई उन पुलिसकर्मियों की भी कुडली खंगालेगी जो गैंगेस्टर का साथ दे रहे थे। विकास दुबे की कॉल डिटेल खंगाली जाएगी। बीते 1 साल के दौरान गैंगेस्टर से संपर्क रखने वाले पुलिसकर्मियों के विरुद्ध साक्ष्य मिले तो कार्रवाई की अनुशंसा भी होगी? एसआईटी यह भी पता लगाएगी कि घटना के वक्त विकास दुबे और उसकी गैंग के पास मौजूद फायरपावर कैसे आई? थाने को जानकारी थी या नहीं?

यह भी पढ़ें-स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए जनसंख्या नियंत्रण जरूरी: CM योगी


विकास दुबे के खिलाफ दर्जनों मुकदमों दर्ज होने के बावजूद किस अफसर ने उसे हथियार के लाइसेंस दिलवाए और कैसे? लाइसेंस निरस्त क्यों नहीं हुए? विकास दुबे और उसके साथियों की अवैध संपत्ति धंधा व अन्य कारोबार में पुलिस में कैसे बरती ढिलाई? किस अफसर ने उसे संरक्षण दिया? कौन-कौन सी सरकारी व गैर सरकारी जमीनों पर किया कब्जा? किस अधिकारी की क्या भूमिका? जांच में विकास दोषी पाए गए अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एसआईटी संस्तुति करेगी।

गंभीरता से जांच हुई तो बड़े ‘साहबों’ का फंसना तय

सूत्रों के मुताबिक यदि एसआईटी ने गंभीरता से जांच की तो बिकरू कांड में बड़े अफसरों पर के खिलाफ कार्रवाई तय है। एसआईटी की जांच में पिछले एक साल में कानपुर में तैनात रहे डीएम, एसएसपी, आईजी, एडीजी और कमिश्नर तक जांच के दायरे में हैं। तहसील स्तर के अधिकारी भी जांच के दायरे में आएंगे। एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर बिकरु कांड के लिए जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ सरकार कार्रवाई कर सकती है।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

संकट हरण मंदिर के बाहर खड़ी स्कूटी को लेकर फरार हुए चोर, CCTV में कैद हुई वारदात

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चोरों के हौसले बुलंद हो गए है। सूबे में चोरों का आतंक सिर चढ़ कर बोल रहा है। अब दिन दहाड़ें चोर पुलिस को चुनौती देते हुए चोरी के वारदातों को अंजाम दे रहे है। ताजा मामला लखनऊ का है। जहां पलक झपकते ही चोरों ने एक स्कूटी लेकर फरार हो गए। स्कूटी चोरी की यह वारदात कैमरे में कैद हो गई।

यह घटना नाका थाना क्षेत्र स्थित संकट हरण मंदिर के पास की है। जहां संकट हरन मंदिर दर्शन करने गई एक युवती की स्कूटी चोरी हो गई। युवती अपनी स्कूटी मंदिर के बाहर खड़ा कर दिया था। जिसके बाद वह सिर्फ पांच मिनट के लिए मंदिर के अन्दर पूजा करने गई।

इसे भी पढ़ें- Corona virus: कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती के लिए नहीं मिल रहे बेड 

उसी दौरान शातिर वाहन चोर ने उसकी स्कुटी का ताला तोड़कर स्कूटी लेकर फरार हो गया। चोर की ये पूरी करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। स्कूटी चोरी होने के बाद युवती ने स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर गाड़ी चोरी का मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश शुरू कर दी है।http://satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

बुलंदशहर: मनचलों से बचने के प्रयास में हादसे का शिकार हुई होनहार बिटिया, मौत

Published

on

अमेरिका में पढ़ाई कर रही थी सुदीक्षा भाटी, भारत सरकार ने दी थी करीब 4 करोड़ की स्काॅलरशिप
लखनऊ। यूपी के बुलंदशहर में कुछ मनचलों की ओछी हरकत के चलते एक होनहार बिटिया को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। छेड़छाड़ के बचने के प्रयास में बिटिया सड़क हादसे का शिकार हो गयी और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। इस होनहार बिटिया का नाम है सुदीक्षा भाटी। वही सुदीक्षा भाटी, जिसे कुछ महीनों पहले भारत सरकार ने करीब 4 करोड. की स्काॅलरशिप देकर अमेरिका में पढ़ाई करने के लिए भेजा था। बिटिया की मौत के साथ ही उसके परिवार के न जाने कितने सुनहरे भविष्य के सपने भी सड़क पर टूटकर बिखर गए।
गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील में रहने वाली सुदीक्षा भाटी अमेरिका में रहकर एक काॅलेज में पढ़ाई कर रही थी। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते जून के पहले सप्ताह में सुदीक्षा भाटी भारत लौट आई थी। 20 अगस्त को उसे फिर अमेरिका लौटना था।

यह भी पढ़ें: बिकरु कांड: विकास दुबे के एक और साथी बालगोविंद को यूपी STF ने किया गिरफ्तार…

सोमवार को सुदीक्षा भाटी अपने चाचा और भाई के साथ बाइक पर सवार होकर सिकंदराबाद (बुलंदशहर) में रहने वाले मामा से मिलने जा रही थी। आरोप है कि बुलंदशहर पहंुचने पर बुलेट पर सवार दो लड.कों ने सुदीक्षा भाटी के साथ छेड़खानी शुरू कर दी। मनचले बुलेट पर स्टंट भी कर रहे थे। इसी बीच छेड़खानी कर रहे युवकों ने अचानक बुलेट आगे लाकर बे्रक लगा दी। सुदीक्षा के चाचा अपनी बाइक संभाल नहीं सके और बुलेट से टकराकर रोड पर गिर गए। इस हादसे में सुदीक्षा की मौत हो गयी जबकि उसके चाचा गंभीर रूप से घायल हो गए।

चाचा व भाई ने बताई पूरी कहानी
अस्पताल में भर्ती सुदीक्षा के भाई और चाचा ने बताया कि हम स्कूटी से सिकंदराबाद जा रहे थे। चौराहा पार करते ही बुलंदशहर गांव पड.ता है। वहां एक बुलेट पर सवार दो लड.कों ने कई बार हमारा ओवरटेक किया। हमने स्कूटी की स्पीड धीमी कर ली। इसके बाद बुलेट वाला हमारी स्कूटी के आस-पास स्टंटबाजी करने लगा। इसी बीच मनचलों ने हमारी स्कूटी के आगे आकर अचानक बे्रक मार दी। हम स्कूटी रोक नहीं पाए और बुलेट से जाकर लड़ गए। सुदीक्षा सिर के बल रोड पर गिरी। उसकी वहीं पर मौत हो गयी। बिटिया के चाचा ने बताया कि हम उन्हें पहचान तो नहीं सके। लेकिन बुलेट पर जाट लिखा था।

12वीं किया था बुलंदशहर टाॅप
सुदीक्षा के परिजनों ने बताया कि बिटिया बचपन से ही काफी मेधावी थी। परिवार की आर्थिक स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं है। पिता जितेन्द्र भाटी एक ढाबा चलाते हैं। सुदीक्षा ने पांचवीं तक की पढ़ाई अपने डेरी स्टनर गांव के प्राइमरी स्कूल से की। साल 2011 में 6वीं कक्षा से सुदीक्षा का चयन विद्या ज्ञान लीडरशिप एकेडमी स्कूल में हो गया। सुदीक्षा ने 12वीं में बुलंदशहर टाॅप किया था।
3.80 करोड़ रुपए की मिली थी स्काॅलशिप
गरीब परिवार की बेटी सुदीक्षा के पास विद्या की कोई कमी नहीं थी। 12वीं में टाॅप करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए सुदीक्षा का चयन अमेरिका के बॉब्सन कॉलेज में हुआ। भारत सरकार ने सुदीक्षा को सपने को पूरा करने के लिए उसे 3.80 करोड़ रुपए की स्काॅलशिप भी मंजूर कर ली। परिवार को भी विश्वास हो गया कि अब तो बिटिया पढ़ -लिखकर और एक अच्छी नौकरी पाकर उनकी गरीब दूर कर देगी। लेकिन सोमवार के इस हादसे ने सब कुछ खत्म कर दिया। होनहार बेटी की मौत के बाद से पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ है।http://satyodya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

लखनऊ: मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। राजधानी के आशियाना थाना क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने 25 हजार के इनामिया अपराधी को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके पास से एक पिस्टल और बाइक बरामद किए हैं। घायल बदमाश को पुलिस ने इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां उसका इलाज चल रहा है। 

यह भी पढ़ें: राशिफल: कर्क और कन्या राशि वालों के लिए है विशेष है सोमवार

आपको बता दें कि, 25 हजार के इनामी अपराधी पुलक तिवारी को आशियाना पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार उसके पैर पर गोली लगी है। जिसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने उसके पास से एक देसी पिस्टल व बाइक बरामद किया है। पुलक तिवारी पर लूट, छिनैती, हत्या सहित कई गंभीर धाराओं में आशियाना, कृष्णानगर थाना क्षेत्र में मुकदमा दर्ज है। पुलिस को काफी समय से इसकी तलाश थी। सर्विलांस टीम के माध्यम से इसकी लोकेशन आशियाना थाना क्षेत्र में मिली जिसके आधार पर पुलिस ने घेराबंदी कर इसे दबोचने का प्रयास किया। पुलिस से घिरता देख, इसने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में इसके दाहिने पैर पर गोली लगी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 15, 2020, 7:29 am
Fog
Fog
28°C
real feel: 33°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:08 am
sunset: 6:13 pm
 

Recent Posts

Trending