Connect with us

क्राइम-कांड

हनीट्रैप के जाल में फंसाकर मारी गई थी वीरेंद्र ठाकुर को गोली…

Published

on

लखनऊ। राजधानी के चारबाग जंक्शन के बाहर 2 जुलाई को बाइक सवार बदमाशों ने वीरेंद्र ठाकुर को गोली मारकर फरार हो गये थे। जिसके बाद ही जीआरपी पुलिस ने घायल की पत्नी प्रियंका ठाकुर की तहरीर पर मामला दर्ज कर जांच कर रही थी और एक हफ्ते के अंदर ही सीडीआर की मदद से घटना का खुलासा करते हुए साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन अभी भी पुलिस के हाथ मुख्य आरेपी से दूर हैं जिनको जल्द ही गिरफ्तार करने का दावा किया है। जिसमें बताया गया है कि साजिशकर्ता महिलाओं को कलकत्ता से और दोनों युवकों को लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें: एक अंतराल के बाद वापस लौटे अखिलेश, अब एसपी जुटेगी उपचुनाव की तैयारियों में…

जीआरपी अधिकारी ने बताया कि पूरी घटना हनीट्रैप के जरिये की गई है। साथ ही उन्होंने बताया कि घायल वीरेंद्र ठाकुर शातिर किस्म का अपराधी है और उसका बिहार में एक पार्किंग का ठेका है जिसको वो अपने रिश्तेदारों से दबंगई के बल पर चलवाता है। जिसको आरोपी लोग अपने कब्जे में लेना चाह रहे थे जिसके चलते ही घटना को अंजाम दिया गया है। इस घटना को अंजाम देने के लिए मुख्य आरोपियों ने दो महिलाओं का सहारा लेकर पहले तो विरेन्द्र को प्यार के जाल में फंसाया और घटना को अंजाम देने के लिए उन महिलाओं के जरिए ही चारबाग बुलाया और घटना को अंजाम देकर महिलाओं को कलकत्ता के लिए रवाना कर दिया।

उन्होंने बताया कि पकड़े गये आरोपी मिराजुद्दीन, मिराज, खातून और माही हैं जो घटना के साजिशकर्ता हैं। लेकिन अभी जो मुख्य आरोपी हैं फिरदोस और मिक्ताउल अभी फरार हैं जिनकी लगातार तलाश की जा रही है। साथ ही बताया है कि फरार आरोपी इंट्रीगल यूनीवर्सिटी से पढ़ाई किये हैं और वहीं से अपराध की शुरूआत किये हैं। साथ ही कहा कि फरार आरोपियों पर लखनऊ के गुड़म्बा थाने में भी कई अपराधिक मुकदमें दर्ज हैं और वहां से वो फरार चल रहे हैं।http://www.satyodaya.com

Featured

यूपी पुलिस दुनिया की सबसे बेहतर पुलिस हैः डीजीपी

Published

on

लखनऊ। पुलिस मुख्यालय में उवन साइन किया गया। डीजीपी ओपी सिंह के साथ आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर अभय कतेकर व अरविंद वर्मा ने उवनसाइन में मौजूद रहे। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा आज का कार्यक्रम इतिहासिक रहा है और पुलिस विभाग में क्रिया क्षेत्र है जिसमें टेक्नोलॉजी की जरूरत है। अपराध और अपराधियों का डेटा कलेक्ट करने में ये उवन सहायक होगा। आईआईटी कानपुर के विसिटर प्रोफेसर अरविंद वर्मा है उन्हें स्पेशल इसमें बुलाया गया है। अरविंद वर्मा ने कहा कि उवन के दो महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं डेटा एनालिसिस व डेटा प्रोसेसर। टेक्नोलॉजी से पुलिस व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सकता है। वहीं डीजीपी ने कहा आने वाला समय टेक्नोलॉजी का समय है। टेक्नोलॉजी से सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सकता है।

उन्होंने कहा टेक्नोलॉजी का बेहतर उदाहरण है यूपी कॉप ऐप। यूपी कॉप ऐप को अभी तक 2.5 लाख लोग डाऊनलोड कर चुके हैं। एप के माध्यम से 1331 दर्ज किए गए लोगों के लिए बेहतर सुविधा है। एप के माध्यम से लोगों ने तमाम तरह के वेरिफिकेशन आवेदन कर चुके हैं। यूपी कॉप एप के माध्यम से फिल्म शूटिंग की भी रिक्वेस्ट मिली है। पीएम रिपोर्ट के लिए बहुत परेशान उठानी पड़ती थी टेक्नोलॉजी की वजह से व्यवस्था आसान हुई है। साथ ही उन्होंने कहा आने वाले समय में टेक्नोलॉजी के साथ पुलिस काम करेगी। टेक्नोलॉजी की वजह से थाने से कांटेक्ट कम होगा तो भ्रस्टाचार भी कम होगा। उन्होंने कहा फ्रोफेसर अरविंद पहले आईपीएस अफसर थे अब टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट हैं, इसलिए वह टेक्नोलॉजी व पुलिस को बेहतर समझते हैं। आईआईटी कानपुर ने उन्हें विशेष तौर पर अमेरिका से विसिटर प्रोफेसर के रूप में बुलाया है।

यह भी पढ़ें :- पुलिस के नाम पर टप्पेबाजी करने वाले गिरोह का एक आरोपी गिरफ्तार…

टेक्नोलॉजी के माध्यम से चोरी, वाहन चोरी, मोबाइल चोरी, सायबर क्राइम, लापता की रिपोर्ट आसानी से दर्ज हो रही है। टेक्नोलॉजी का असर है कि 1 जनवरी से 30 जून तक 1331 मुकदमे दर्ज हुए हैं। यूपी कॉप एप टेक्नोलॉजी की वजह से वेरिफिकेशन के हजारों रिक्वेस्ट मिले हैं। पिछले 3 सालों से आईआईटी कानपुर प्रदेश सरकार के साथ काम कर रही है। यूपी पुलिस दुनिया की सबसे बेहतर पुलिस है। वहीं प्रोफेसर अरविंद ने कहा मैं दुनिया के 25 देशों में जाकर पुलिस की व्यवस्था देख चुका हूं। यहां के अधिकारी ज्यादा पढ़े लिखे ओर वेहतर लीडर हैं। एक रिसर्च में सामने आया है कि यहां पुलिस दुनिया की सबसे बेहतर पुलिस है। 23 करोड़ लोगों ने कुम्भ में स्नान किया पुलिस ने पूरी जिम्मदारी निभाई ये है बेहतर पुलिस। पुलिस के पास टेक्नोलॉजी की कमी है धीरे-धीरे वो भी पूरी हो जाएगी। उसके साथ ही आखिर में डीजीपी ने कहा आज उवन साइन किया गया है और जल्द ही टेक्नोलॉजी के साथ पुलिस काम करेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

पुलिस के नाम पर टप्पेबाजी करने वाले गिरोह का एक आरोपी गिरफ्तार…

Published

on

लखनऊ। राजधानी की पीजीआई पुलिस और एसपी ट्रांसगोमती की संयुक्त टीम ने एक ऐसे गैंग के अपराधी को पकड़ने में सफलता हासिल की है जो लखनऊ शहर मे चेन स्नेचिंग, टप्पेबाजी जैसी घटनाओ को अंजाम देकर फरार हो जाते थे। उसी के चलते मंगलवार की शाम पुलिस को सूचना मिली कि पुलिस की वर्दी पहन लोगों से टप्पेबाजी करने वाले गैंग के चार लोग बाइक से खड़े हुए हैं। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस को देख आरोपियों ने बाइक से भागने की कोशिश की तो पुलिस ने उनका पीछा किया और भाग रहे आरोपियों मे से एक को बाइक सहित गिरफ्तार कर लिया। वहीं पकड़ने मे पुलिस का एक सिपाही भी घायल हुवा है। पुलिस की पूछताछ में मालूम हुआ कि आरोपी मुंबई का टॉप 20 का अपराधी है। फिरहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

यह भी पढ़ें: स्कूल वैन और टैम्पो में हुई भीड़ंत, चालक और बच्चे घायल…

लखनऊ में लगातार बढ़ रही टप्पेबाजी पर लगाम लगाते हुए पीजीआई पुलिस ने एक ऐसे टप्पेबाज को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है जो कि मुंबई में टॉप 20 का अपराधी है। अपराधी को पकड़ने के दौरान सिपाही भी घायल हुआ है। वहीं प्रेसवार्ता करते हुए एसपी नार्थ ने बताया कि लखनऊ में काफी समय से टप्पेबाजी की घटनाएं हो रही थीं। इसमें एक गिरोह बहुत ही एक्टिव था जिसके चलते हैं हमारी टीम ने सर्विलांस टीम व एसपी ट्रांसगोमती की टीम ने मिलकर मंगलवार को पीजीआई इलाके में एक टप्पेबाज को रंगे हाथों टप्पेबाजी करते हुए पकड़ने की कोशिश की। जिसके चलते पकड़ने के दौरान एक सिपाही घायल हो गया लेकिन सिपाही ने उस टप्पेबाज को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। इस अपराधी की गिरफ्तारी के बाद से ही इसके जो अन्य साथी थे वह फरार हो गए। जिसके बाद आरोपी को उन जगहों पर ले जाया गया जहां पर वह रहता था। तलाशी के दौरान उसके पास से एक सोने की चेन लगभग ₹67000 रुपए नगद व और भी चोरी का सामान बरामद हुआ है। जिसके विरूद्व कार्रवाई करते उसे जेल भेजा जा रहा है। उसके बाद ही हम लोग इसे रिमांड पर भी लेंगे और उसके बाद पूछताछ कर और भी घटनाओं का खुलासा करेंगे। वहीं आरोपी ने पूछताछ में बताया कि यह अलग-अलग जगह पर रहकर गैंग बनाकर घटनाओं को अंजाम देने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। लगभग लखनऊ में 28 घटनाओं में अपना हाथ साफ कर चुके हैं। साथ ही एसपी नाथ ने बताया कि टप्पेबाजी के साथ-साथ यह गैंग चेन स्नेचिंग में मुंबई में टॉप 20 मे इसका नाम दर्ज है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

स्कूल वैन और टैम्पो में हुई भीड़ंत, चालक और बच्चे घायल…

Published

on

लखनऊ। राजधानी में आये दिन तेज रफ्तार का कहर देखने को मिलता रहता है जिसके कारण सड़क हादसों में बढ़ोतरी भी देखने को मिल रही है। सड़क हादसों को लेकर सरकार भी चिंतित है और यूपी केे डीजीपी को भी तलब कर तेज रफ्तारों पर नियंत्रण करने की बात कही थी। सीएम की फटकार के बाद से ही लगातार यूपी पुलिस सड़कों पर नजर आ रही है। लेकिन उसके बावजूद भी हादसों में कमी देखने को नहीं मिल रही है। बता दें कि ऐसा ही ताजा मामाला पुराने पारा थाने के सामने का है जहां एक तेज रफ्तार स्कूली वैन एक टैम्पो से टकरा गई और वैन में बैठे कई बच्चे भी जख्मी हो गए। जिनको पास के अस्पताल में इलाज कराकर घर भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें: दुती चंद ने वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास

पूरा मामला पारा थाना क्षेत्र का है, जहां पुराने पारा थाने के सामने बच्चों से भरी स्कूल वैन और टैम्पो में टक्कर हो गई। वहीं स्कूली वैन में सवार कई बच्चे जख्मी हो गए। जिसके बाद चालक ने जख्मी बच्चों को स्थानिय लोगों की सहायाता से पास के अस्पताल पहुंचाया और पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानिय लोगों की मदद से पास के कल्याण सेवा आई सेंटर में भर्ती कराया है। जहां डाॅक्टर ने बच्चों का इलाज कर बच्चों और चालक को चलता कर दिया। फिलहाल बताया गया है कि इस हादसे में किसी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 11, 2019, 11:11 am
Fog
Fog
26°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 100%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 6
sunrise: 4:51 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending