Connect with us

क्राइम-कांड

हनीट्रैप के जाल में फंसाकर मारी गई थी वीरेंद्र ठाकुर को गोली…

Published

on

लखनऊ। राजधानी के चारबाग जंक्शन के बाहर 2 जुलाई को बाइक सवार बदमाशों ने वीरेंद्र ठाकुर को गोली मारकर फरार हो गये थे। जिसके बाद ही जीआरपी पुलिस ने घायल की पत्नी प्रियंका ठाकुर की तहरीर पर मामला दर्ज कर जांच कर रही थी और एक हफ्ते के अंदर ही सीडीआर की मदद से घटना का खुलासा करते हुए साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन अभी भी पुलिस के हाथ मुख्य आरेपी से दूर हैं जिनको जल्द ही गिरफ्तार करने का दावा किया है। जिसमें बताया गया है कि साजिशकर्ता महिलाओं को कलकत्ता से और दोनों युवकों को लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें: एक अंतराल के बाद वापस लौटे अखिलेश, अब एसपी जुटेगी उपचुनाव की तैयारियों में…

जीआरपी अधिकारी ने बताया कि पूरी घटना हनीट्रैप के जरिये की गई है। साथ ही उन्होंने बताया कि घायल वीरेंद्र ठाकुर शातिर किस्म का अपराधी है और उसका बिहार में एक पार्किंग का ठेका है जिसको वो अपने रिश्तेदारों से दबंगई के बल पर चलवाता है। जिसको आरोपी लोग अपने कब्जे में लेना चाह रहे थे जिसके चलते ही घटना को अंजाम दिया गया है। इस घटना को अंजाम देने के लिए मुख्य आरोपियों ने दो महिलाओं का सहारा लेकर पहले तो विरेन्द्र को प्यार के जाल में फंसाया और घटना को अंजाम देने के लिए उन महिलाओं के जरिए ही चारबाग बुलाया और घटना को अंजाम देकर महिलाओं को कलकत्ता के लिए रवाना कर दिया।

उन्होंने बताया कि पकड़े गये आरोपी मिराजुद्दीन, मिराज, खातून और माही हैं जो घटना के साजिशकर्ता हैं। लेकिन अभी जो मुख्य आरोपी हैं फिरदोस और मिक्ताउल अभी फरार हैं जिनकी लगातार तलाश की जा रही है। साथ ही बताया है कि फरार आरोपी इंट्रीगल यूनीवर्सिटी से पढ़ाई किये हैं और वहीं से अपराध की शुरूआत किये हैं। साथ ही कहा कि फरार आरोपियों पर लखनऊ के गुड़म्बा थाने में भी कई अपराधिक मुकदमें दर्ज हैं और वहां से वो फरार चल रहे हैं।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

मूर्ति विसर्जन कर लौट रही ट्रैक्टर ट्राली पलटी, कई श्रद्धालु गंभीर रुप से घायल

Published

on

लखनऊ। एक बार फिर हादसे के शिकार हुए मूर्ति विसर्जन करके लौट रहे भक्तों का मामला थाना काकोरी क्षेत्र के आईआईएम रोड का है। जहां पर एक ट्रैक्टर के ऊपर सवार होकर 30 से ज्यादा लोग मूर्ति विसर्जन के लिए गए थे। बताया जा रहा है कि मूर्ति विसर्जन करने के बाद घर लौटने के दौरान अचानक अनियंत्रित होकर ट्रैक्टर ट्राली पलट गई। जिसमें 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए और 2 की हालत नाजुक बताई जा रही। जिनको फौरन ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया जहां पर उनका इलाज चल रहा है।

वही मौके पर पहुंची पुलिस ने फौरन रेस्क्यू का काम चालू कर दिया यह कोई पहला मामला नहीं है जब सवारी है बिठाए हुए ट्रैक्टर ट्राली हादसे का शिकार हुई हो इससे पहले भी राजधानी में ऐसे कई हादसे हो चुके हैं उसके बावजूद भी ट्रैफिक पुलिस इस तरफ कोई भी ध्यान नहीं देते जिसके चलते यह ट्रैक्टर ट्राली जानवरों की तरह सवारियों को भर लेते हैं और हादसे का शिकार होते हैं।

ये भी पढ़े- दुर्गा पूजा पंडाल में पहली बार मिले युवक-युवती ने 4 घंटे के अंदर रचा ली शादी

मौके पर मौजूद विजय कुमार ने बताया कि हम लोग मूर्ति विसर्जन करके आ रहे थे तभी टाली अचानक जैसे मौड़े वैसे ही पलट गई। आगे कहा कि सभी लोग विसर्जन करके सदरौना से घर जा रहे थे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

साइबर क्राइम से निपटने के लिए यूपी पुलिस ने तैयार की खास रणनीति

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस ने साइबर क्राइम और सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने और उससे निपटने के लिए खास रणनीति तैयार की है। यूपी पुलिस की रणनीति में मुख्यालय स्तर से लेकर थाना स्तर तक साइबर सेल का गठन शामिल है। इसके गठन के लिए 15 अक्टूबर की डेडलाइन भी तय कर दी गई है।

सोशल मीडिया और नेटवर्किंग साइट्स के माध्यम से साइबर क्राइम की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। ऐसे में यूपी पुलिस ने खास किस्म की तैयारी की है। मुख्यालय स्तर पर आईजी साइबर सेल की अध्यक्षता में जोन, जिला और थाना स्तर पर साइबर क्राइम सेल के गठन का प्रस्ताव  है।

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: आरएसएस कार्यकर्ता की गर्भवती पत्नी और बच्चे समेत हत्या

इस मामलें पर आईजी प्रवीण कुमार ने बताया कि फेसबुक, ट्विटर समेत दूसरी सोशल नेटवर्किंग साइट्स का गलत नाम से इस्तेमाल, अश्लील वीडियों-फोटों प्रसारित करना, बैंक फ्रॉड जैसी घटनाओं की प्रभावी रोकथाम और दोषियों को चिन्हित करने आदि के लिए ये निर्णय लिया गया है। इसके लिये पुलिस को साइबर एक्सपर्ट्स समेत सीबीआई जैसी संस्थाओं से ट्रेनिंग भी दिलाई जायेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

पुलिस के हत्थे चढ़ा फर्जी सचिवालयकर्मी, लोगों से करता था ठगी

Published

on

लखनऊ। गोमतीनगर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने खुद को सचिवालय में सेक्शन अफसर बताकर ठगी करने वाला जालसाज को अरेस्ट किया है।जो खुद को सचिवालयकर्मी बता कर ठगी का काम करता था। बता दें कि उत्तर प्रदेश शाशन लिखी और हूटर लगी UP-65 BC-9334 इंनोवा गाड़ी में बैठकर ठगी का काम करता था।

यह भी पढ़ें: ‘बिग बॉस’ को बंद कराने के लिए भाजपा विधायक ने मोदी सरकार को लिखा पत्र….

बता दें कि जालसाज सर्वेश कुमार यादव को गोमतीनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सर्वेश रिटायर्ड जज केसी भार्गव के घर मे किरायेदार के रूप में रह रहा था। पुलिस ने जालसाज के पास से 6 लोगो के शैक्षिक प्रमाण पत्र, आईडी व एड्रेस प्रूफ, सचिवालय से जुड़े दस्तावेज और इनोवा गाड़ी बरामाद की है। वहीं गोमतीनगर पुलिस का दावा है कि कई लोगो से नौकरी के नाम पर लाखो रुपये ठगे होंगे। जिसका उजागर जांच के बाद होगा। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 11, 2019, 6:41 am
Fog
Fog
22°C
real feel: 27°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 93%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:33 am
sunset: 5:13 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending