Connect with us

क्राइम-कांड

Lucknow: KGMU के वरिष्ठ चिकित्सक पर चौक कोतवाली में छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज

Published

on

लखनऊ। राजधानी का केजीएमयू लगातार सुर्खियों में बना रहता है। चाहे वह मरीज के तीमारदारों के साथ मारपीट का मामला हो या फिर वहां के नर्सिंग स्टाफ द्वारा तीमारदारों के साथ अभद्रता का मामला हो। केजीएमयू के एक डॉक्टर पर छेड़छाड़ का चौक कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ है। केजीएमयू के फार्मोकोलॉजी विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक के खिलाफ जूनियर रेजिडेंट ने छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए चौक कोतवाली में तहरीर दी है। चौक पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पूरे मामले की जांच कर रही है।

इसे भी पढ़ें- corona war: योगी सरकार के निर्देश पर यूपी-112 की सेवाओं का किया और विस्तार

जानकारी के अनुसार फार्मोकोलॉजी विभाग में तैनात वरिष्ठ डॉक्टर देवाशीष मुखर्जी पर उनके जूनियर रेजिडेंट ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। जूनियर रेजिडेंट ने इस पूरे मामले की प्रशासन से भी शिकायत की थी। जिसकी जांच केजीमयू प्रशासन द्वारा की गई थी और दोनों पक्षों का बयान भी दर्ज कराया गया था। लेकिन केजीमयू प्रशासन की जांच से जूनियर रेजिडेंट संतुष्ट नहीं हुई थी। इसके बाद उसने थाने में तहरीर दी इस पर पुलिस ने जांच के बाद शनिवार देर रात छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कर लिया है। http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

लखनऊ: मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। राजधानी के आशियाना थाना क्षेत्र में मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने 25 हजार के इनामिया अपराधी को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके पास से एक पिस्टल और बाइक बरामद किए हैं। घायल बदमाश को पुलिस ने इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां उसका इलाज चल रहा है। 

यह भी पढ़ें: राशिफल: कर्क और कन्या राशि वालों के लिए है विशेष है सोमवार

आपको बता दें कि, 25 हजार के इनामी अपराधी पुलक तिवारी को आशियाना पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार उसके पैर पर गोली लगी है। जिसे इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने उसके पास से एक देसी पिस्टल व बाइक बरामद किया है। पुलक तिवारी पर लूट, छिनैती, हत्या सहित कई गंभीर धाराओं में आशियाना, कृष्णानगर थाना क्षेत्र में मुकदमा दर्ज है। पुलिस को काफी समय से इसकी तलाश थी। सर्विलांस टीम के माध्यम से इसकी लोकेशन आशियाना थाना क्षेत्र में मिली जिसके आधार पर पुलिस ने घेराबंदी कर इसे दबोचने का प्रयास किया। पुलिस से घिरता देख, इसने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में इसके दाहिने पैर पर गोली लगी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

गैंगस्टर हनुमान पांडेय एनकाउंटर पर पिता ने उठाए सवाल, सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला

Published

on

लखनऊ। विकास दुबे के बाद अब गैंगस्टर हनुमान पांडेय उर्फ राकेश पांडेय के एनकाउंटर को लेकर यूपी पुलिस और एसटीएफ विवादों में घिरती नजर आ रही है। गैंगस्टर हनुमान पांडेय के पिता ने बालदत्त पांडेय एसटीएफ पर संगीन आरोप लगाए हैं। गैंगस्टर के बुजुर्ग पिता का कहना है कि आज सुबह तड़के 3 बजे एसटीएफ उनके बेटे को घर से पकड़कर ले गई और फर्जी मुठभेड़ दिखाकर उसकी हत्या कर दी। पिता का कहना है कि गैंगस्टर हनुमान पांडेय लखनऊ में अपनी मां का इलाज करा रहा था।

ज्यादातर मामलों में वह कोर्ट से बरी हो चुका है। उस पर कोई इनाम भी नहीं था। आखिर किस आधार पर पुलिस और एसटीएफ ने बेटे का एनकाउंटर किया। पिता का कहना है कि उन्हें यह भी जानकारी नहीं है कि हनुमान पांडेय पर कब इनाम घोषित हुआ।

एनकाउंटर की जांच के आयोग गठित करने की मांग

उधर हनुमान पांडेय एनकाउंटर मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया है। एनकाउंटर के तुरंत बाद शीर्ष अदालत में एक याचिका दाखिल की गयी है। जिसमें हनुमान पांडेय के एनकाउंटर की निष्पक्ष जांच की मांग की गयी है। याचिकाकर्ता विशाल तिवारी ने एनकाउंटर की जांच किसी रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में कराने की मांग की है। श्री तिवारी ने याचिका में मांग की है कि विकास दुबे एनकाउंटर की तर्ज पर हनुमान पांडेय एनकांउटर की जांच के लिए भी तीन सदस्यीय न्यायिक आयोग गठित किया जाए।

यह भी पढ़ें-UP: BJP विधायक की हत्या का आरोपी इनामी बदमाश एनकाउंटर में ढेर, फैली सनसनी

बता दें, रविवार सुबह लखनऊ के सरोजिनी नगर में एसटीएफ ने राकेश पांडे का एनकाउंटर किया। 1 लाख के इनामी बदमाश हनुमान पाण्डेय उर्फ राकेश पाण्डेय के खिलाफ यूपी के कई जनपदों में एक दर्जन से अधिक हत्या सहित संगीन मामले दर्ज थे। हनुमान पाण्डेय भाजपा विधायक कृष्णा नन्द राय की हत्या में भी शामिल था। यह मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी गैंग में शॉर्प शूटर के तौर पर काम करता था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

एनकाउंटर के खौफ से पत्नी व बच्चों को ढाल बनाकर सरेंडर करने पहुंचा इनामी बदमाश

Published

on

बिकरू कांड में वांछित चल रहा था 50 हजार का इनामी उमाकांत

लखनऊ। कानपुर के बिकरू कांड में वांछित चल रहे 50 हजार के इनामी उमाकांत ने शनिवार को आत्मसमर्पण कर दिया। उमाकांत पर एनकाउंटर का खौफ इस कदर हावी था कि उसने सरेंडर करने के लिए अपनी बेटी और पत्नी को ढाल बनाया। गले में तख्ती लटकाए उमाकांत जब चौबेपुर थाने पहुंचा तो पुलिस वाले भी हैरान रह गए। गैंगस्टर विकास दुबे का साथी बताते ही पुलिसकर्मियों ने तत्काल उसे हिरासत में ले लिया। 2 जुलाई की रात बिकरू गांव में दबिश के दौरान 8 पुलिसकर्मियों को शहीद करने के मामले में उमाकांत भी नामजद आरोपी है। उमाकांत गैंगस्टर विकास दुबे का साथी था, जो बिकरू कांड के बाद से ही फरार चल रहा था।

यह भी पढ़ें-पिछले दो महीने से जनेश्वर मिश्र पार्क से गायब है राष्ट्रीय ध्वज, एलडीए बना रहा बहाने

बता दें कि बिकरू कांड के बाद एक महीने के अंदर पुलिस अब तक विकास दुबे सहित उसके करीब आधा दर्जन बदमाशों का एनकाउंटर कर चुकी है। विकास दुबे के साथी रहे जयकांत बाजपेयी के खिलाफ भी गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्यवाही की गयी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 10, 2020, 4:37 pm
Partly sunny
Partly sunny
32°C
real feel: 40°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 74%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 5:06 am
sunset: 6:18 pm
 

Recent Posts

Trending