Connect with us

क्राइम-कांड

कूड़ा फेंकने से मना करने पर दबंगों ने महिला पर लाठी-डंडों से किया हमला…

Published

on

लखनऊ। राजधानी के ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में चार दबंगों ने महिला को लाठी-डंडों से पीट-पीट कर गम्भीर रूप से घायल कर दिया जिसकी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल महिला को अस्पताल में भर्ती करवाने के साथ ही दो दबंगों को गिरफ्तार कर लिया है और दो दबंग मौके से भाग निकले। बताया जा रहा है कि जिस समय दबंगों ने महिला पर हमला किया उस वक्त महिला पर घर अकेली ही थी।

यह भी पढ़े: नगर निगम की गाड़ी की चपेट में आने से मासूम बच्ची की हुई मौत…

पूरा मामला ठाकुरगंज थाना क्षेत्र का है जहां चार दबंग युवक एक के घर के सामने कूड़ा फेंक रहे थे जिस पर उस महिला ने कूड़ा डालने को लेकर मना कर दिया जिसके बाद ही आक्रोश में आकर दबंगों ने उस महिला को लाठी-डंडों से पीटना शुरू कर दिया जिससे वह महिला गम्भीर रूप से घायल हो गई तभी उसको रोड पर घायल अवस्था में छोड़ कर बदमाश मौके से चलते बने।

साथ ही बताया जा रहा है कि महिला के घर के लोग जब वापस घर पहुंचे तो देखा कि देखा कि उनके घर की महिला घर के बाहर लहुलुहान अवस्था में तड़पती मिली। जिसके बाद ही परिजनों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी तभी मौके पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंच कर महिला को अस्पताल में भर्ती कराया साथ ही मौके से दो दबंगों को गिरफ्तार कर लिया है और दो दबंग मौके से फरार हैं। पुलिस ने महिला की तरफ से मुकदमा दर्ज कर लिया है।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

नगर निगम की गाड़ी की चपेट में आने से मासूम बच्ची की हुई मौत…

Published

on

प्रतिकात्मक चित्र

लखनऊ। राजधानी में नगर निगम की एक बड़ी लापरवाही देखने को मिली हैं जहां तेज रफ्तार नगर निगम की गाड़ी ने मासूम बच्ची को कुचल दिया जिससे वह गम्भीर रूप से घायल हो गई जिसको परिजनों ने घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया जहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि नगर निगम का वाहन मृतिका बच्ची का पिता ही चला रहा था जिसकी चपेट में आने से बच्ची की मौत हो गई।

यह भी पढ़े: नगर निगम कर्मचारी साफ-सफाई को लेकर अधिकारियों के आदेश की उड़ा रहे धज्जियां…

पूरा मामला इंदिरानगर थाना क्षेत्र के खुर्रमनगर चैराहे का है जहां पर बाबू लाल नगर निगम का वाहन चला रहा था जिसकी चपेट में उसकी 3 वर्षीय मासूम बच्ची आ गई जिससे बच्ची गंभीर रुप से घायल हो गई। जिसके बाद मासूम बच्ची के परिजन ने उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक मासूम के परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम कराए शव को लेकर घर चले गए। वहीं मृतक मासूम बच्ची के माता-पिता नगर निगम में सफाई कर्मी हैं। घटना के वक्त मृतक के माता-पिता सफाई कर रहे थे। उसी समय बच्ची वहां खेल रही थी। जिस दौरान नगर निगम की गाड़ी ने उसे कुचल दिया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

महिला काउंसलर ने अपने ही सहयोगी पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

Published

on

पीड़िता ने सीएमएस से लगाई मदद की गुहार

लखनऊ। राजधानी के अस्पतालों में महिलाओं का उत्पीड़न एवं छेड़छाड़ आम बात हो गई है। मामला बलरामपुर अस्पताल का है जहां तैनात महिला काउंसलर ने अपने ही सहयोगी पर उत्पीड़न का आरोप लगा दिया है। महिला का कहना है कि सहकर्मी उनसे जबरन बात करने का प्रयास करते हैं, उन पर असम्मानजनक तरीके से टिप्पणी करते हैं। इस मानसिक उत्पीड़न की शिकार महिला ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से मदद की गुहार लगायी है।

सीएमएस ने कहा कि जब लिखित शिकायत नहीं मिलती वह किसी पर कार्रवाई करना तो दूर सीधे तौर पर जवाब तलब भी नहीं कर सकते हैं। जिला चिकित्सालय बलरामपुर में मानसिक रोग विभाग में एक वर्ष पूर्व कुछ काउंसलर तैनात किए गए। करीब आधा दर्जन काउंसलर का काम है कि वह मानसिक रोगों से ग्रसित मरीजों से बात करें तथा काउंसलिंग कर उनकी मनोदशों को सामान्य करने की कोशिश करें। इन काउंसर में एक महिला भी है जिसने मंगलवार को अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरके सक्सेना के समक्ष अपने ही सहयोगी पर उत्पीड़न का आरोप लगा दिया है।

यह भी पढ़ें :- अवकाश के दिन अस्पताल पहुंचे मरीज, क्वीन मेरी में मरीज और सुरक्षा गार्डों में झड़प

महिला ने बताया कि सहकर्मी बेहजह उन्हें परेशान करते हैं उनसे बात करने का प्रयास करते हैं। आते जाते उन्हें टोकते हैं। महिला ने शिकायत की कई बार सहकर्मियों ने ऐसी बात करने की कोशिश की जो एक महिला से करना अनुचित माना जाता है। लगातार हो रहे मानसिक उत्पीड़न से वह तंग आ चुकी है इसीलिए शिकायत कर रही है।

महिला ने सीएमएस डॉ. सक्सेना से अनुरोध किया कि वह अनौपचारिक तौर पर आरोपी काउंसलर से बात करे और सख्ती के साथ ऐसा न करने की हिदायत दें। सीएमएस डॉ. सक्सेना ने महिला से कहा कि उनके द्वारा जो आरोप लगाए गए हैं वह गंभीर आरोपों की श्रेणी में आते हैं और बगैर किसी लिखित शिकायत के यूं ही किसी चिकित्सक से सवाल जवाब नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि यदि वास्तव में उन्हें कोई परेशान कर रहा है या फिर उत्पीड़न का प्रयास कर रहा है तो वह उसका डटकर मुकाबला करें और लिखित शिकायत करें ताकि चिकित्सा प्रशासन को एक आधार मिले और आरोपी से पूछताछ की जा सके। उक्त मामले में डॉ. सक्सेना का कहना है कि यदि महिला काउंसलर लिखित शिकायत करती हैं तो प्रकरण की जांच की जाएगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

बताते चलें कि कुछ माह पहले भी बलरामपुर अस्पताल के दो महिला कर्मचारियों ने अपने ही एक सहयोगी के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत निदेशक से की थी। बाद में निदेशक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी कर्मचारी को सख्त चेतावनी देते हुए उसे कहीं और तैनात कर दिया था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

अवकाश के दिन अस्पताल पहुंचे मरीज, क्वीन मेरी में मरीज और सुरक्षा गार्डों में झड़प

Published

on

लखनऊ। केजीएमयू में बड़े मंगल के अवसर पर मंगलवार को अवकाश रहा। वहीं इससे अंजान बहुत से मरीज ओपीडी में आ गए। यहां आने पर अवकाश की सूचना मिली तो मरीज मायूस होकर घर लौट गए। वहीं क्वीन मेरी में मरीज और सुरक्षा गार्डों में झड़प भी हुई। कर्मचारियों के अवकाश की सूचना देने के बाद ही मरीज शांत हुए। क्वीनमेरी ओपीडी में मरीज के दाखिल होने पर रोक थी। यहां ओपीडी में करीब 250 से ज्यादा मरीज आते हैं। सरकारी अस्पतालों में ओपीडी का संचालन 12 बजे तक हुआ। मरीजों को छुट्टी की जानकारी न होने से मुसीबतों का सामना भी करना पड़ा।

यह भी पढ़ें :- लखनऊ जिलाधिकारी द्वारा ईवीएम की गणना करने वाले कार्मिकों को दी गई ट्रेनिंग…

झलकारीबाई अस्पताल में जांच करवाने आई गर्भवती महिलाओं में से कुछ फैजाबाद, सीतापुर, उन्नाव, बाराबंकी, संतकबीरनगर जैसे दूर-दराज इलाकों से आईं थीं। 12 बजते ही ओपीडी खाली होने लगी, उन्नाव से आई रेखा मिश्रा ने नर्स से ओपीडी के टाइमिंग पूछी तो पता चला कि आज ओपीडी आधे दिन तक ही चलेगी। मरीजों के मुताबिक वह दूर से आई हैं उनका दोबारा आना मुश्किल होगा पर छुट्टी के चलते उन्हें डॉक्टर नहीं मिल सके। 12 बजे पर्चा काउन्टर बंद हो गया जिसके बाद सीतापुर निवासी सुजाता अपना इलाज कराने लोहिया अस्पताल पहुंची। पर्चा न बन पाने के कारण अस्पताल कर्मियों से उनकी नोकझोंक भी हुई। बिना पर्चे के ही वो चिकित्सक के कमरे में पहुंची तो वहां ताला लटका देख उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा। सुजाता का कहना हैं कि ट्रेन में होने के कारण उन्हें छुट्टी की जानकारी नहीं मिल सकी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 22, 2019, 1:11 pm
Partly sunny
Partly sunny
38°C
real feel: 41°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 23%
wind speed: 3 m/s NNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 11
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:21 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending