Connect with us

क्राइम-कांड

बच्चा चोर समझकर लोगों ने संदिग्ध युवक को पकड़ा, किया पुलिस के हवाले

Published

on

लखनऊ। थाना सहादतगंज क्षेत्र में रविवार को एक मासूम बच्ची के साथ हुए दर्दनाक हादसे को अभी ज्यादा समय भी नहीं बीता था कि एक बार फिर से एक वहशी मासूम बच्ची को गलत नियत से पकड़ कर ले जाते हुए धरा गया। जिससे कि एक और घटना घटने से बच गई। बता दें कि राजधानी के महानगर थाना क्षेत्र में मंगलवार देर रात आईटी कॉलेज के पास एक संदिग्ध युवक एक बच्ची को पकड़ कर ले जा रहा था।

आसपास के लोगों की नजर जब उस पर पड़ी, तो लोगों को कुछ शक हुआ। जिसके बाद लोगों ने उसको धर दबोचा। पकड़े गए युवक से जब स्थानीय लोगों ने लड़की को पकड़ कर ले जाने का कारण पूछा, तो युवक द्वारा संतोषजनक जवाब न दिए जाने पर मौके पर मौजूद स्थानीय लोगों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। जिसके बाद स्थानीय लोगों द्वारा पकड़े गए संदिग्ध युवक को महानगर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।

ये भी पढ़ें: कलयुगी बाप पर नाबालिग बेटी ने लगाया रेप का आरोप, भेजा गया जेल

वहीं महानगर थाना प्रभारी का कहना है की मामला छेड़छाड़ से संबंधित है। पकड़े गए युवक का नाम धनीराम है और वह कालीमाती उन्नाव का निवासी है, जोकि लड़की को गलत नियत से पकड़ कर ले जा रहा था। फिलहाल लड़की की दादी की तहरीर पर आरोपी पर छेड़छाड़ का मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है और आगे की करवाई की जारी कर दी गई है। http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

केजीएमयू में इलाज नहीं मिलने से मासूम की मौत

Published

on

परिजनों के हाथ जोड़ने के बाद भी नहीं सुने डॉक्टर, मौत के बाद परिजनों को वार्ड से भगाया बाहर

लखनऊ। सीएम से लेकर स्वास्थ्य मंत्रियों व अधिकारियों के अस्पतालों में निरीक्षण भी बेअसर साबित हो रहे हैं। लोहिया संस्थान के बाद केजीएमयू में भी इनके निर्देशों की अवहेलना हो रही है। केजीएमयू में परिजनों के हाथ जोड़ने के बाद भी डॉक्टर नहीं सुने। यहां तक कि मासूम की मौत के बाद यह कहकर परिजनों को बाहर कर दिया गया कि आपके बच्चे की मौत हो गई है। अब हम कुछ नहीं कर सकते। इसके बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

अलीगंज निवासी चार माह के मासूम मोहम्मद जैन जन्म से सिर में ब्लड जमा हुआ था। बीती देर रात उसकी हालत गंभीर होने पर उसे परिजन उसको किसी निजी अस्पताल ले गए लेकिन वहां उसको भर्ती करने से मना कर दिया गया। मासूम मोहम्मद जैन के मामा इरफान ने बताया कि हम करीब देर रात करीब 1.30 बजे बच्चे को लेकर केजीएमयू पहुंचे। बच्चे को तो ट्रॉमा के पीडियाट्रिक विभाग में भर्ती कर लिया गया लेकिन पांच घंटे तक उसको कोई डॉक्टर ही नहीं देखने आया। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर बगल के कमरे में सो रहे थे। बच्चे की हालत पहले से और गंभीर होने लगी।

यह भी पढ़ें :- हॉटस्पॉट इलाकों, कोविड अस्पतालों व क्वांरटीन सेंटरों के लिए नोडल अफसर नामित

मामा इरफान के मुताबिक, उसने इस दौरान डॉक्टरों के हाथ जोड़े लेकिन उनपर इसका कोई असर नहीं हुआ हांलाकि एक कर्मचारी ने बच्चे को दो इंजेक्शन लगा दिए जिसके बाद बच्चे के स्कीन से खून निकलने लगा। इसके बाद कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई। इरफान का कहना है कि बच्चे की मौत के बाद हम लोगों को विभाग से यह कहकर बाहर कर दिया गया कि आपका बच्चा मर चुका है। अब हम कुछ नहीं कर सकते।

सुबह करीब 10 बजे ट्रॉमा के बाहर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। रोने की आवाज सुनकर आस-पास के लोग भी जुट गए। हांलाकि परिजन मासूम के शव को लेकर वापस चले गए। इस संबन्ध में केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने कहा कि उन्हें इस पूरे मामले की कोई जानकारी नहीं है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

हजरतगंज में चेकिंग के दौरान युवती का हाई वोल्टेज ड्रामा, पुलिस ने गाड़ी किया सीज

Published

on

लखनऊ। राजधानी के हजरतगंज चौराहे पर चेकिंग के दौरान स्कूटी सवार युवक युवती को रोकना पुलिस को भारी पड़ गया, स्कूटी चला रहे युवक से गाड़ी का कागज मागने पर युवक और युवती पुलिस से भिड़ गए, और युवती हाई वोल्टेज ड्रामा करने लगी।

चौराहे पर युवक और युवती द्वारा हाई वोल्टेज करने के बाद महिला पुलिस को बुलाया गया। महिला थाना इंस्पेक्टर के अनुसार चौक निवासी सत्यांश मिश्रा नामक युवक ने हजरतगंज में ट्रैफिक नियम को तोड़ते हुए गाड़ी निकाल रहा था

इसे भी पढ़ें-तिहरे हत्याकांड के आरोपी को कोर्ट ने किया बरी, पुलिस की जांच पर उठाए सवाल

जिसपर पुलिस ने युवक को रोककर स्कूटी का कागज दिखाने को बोला इस पर युवती पर भड़क गई और ड्रामा करने लगी। युवक युवती द्वारा स्कूटी का कोई भी कागज न उपलब्ध कराये जाने पर हजरतगंज पुलिस ने स्कूटी को सीज कर थाने भेज दिया।वही इस पूरे मामले में ट्रैफिक डीसीपी ने ट्रैफिक पुलिस से भी स्पष्टिकरण मांगा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

हजरतगंज में सरेआम पुलिसकर्मी ने रिक्शा चालक को पीटा, वीडियो वायरल

Published

on

लखनऊ। राजधानी के हजरतगंज में एक रिक्शा चालक को इनोवा कार से उतरे पुलिसकर्मी ने पीट-पीटकर लहु-लुहान कर दिया। पुलिसकर्मी ने रिक्शा चालक को पीटते-पीटते जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद गाड़ी में बैठकर आगे चला गया। गाड़ी जाने के बाद घायल रिक्शा चालक को स्थानीय लोगों ने अस्पताल पहुंचाया। पुलिसकर्मी की इस गुंडई से लोगों में रोष है। लखनऊ पुलिस ने भी इस मामले में चुप्पी साध रखी है। पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसे देखने के बाद एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें-इंदिरा नगर के RS एकेडमी ने भी दो महीने की फीस माफी का किया ऐलान

मामला सोमवार देर शाम है। हजरतगंज में एक रिक्शा चालक सवारियों के इंतजार में खड.ा था। इसी बीच वहां से गुजरी एक इनोवा कार (यूपी 33 एआर 1276) में रिक्शा छू गया। आरोप है कि इस बात से नाराज होकर कार से गाली देते हुए उतरे पुलिसकर्मी ने रिक्शा चालक को पीटना शुरू कर दिया। आरोप पुलिसकर्मी का नाम धमेन्द्र कुमार है।

पिटाई के दौरान उसकी नेम प्लेट टूटकर मौके पर ही गिर गयी। रिक्शा चालक को पीटने के बाद धर्मेन्द्र यादव गाड़ी में बैठकर चला गया।

तहरीर मिले तो करें कार्रवाई

इस मामले में लखनऊ ने बताया कि पीड़ित रिक्शा चालक की तलाश की जा रही है। तहरीर मिलने पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बताया जा रहा है कि गाड़ी किसी नेता की है और आरोपी पुलिसकर्मी वीआईपी सुरक्षा में तैनात है। इसी के चलते पुलिस भी कार्रवाई से बच रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 5, 2020, 8:23 am
Rain
Rain
23°C
real feel: 24°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 94%
wind speed: 3 m/s N
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:28 pm
 

Recent Posts

Trending