Connect with us

क्राइम-कांड

पीएफ घोटालाः तत्कालीन सचिव पीके गुप्ता का बेटा अभिनव गुप्ता भी गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पाॅवर कारपोरेशन में करीब करीब 2300 करोड़ रुपए के घोटाले में जेल जा चुके सचिव पीके गुप्ता के बेटे अभिनव गुप्ता को भी ईओडब्ल्यू ने गिरफ्तार कर लिया। जांच एजेंसी कई दिनों से अभिनव गुप्ता को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। जिसमें उसने कई अहम सुराग भी दिए हैं। जांच एजेंसी ने अभिनव के साथ ब्रोकर आशीष चौधरी को भी गिरफ्तार किया है। शुरूआती जांच में पता चला है कि अभिनव के कहने पर ही आशीष की फर्म में निवेश किया गया था। जिसके बदले में 60 लाख रुपये दिये गए थे। गुरुवार को अभिनव गुप्ता लखनऊ स्थित ईओडब्ल्यू कार्यालय में पीएफ घोटाले से संबंधित अपने बयान दर्ज कराने आया था।

खबरों के मुताबिक अभिनव के जरिए ही बिजली कर्मचारियों के पीएफ का पैसा डीएचएफएल में निवेश किया गया था। अभिनव गुप्ता का करीब ब्रोकर आशीष चौधरी फर्जी ब्रोकिंग कंपनी चलाता था। कुल 14 फर्जी ब्रोकरेज कंपनियों के जरिए डीएचएफएल में करोड़ों रुपए का निवेश किया गया। इस पूरे निवेश में जमकर कमीशनखोरी की गयी। यूपीपीसीएल में पीएफ घोटाले में अभिनव गुप्ता की चौथी बड़ी गिरफ्तारी है। अब तक घोटाले में कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार ब्रोकर भी गाजियाबाद का रहने वाला है। उसने गाजियाबाद के ही एड्रेस पर इंफोलाइन नाम से शेयर ब्रोकर फर्म बनाई थी। डीएचएफएल में भविष्य निधि निवेश के लिए आशीष चौधरी की कंपनी इंफोलाइन को करोड़ों रुपए का कमीशन मिला। इसके लिए आशीष चैधरी को 50 लाख रुपये की दलाली भी मिली। इस पूरे खेल में अभिनव गुप्ता की भूमिका अहम है। अभिनव ने आशीष के साथ मिलकर फर्जी ब्रोकर कंपनियां बनाईं।

यह भी पढ़ें-युवा कवि अमन चांदपुरी की याद में संगोष्ठी व पुस्तक विमोचन कार्यक्रम आयोजित

बता दें कि बिजली कर्मचारियों के पीएफ घोटाले में अपने पिता की गिरफ्तारी के बाद से अभिनव गुप्ता फरार चल रहा था। अभिनव को पकड़ने के लिए पांच सदस्यीय टीम का गठन किया गया था। जांच एजेंसी ने अभिनव को हिरासत में लेकर जब पूछताछ शुरू की तो कई राज खुल गए। जिसके बाद गुरुवार को ईओडब्ल्यू ने अभिनव को गिरफ्तार कर लिया। अभी तक इस मामले में जांच एजेंसी ने तत्कालीन वित्त निदेशक सुधांशु द्विवेदी, इंप्लाइज ट्रस्ट के सचिव पीके गुप्ता, पाॅवर कारपोरेशन के पूर्व एमडी एपी मिश्र को गिरफ्तार किया जा चुका है।http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

मुजफ्फरनगर: 8 साल की बच्ची को अगवा कर दुराचार के बाद कर दी हत्या

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से दहला देने वाली खबर सामने आई है। यहां एक मासूम बच्ची के साथ हैवानियत की हदें पार कर दी गईं। आरोप है कि बच्ची के साथ रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गयी। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि बच्ची के हांथ-पैर भी काट दिए गए। घटना मंसूरपुर थाना क्षेत्र की है। शुक्रवार को बच्ची का क्षत-विक्षत शव मिलने से हड़कंप मच गया। 8 वर्षीय बच्ची गुरुवार शाम को अचानक लापता हो गयी थी। परिजनों ने काफी खोजबीन की। देर रात परिजनों ने पुलिस को भी सूचना दी। शुक्रवार सुबह गांव के पास ही बच्ची का शव बरामद किया गया। बच्ची के परिजनों ने रेप के बाद हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

यह भी पढ़ें-लखनऊः पति व बेटे ने मिलकर महिला के प्रेमी को उतारा मौत के घाट, तीन गिरफ्तार

एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि गुरुवार देर रात बच्ची के परिजनों ने पुलिस को सूचना दी कि उनकी 8 वर्ष की बच्ची शाम से गायब है। पुलिस तत्काल कार्रवाई करते हुए गांव के लोगों से पूछताछ की। जानकारी मिली कि बच्ची को आखिरी बार गांव के ही एक व्यक्ति के साथ देखा गया था। संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।

आरोपी ने बताया कि उसने बच्ची का गला घोंट कर मार दिया है। आरोपी की निशानदेही पर बच्ची का शव बरामद किया गया। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफतार कर लिया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

बेरोजगारी से रेस्त्रां कर्मचारी व कैब ड्राइवर ने की आत्महत्या

Published

on

पुलिस दोनों के पास से नहीं मिले सुसाइड नोट

लखनऊ। राजधानी में इन दिनों बेरोजगारी से सुसाइड केस में इजाफा हो रहा है। बेरोजगारी की वजह से चिनहट में एक रेस्त्रां के कर्मचारी व बंथरा में कैब ड्राइवर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। पुलिस को दोनों के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

चिनहट में एक रेस्त्रां के कर्मचारी रवि सिंह (23) ने फांसी लगा ली। उसे फंदे पर लटका देखकर उसे नीचे उतारा गया और लोहिया अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घरवालों का कहना है कि रेस्त्रां बंद होने के बाद वह बेरोजगार हो गया था। इसी कारण उसने फांसी लगाई।

यह भी पढ़ें: माकपा ने नई शिक्षा नीति का किया विरोध, संसद में विचार विमर्श करने की मांग

विकल्पखंड निवासी मुन्ना सिंह के बेटे रवि ने देर रात घर के प्रथम तल पर टीन शेड में फांसी लगा ली। उसकी मां किरन उसे फंदे पर लटका देखकर शोर मचाया। शोर शराबा सुनकर पड़ोसी जुटने लगे। उन लोगों ने उसे नीचे उतारा और लोहिया अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस का कहना है, कि वह एक रेस्त्रां में काम करता था। आत्महत्या से पहले उसने पिता और भाई से बेरोजगारी को लेकर काफी देर तक बातचीत की थी। घरवालों ने उसे दिलासा दिलाया था।

बंथरा में कैब ड्राइवर शेर बहादुर (32) ने फांसी लगा ली। बंथरा के अलीनगर खुर्द निवासी शेर बहादुर कैब ड्राइवर था। देर रात खाना खाने के बाद परिवारीजन से उसका किसी बात को लेकर विवाद हो गया। जिसके बाद उसने निर्माणाधीन मकान में जाकर फांसी लगा ली। सुबह तक वह घर नहीं आया तो उसकी तलाश शुरू हुई। घरवालों ने देखा कि उसका शव लटक रहा था।http://satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

लखनऊः पति व बेटे ने मिलकर महिला के प्रेमी को उतारा मौत के घाट, तीन गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। राजधानी के पारा थाना क्षेत्र में अवैध संबंधों के कारण एक व्यक्ति की गला दबाकर हत्या कर दी गई। घटना के बाद हत्यारों ने शव को नाले के किनारे दफना दिया। घटना का खुलासा तो तब हुआ जब मृतक की बहन ने पारा थाने में मृतक उदयराज की गुमशुदगी दर्ज कराई। जब मामले की जांच पड़ताल शुरू हुई तब जाकर मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।

मिली जानकारी अनुसार, पुलिस ने हत्यारों की निशानदेही पर बीती रात 3:00 बजे नाले के किनारे से उदय राज के शव को बरामद किया। जिसके बाद शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मूलरूप से अमेठी के रहने वाले उदयराज यादव उम्र लगभग 45 वर्ष पुत्र श्री नाथ यादव निवासी पूर्वी दिन खेड़ा पारा की हत्या छेदु रावत पुत्र मोहन ग्राम बेलहार माल ने अपने पुत्र व पत्नी के साथ मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

बता दें कि, घटना 6 जुलाई की रात 10:00 बजे की है। घटना के बाद हत्यारों में उदयराज के शव को नाले के किनारे दफना दिया और फरार हो गए। 21 जुलाई को मृतक उदय राज की बहन रामदुलारी ने गुमशुदगी की रिपोर्ट पारा थाने में दर्ज कराई। जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू की। आस-पास से मिली जानकारी के बाद पुलिस ने आरोपी छेदु पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। जिसके बाद घटना का खुलासा हुआ।

इसे भी पढ़ें- आजादी के 73वें साल बाद पहली बार पाकिस्तान सीमा से सटे इस गांव में पहुंची बिजली

एसीपी काकोरी काशिम आबिद ने बताया कि छेदु रावत की पत्नी राजेश्वरी का अवैध संबंध उदयराज से था। उन दोनों के संबंध से एक पुत्र भी हुआ था। छेदु के कुल 8 बच्चे हैं। छेदु ने 6 जुलाई की रात अपनी पत्नी जागेश्वरी व पुत्र जोगेंद्र के साथ मिलकर उदयराज की गला दबाकर हत्या कर दी।

पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि उन्होंने हत्या करने से पहले उदय राज को शराब पिलाया था। जब वह नशे में हो गया तो तीनों ने मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। उदयराज बोरिंग का काम करता था। आंखों से कम दिखाई देने के कारण प्रॉपर्टी का भी काम करने लगा था। वही हत्यारा छेदु मजदूरी करता है और पूर्वी दिन खेड़ा नाले के ऊपर घर बनाकर अपने परिवार कर साथ रहता है।

आरोपियों ने बताया कि दोनों के बीच करीबन 25 साल से अवैध संबंध थे। लॉकडाउन के दौरान वह अपनी पत्नी को लेकर चंडीगढ़ चला गया था। जब लॉकडाउन खत्म हुआ तो वह अपनी पत्नी के साथ पुनः पूर्वी दिन खेड़ा आ गया। जहां फिर जागेश्वरी देवी उदय राज यादव के संबंध में आ गई। यह बात छेदु को नागवार गुजरी उसने हत्या की रणनीति बनाते हुए जागेश्वरी को जान से मारने की धमकी देकर अपने कृत्य में शामिल कर लिया और अपने बेटे जोगेंद्र के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 3, 2020, 4:35 pm
Cloudy
Cloudy
32°C
real feel: 38°C
current pressure: 99 mb
humidity: 67%
wind speed: 1 m/s W
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:02 am
sunset: 6:23 pm
 

Recent Posts

Trending