Connect with us

क्राइम-कांड

कड़ी सुरक्षा के बीच दफनाया गया बच्ची का शव, आरोपी को भेजा गया जेल

Published

on

लखनऊ: राजधानी में रविवार रात को थाना ठाकुरगंज में 6 साल की मासूम बच्ची के साथ रेप के बाद हत्या के मामले में एक नया मोड़ आया है, जिसमें बच्ची के परिजनों का आरोप है कि थाने की लापरवाही के चलते बच्ची की जान गई है, वहीं एसपी का कहना है कि पीड़ित परिवार साढ़े छह बजे थाने पर पहुंचा है। आरोप है कि पुलिस बच्ची के साथ हुए रेप पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। वहीं पुलिस ने अंतिम संस्कार की जल्दबाजी में अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं देखी है। इसी क्रम में मासूम की बच्ची की मां का कहना है कि मेरी बच्ची की दरिंदगी के बाद हत्या हुई है।

वहीं सोमवार को बच्ची को दफनाने के लिए ऐशबाग कब्रिस्तान ले जाया गया। बच्ची के जनाजे में भारी संख्या में स्थानीय लोग शामिल हुए। घटना के प्रति लोगों में काफी रोष है। बच्ची का शव कब्रिस्तान ले जाने से लोगों व परिजनों ने मुआवजे की मांग की। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए जनाजे के साथ एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी व कई थानों की फोर्स मौके पर मौजूद रही। इस बीच सोमवार सुबह पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया और वहां से जेल भेज दिया। कोर्ट में पेशी के दौरान वकीलों ने आरोपी की जमकर पिटाई भी की। बताया जा रहा है कि आरोपी बच्ची का मुंह बोला मामू लगता है।

ये भी पढ़ें: यमुना एक्सप्रेस-वे पर दिखा खौफनाक मंजर, पुल से लटकी बस, 10 लोग घायल

बता दें कि बाबा हजारी बाग निवासी 6 साल की खदीजा रविवार को अचानक लापता हो गयी थी। काफी देर तक बच्ची के न दिखने पर परिजनों ने खदीजा की खोज शुरू की। न मिलने पर परिजनों ने सहादतगंज पुलिस को घटना की जानकारी दी और बच्ची को ढूंढने की गुहार भी लगाई। वहीं देर रात बच्ची का गला रेता हुआ शव बरामद हुआ। बच्ची का शव मिलते ही परिजनों व स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया था। आक्रोशित क्षेत्र वासियों ने अम्बरगंज चैकी का घेराव भी किया था, जिसके बाद पुलिस ने मामले की कार्रवाई शुरू की थी।  http://www.satyodaya.com 

क्राइम-कांड

ATM कार्ड क्लोनिंग व पेटीएम केवाईसी के नाम पर दस लोगों से 3 लाख की ठगी

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ। राजधानी में एटीएम कार्ड क्लोनिंग व पेटीएम केवाईसी के नाम पर लूट की घटनाएं नहीं थम रही हैं। इस बार ठगों के झांसे में रिटायर रेलकर्मी समेत दस लोगों आ गए हैं। जिनसे ठगों ने तीन लाख रुपए ऐंठ लिए हैं। ट्रांजेक्शन मैसेज और पासबुक अपडेट कराने पर पीड़ितों को धोखाधड़ी किए जाने की बात पता चली। जिसकी एफआईआर आशियाना, इंदिरानगर, सरोजनीनगर, बंथरा, हसनगंज, महानगर, नाका और पीजीआई कोतवाली में दर्ज कराई गई है। 

शारदानगर रुचिखण्ड निवासी प्रीति सिंह का एसबीआई में अकाउंट है। मंगलवार को उनके मोबाइल पर कॉल आई थी। बात करने वाले शख्स ने अपनी पहचान पेटीएम कर्मी के तौर पर दी थी। केवाईसी अपडेट करने का झांसा देकर ठग ने दो बार में उनके खाते से करीब पचास हजार रुपए निकाल लिए। इसी तरह इंदिरानगर निवासी रंजीता त्रिपाठी से 37 हजार, बंथरा बेती निवासी देवेश शुक्ला से 90 हजार और पीजीआई एल्डिको निवासी रितु शर्मा से भी पेटीएम केवाईसी के नाम पर पांच हजार रुपए ठगों ने हड़प लिए। 

ये भी पढ़ें: मलिहाबाद में मिले युवती के शव की हुई शिनाख्त, धारदार हथियार से की गई थी हत्या

सरोजनीनगर शमा विहार निवासी सत्येन्द्र प्रताप यादव के डेबिट कार्ड का क्लोन बना कर 37 हजार रुपए निकाले गए। इसी तरह चिल्लावां निवासी कृष्णा कुमार के एटीएम कार्ड का क्लोन बना कर ठगों ने छह हजार रुपए उनके खाते से निकाल लिए। इसके अलावा इंदिरानगर निवासी संगीता के खाते से नौ हजार, महानगर निवासी मोहसिन मियां के खाते से 45 हजार और राजाजीपुरम निवासी प्रसून कमाल के अकाउंट से तीन हजार रुपए निकाल लिए गए। 

पीजीआई हिमालयन कॉलोनी निवासी लक्ष्मण प्रसाद रेलवे से रिटायर हुए हैं। गुरुवार को वह उतरठिया स्थित आंध्रा बैंक एटीएम सेंटर गए थे। वह बूथ में मशीन प्रयोग कर रहे थे। उसी दौरान दो युवक वहां आ गए। मशीन से रुपए नहीं निकल रहे थे। इस पर युवकों ने मदद की बात कहते हुए उनका एटीएम कार्ड ले लिया। आरोप है कि बातों में उलझाते हुए युवकों ने उन्हें दूसरा कार्ड थमा दिया और वहां से चलते बने। वहीं, घर पहुंचने पर लक्ष्मण प्रसाद को खाते से 25 हजार रुपए निकाले जाने की जानकारी हुई। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

मलिहाबाद में मिले युवती के शव की हुई शिनाख्त, धारदार हथियार से की गई थी हत्या

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ। मलिहाबाद के फरीदीपुर गांव के पास रेलवे लाइन पर सोमवार देर रात मिले शव की शिनाख्त नूरी (28) के रूप हुई है। बताया जा रहा है कि हत्यारों ने बेरहमी से युवती की गर्दन काटकर हत्या कर दी थी। इस दौरान पुलिस भी युवती के शव की पहचान नहीं करा सकी थी। वहीं बुधवार देर रात इंस्पेक्टर वजीरगंज की मदद से परिजनों ने उसकी शिनाख्त की। 

परिजनों के अनुसार युवती सोमवार को अपने घर से कुछ सामान लेने के लिए स्कूटी से निकली थी। जिसके बाद से युवती का कोई सुराग नहीं लगा। सीओ मलिहाबाद नईमुल हसन का कहना है कि जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। वजीरगंज के आगामीर ड्योढ़ी निवासी मोहम्मद असलम सब्जी विक्रेता है। उनकी बेटी नूरी सोमवार शाम को अपनी बड़ी बहन तबस्सुम से कहा कि वह कुछ देर में सामान लेकर आ रही है।

इसके बाद से वह लापता हो गई। घरवालों ने उसकी काफी तलाश की। उसके मोबाइल पर घंटी गई, लेकिन देर रात स्विच ऑफ हो गया। हताश होकर मां खैरुन निशा बुधवार को पति के साथ वजीरगंज कोतवाली पहुंची। इंस्पेक्टर वजीरगंज दीपक दुबे ने उन्हें मलिहाबाद के फरीदीपुर गांव स्थित रेलवे लाइन किनारे मिले महिला के शव का वायरल फोटो दिखाया। उसे देखकर उन्होंने बेटी नूरी के रुप में पहचान की।

पति के जेल जाने पर मायके में रह रही थी युवती

मां खैरुन के मुताबिक बेटी नूरी ने करीब दो साल पहले मछली मोहाल निवासी सुलतान से प्रेम विवाह किया था। शादी के दो माह बाद कैसरबाग पुलिस ने सुलतान को चोरी के आरोप में गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। इसके बाद से वह मायके में आकर रहने लगी थी। सोमवार को वह अपने पति से जेल से मिलकर लौटी थी। परिवार में माता-पिता और छह भाई बहन हैं। मां खैरुन निशा एक अस्पताल में काम करती हैं। 

ये भी पढ़ें: सरसों के खेत में मिला युवती का शव, जांच में जुटी पुलिस…

सीओ मलिहाबाद नईमुल हसन के मुताबिक नूरी की स्कूटी व मोबाइल गायब है। सोमवार देर शाम उसकी लोकेशन मलिहाबाद में मिली है। उनका मानना है कि नृशंस हत्या के बाद आरोपी घटना को हादसा बताने के लिए शव को रेलवे लाइन किनारे फेंक गए। रेलवे कर्मचारी की सूचना पर पुलिस को जानकारी हुई। उनका कहना है कि कुछ लोगों को चिन्हित किया गया है। जल्द ही हत्या का खुलासा करके आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। 

बता दें कि गुरुवार को महिला डॉक्टर के एक पैनल ने नूरी के शव का पोस्टमार्टम किया। सिर पर कटे का लम्बा निशान, सीधा हाथ कोहनी से कटकर गायब हो गया। गर्दन को बर्बरतापूर्वक काटा गया था। करीब आठ सेंटीमीटर गर्दन जुड़ी रह गई थी। डॉक्टरों का मानना है कि आरोपी ने हत्या में धारदार चापड़ का इस्तेमाल किया है। बचाव में चापड़ लगने से नूरी का सीधा हाथ कट गया। कटे हुए बाजुओं पर जानवरों के नोंचने के निशान भी मिले हैं। लोगों का कहना है कि कटा हुआ हाथ सम्भवत जानवर ले गए।

Continue Reading

क्राइम-कांड

लखनऊ: काकोरी में युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या…

Published

on

फांसी लगाकर

फाइल फोटो

लखनऊ। काकोरी थाना क्षेत्र के दुर्गागंज में एक युवक ने गुरुवार देर रात फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। जिसके बाद हंगामा मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस का कहना है कि मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जिससे उसकी हत्या का कारण पता चल सके।

ये भी पढ़ें:डफरिन अस्पताल में खुलेगा पुस्तकालय, स्त्रीरोग व प्रसूता विषय पर कोर्स भी होगा संचालित

काकोरी में दुर्गागंज पेट्रोल पम्प के पास रहने वाले आशीष रावत ने अपने कमरे में रस्सी से छत के कुंडे में फांसी लगा ली। शुक्रवार सुबह कमरे का दरवाजा भीतर से बंद था। भाई पंकज रावत ने खिड़की से झांक कर देखा तो आशीष का शव फंदे पर लटका मिला। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को नीचे उतारा। परिवार में पिता संतराम, मां रामरानी, भाई पंकज और बहन गुडिय़ा हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 28, 2020, 4:48 pm
Partly sunny
Partly sunny
25°C
real feel: 25°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 57%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 6:02 am
sunset: 5:36 pm
 

Recent Posts

Trending