Connect with us

क्राइम-कांड

महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

Published

on

लखनऊ। राजधानी के मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र स्थित खुजौली गांव में बुधवार देर रात घर में अकेली महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पति की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिये भेजा।

मृतका के पति संतशरण ने बताया कि जब ये घटना हुई उस वक्त वो अपने दोस्तों के साथ डोभिया गांव में रामायाण देखने गया था। देर रात वापस आकर दरवाजा खटखटाया तो किसी ने नहीं खोला। जिसके बाद वो छत के रास्ते से घर के अंदर गया तो देखा कि उसकी पत्नी सरिता का शव दुपट्टे के सहारे कुंडे से लटका हुआ है।

पत्नी के शव को देख संतशरण के होश उड़ गए। उसने अगल-बगल के लोगों को आवाजें दी तो बाकी लोग भी वहां आ गए। पति संतशरण ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। बता दें, संतशरम का साढ़े तीन साल का मासूम बेटा सावन भी है, जो उसके साथ खुजौली गांव में ही रहता है।

ये भी पढ़ें: युवक ने किशोरी को अगवा कर, जबरन रचाई शादी

इंस्पेक्टर जीडी शुक्ला ने बताया कि पति की सूचना के बाद मौके पर पहुंचकर मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। प्रथम दृष्टया तो ये मामला  पति से झगड़े के बाद आत्महत्या किये जाने का लगता है। पुलिस जांच कर रही है। पीएम रिपोर्ट के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। http://www.satyodaya.com

क्राइम-कांड

गोरखपुर में दिनदहाड़े मां-बेटी को मारी गोली, महिला की मौत, बेटी भी घायल

Published

on

स्कूटी सवार मां-बेटी पर अज्ञात बदमाशों ने की अंधाधुंध फाॅयरिंग

लखनऊ। मुख्यमंत्री के गृहजनपद गोरखपुर में रविवार को स्कूली सवार मां-बेटी को बदमाशों ने गोली मार दी। हमले में महिला की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि घायल युवती को गंभीर हालत में बीआरडी मेडिकल काॅलेज में भर्ती कराया गया है। घटना जनपद के शाहपुर थाना क्षेत्र की है। रामजानकीनगर पूर्वी में रहने वाले मेजर मनीष की ससुराल बशारतपुर में है। रविवार दोपहर को मेजर मनीष की पत्नी निवेदिता (40) अपनी बेटी डेलसिया (16) के साथ स्कूटी से अपनी ससुराल रामजानकीनगर पूर्वी जाने के लिए निकलीं। घर से कुछ आगे बढ़ने ही राजीवनगर के आशियाना मोड़ पर बाइक सवार दो बदमाशों ने मां-बेटी को घेरकर फायरिंग शुरू कर दी।

गोली लगने से मां-बेटी सड़क पर गिर पड़ीं। चीख-पुकार सुन आसपास के लोग दौड़े लेकिन बदमाश हवाई फायरिंग करते हुए भाग निकले। सूचना पाकर मौके पर पहुंची शाहपुर पुलिस और परिजनों ने मां-बेटी को लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंची। जहां डॉक्टर ने निवेदिता मेजर को मृत घोषित कर दिया। जबकि बेटी की हालत भी गंभीर बनी हुई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार बदमाशों ने दोनों पर चार राउंड फाॅयर किए। फिलहाल पुलिस घटना के कारण की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें-भारी हंगामे के बीच राज्य सभा में दो कृषि विधेयक पास, PM मोदी ने दी बधाई

परिवार के लोग किसी के साथ दुश्मनी होने से इंकार कर रहे हैं। निवेदिता कुशीनगर जिले के अहिरौली प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका थीं। पुलिस ने मायके के समीप के रहने वाले एक संदिग्ध पड़ोसी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

निवेशकों से 60 करोड़ रुपए की ठगी करने वाले गिरोह का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

Published

on

एसटीएफ व गोसाईंगंज पुलिस ने आरोपी को लखनऊ से दबोचा

लखनऊ। फर्जी निवेश कंपनियां बनाकर दुबई के बुर्ज खलीफा और मुंबई की माया नगरी में रियल स्टेट में निवेश के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड हरिओम यादव को एसटीएफ और गोसाईंगंज पुलिस ने आज लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है। गोसाईगंज पुलिस हरिओम यादव के कई साथियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। हरियाम यादव ने रियल स्टेट प्रा. लि., अलास्का कमोडिटीज व अलास्का इंटर प्राइजेज के नाम से फर्जी कंपनियां बनाकर लोगों को प्रतिवर्ष मोटा मुनाफा कमाने का झांसा देकर निवेश कराया और फिर पूरी रकम हड़प ली।

यह भी पढ़ें-69000 शिक्षक भर्ती : 31,661 पदों पर एक सप्ताह में भर्ती पूरी करने का आदेश

लखनऊ के गोसाईंगंज थाने में उसके खिलाफ ठगी और जालसाजी का मुकदमा दर्ज है। हरिओम के पास से एसटीएफ ने उसके पास से तीन मोबाइल फोन, पांच चेकबुक, एक पास बुक, एक आधार कार्ड, लैपटाॅप और 700 रुपए की नकदी भी बरामद की है। हरिओम यादव गोसाईंगंज थाना क्षेत्र के सदर करोरा का रहने वाला है।

मिठाई की दुकान से लेकर 60 करोड़ की ठगी तक का ऐसा रहा सफर

मास्टरमाइंड हरिओम यादव ने पूछताछ में बताया कि वर्ष 2000 में उसने गोसाईंगंज चौराहे पर मिठाई की दुकान चलाता था। कारोबार में फायदा न होने पर उसने 2003 में सुपर पैथालाजी में 3500 रुपए प्रतिमाह की सैलरी पर नौकरी शुरू की। 2010 में उसने पैथालाजी की नौकरी छोड.कर एक बैंक में सेल्स एडवाइजर बन गया। वर्ष 2016 में बैक की भी नौकरी छोड़ दी और अथर्व इन्फ्रा रियल स्टेट कम्पनी व किसानों की जमीन को कमीशन पर बेचने का काम शुरू कर दिया। वर्ष 2018 में हरिओम यादव ने खुद की कंपनियां बनाईं। ठग ने लखनऊ, दिल्ली, मुंबई और दुबई में अपने ऑफिस खोल लिए। आरोपियों ने इन कंपनियों में निवेश करने पर 60 प्रतिशत वार्षिक की दर से लाभ देने का लालच देकर सैकड़ों निवेशकों से 60 रुपए का निवेश करा लिया।

ब्लैक मनी पकड़े जाने के बाद फंसता चला गया

आरोपी ने यह भी कबूल किया है कि 6 फरवरी 2019 को लखनऊ के कृष्णानगर में पकड़ा गया 5 करोड. रुपए (ब्लैक मनी) उसी का था। जिसके बाद उसे गिरफ्तार भी किया गया था। 40 दिन बाद आरोपी को जमानत मिल गयी। लेकिन तब तक लोगों ने अपना पैसा मांगना शुरू कर दिया था। इस दौरान निवेशक भी घटने लगे थे। ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) इनकम टैक्स (आयकर विभाग) आदि विभागों ने मेरी कम्पनियों और कमाई की जांच भी शुरू कर दी।

मोटा मुनाफा कमाने के लिए लोगों ने जमकर किया निवेश

आरोपी ने बताया कि मैंने निवेशकों का पैसा लौटाना बंद कर दिया था। जिसके कारण महेश कुमार यादव ने मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया था। महेश ने मेरी कंपनियों में 71 लाख रुपए निवेश कर रखा था। हरिओम ने बताया कि मेरी कंपनियों में सरफराज ने 60 लाख, मुशीर अहमद ने 45 लाख, अमित सिंह ने 35 लाख, बीबी सिंह ने 48 लाख, आरबी ने 22 लाख, मनोज वर्मा ने 13 लाख, राज कुमार सिंह ने 12 लाख, कन्हैया लाल ने 10 लाख, सुरेश शर्मा ने 10 लाख, बाबू राम ने 09 लाख रुपए निवेश कर रखा था। इसी तरह लगभग 600 निवेशकों ने लाखों रुपए का इनवेस्टमेंट किया था।

ठगी में शामिल रहे अन्य के नाम भी उगले

ठग ने बताया महीने में एक बार वह दुबई जाता था। जिससे निवेशकों को लगता था कि कंपनी का व्यापार दुबई में भी चल रहा है। मोटा मुनाफा कमाने के लालच में लोग मेरी कंपनियों में निवेश कर रहे थे। इस काम मेरे साथ ललित चौधरी, सुभाष चन्द्र यादव, शैलेन्द्र कश्यप, राकेश कुमार यादव, अवधेश कुमार मिश्रा, नन्द किशोर यादव, गजल देव सिंह, सुरेन्द्र कुमार यादव, रूपाली गुप्ता, ब्रजेन्द्र श्रीवास्तव, आशीष वर्मा आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

मामला मैनेज करने के लिए कथित न्यूज चैनल के मालिक को भी दिए थे सवा करोड़

हरिओम ने बताया कि कृष्णा नगर पुलिस ने जब मेरा पांच करोड़ रुपया पकड़ा था तो मैंने पुलिस प्रशासन को मैनेज करने के लिए संतोष मिश्रा नाम के एक कथित न्यूज चैनल के मालिक को 1.25 करोड रूपए दिए थे। आरोपी ने बताया कि कथित न्यूज चैनल का मालिक संतोष मिश्रा शासन व प्रशासन में पत्रकारिता का रौब दिखाकर दलाली का काम करता था। यह पशुधन घोटाला करने वाले आशीष राय का भी शरणदाता था।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

क्राइम-कांड

लखनऊ: इंदिरा नगर में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, ऑन लाइन होती थी बुकिंग

Published

on

संचालक समेत 12 लोग गिरफ्तार

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर थाना क्षेत्र में पुलिस ने सटीक सूचना के आधार पर छापेमारी कर एक हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए युवक और युवतियों सहित 12 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री, लग्जरी कार, मोटरसाइकिल, 13 मोबाइल फोन, 6820 रुपये, तीन लेडीज पर्स, तीन पुरुषों के पर्स, 3 एटीएम कार्ड भी बरामद किए हैं। पुलिस ने मौके से 7 युवतियों और पांच युवकों को हिरासत में लेकर उन्हें जेल भेज दिया।

यह भी पढ़ें: पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के 96,424 नए मामले, मरीजों की संख्या 52 लाख के पार

एडीसीपी उत्तरी राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि सेक्स रैकेट चलने की शिकायत पर डीसीपी उत्तरी शालिनी सिंह ने एसीपी अलीगंज के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया था। टीम ने रात में छापेमारी करके इंदिरा नगर थाना क्षेत्र के शिवाजी पुरम स्थित शिवानी विहार में एक मकान पर छापेमारी कर 7 युवतियों और मकान मालिक सहित पांच पुरुषों को मौके से गिरफ्तार किया। पूछताछ में पकड़े गए युवकों ने अपना नाम मकान मालिक रवि गुप्ता उर्फ पंकज गुप्ता के अलावा शिवाजी पुरम का संदीप कश्यप, गाजीपुर जिले के रोजा का रहने वाला राजेश कुमार, हजारीबाग बिहार के विष्णुगढ़ का रहने वाला कैलाश कुमार साह और यहीं का रहने वाला छुट्टन बताया है। पुलिस को मौके से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री व अन्य सामान भी बरामद हुआ है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 21, 2020, 5:25 am
Fog
Fog
29°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:24 am
sunset: 5:34 pm
 

Recent Posts

Trending