Connect with us

सर्राफ़ा

सोने और चांदी के भाव ने बनाया नया कीर्तिमान, gold @ 40,000 के पार

Published

on

लखनऊ। कीमतों का कीर्तिमान बना रहा सोना 40 हजार के पार हो गया। पिछले सप्ताह के अंत में ही सोने का भाव 39000 के करीब पहुंच गया था। सोमवार को 1,000 से ज्यादा की तेजी के साथ सोना 40,000 के पार पहुंच गया। वहीं चांदी भी एक 1,000 रुपए प्रति किलो की तेजी के साथ 46,000 के पार हो गयी। बता दें कि 20 अगस्त से सोने का भाव लगातार बढ़ रहा है।

सोने और चांदी की बढ़ती कीमतों का असर लखनऊ बुलियन मार्केट पर भी पड़ रहा है। भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ बुलियन एंड ज्वैलर्स के अध्यक्ष राहुल गुप्ता ने बताया कि अमेरिका और चीन के बीच चल रहे टेड वाॅर के कारण धातुओं की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। राहुल गुप्ता ने बताया कि सोने के नए खरीददारों को कुछ परेशानी जरूर हो रही है लेकिन मूल्य बढ़ने से भारत सरकार के रिजर्व गोल्ड की कीमत भी बढ़ी है। साथ ही उन लोगों को भी लाभ पहुंचा है जिन्होंने पहले से ही सोना व चांदी खरीद रखी थी।

वहीं जैन ज्लैलर्स के अदी जैन ने बताया कि सोने और चांदी की कीमतों में वृद्धि का असर सराफा कारोबार पर भी पड़ रहा है। कीमतें बढ़ने से ग्राहकों ने स्वर्ण आभूषणों की खरीददारी कम कर दी है। बाजार पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ समय में चीन में सोने पर भारी मात्रा में निवेश किया गया है। वहां लोगों ने अपना दो नंबर पर पैसा खपाने के लिए सोने और चांदी की जमकर खरीददारी की है। वहीं भारत में कई बैंकों ने सोने पर भारी निवेश किया है। घरेलू और वैश्विक स्तर पर इन दोनों कारकों ने सोने और चांदी के भाव में रिकार्ड बढ.ोत्तरी कर दी है।
23 अगस्त (शुक्रवार) को दिल्ली में सोने का भाव 38,995 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था। जो अब तक का उच्चतम स्तर था। सोने के भाव में यह लगातार चैथे दिन बढ़ोत्तरी हुई थी। वहीं चांदी का भाव 45,100 रुपए प्रति किलो था। जानकारों ने पहले की आशंका जता थी कि सोने का भाव 40,000 हजार के पार जा सकता है और ऐसा ही हुआ।

बीते शनिवार को जन्माष्टमी और फिर सन्डे की बंदी के बाद सोमवार को जब सराफा बाजार खुला तो सोने का भाव देखकर कारोबारियों की आंखें चैंधिया गईं। कारोबारी शुरूआत में सोने का भाव 40,400 रुपए प्रति 10 ग्राम जबकि चांदी 46,400 रुपए प्रति किलो रहा। दोनों ही धातुओं की कीमत का यह अब तक का रिकार्ड स्तर है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई, जयपुर और अहमदाबाद में शुद्ध पीली धातु की कीमत जीएसटी लगातार 40,000 के पार हो गया।
जानकारों का कहना है कि मजबूत वैश्विक संकेतों और घरेलू वायदा कारोबार में आई तेजी से सोने का भाव उच्चतम स्तर पर पहुंचा है।

यह भी पढ़ें-दहेज में नहीं मिले 20 लाख रुपये व कार तो दूल्हे ने कर दिया शादी से इंकार

इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के राष्टीय सचिव सुरेन्द्र मेहता ने बताया कि ऊंचे भाव पर महंगी धातुओं की मांग में नरमी बनी हुई है। सोने और चांदी के अगले पड.ाव के बारे में पूछे जाने पर सुरेन्द्र मेहना ने कहा कि फिलहाल इस समय सोने और चांदी का बाजार किसी फंडामेंटल, एनालिसिस या चार्ट से नहीं बल्कि टंप के ट्वीट से चल रहा है। इसलिए इन धातुओं के भाव के बारे में किसी तरह का पूर्वानुमान लगाना गलत होगा। उन्होंने कहा कि हालिया तेजी से घरेली मांग में 50 प्रतिशत की कमी आई है।
वहीं केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच चल रहे टेड वाॅर से वैश्विक सराफा बाजार में तेजी आई है। जिससे घरेलू बाजार में भी इन धातुओं की कीमतों में उछाल जारी है। हालांकि सोमवार को अमेरिकी राष्टपति टंप के बयान के बाद बाजार में थोड.ी नरमी आई है। बता दें कि ट्रंप ने कहा है कि चीन ने अमेरिकी अधिकारियों से संपर्क किया है कि वे वापस बातचीत करना चाहते हैं और उन्होंने इसका स्वागत किया। http://www.satyodaya.com

सर्राफ़ा

कोरोना काल में ‘GOLD की चांदी’, इस बार तीन गुना ज्यादा निवेश

Published

on

चालू वित्त वर्ष के पांच महीनों में ई-गोल्ड में 14 हजार करोड़ रुपए का निवेश हुआ

लखनऊ। शेयर बाजार या वैश्विक मार्केट पर जब कभी भी अनिश्चितता के बादल मंडराते हैं तो निवेशक GOLD पर भरोसा करते हैं। साल 2020 के शुरूआती महीनों में कोविड-19 की दस्तक और फिर लाॅकडाउन के बाद भी यही हुआ। रोजगार और अर्थव्यवस्था में सुस्ती के बीच सोने में लोगों ने सोने में जमकर निवेश किया। इसी के परिणाम स्वरूप पिछले पांच महीने में सोने में और खासकर ई-गोल्ड में निवेश तीन गुना बढ़ गया है। रिजर्व बैंक और एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इंडिया के ताजा आंकड़ों में इसका खुलासा हुआ है।

यह भी पढ़ें-मोहनलालगंज पुलिस ने पैर में गोली मारकर 25 हजार के इनामी बदमाश को दबोचा

आरबीआई के छह सीरीज में साॅवरेन गोल्ड बांड में निवेशकों ने 10130 करोड़ रुपए का निवेश किया है। वित्त वर्ष 2020-21 के शुरूआती पांच महीनों में गोल्ड ईटीएफ में 3900 करोड़ का निवेश हुआ है। कुल मिलाकर इस अवधि में ई-गोल्ड में 14 हजार करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। पिछले वर्ष की इसी अवधि में हुए निवेश से यह तीन गुना ज्यादा है। पिछले वर्ष अपै्रल से अगस्त के बीच गोल्ड ईटीएफ में मात्र 75 करोड़ और साॅवरेन गोल्ड बाॅन्ड में 5741 करोड़ रुपए का निवेश हुआ था।

संकट के समय भरोसेमंद होता है सोने में निवेश

वैश्विक महामारी के इस दौर में सोने के प्रति निवेशकों का यह रुझान कोई आश्चर्य की बात नहीं। अर्थव्यवस्था में सुस्ती या वैश्विक उथल-पुथल की स्थिति में सोने को सुरक्षित निवेश माना जाता है। इतिहास गवाह है कि जब भी शेयर बाजार में नुकसान की आशंका, आर्थिक महाशक्तियों के बीच टकराव या डाॅलर के मुकाबले अन्य मुद्राओं के कमजोर पड़ने की नौबत आने पर सोने का भाव उछल जाता है। संकट के समय निवेशक गोल्ड पर पैसा लगाते हैं और जरूरत के समय इसे बेंचकर नकदी हासिल कर लेते हैं। 3 से 5 साल कि अवधि के लिए सोने में निवेश अप्रत्याशित लाभ दे सकता है।

इसलिए बढ़ा गोल्ड में निवेश

विशेषज्ञों का कहना है कि 2020 की शुरूआत में अमेरिका-ईरान के बीच तनाव, फरवरी-मार्च आते-आते कोरोना संक्रमण का प्रसार और अब भारत-चीन-पाकिस्तान के बीच सीमा पर तनाव से बाजार पर से अनिश्चितता के बादल अभी छंटे नहीं हैं। कोविड प्रसार पर अभी अभी प्रभावी काबू नहीं पाया जा सका है। पिछले एक साल के दौरान सोने में दामों में 31 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। हाल ही में सोने और चांदी के दामों ने रिकार्ड स्तर को भी छुआ है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सर्राफ़ा

जल्द सस्ता हो सकता है Gold-Silver, पांच दिनों में चौथी बार गिरा वायदा भाव

Published

on

लखनऊ। कोरोना काल में महंगाई का शिखर छूने वाली कीमती धातुओं सोना और चांदी की कीमतों में अब मामूली नरमी देखने को मिल रही है। पिछले पांच दिनों में चौथी बार बुधवार को सोना-चांदी के वायदा भाव में गिरावट दर्ज की गई। आज सुबह 10 बजे अक्टूबर 2020 के लिए सोने के वायदा भाव में 0.4 फीसदी गिरावट के साथ 51140 रुपए प्रति 10 ग्राम पर ट्रेड कर रहा है। पिछले सत्र में यह 51353 रुपए के भाव पर पहुंचकर बंद हुआ था। इसी तरह दिसंबर में डिलीवर होने वाला सोना आज 51315 रुपए पर ट्रेड कर रहा था। पिछले सत्र के मुकाबले में इसमें 278 रुपए की गिरावट देखने को मिली।

यह भी पढ़ें-अभिनेत्री कंगना रनौत के कार्यालय पर BMC ने चलवाया बुलडोजर

गोल्ड की तरह सिल्वर के वायदा भाव में गिरावट दर्ज की गयी। बुधवार को एमसीएक्स पर दिसंबर में डिलीवर होने चांदी के भाव में 605 रुपए प्रति किलो की गिरावट देखी गई। दिसंबर के लिए आज चांदी का वायदा भाव 67889 रुपये प्रति किलो पर ट्रेड कर रहा था। पिछले सत्र में यह 68494 रुपए पर बंद हुआ था। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि सोना-चांदी की हाजिर मांग घटना से कारोबारियों ने सौदा भी घटा दी है, जिससे वायदा भाव में गिरावट देखी जा रही है।

सोने का हाजिर भाव

सोना चांदी के वायदा भाव में जहां गिरावट देखी जा रही है, वहीं दिल्ली और लखनऊ में बुधवार को सोने का हाजिर भाव करीब 53000 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा। आज अपरान्ह करीब 3 बजे राष्टीय राजधानी दिल्ली में सोने का हाजिर भाव 53095 रुपए जबकि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 52940 रुपए प्रति 10 ग्राम पर रहा। वहीं चांदी की बात करें तो चांदी के हाजिर भाव में आज 100 रुपए की गिरावट आई। बुधवार को चांदी का हाजिर भाव 67,900 रुपए प्रति किलो रहा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सर्राफ़ा

कीमतों के नए आसमान पर सोना-चांदी, 58,000 हुई 10 ग्राम Gold की कीमत

Published

on

लखनऊ। कोरोना काल में सोना (Gold) काफी ‘सोणा’ हो गया है और चांदी की तो चांदी हो गयी है। वर्ष 2020 की शुरूआत से ही लगातार कीमतों के नए आसमान छू रहीं यह दोनों धातुएं अब आम आदमी की पहुंच से दूर हो चलीं हैं। शुक्रवार को देश में सोने की कीमत 58,000 प्रति 10 ग्राम और चांदी 77,000 रुपए प्रति किलो के भाव पर पहुंच गयी। इस सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन में भी सोने और चांदी में तेजी गयी। शुक्रवार को दिल्ली में सोने का हाजिर भाव 57,970 रुपए और लखनऊ में 57,965 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा।

यह भी पढ़ें-आगरा में कोरोना फिर बेकाबू, सांसद व विधायक के परिजन भी मिले पाॅजिटिव

सोने के वायदा भाव में आज सुबह करीब 11 बजे मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर 75 रुपए तेजी गयी। अक्टूबर में डिलिवरी होने वाले सोने का भाव 55,920 रुपए प्रति 10 ग्राम के स्तर पर चल रहा था। इसी तरह चांदी के वायदा भाव में भी आज काफी उछाल देखी गयी। सितंबर में डिलिवरी होने वाली चांदी 1269 रुपए की तेजी के साथ 77,321 रुपए पर कारोबार कर रही थी।

75000 तक पहुंचेगा सोना, लखटकिया होगी चांदी!

बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते इस वर्ष की शुरूआत से सोना और चांदी की कीमतों में भारी उछाल देखा जा रहा है। बाजार के जानकारों का कहना है कि वर्ष 2020 के अंत तक सोने की कीमत 75000 रुपए प्रति 10 ग्राम और चांदी 1 लाख रुपए प्रति किलो तक पहुंच सकती है। शेयर मार्केट में गिरावट, वैश्विक मार्केट में अनिश्चिता और मंदी और लाॅकडाउन समेत तमाम कारक सोने-चांदी की कीमतों को प्रभावित करते है। इन सभी में अगले कुछ महीनों तक सुधार की कोई उम्मीद नहीं है। सर्राफा कारोबारियों का कहना है कि अगले 10 से 15 दिन के अंदर सोना 60000 का आंकड़ा पार कर जाएगा। जबकि वर्ष के अंत तक चांदी का भाव 1 लाख रुपए तक पहुंच सकता है।

चांदी ने ध्वस्त 9 साल पुराना रिकार्ड

चांदी ने आज अपना 9 साल पुराना रिकार्ड भी तोड़ दिया। इससे पहले 2011 में चांदी का भाव 70,000 रुपए प्रति किलो पहुंचा था। 25 अप्रैल 2011 को MCX पर चांदी का भाव 73,600 रुपये प्रति किलो तक उछला था। जबकि हाजिर भाव 70,000 रुपये प्रति किलो तक उछला था। बाजार के जानकारों का कहना है कि चांदी की कीमतों में अभी और उछाल आना बाकी है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 1, 2020, 5:28 pm
Hazy sunshine
Hazy sunshine
33°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 51%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:29 am
sunset: 5:22 pm
 

Recent Posts

Trending