Connect with us

सर्राफ़ा

लॉकडाउन के दौरान भी सोने का दाम बढ़ता रहा, आखिर खरीद कौन रहा है: #RAHULGUPTA

Published

on

लखनऊ। कोरोना महामारी को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन 17 मई तक है। यह आगे कब तक जारी रहेगा। अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है। कोरोना संक्रमण के बीच अर्थव्यवस्था की हालत ख़स्ता है, फैक्ट्रियां बंद पड़ी हैं, और रोजगार का संकट है। इन तमाम चुनौतियों के बीच सोना लगातार चमक रहा है। पिछले महीने ही सोना ऑल टाइम के उच्च स्तर को भी छूता दिखा। आखिर क्यों लगातार सोने को चमक बनी हुई है। सोने की चमक के पीछे का राज आखिर क्या है। कौन खरीद रहा है इसे जो इसका दाम आसमान छुता जा रहा है।

इसके अलावा बीते दिन कुछ ड्राकरेज फंड्स में सोने के रेट को लेकर अविश्वशनिय अनुमान लगाया, बुधवार को सोने के चमकते दाम को लेकर सर्राफा कारोबारी राहुल गुप्ता ने सत्योदय से बातचीत के दौरान बताया कि सोने की कीमत में एक बार फिर तेजी आ गई है। 24 कैरेट 10 ग्राम सोने की कीमत 357 रुपए से बढ़कर 48500 रुपए तक पहुंच गई। चांदी की कीमत में भी 1120 रुपए प्रति किलोग्राम का उछाल आया है। इसके अलावा बीते कुछ दिनों में ब्रोकरेज फंड्स के एक्सपर्ट ने सोने के रेट को लेकर अविश्वशनिय अनुमान लगाया।

लखनऊ के प्रतिष्ठित #chowk sarrafa कारोबारी #rahul gupta ने सोने के चमकते दाम को लेकर सत्योदय से बातचीत की, सर्राफा कारोबारी #rahulgupta ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान के तमाम सर्राफा बाजार बंद है, वहां सवाल उठता है, कि इसे खरीद कौन रहा है, तथा सोने की कीमतें बढ़ क्यों रही हैं। #rahulgupta ने कहा कि इसको हम दो तरह से समझ सकते हैं। पहला ये कि हम सोना सर्राफा बाजार में जाकर खरीदते हैं। दूसरी जिसमें सोने का निवेश प्रत्यक्ष रूप से कर रहे है। दुनिया के सभी सेंट्रल बैंक जैसे भाररतीय रिजर्व बैंक या वर्ल्ड बैंक इन सभी बैंक द्वारा सोने का निवेश किया जाता है।

यह भी पढ़ें: रिश्ते होने से रिश्ते नहीं बनते बल्कि रिश्ते निभाने से रिश्ते बनते है: #RAHULGUPTA

इसके बाद कुछ लोग वायदा बाजार में लोग निवेश करते हैं। वायदा बाजार के बाद लोग एमसीएक्स में भी अपना निवेश करते हैं। दरअसल बाजार के खुलने और बंद होने से सोने की कीमत पर कोई असर नहीं पड़ता। इसकी खरीदार बंद बाजार में भी सक्रिय होकर की जा सकती है। जो कि सर्राफा बाजार में जोरो शोरो से हो रही है। यही वजह है कि लॉकडाउन में भी सोने का दाम लगातार बढ़ रहा है। इससे पहले हाल फिलहाल में ही सोने की कीमत ने एक नई ऊंचाई को छुआ है। इन सबके बीच दो ब्रोकिंग फर्म ने सोने की कीमत को लेकर एक अद्भुत अनुमान लगाया। जिसने लोगों को चौका दिया है। इसी बीच स्टेट ऑफ अमेरिका ने की आई एक रिर्पोट के अनुसार सोने की कीमत में डबल बढ़ोतरी हो सकता है। स्टेट ऑफ अमेरिका ने कहा कि सोने की कीमत जो उच्चतम स्तर तक पहुंच रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव करीब $2000 डॉलर प्रति औंस के आसपास या उसके कीमत के दोगुना हो सकता है। उनका दूसरा अनुमान यह था, कि सोने की कीमत $3000 तक छू सकता है। सबसे बड़ी बात यह है, कि सोने की कीमत में 75000 का जो अनुमान आया है।वो इसलिए आया है, क्योंकि सेंट्रल रिजर्व बैंक समेत तमाम देश के सेंट्रल बैंकों ने करेंसी छापकर कोरोना संकट के समय अपने देश में राहत पैकेज पहुंचा रहे हैं। वह देश इस वक्त राहत पैकेज सिस्टम के पैसों को लिक्यूडिटी में डाल रहे हैं। आपको बता दें की जब भी किसी देश में चल निधि बहुत अधिक होता जाता है, तो उस देश में मनी इंफ्लेशन का खतरा बढ़ता लगता है। जिससे देश मे महंगाई बढ़ने की आशंका रहती है। इस सबके बीच सोना महंगाई के खिलाफ अच्छा हथियार भी माना जाता है। जब महंगाई बढ़ती है तो करेंसी की कीमत कम हो जाती है। उस समय लोग धन को सोने के रूप में रखते हैं। इस तरह महंगाई के लंबे समय तक ऊंचे स्तर पर बने रहने पर सोने का इस्तेमाल इसके असर को कम करने के लिए किया जाता है।

उद्योग के कुछ जानकारों के मुताबिक, सामान्य स्थितियों में सोने और ब्याज दरों के बीच उलटा संबंध है. ब्याज दरों का बढ़ना संकेत देता है कि अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है. मजबूत अर्थव्यवस्था में महंगाई बढ़ती है। महंगाई के खिलाफ सोने को हथियार की तरह इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा जब दरें बढ़ती हैं तो निवेशक फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में पैसे लगाते हैं। सोने के उलट इनमें उन्हें ज्यादा अच्छा रिटर्न मिलता है। भारतीय सेंट्रल बैंक एक हिस्सा सोने का भी रखता है जो कि तमाम देश के सेंट्रल बैंक में गोल्ड में खरीदारी करते है इस दौरान पिछले महीने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 1100 टन सोने की खरीदारी की थी। इसके साथ साथ जापान चीन इटली बड़े बड़े देश अपने पैसे को लिक्विडिटी में डाल रहे हैं। राहत सिस्टम के लिए जो पैसे बहुत अधिक मात्रा में डाल रहे हैं। इससे पूरे देश में महंगाई का बादल मंडरा रहा है। भारत के खुदरा निवेशक इसकी डिमांड अधिक मात्रा में कर रहे हैं। अगर भारत के वित्त वर्ष की बात करें, तो इस पिछले साल 6 साल के बाद गोल्ड ईपीएस में इसका निवेश सकारात्मक रूप में देखने को मिला है। इससे पहले लगातार ईपीएस गोल्ड में लोग पैसे निकाल रहे थे।

इस साल ईपीएस का जो इनफ्लो है। वह सकारात्मक देखने को मिल रहा है। 2012 -13 में गोल्ड ईपीएस से लोग पैसे निकाले है। इस साल इसका सकारात्मक रूप देखने का अर्थ है, कि इनका बैलेंस शीट का आकार बढ़ना, बैलेंस शीट का आकार बढ़ने का मतलब है, कि उस पैसे को इकोनॉमी में लगाना और तीसरी सबसे अहम बात जो है वो यह कि तमाम देश के सेंट्रल बैंक सोने की खरीदारी करती है। यही सब कारण है की सोने की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है।

सत्योदय से बात करते हुए #rahulgupta ने कहा कि भारतीय सोने के मूल्य डॉलर के मुकाबले रुपये कीमत से प्रभावित होते हैं। हालांकि, सोने की अंतरराष्ट्रीय कीमतों पर इसका कोर्इ असर नहीं पड़ता है। आमतौर पर सोने को आयात किया जाता है। इसलिए अमेरिकी मुद्रा की तुलना में रुपये के कमजोर होने से सोने की कीमतें भारतीय मुद्रा में बढ़ जाती हैं। इस तरह रुपये की कीमत घटने से सोने की मांग को चपत लगती है। सामान्य स्थिति में जब डॉलर कमजोर होता है तो सोना चढ़ता है। चूंकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतें डॉलर में होती हैं, इसलिए डॉलर में कमजोरी आने पर पीली धातु के दाम मजबूत होते हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में अगर सोने की कीमत बढ़ती है तो भारत में सोने की कीमत को डॉलर से रुपए में उसकी कीमत की तुलना करके या ज्ञात कर सकते हैं कि सोने की कीमत कितनी बढ़ी है। http://www.satyodaya.com

सर्राफ़ा

GOLD ने तोड़े सभी रिकार्ड, 10 ग्राम सोने की कीमत पहुंची 50 हजार के पार

Published

on

लखनऊ। कोरोना काल में सोना अपनी चमक बिखेरता ही जा रहा है। हालत यह है कि एक ही कारोबारी सप्ताह में यह कीमती पीली धातु महंगाई का अपना रिकार्ड कई-कई बार तोड़ रही है। 22 जून को इस सप्ताह के पहले 10 ग्राम सोने का भाव का भाव 48,300 पर पहुंच गया था। सोने की यह अब तक की उच्चतम कीमत थी। लेकिन इसके एक दिन बाद ही यानी 24 जून को सोने ने कीमतों का नया मानक स्थापित कर दिया। बुधवार को लखनऊ औ दिल्ली सहित देश के सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने की कीमत 50 हजार को पार कर गयी।

यह भी पढ़ें-GOLD ने रचा नया इतिहास, 48,300 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंची कीमत

इतिहास में पहली बार है कि 10 ग्राम सोने की कीमत 50 हजार के पार पहुंची है। इससे पहले मंगलवार को सोने की कीमत में हल्की नरमी दिखी थी। आज शाम 4 बजे लखनऊ के बाजारों में 24 कैरेट के 10 ग्राम सोने की कीमत 50,230 रुपए जबकि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सर्राफा बाजारों में 50,405 रुपए पर ट्रेंड कर रही थी। वहीं चांदी भी आज मामूली तेजी के साथ 50 हजार रुपए प्रति किलो के करीब पहुंच गयी है।

दिवाली तक 80,000 तक पहुंच सकता है सोना

बाजार के जानकारों का कहना है कि सोना जल्द ही 53 हजार प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच सकता है। जानकारों का कहना है कि सोना-चांदी के कीमतों बढ़ोत्तरी जारी रहेगी। इस दिवाली तक सोने की कीमत 80,000 तक पहुंचने के आसार दिख रहे हैं।

आभूषण कारोबारियों की बढ़ी चिंता

हालांकि सोने-चांदी की आसमान छूती कीमतों ने आभूषण विक्रेताओं की चिंता बढ़ा दी है। लाॅकडाउन के असर से आर्थिक तंगी पहले ही चल रही है। उस पर सोने की बढ़ी हुई कीमतों ने ग्राहकों को दुकानों से दूर कर दिया है। शादी-ब्याह में भी लोग पुराने सोने और चांदी के आभूषणों से काम चला रहे हैं।

क्यों बढ़ रहे हैं सोने के दाम

बाजार विश्लेषकों का कहना है कि भारत सहित दुनिया में कोविड-19 के दूसरे चरण की शुरूआत की आशंका गहरा गयी है। कोरोना के चलते पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्थाएं बदहाल हैं। जिसका असर सोने के दाम पर पड़ रहा है। व्यापारियों का कहना है कि सोना और चांदी के दामों में आ रही उछाल की प्रमुख वजह वैश्विक महामारी कोरोना, भारत-चीन विवाद और अमेरिका की केन्द्रीय बैंक द्वारा 2022 तक ब्याज दरें न बढ़ाने का फैसला हैं। वैश्विक खतरों को देखते हुए निवेशक सोने की ओर आकर्षित हो रहे हैं। जबरदस्त बिकवाली के चलते सोने के दामों में बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। बुधवार को ताजा सौदों की तेज लिवाली ने सोने के दामों बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सर्राफ़ा

GOLD ने रचा नया इतिहास, 48,300 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंची कीमत

Published

on

49000 प्रति किलोग्राम के करीब पहुंची चांदी

लखनऊ। पिछले कुछ महीनों में महंगाई का रिकार्ड स्थापित करने वाला सोना और चांदी का भाव सोमवार को नई ऊंचाई पर पहुंच गया है। इस सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को 24 कैरेट सोने का भाव 647 रुपए की उछाल लेकर 48300 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। सोने का यह अब तक का उच्चतम भाव है। इस तरह यदि आज के 647 रुपये की उछाल को जोड़ लें तो पिछले 11 कारोबारी दिनों में सोने के हाजिर भाव में कुल 1821 रुपए की तेजी आई है।

यह भी पढ़ें-UP: आगरा में फूटा मौत का कोरोना बम, 48 घंटे में 28 लोगों की गई जान

वायदा कारोबार की बात करें तो आज सुबह MCX एक्सचेंज पर अगस्त 2020 के लिए सोने के वायदा भाव 339 की तेजी के साथ 48276 रुपए प्रति 10 ग्राम पर टेंड कर रहा था। इसी तरह अक्टूबर 2020 के लिए सोने का वायदा भाव आज अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचकर 48451 रुपए प्रति 10 ग्राम पर टेंड कर रहा था। कुल मिलाकर आज सोने के वायदा भाव में 378 रुपए की तेजी दर्ज की गयी। वहीं वैश्विक स्तर पर भी सोने का भाव सोमवार को बढ़त के साथ एक महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। ब्लूमबर्ग के मुताबिक, सोमवार सुबह कॉमेक्स पर सोने का वैश्विक वायदा भाव 0.80 फीसद या 14 डॉलर की बढ़त के साथ 1,767 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

चांदी ने भी बिखेरी चमक

चांदी के भाव में भी सोमवार को तेजी देखने को मिली। 966 रुपए की तेजी के साथ चांदी 49000 प्रति किलो ग्राम के करीब पहुंच गयी है। एमसीएक्स पर सोमवार को 3 जुलाई के लिए चांदी का वायदा भाव 480 रुपये की बढ़त के साथ 49,116 रुपये प्रति किलोग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। वहीं 31 अग्रस्त 2020 के चांदी का वायदा भाव आज करीब 50 हजार रुपए प्रति किलो पर ट्रेंड कर रहा था। वैश्विक स्तर पर भी आज चांदी के भाव में चमक देखी गयी। आज सुबह काॅमेक्स पर चांदी का वायदा भाव 0.21 डॉलर की बढ़त के साथ 18.24 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था। इसके अलावा चांदी की वैश्विक हाजिर कीमत इस समय 1.37 फीसद या 0.24 डॉलर की बढ़त के साथ 17.87 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रही थी।

क्यों बढ़ रहे सोने-चांदी के दाम

जानकारों के मुताबिक कोविड-19 के तेजी से बढ़ते मामलों और भारत-चीन के बीच सीमा पर बने ताजा हालातों ने निवेशकों को डरा दिया है। कोरोना के चलते हाल-फिलहाल आर्थिक स्थिति सुधरती नहीं दिख रही है। जिसके चलते निवेशक सुरक्षित निवेश माने जाने वाले सोने-चांदी पर पैसा लगा रहे हैं। वैश्विक बिकवाली के चलते सर्राफा बाजार में तेजी देखने को मिल रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सर्राफ़ा

क्या सस्ता होगा सोना-चांदी! वायदा बाजारों में घटी कीमत…

Published

on

लखनऊ। वैश्विक लाॅकडाउन में राहत का असर सोना-चांदी के वायदा कारोबार पर दिखाई देने लगा है। सोमवार को कारोबारी सप्ताह के पहले ही दिन वायदा बाजार में सोने-चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गयी। आज जब बाजार खुला तो 5 अगस्त 2020 के लिए सोने का वायदा भाव एमसीएक्स एक्सचेंज पर 190 रुपए की गिरावट के साथ 47,144 रुपए प्रति 10 ग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। यानी सोने के वायदा भाव में 0.40 फीसदी की गिरावट आई। घरलू वायदा बाजार में इस गिरावट के साथ सोने के वैश्विक वायदा बाजार और वैश्विक हाजिर भाव में भी सोमवार को नरमी आई है।

यह भी पढ़ें-यूपी: पिछले 24 घण्टे में कोरोना के 476 नए मामले, 18 की मौत

सोने के साथ चांदी के भी वायदा बाजार कीमतों में गिरावट आई है। सोमवार सुबह एमसीएक्स एक्सचेंज पर आगामी 3 जुलाई 2020 के लिए चांदी का वायदा भाव 47301 रुपए प्रति किलोग्राम पर ट्रेंड कर रहा था। पिछले सप्ताह की तुलना में आज चांदी के वायदा भाव में 389 रुपए की कमी आई है। इसी तरह 4 सितंबर 2020 के लिए चांदा का वायदा भाव आज 353 रुपए की गिरावट के साथ 48,175 रुपए पर ट्रेंड कर रहा था।

सोने का वैश्विक वायदा व हाजिर भाव

ब्लूमबर्ग के अनुसार सोमवार काॅमेक्स पर सोने के वैश्विक वायदा भाव में 0.17 की गिरावट दर्ज की गयी। यानी सोने का वैश्विक वायदा कीमत 3 डाॅलर की गिरावट के साथ 1734.30 डाॅलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था। जबकि सोने का वैश्विक हाजिर भाव 0.10 फीसद (1.73 डॉलर) गिरावट के साथ 1729.02 डाॅलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

चांदी का वैश्विक वायदा व हाजिर भाव

वहीं चांदी के आज के वैश्विक वायदा भाव की बात करें तो सोमवार को इसमें 0.24 फीसद की गिरावट दर्ज की गयी। 0.04 डाॅलर की नरमी के साथ यह 17.43 डाॅलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रही थी। जबकि चांदी का वैश्विक हाजिर भाव 0.67 फीसद या 0.12 डॉलर की गिरावट के साथ 17.37 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने का दिख रहा असर

जानकारों का कहना है कि भारत सहित दुनिया भर के बाजारों में अब आर्थिक गतिविधियां धीरे-धीरे शुरू हो रही हैं। शेयर बाजारों में फिर से रौनक लौट रही है और निवेशकों का ध्यान सोने-चांदी से हट रहा है। इसी के चलते सिल्वर और गोल्ड के रेट में नरमी आ रही है। हालांकि अभी भी यह कीमती धातुएं निवेशकों की पहली पसंद बनी हुई हैं। बाजार के जानकारों के अनुसार जब तक कोरोना का असर रहेगा और आर्थिक गतिविधियां पूरी संचालित नहीं होंगी, तब तक निवेशकों की गोल्ड में होल्डिंग कमजोर नहीं होगी। आने वाले समय में भी सोने-चांदी के भाव में उतार-चढ़ाव जारी रहेगा। भारतीय बाजारों में सोने की मांग अभी कम है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 15, 2020, 8:37 am
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:53 am
sunset: 6:32 pm
 

Recent Posts

Trending