Connect with us

लखनऊ लाइव

सिविल अस्पताल में हटाए गए 17 संविदा कर्मचारी, मरीज परेशान

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के सिविल अस्पताल में 17 संविदा कर्मचारियों को हटा दिया गया हैं। जिसके बाद से अस्पताल में भारी संख्या में मरीजों की भीड़ इक्ठा हो गई हैं। जिसके चलते सिविल अस्पताल प्रसाशन की हालत खराब हो गई है। पर्चा काउंटर पर मरीजों की भारी भीड़ लगी है। जिससे मरीजों को भी पर्चा बनवाने में काफी परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट बैठक में दस बिंदुओं को मिली मंजूरी

सिविल डायरेक्टर, डीएस नेगी ने बताया कि युपीएसएसपी ने पैरामेडिकल को स्थायी करने किया है। तथा नॉन पैरामेडिकल को स्थायी नहीं किया हैं। उन्होने कहा कि उन्हें एनएचएम से सैलरी नहीं मिल रही है। इसलिए 17 कर्मचारियों को हटा दिया गया हैं। वहीं जो कर्मचारी हमारे पास है उनको उनकी जगह पर लगा दिया गया है। http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

पिता के लिए इंसाफ मांग रहीं बेटियों पर लखनऊ पुलिस ने दिखाया जोर

Published

on

हजरतगंज में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहीं युवतियों को जबरन हिरासत में लिया गया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था वेंटिलेटर पर पहुंच चुकी है। लगभग हर दिन महिलाओं-युवतियों के साथ रेप, गैंगरेप और हत्या की घटनाएं सामने आ रही हैं। वहीं दूसरी तरफ गंभीर से गंभीर अपराधों में भी न तो सुनवाई हो रही है और न ही कार्रवाई। उल्टे आवाज उठाने पर पीडि.तों पर ही पुलिस अपना जोर दिखा रही है। हाथरस कांड के बाद चौतरफा घिरी यूपी पुलिस का एक और शर्मनाक चेहरा सामने आया है। अपने पिता की हत्या में इंसाफ और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग लेकर हजरतगंज पहुंचीं दो बेटियों को पुलिस ने जबरन पीट-घसीटकर थाने भेज दिया। मामला काकोरी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गदाई खेड़ा का है।

जिम्मेदारों को जगाने के लिए हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहीं दो बहनों ने बताया कि 23 जुलाई को बड़ागांव के प्रधानपति और बेटों ने उनके पिता की हत्या कर दी थी। मृतक गांव के ही झंडेस्वर महादेव मंदिर में पुजारी था। बेटियों का आरोप है कि आरोपियों के साथ मिलकर स्थानीय पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज नहीं किया। उल्टे आरोपी ग्राम प्रधान व प्रधान पति ने पुलिस से मिलकर पीड़ितों पर ही गलत मुकदमा दर्ज करा दिया।

यह भी पढ़ें-शासन के मूक आदेश पर प्रशासन ने मृतका के परिजनों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा-अखिलेश

पीड़ित बेटियों ने पिता को न्याय दिलाने के लिए कई उच्च अधिकारियों को शिकायती पत्र दिया। जिसके बाद काकोरी पुलिस ने हल्की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। हत्या के दो महीने बाद भी अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं।

बेटियों की मांग

विरोध प्रदर्शन कर रहीं बेटियों ने सात सूत्रीय ज्ञापन दिखाते हुए कहा, हमारी मांग है कि हत्यारों को तत्काल गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजा जाए। उन पर लगाया गया फर्जी मुकदमा हटाया जाए। ग्राम बधाई खेड़ा में खसरा संख्या 558 का पट्टा उनके परिवार के नाम किया जाए। मृतक पुजारी के परिवार के भरण-पोषण के लिए सरकार 2,50,0000 का मुआवजा दे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

लखनऊः हाथरस घटना के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार प्रदर्शन

Published

on

लखनऊ। हाथरस में दलित बेटी को न्याय दिलाने की मांग को लेकर मंगलवार को लखनऊ महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान एवं जिला अध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी के नेतृत्व में सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हजरतगंज में जोरदार प्रदर्शन किया।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में गिरती कानून व्यवस्था और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ गांधी प्रतिमा के सामने योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष ममता चौहान, पिछड़ा वर्ग विभाग के अध्यक्ष मनोज यादव, डा. शहजाद आलम, सिद्धि श्री, जगदीश बाल्मीकि, रफत फातिमा, रमेश मिश्रा, योगेश्वर सिंह, शाहिद अली, माया चौबे, अयूब सिद्दीकी,

यह भी पढ़ें-हाथरस गैंगरेप: बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए भूख-हड़ताल पर बैठे परिजन

संजय श्रीवास्तव, प्रणव त्रिपाठी, रंजीत भारती, विकास सक्सेना, गजाला सिद्दीकी, विषम सिंह, तरुण रावत, संजय बाल्मीकि, प्रभाकर मिश्रा, अखिलेश शर्मा, मोहम्मद नूर आलम, शिप्रा अवस्थी, विभा त्रिपाठी, हाशिम अली, मोहम्मद शकील, एसके द्विवेदी, श्याम सिंह, रथीन चक्रवर्ती, सुशील कुमार, मुन्नालाल भारती, बंशीलाल लोधी सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसजन मौजूद रहे। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

कोरोना वायरस

UP: कोरोना के 5382 रोगी इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज, 60 की मौत

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 5,382 रोगी इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए है। वहीं इस दौरान 3,838 नए मामले सामने आए है और 60 लोगों की मौत हो गई है। राजधानी लखनऊ में सोमवार को 924 रोगियों को अस्पताल से छुट्टी की गई है।

लखनऊ में सोमवार को 550 नए पाॅजिटिव रोगी मिले हैं। इस दौरान 9 मरीजों की सांसे थम गई है। नए मामलों के साथ ही लखनऊ में कोरोना संक्रमितों की संख्या 51 हजार पहुंच गई है। कुल संक्रमित मामलों में से 43,533 लोगों कोरोना को मात देकर अपने घर लौट चुके है। वहीं 7,531 केस अभी भी एक्टिव है। जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अब तक लखनऊ में 684 लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रयागराज में आज 229, गोरखपुर में 189, गौतमबुद्ध नगर में 186, गाजियाबाद में 172, वाराणसी में 156, मेरठ में 151, फर्रुखाबाद में 131,बरेली में 127, मुजफ्फरनगर में 118 और लखीमपुर में 96 नए रोगी मिले है। इस दौरान मेरठ में 5, गोरखपुर, वाराणसी और बलिया में 3-3, प्रयागराज, झांसी, सहारनपुर, इटावा, मथुरा, मैनपुरी, कन्नौज, अमेठी और औरेय्या में 2-2 लोगों की कोविड से जान चली गई है।

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि यूपी में 3,31,270 लोगों में कोरोना को अब तक मात देकर अपने घर लौट चुके है। प्रदेश में रिकवरी रेट 84.75 प्रतिशत हो गया है। वहीं 53,953 कोरोना के मामले अभी भी सक्रिय है। अब तक 5,652 संक्रमित दम तोड़ चुके हैं।

यह भी पढ़ें:- विस उपचुनाव: CM योगी ने चुनावी जनसभा को किया संबोधित, उन्नाव को दी सौगात

अमित मोहन प्रसाद बताया कि अबतक 2,08,293 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प लिया है, जिसमें करीब 1,82,223 लोगों की होम आइसोलेशन की समय सीमा खत्म भी हो चुकी है। इसके अलावा अभी भी करीब 26,770 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को प्रदेश में करीब 1,51,822 सैंपल की जांच की गई थी।यूपी में अब तक कुल 97,76,894 सैंपल की जांच की जा चुकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 1, 2020, 5:23 pm
Hazy sunshine
Hazy sunshine
33°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 51%
wind speed: 1 m/s NNW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:29 am
sunset: 5:22 pm
 

Recent Posts

Trending