Connect with us

लखनऊ लाइव

दरिया वाली मस्जिद मामले में बैकफुट पर प्रशासन, ध्वस्त गेट की दोबारा होगी तामीर

Published

on

लखनऊ। दारिया वाली मस्जिद प्रकरण में प्रशासन बैकफुट पर आ गया है। नगर निगम ने तोड़े गए मस्जिद के गेट की तामीर कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। मंगलवार देर रात नगर निगम के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर मजिस्द के गेट का फिर से निर्माण कराने का आश्वासन दिया है। साथ मामले की जांच के लिए एक उच्चस्तरीय टीम गठित किए जाने की जानकारी दी। जिसके बाद मुस्लिम समाज व धर्मगुरुओं ने धरना प्रदर्शन भी समाप्त कर दिया है। सोमवार को दरिया वाली मस्जिद के पास तिकुनिया पार्क में गिराए गए निर्माण के बाद से ही लोगों में आक्रोश फैल गया। मंगलवार को पूरा दिन हंगामा चला। मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना सैब अब्बास, मौलाना कल्बे जवाद के बेटे सय्यद कल्बे सिबतैन नूरी सहित तमाम लोगों ने मौके पर पहुंच कर धरना प्रदर्शन किया। सभी ने एक स्वर में नगर निगम की कार्रवाई को अनुचित बताते हुए गिराए गए निर्माण का दोबारा तामीर कराने की मांग रखी। जिसके बाद देर रात अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर गलती सुधारने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

बता दें कि सोमवार को दोपहर लगभग दो बजे नगर निगम जोन 2 के अंतर्गत आने वाली ऐतिहासिक दरिया वाली मस्जिद के साथ लगी तिकुनिया पार्क में हुए अतिक्रमण को नगर निगम के दस्ते ने ध्वस्त कर दिया था। दरिया वाली के मस्जिद के मुतवल्ली मंसूर आलम ने कार्रवाई का विरोध करते हुए उक्त जमीन मस्जिद की होने की बात कही थी। लेकिन अधिकारियों का दावा था कि यह जमीन नगर निगम की है। मस्जिद के मुतवल्ली का कहना था कि दफा 37 के अनुसार यह जमीन मस्जिद की है। 1983 में जब एलडीए ने यहाँ यह बाउंड्री बनवाई थी तब उस समय के मौजूदा मुतावल्ली अदालत गए थे और अदालत में एलडीए हाजिर नहीं हुआ था। जिसके बाद कोर्ट ने 1984 में दरिया वाली मस्जिद के हक में एक तरफा फैसला सुना दिया था।

उन्होंने आगे बताया कि नगर निगम द्वारा हमको व यहाँ के दुकानदारों को 2 तारीख को नोटिस दिया गया था। उन्होंने ने कहा कि नोटिस मिलने के बाद हम लोगों ने कार्रवाई शुरू की, हम लोग नगर आयुक्त के पास गए, लेकिन उन्होंने कहा कि आप लोग डीएम साहब से बात कीजिये। इसी बीच यहां नगर निगम की टीम ने तोड़फोड़ शुरू कर दी।

नगर अभियंता जोन 2 डी.डी गुप्ता का कहना था कि नगर आयुक्त के आदेश पर यह कार्रवाई हुई है। नगर निगम द्वारा कई बार नोटिस भी दिया जा चुका था। यह जमीन नगर निगम के पार्क की थी, मस्जिद का हिस्सा अलग है। मामले को लेकर दूसरे दिन दरिया वाली मस्जिद पर सुबह से ही शिया व सुन्नी समुदाय के कई मौलाना पहुँचना शुरू हो गए थे। जिसमें मौलाना सय्यद कल्बे सिबतैन नूरी जो कि मौलाना सैयद कल्बे सादिक के पुत्र हैं।

मौलाना यासुफ अब्बास, मौलाना सैफ अब्बास, सुन्नी मौलाना मो. अकरम नदवी जो कि ओल्ड बवाज एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं व मो. जावेद अध्यक्ष इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना शाह अब्दुल फजले मन्नान वाईजी शामिल थे। वहीं कल रात से ही अपनी महिला साथियों के साथ शबी फात्मा रिजवी जो कि मुस्लिम महिला जागरूक मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं वह धरने पर बैठ गयी थीं। जिनके साथ वली मो. बहुजन मुस्लिम महा सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी मौजूद थे। सभी ने नगर निगम की कारवाई की कड़े शब्दों में निंदा की और टूटे हुए गेट को पुनः बनाए जाने की माँग की।

यह भी पढ़ें-नगर निगम की कार्रवाई से मुस्लिम समाज में रोष, धर्मगुरूओं ने दी चेतावनी

सुबह से ही लोगों का हुजूम दरिया वाली मस्जिद पहुँच गया था और लोग सरकार व नगर निगम प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। जिसके बाद मौके पर एसीएम 2 अजय राय पहुंचे और मौलाना सैफ अब्बास से बातचीत की। उन्होंने बताया कि टूटे हुए गेट को पुनः उसी समय बनवाने के आदेश दे दिए गए हैं। डीएम ने एक टीम भी गठित कर दी है जिसमें जमीन से संबंधित मामले देखने के लिए संबंधित अधिकारियों को शामिल किया गया है। टीम के सामने मस्जिद पक्ष के लोग अपने पेपर प्रस्तुत करेंगे और नगर निगम भी अपने पेपर प्रस्तुत करेगा। उसके बाद वह टीम 15 दिन में यह फैसला करेगी कि यह जमीन किसकी है। इस 15 दिन तक न तो नगर निगम और न ही मस्जिद कमेटी किसी भी प्रकार का निर्माण करेगा।http://www.satyodaya.com

कोरोना वायरस

Corona Update: UP में 4403, व लखनऊ में 549 नए केस, रिकवरी रेट 84 प्रतिशत

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में इन दिनों काफी कमी देखने को मिल रही है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 4,403 नए केस आए है। इस दौरान 77 लोगों की जान चली गई है। राजधानी लखनऊ में रविवार को 549 पाॅजिटिव रोगी मिले है।

लखनऊ में 675 लोगों की मौत

लखनऊ में रविवार को 1,039 रोगियों को इलाज के उपरान्त अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है। अब तक 42609 रोगियों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं लखनऊ में 7,914 मामले अभी भी एक्टिव है। जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अब तक 675 लोगों की सांसे थम चुकी है।

कानपुर में 179 नए मामले

यूपी में कोरोना संक्रमण के मामले में प्रयागराज आज दूसरे स्थान पर रहा हैं। जहां 263 नए कोरोना मरीज मिले है। इसके अलावा गाजियाबाद में 229, गौतमबुद्ध नगर में 204, मेरठ में 191, कानपुर नगर में 179, वाराणसी में 163, फर्रुखाबाद में 150, लखीमपुर में 137, गोरखपुर में 109 और अलीगढ़ में 103 रोगी मिले है। इस दौरान लखनऊ में 11, कानपुर में 7, गोरखपुर में 6, कुशीनगर में 5, प्रयागराज में 4, वाराणसी और इटावा में 3-3, मेरठ, अलीगढ़, बलिया, आगरा, महराजगंज, हरदोई, रायबरेली और हापुड़ में 2-2 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है।

यूपी में 3 लाख से अधिक रोगी ठीक

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने रविवार का बताया कि नए मामलों के साथ ही प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,87,085 हो गई है। कुल संक्रमित मामलों में से रविवार को 5,656 मरीज कोरोना को मात देने में सफल रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 3,25,888 मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके है। प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट अब बढ़कर 84.19 प्रतिशत हो गया है।

प्रदेश में 55 हजार केस एक्टिव

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि 55,603 मामले अभी में यूपी में सक्रिय है। इनमें से 27,826 लोग होम आइसोलेशन में रह कर अपना इलाज करा रहे हैं। अभी तक होम आइसोलेशन में रहने वाले 2,05,846 मरीजों में से 1,78,020 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। अब तक राज्य में 5,594 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें:- UP विस उपचुनावः कांग्रेस ने की स्वार व बांगरमऊ सीट के लिए प्रत्याशियों की घोषणा

अब तक 96 लाख सैंपल की जांच

उन्होंने कहा कि हम प्रतिदिन 1.50 लाख से अधिक टेस्टिंग कर रहे है। फिर भी कोरोना संक्रमितों के मामलों में कमी आई है। लेकिन इस समय हमें ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। साथ ही बताया कि शनिवार को प्रदेश में कुल 1,57,710 सैंपल्स की जांच हुई है। अब तक प्रदेश में कुल 96,25,076 कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

31661 पदों पर शिक्षक भर्ती का विरोध, पुलिस ने किया बल प्रयोग

Published

on


बेसिक शिक्षा निदेशालय अभ्यर्थियों ने जमकर किया हंगामा

लखनऊ। शिक्षक भर्ती के सैकड़ों अभ्यर्थियों ने शनिवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय निशातगंज में प्रदर्शन किया। अभ्यर्थियों ने प्रदेश में 31,661 सहायक अध्यापकों की भर्ती का विरोध किया। विभिन्न जनपदों से आए सैकड़ों अभ्यर्थियों ने नारेबाजी करते हुए जमकर हंगामा किया। इस बीच उनकी पुलिस से झड़प और धक्का-मुक्की हुई। पुलिस ने अभ्यर्थियों पर हल्का बल प्रयोग कर बसों में भरकर ईको गार्डेन ले जाकर छोड़ दिया।

प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों ने कहा कि सरकार को भर्ती करनी है तो सभी 69000 पदों पर भर्ती करे। 31661 पदों पर भर्ती करना गलत है। अभी यह भर्ती मामला सुप्रीम कोर्ट में भी विचाराधीन है। यदि ऐसी स्थिति में सरकार ने प्रस्तावित पदों पर भर्ती कर ली तो बाकी के अभ्यर्थी बिना नियुक्ति के ही रह जाएंगे।

यह भी पढ़ें-अस्पताल में भर्ती अभिनेता अनुपम श्याम ओझा CM योगी को लिखी भावुक चिट्ठी

पुलिस ने युवाओं को समझाकर शांत कराने का प्रयास किया। लेकिन अभ्यर्थी उत्तेजित हो गए। पुलिस के साथ उनकी नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने उन्हें जबरन बस में बैठाने का प्रयास किया तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई। जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर अभ्यर्थियों को बस में भरकर ईको गार्डेन भेज दिया।

बेसिक शिक्षा निदेशक ने अभ्यर्थियों को मनाया

दोपहर बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ईको गार्डेन पहुंचे। वहां, अभ्यर्थियों की बात सुनी और अभ्यर्थियों की बात शासन में रखने का आश्वासन दिया। इसके बाद प्रदर्शन समाप्त कर अभ्यर्थी अपने-अपने घरों की ओर रवाना हो गए। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

कोरोना वायरस

Corona Update: यूपी में पिछले 24 घंटे में 4519 नए केस, रिकवरी रेट 82 प्रतिशत

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में काफी कमी देखने को मिल रही है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोविड के 4,519 नए पाॅजिटिव रोगी मिले है। इस दौरान 84 लोगों की मौत हो गई है। वहीं राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को 580 नए केस आए है।

लखनऊ में अब तक 653 लोगों की मौत

लखनऊ में कोरोना संक्रमितों की संख्या 50 हजार को पार कर गई है। कुल संक्रमितों में से अब तक 40,433 रोगियों ने कोरोना को मात दे कर अपने घर लौटे है। वहीं लखनऊ में 8,954 केस अभी भी एक्टिव है। जिनका अलग-अलग अस्तालों में इलाच चल रहा है। अब तक 653 लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रयागराज में 291 नए केस

कोरोना संक्रमण मामलों में प्रदेश में प्रयागराज आज फिर दूसरे नंबर पर रहा है। जहां 291 नए रोगी मिले हैं। इसके अलावा गौतमबुद्धनगर के 242, गाजियाबाद के 239, वाराणसी के 228, कानपुर नगर के 219, मेरठ के 207, गोरखपुर के 128, अलीगढ़ के 119, लखीमपुर खीरी और झांसी के 100-100, मुरादाबाद के 96 और मुजफ्फरनगर के 90 रोगी शामिल हैं। दौरान लखनऊ के 9, कानपुर नगर और बाराबंकी के 8-8, गोरखपुर और वाराणसी केे 4-4, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, जौनपुर और पीलीभीत के 3-3, गाजियाबाद, झांसी, प्रतापगढ़, मेरठ, सीतापुर, रायबरेली, कन्नौज और शामली के 2-2 कोरोना मरीजों की सांसे थम गई है।

6 हजार से अधिक मरीज डिस्चार्ज

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद की बीते 24 घंटों में नए मामलों के मुकाबले ठीक होने वालों की संख्या अधिक रही है। शुक्रवार को 6,075 लोगों को इलाज के उपरान्त अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है। अबतक 3,13,686 कोरोना रोगियों को अस्पताल से इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। प्रदेश में कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट बढ़कर अब 82.86 हो गया है।

यूपी में 59 हजार केस एक्टिव

उन्होंने बताया की प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3,78,533 पहुंच गया है। कुल संक्रमित मामलों में से 59,397 केस अभी भी सक्रिय हैं जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इनमें से 30,371 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं। 3,697 लोग प्राइवेट अस्पतालों में और 144 मरीज सेमी पेड एल-2 अस्पतालों में भर्ती है। यूपी में अब तक 5450 लोगों की कोविड से जान जा चुकी है।

यह भी पढ़ें:- उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह को क्यों मांगनी पड़ी दक्षिण कोरिया से माफी

अब तक 93 लाख सैंपल्स की जांच

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में लगातार टेस्टिंग के बाद भी कोरोना मामलों की संख्या घट रही है। पॉजिटिविटी रेट में भी कमी आई है। गुरुवार को प्रदेश में कुल 1,62,742 नमूनों की जांच हुई है। अब तक 93,10,258 कोरोना सैंपल्स की जांच हो चुकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 28, 2020, 8:00 am
Fog
Fog
27°C
real feel: 34°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:27 am
sunset: 5:26 pm
 

Recent Posts

Trending