Connect with us

लखनऊ लाइव

सड़क किनारे खड़े ट्रक में मिला अधेड़ व्यक्ति का शव, देखते ही फैली सनसनी

Published

on

लखनऊ । राजधानी के गुडंबा थाना क्षेत्र में उस वक्त लोगों में सनसनी फैल गई । जब सुबह करीब 9:00 बजे स्थानीय लोगों ने सड़क किनारे खड़े ट्रक में एक अधेड़ व्यक्ति का शव चालक की सीट पर पड़ा हुआ था । जिसकी सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी । जिसकी जानकारी पाते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर आगे की जांच में जुट गई है , साथ ही बताया जा रहा है कि मृतक को कल देर रात गैस एजेंसी से बाहर निकाल दिया गया था जिसके बाद सुबह उसका शव उसकी ट्रक में मिला है । पूरा मामला गुड़म्बा थाना क्षेत्र स्थित मिश्रपुर का है जहां सड़क किनारे भारत गैस एजेंसी के ट्रक में शव में मिलने से आस-पास के लोगों में सनसनी फैल गई । वहीं मृतक की शिनाख्त 37 वर्षीय अजय वर्मा के रूप में हुई साथ ही मृतक अजय वर्मा भारत गैस एजेंसी का ट्रक चालक बताया जा रहा है । स्थानीय लोगों के मुताबिक मृतक रात में रोड के किनारे ट्रक लगाकर सोया था जिसके बाद आज सुबह उसका शव ट्रक के अंदर सीट पर मृत अवस्था में पड़ा मिला है ।

FILE PHOTO

वहीं अगर गुडंबा पुलिस की मानें तो मृतक के शरीर पर कोई भी चोट के निशान नहीं है । साथ ही कहा जा रहा है कि प्रथम दृष्टया देखने से लग रहा है की ट्रक चालक की हार्टअटैक से हुई है । फिलहाल ट्रक चालक की मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा । वहीं मृतक की पत्नी ने आरोप लगाया है कि उसके पति को एजेंसी से रात को बाहर निकाल दिया था जिसके बाद सुबह उनको मृत अवस्था मे पाया गया । लेकिन मृतक के परिजनों ने किसी पर भी हत्या करने का आरोप नहीं लगाया है जिसके बाद अब देखने वाली बात यह होगी कि इस पूरे मामले पर पुलिस किस तरह की जांच कर कार्रवाई करती है । फिलहाल पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी ।https://satyodaya.com

लखनऊ लाइव

पीएफ घोटाला: ऊर्जा मंत्री के बयान पर बिजली कर्मचारी आगबबूला, दी चेतावनी

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने पीएफ घोटाले के मामले में चल रहे बिजली कर्मचारियों के शांतिपूर्ण आंदोलन के दौरान प्रदेश के ऊर्जा मंत्री के रवैये को गैर जिम्मेदाराना करार दिया। समति ने का कहना है कि ऊर्जा मंत्री के बयानों से ऊर्जा निगमों में अनावश्यक तौर पर टकराव का वातावरण बन रहा है। संघर्ष समिति ने गुरुवार को प्रदेश सरकार व ऊर्जा निगमों के प्रबंधन को 28 नवंबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार की नोटिस दे दी है। अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार के अभियान में बिजली कर्मचारियों, जूनियर इंजीनियरों व अभियंताओं ने आज राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश भर में समस्त परियोजनाओं व जिला मुख्यालयों पर विरोध सभायें और प्रदर्शन किये।

राजधानी लखनऊ में शक्ति भवन पर हुई सभा में बिजली कर्मचारियों ने ऊर्जा मंत्री के बयान पर आक्रोश व्यक्त किया, जिसमें उन्होंने प्राविडेन्ट फण्ड घोटाले के लिए ट्रस्ट के कर्मचारी प्रतिनिधियों को जिम्मेदार ठहराया है। संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि श्रीकांत शर्मा के ऊर्जा मंत्री रहते हुए ट्रस्ट की एक भी बैठक नहीं हुई और अरबों रूपये का घोटाला होता रहा। ऐसे में यह ट्रस्ट के कर्मचारी प्रतिनिधियों की नहीं बल्कि ऊर्जा मंत्री की नैतिक जिम्मेदारी है। संघर्ष समिति ने स्पष्ट किया है कि बिजली कर्मचारियों का शांतिपूर्ण आंदोलन प्रदेश सरकार के नहीं बल्कि घोटाले के विरोध में है। इसिलिए ऊर्जा मंत्री को ऐसे बयानों से बचना चाहिए जिससे समाधान के बजाय टकराव बढ़ता हो।

संघर्ष समिति ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से एक बार फिर अपील की है कि वे प्रभावी हस्तक्षेप कर बिजली कर्मचारियों के प्राविडेन्ट फण्ड के भुगतान की गजट नोटिफिकेशन जारी करें। जिससे बिजली कर्मचारी निश्चिंत होकर प्रदेश की बिजली व्यवस्था को सुचारू बनाये रखने में जुटे रह सकें। संघर्ष समिति ने यह भी मांग की है कि घोटाले के मुख्य आरोपी पूर्व चेयरमैनों को जो ट्रस्ट के भी चेयरमैन रहे हैं सेवा से बर्खास्त कर तत्काल गिरफ्तार किया जाये।

संघर्ष समिति की 28 नवंबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार की नोटिस में यह चेतावनी दी गयी है कि अगर शांतिपूर्ण ध्यानाकर्षण आंदोलन के दौरान किसी का भी उत्पीड़न किया गया या किसी को भी गिरफ्तार किया गया तो बिना और कोई नोटिस दिये उसी समय सभी ऊर्जा निगमों के तमाम बिजली कर्मचारी, जूनियर इंजीनियर व अभियन्ता अनिश्चितकालीन पूर्ण हड़ताल और सामूहिक जेल भरो आंदोलन प्रारंभ करने के लिए बाध्य होंगे, जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार व प्रबंधन की होगी।

ये भी पढ़ें: रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति में साध्वी प्रज्ञा, कांग्रेस ने उठाए सवाल

आज शक्ति भवन लखनऊ में हुई विरोध सभा में राजीव सिंह, जय प्रकाश, गिरीश पाण्डे, सदरूद्दीन राणा, सोहेल आबिद, विनय शुक्ला, शशिकान्त श्रीवास्तव, पवन श्रीवास्तव, डी के मिश्रा, सुनील प्रकाश पाल, राम प्रकाश, जी वी पटेल, वारिन्दर शर्मा, महेन्द्र राय, वी सी उपाध्याय, परशुराम, पी एन तिवारी, पी एन राय, ए के श्रीवास्तव, कुलेन्द्र प्रताप सिंह, मो. इलियास, के एस रावत, भगवान मिश्र, करतार प्रसाद, आर एस वर्मा, पी एस बाजपेयी, वी के सिंह ‘कलहंस’ मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने महापौर और नगर आयुक्त को सौंपा मांग पत्र

Published

on

लखनऊ। अपनी पूर्व घोषित मांगों को लेकर लखनऊ नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने गुरुवार को महापौर संयुक्ता भाटिया और नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी से मुलाकात की। मोर्चा के पदाधिकारियों ने महापौर और नगर आयुक्त को अपना मांग पत्र सौंपा। मांग पत्र सौंपने के बाद अध्यक्ष मण्डल के चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री एवं राजेश सिंह ने कहा, नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने अपना मांग पत्र सौंप दिया है। हमें उम्मीद है कि हमारी मांगें जल्द पूरी की जाएंगी। संचालन मण्डल के राम अचल एवं रमेश चौरसिया ने कहा कि मांगों की पूर्ति न होने से कर्मचारियों में रोष है। अब यदि समय रहते हमारी मांगें पूरी नहीं की गईं तो हम आंदोलन करने को बाध्य होंगे। जिसकी पूरी जिम्मेदार उत्तर प्रदेश सरकार, शासन और नगर निगम की होगी।

यह भी पढ़ें-सरकार रिजर्व बैंक से दिलवाए बिजली कर्मचारियों को पीएफ का पैसा: राजीव त्यागी

ज्ञापन देने के दौरान चन्द्र प्रकाश अग्निहोत्री, किशन चन्द्र उपाध्याय, बाबू मुकेश शाक्य, अशोक गोयल, महमूद अहमद, राजेश भारती, श्याम बिहारी शुक्ला, राजेश सिंह, आनन्द वर्मा, विकास कुमार गोंड अध्यक्ष मण्डल, विमल कुमार पाण्डेय, अरूण कुमार अवस्थी, प्रदीप बाजपेई, राम अचल, राकेश तिवारी. रमेश चैरसिया, उमेश चन्द्र यादव, अमरनाथ, मंसूर अली. जावेद अहमद, ओम अमरनाथ प्रकाश उप्रेती, एहरार अहमद, राम चन्द्र यादव, भगौती मिश्रा, मो. रेहान, मिर्जा इरशाद बेग, सर्वेश पाल, मो. शोएब, विजय लक्ष्मी रेखा यादव, हिमान्शू सा राजीव रतन राय, सुखदेव प्रसाद, अर्जुन यादव, हेमन्त कुमार, मो. शमशाद, राजकुमार, शील भान सिंह, मंगल सिंह, मुकेश सोलंकी, ओमकार राजभर, सिद्धार्थ नैथानी, जाकिर अली एवं मनीष पाल उपस्थित रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

बीबीएयू में मत्स्य क्षेत्र में शोध पर दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित

Published

on

लखनऊ। बाबासाहब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के जंतुविज्ञान विभाग ने मत्स्य क्षेत्र में शोध पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन (एन.सी.आर.डी.एफ.) का आयोजन किया गया। जिसमें मत्स्य क्षेत्र में शोध कर रहे, देश विदेश से आये सैकड़ों वैज्ञानिकों ने हिस्सा लिया।

इस राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन सचिव प्रोफेसर डॉ. आभा मिश्रा व डॉ. संध्या ने किया। आयोजन के बारे में बताया कि यह सम्मेलन बी.बी.ए.यू. के पुराने प्रशासनिक भवन के सभागार में आयोजित किया गया। सम्मेलन का उद्घाटन बी.बी.ए.यू. के कुलपति डॉ. संजय सिंह द्वारा किया गया। अपने उद्घाटन वक्तव्य में बोलते हुये कुलपति ने कहा कि वर्तमान में जिस तरह खाद्यान्न संकट बढ़ रहा है उसको देखते हुये ऐसे सम्मेलनों की बहुत आवष्यकता है। आयोजन के मुख्य अतिथि विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद, उत्तर प्रदेश के निदेषक डॉ. वी.पी. मिश्रा ने उद्घाटन समारोह में बोलते हुये कहा कि कृषि की तरह मत्स्य क्षेत्र भी स्वास्थ्यवर्धक खाद्यान्न ही नहीं बल्कि पीढ़ी दर पीढ़ी लोगों को रोज़गार भी उपलब्ध कराता है।

उद्घाटन समारोह में भारतीय राश्ट्रीय विज्ञान अकादमी के अध्येता व कोचीन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कोच्ची के डॉ. के.पी. जॉय को उनके उत्कृष्ट काम के लिये सम्मानित भी किया गया।

पूरे सम्मेलन में तीन तकनीकि सत्र आयोजित किये गये। जिनमें एनसीआरडीएफ-2019 के विस्तृत विषयों को शामिल किया गया था जिसमें एक्वाटिक पारिस्थितिकी और संरक्षण, फिजियोलॉजी और अनुकूलन, विष विज्ञान और उपचार, प्रजनन और एंडोक्रिनोलॉजी, संस्कृति अभ्यास और रोग प्रबंधन और आकृति विज्ञान, शरीर रचना और व्यवहार जैसे विषय शामिल थे। सम्मेलन में देश-विदेश के विभिन्न प्रख्यात वैज्ञानिकों ने भाग लिया। भारत के विभिन्न हिस्सों से आये वैज्ञानिकों ने अपने शोध प्रस्तुत किये। सम्मेलन में कुल 141 प्रतिभागियों ने भाग लिया और प्राप्त शोध सार की कुल संख्या 75 थी।

सम्मेलन में हुयी चर्चा में वैज्ञानिकों ने माना कि मत्स्य क्षेत्र एक बड़ा क्षेत्र है जो कि भुखमरी ओर बेरोजगारी को दूर करने में सहायक है। यह वंचित और अशिक्षित वर्गों की वित्तीय स्थिति सुधारने के लिये कई विचार प्रदान कर सकता है। मत्स्य क्षेत्र सिर्फ स्वास्थ्यवर्धक भोजन ही नहीं वरन मत्स्य अपशिष्ट को दोबारा इस्तेमाल करके महिला सशक्तिकरण के अवसर भी उपलब्ध कराता है।

ये भी पढ़ें: राजधानी में तेज रफ्तार का कहर जारी, स्कॉर्पियो ने मारी बोलेरो को टक्कर

सम्मेलन में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन भी किया गया। जिसमें लखनऊ के मशहूर गजल गायक कुलतार सिंह ने अपनी गजलें प्रस्तुत कीं। बता दें समापन समारोह डीन प्रोफेसर आरपी सिंह की उपस्थिति में आयोजित किया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 21, 2019, 6:39 pm
Fog
Fog
22°C
real feel: 23°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 73%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:00 am
sunset: 4:44 pm
 

Recent Posts

Trending