Connect with us

लखनऊ लाइव

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की कविताओं की रंगप्रस्तुति ‘अटल पथ’ का हुआ मंचन

Published

on

  • रंगकर्म में योगदान के लिए 11 विभूतियों को नौशाद सम्मान से किया गया अलंकृत

लखनऊ। संस्कृति उन्नयन के क्षेत्र में कार्यरत नौशाद संगीत डेवलपमेंट सोसायटी की ओर से रंगकर्म व कलाओं में विशेष योगदान देने वाली 11 विभूतियों को आज नौशाद सम्मान-2019 से सम्मानित किया गया। यह सम्मान राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में भारत रत्न अटलबिहारी वाजपेयी की कविताओं की रंगप्रस्तुति ‘अटल पथ’ के मंचन के अवसर पर दिया गया। इस अलंकरण समारोह में प्रो. आसिफा जमानी, विलायत जाफरी, पुनीत अस्थाना, शबी जाफरी, जितेन्द्र मित्तल, चित्रा मोहन, विनय श्रीवास्तव, राजवीर रतन, एस.एन.लाल, आनन्द शर्मा व एस.रिजवान को ‘नौशाद सम्मान-2019’ से नवाजा गया।

इस अवसर पर राजनेता अम्मार रिजवी व पूर्व प्रशासनिक अधिकारी अनीस अंसारी ने उपस्थित लोगों से अपने विचार साझा किये। उन्होंने कहा कि लखनवी तहजीब के पैरोकार संगीतकार व शायर नौशाद साहब का घराना नवाबी नहीं था पर वे नवाब शुजाउद्दौला की साझा लखनवी तहजीब की पूरी परंपरा को सामने रखने वाले थे। वह महज संगीतकार नहीं, उम्दा लेखक भी थे। मशहूर फिल्म ‘दीदार’ की कहानी उन्होंने ही लिखी थी।

आपको बता दें कि इससे पहले ‘नौशाद सम्मान’ संगीतकार खय्याम, कल्याणजी आनन्दजी, सरोदवादक अमजदअली खां, संतूरवादक शिवकुमार शर्मा, नृत्यागंना हेमामालिनी, गायिका रेखा भारद्वाज, रंगनिदेशक राज बिसारिया, सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ, जुगुलकिशोर मिश्र को दिया जा चुका है।

समारोह में रंगनिर्देशक विलायत जाफरी ने बताया कि संगीतकार नौशाद एक खुद्दार और संघर्षशील व्यक्ति थे। उनके संघर्ष व अनुभव ने ही उनके फन को यादगार बनाया। नये कलाकारों को हौसला देने के लिए उन्हें याद कर उनकी परम्परा को आगे बढ़ाना हमारा दायित्व है। सोसायटी के सचिव संयोजक अतहर नबी ने संस्था के कार्यों का ब्यौरा और अपने संस्मरण रखते हुए बताया कि नौशाद साहब का बचपन यहीं बीता। यहां रॉयल सिनेमा हाल में संगीतकारों के साथ लड्डन मियां हारमोनियम बजाते थे। यहीं से नौशाद साहब का संगीत प्रेम परवान चढ़कर पहले जुनून की हद और अंततः एक अजीम मंजिल तक पहुंचा। एक उम्दा दर्जे के शायर के तौर पर भी उनका योगदान कम नहीं है।

भारतरत्न पं. अटलबिहारी वाजपेयी की काव्य रचनाओं पर आधारित सोसायटी रंगमण्डल की मल्टी मीडिया पेशकश ‘अटल पथ’ के मंचन के अवसर पर अतिथियों के तौर पर पद्मश्री राज बिसारिया व उर्दू फारसी विश्वविद्यालय के उपकुलपति प्रो.माहरुख मिर्जा भी आमंत्रित थे। एसएन लाल के कविता संकलन, आनन्द शर्मा की परिकल्पना व निर्देशन, असद खान के मल्टीमीडिया संयोजन, आदित्य लिप्टन के संगीत संयोजन व संजय त्रिपाठी के प्रकाश संचालन में प्रस्तुत ‘अटल पथ’ में कई कलाओं का संगम दिखा।

अटल की भूमिका में डाॅ. मसूद अब्दुल्लाह व अन्य चरित्रों में अभिनेश मिश्र, दीपशिखा सिन्हा, पूर्णिमा शुक्ला, अस्मिता श्रीवास्तव, जुही, सुरेशचन्द्र, अजय सिंह, तुषार चौधरी, हृतिककुमार, अनिल सिंह, शिवम मिश्रा व सत्यम शुक्ला इत्यादि कलाकार मंच पर थे। जिन्होंने अटल के काव्य कर्म, उनके आदर्श, त्याग और कर्मठता से परिचित कराती पेशकश में अटल उद्गार, क्या खोया क्या पाया, संकल्प काल, शक्ति से शान्ति, न दैन्यम् न पलायनम् आदि काव्यसंग्रह से ली गईं कदम कभी रुके नहीं कभी डिगे नहीं, पन्द्रह अगस्त की पुकार, मैं न चुप हूं न गाता हूं, दूध में दरार पड़ गई, आओ फिर से दिया जलायें, मैं अखिल विश्व का गुरु महान व कालजयी कविता लौटकर आऊंगा सहित 15 कविताओं को अभिनय, सहज गतियों व संयोजनों में संजोया। वृत्तचित्र शैली की लगभग डेढ़ घण्टे की इस प्रस्तुति में अटल के जीवन के प्रसंग, परमाणु परीक्षण आदि की रिकार्डेड छवियां और वीडियो भी दर्शकों को पसंद आये। लेजर लाइट्स व सराउण्ड साउण्ड ने प्रस्तुति को दर्शनीय व श्रवणीय बनाया।   http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सीएम आवास घेरने पहुंचे ओम प्रकाश राजभर

Published

on

पुलिस ने हजरतगंज के कसमंडा हाउस पर ही रोका, सीएम को संबोधित ज्ञापन लिया

लखनऊ। प्रतापगढ़ जनपद की रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने शनिवार को समर्थकों के साथ सीएम आवास की तरफ कूच किया। समर्थकों के साथ राजभर के सीएम आवास पहुंचने की खबर पर पुलिस ने कसमंडा हाउस पर ही घेराबंदी कर दी। पुलिस अफसरों ने राजभर को वहीं पर रोकर उनकी बात सुनी और सीएम को संबोधित ज्ञापन ले लिया। हंगामे की आशंका को देखते हुए सीएम आवास पर सुरक्षाकर्मियों की संख्या भी बढ़ा दी गयी है।

यह भी पढ़ें-कानपुरः चौबेपुर एसओ विनय तिवारी सस्पेंड, STF के रडार पर कई पुलिसकर्मी

पीड़िता का आरोप है कि उसका अपहरण कर एक महीने 5 दिन तक उसका रेप किया गया। आरोपी के चंगुल से छूटने के बाद उसने प्रतापगढ़ पुलिस से शिकायत की। लेकिन स्थानीय पुलिस कार्रवाई करने के लिए तैयार नहीं है। आरोप है कि आरोपी उसे जान से मारने की धमकी दे रह हैं।

प्रदेश में जंगलराज, सीएम योगी दें इस्तीफा: राजभर

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए राजभर ने कहा, प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। हत्या, लूट, डकैती और बलात्कार की घटनाएं चरम पर हैं। सरकार कह रही है कि वह अपराध पर जीरो टाॅलरेंस नीति पर काम कर रही है। लेकिन हकीमत में ऐसा कुछ नहीं है। राजभर ने कहा कि प्रदेश में राष्टपति शासन लागू होना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी को इस्तीफा दे देना चाहिए।

पीड़िता के बयान दर्ज होने के बाद भी आरोपी ‘आजाद’

राजभर ने कहा कि प्रतापगढ़ की इस युवती के साथ एक महीने तक रेप हुआ। घटना के तीन महीने बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है। राजभर ने बताया कि सीजेएम के यहां पीड़िता के बयान दर्ज हो जाने के बाद भी पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। पीडिता ने बताया कि पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं और उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पीड़िता के पिता ने बताया पुलिस हम पर ही समझौता करने का दबाव बना रही है। आरोप है कि स्थानीय पुलिस ने पीड़िता के साथ मारपीट भी की है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

संदिग्ध परिस्थितियों में युवक की चार मंजिला भवन से गिर कर मौत

Published

on

लखनऊ। विकासनगर थाना क्षेत्र के कुर्सी रोड स्थित यादव लोहा भंडार के पास एक नवनिर्मित चार मंजिला भवन से संदिग्ध परिस्थितियों में एक युवक के गिरने से मौत हो गई। उसके शरीर पर चोट के कई निशान भी मिले हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें: योगी सरकार के खिलाफ कानून व्यवस्था को ‘नया मुद्दा’ बनाएगी यूपी कांग्रेस

प्रभारी निरीक्षक विकासनगर धीरज शुक्ला ने बताया मूलरूप से गौरीगंज अमेठी के रहने वाले आदित्य मिश्रा (30) शेखुपुरा कालोनी में रहते हैं। वह प्राइवेट नौकरी करते थे। बीती रात करीब 10 बजे यादव लोहा भंडार के पास बनी एक नवनिर्मित मकान से एक युवक के नवनिर्मित भवन से नीचे गिरने की सूचना मिली। सूचना पर पहुंची पुलिस आदित्य को ट्रामा सेंटर ले गई। रात करीब एक बजे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले मामले की जांच कर रही है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

विकास दुबे की तलाश में लखनऊ में छापेमारी, मां व भाई को साथ ले गई पुलिस

Published

on

लखनऊ। कानपुर में बदमाशों के हमले में अपने 8 जवानों की शहादत से यूपी पुलिस में काफी रोष और शोक है। इस पुलिस नरसंहार को अंजाम देने वाले अपराधी विकास दुबे की तलाश के लिए यूपी पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी है। एसटीएफ और पुलिस की कई टीमों के साथ करीब 8 हजार जवानों को विकास दुबे की खोज में लगाया है। प्रदेश भर में विकास दुबे के सभी संभावित ठिकानों व परिचितों के यहां पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। शुक्रवार शाम लखनऊ के कृष्णानगर स्थित विकास दुबे के घर पर एसीपी दीपक कुमार के नेतृत्व में छापेमारी की गयी।

यह भी पढ़ें-कानपुर: बदमाशों के हमले में सीओ, एसओ सहित 8 पुलिसकर्मी शहीद

हालांकि विकास दुबे का यहां भी कोई सुराग नहीं मिला। कुछ दिन पहले लखनऊ एसटीएफ ने विकास दुबे को इसी घर से दबोचा था। पुलिस ने पूरे घर की तलाशी ली। इस दौरान कई थानों की फोर्स मौके पर मौजूद रही। लखनऊ पुलिस विकास दुबे के अवैध हथियारों की तलाश में थी। काफी सर्च के बाद भी पुलिस को यहां से कुछ खास हासिल नहीं हुआ।

मां ने कहा, मैं उसका मुंह कभी नहीं देखूंगी…उसे मार दो…

पुलिस ने विकास की मां, भाई, भाई की पत्नी, बेटी को हिरासत में ले लिया है। सभी से पूछताछ की जा रही है। विकास दुबे की मां ने कहा कि उसने बहुत गलत काम किया है। मैं उसका चेहरा कभी नहीं देखूंगी। पुलिस उसे कड़ी से कड़ी सजा दे। उसे पुलिस जवानों की हत्या नहीं करनी चाहिए थी। एसीपी दीपक कुमार ने बताया कि विकास दुबे की तलाश में ऑपरेशन चलाया जा रहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 5, 2020, 10:52 pm
Fog
Fog
29°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s ENE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:49 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Trending