Connect with us

लखनऊ लाइव

अपनी कमियां छुपाने के लिए सहयोगी दलों को रेवड़ियां बांट रही भाजपाः कांग्रेस

Published

on

फ़ाइल फोटो

लखनऊ। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता मंजू दीक्षित ने आज भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जब सारा देश 2019 के लोकसभा चुनाव के महापर्व की तैयारियों में जोर-शोर से जुटा है और आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है, तब प्रदेश सरकार निगमों, बोर्डों और आयोगों में नियुक्तियां करके चुनावी लाभ लेने का प्रयास कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता ने आज जारी बयान में कहा कि जबसे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है, उसके सहयोगी दल ही सरकार की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं। लेकिन सरकार चुप्पी साधे रही। चुनाव आचार संहिता के लागू होने के दिन ही कुछ समय पहले सरकार ने अपने घटक दलों को साधने के लिए 13 लोगों को निगम, बोर्ड, आयोग एवं संस्थानों में नियुक्त कर दिया। इससे साफ जाहिर होता है कि प्रदेश सरकार की सियासी बिसात पर जनहित के बजाए सिर्फ राजनीति ही हावी रहती है। उन्होंने कहा कि इसलिए दो वर्ष में सरकार हर मोर्चे पर अपनी विफलता को भांपकर अब अपने सहयोगी दलों को रेवड़ियां बांटकर खुश करने में जुटी है।

डाॅ. दीक्षित ने कहा कि भाजपा द्वारा अपने संकल्प पत्र में किया गया एक भी वादा पूरा नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी, महंगाई, ध्वस्त कानून व्यवस्था, महिला उत्पीड़न, किसानों को उनकी उपज का समुचित मूल्य न मिलना आदि तमाम ऐसे मुद्दे हैं जिन पर प्रदेश की आदित्यनाथ सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। इसीलिए भाजपा उत्तर प्रदेश में अपने खिसक चुके जनाधार को लेकर इतना बौखला गयी है कि आचार संहिता लागू होने वाले दिन ही मजबूरी में उसे अपने सहयोगी दलों के नेताओं को संतुष्ट करना पड़ा। डाॅ. मंजू दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ऐसी सत्ता लोलुप पार्टी एवं उसकी जनविरोधी नीतियों की कड़ी आलोचना करती है। इस लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता भाजपा की इस तुष्टिकरण की राजनीति का मुंहतोड़ जवाब देगी।   http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

लॉकडाउन ने बुजुर्गों व गंभीर मरीजों की बढाई चिंता

Published

on

वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक ने अफवाहों से दूर रहने की दी सलाह

लखनऊ। बुजुर्ग से लेकर गंभीर रोगों से बीमार एवं कमजोर व्यक्ति लॉकडाउन में अपने स्वास्थ्य एवं भविष्य को लेकर ज्यादा चिंतित हैं। गले में जरा सी खराश, खांसी, बुखार होने पर उसे बेवजह कोरोना से जोड़ने लगते हैं यदि इस प्रकार की दिक्कत है तो घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि इन पर नियंत्रण सम्भव है।

यह जानकारी देते हुए वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. अनुरुद्ध वर्मा ने बताया कि सरकार के पास कोरोना महामारी पर प्रभावी रोकथाम के लिए लॉक डाउन के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था, लेकिन इस दौरान लोगों के व्यवहार में परिवर्तन संभव है। इसके डर ने लोगों में अपनी एवं अपनों के सेहत की चिंता, कहीं मैं बीमार ना हो जाऊं, कहीं मैं मर ना जाऊं, व्यापार के नुकसान की चिंता सता रही है। लॉकडाउन ज्यादा दिन ना चल जाए कि अफवाह ने लोगों की चिंता को बढ़ा दिया है।

यह भी पढ़ें :- जमात के संपर्क में आए पांच व एक बच्चे में कोरोना की पुष्टि

वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक का कहना है कि अपने ऊपर नकारात्मक विचार ना हॉवी होने दें। अपनी भावनाओं को लोगों से शेयर करें। खुद समझें एवं दूसरों को समझाएं। उन्होंने कहा कि सकारात्मक विचारों वाली पुस्तकें पढ़ें। फोन पर अपनों का हाल चाल लें एवं अपनी भी खबर देते रहें। सुरुचिपूर्ण संगीत सुने, परिवारीजनों के साथ बातचीत करें, एकाकीपन ना हावी होने दें। नियमित रूप से योग, व्यायाम, प्राणायम एवं मैडिटेशन करतें रहें। घर की छत पर टहलें।

डॉ. वर्मा ने बताया कि यदि आप थोड़ी सी सावधानी अपनायेंगे तो यह समस्याएं आसानी से सुलझ जाएंगी। कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन के निर्देशों का पालन करें एवं सामाजिक दूरी बनाये रखें। हाथों को लगातार धोतें रहें, मास्क का प्रयोग करें, गुनगुना पानी पिये, घर के बाहर निकलें। उन्होने यह भी सलाह दी कि यदि आपके व्यवहार में परिवर्तन है आप बिना वजह के परेशान हैं तो होम्योपैथिक चिकित्सक से सलाह लें, क्योंकि होमियोपैथी में इस इस प्रकार की समस्याओं के समाधान की प्रभावी औषधियां उपलब्ध हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

जमात के संपर्क में आए पांच व एक बच्चे में कोरोना की पुष्टि

Published

on

लखनऊ में अब तक कोरोना के 17 मरीज

लखनऊ। राजधानी में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण से राहत नहीं मिल रही है। मस्जिदों से पकड़े गए तबलीगी जमात के संपर्क में आए पांच और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं कनाड़ा से लौटी महिला डॉक्टर का ढाई साल का बच्चा भी संक्रमण की चपेट में आ गया है। लखनऊ में अब मरीजों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। कुल 34 मरीज लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं।

सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि तबलीगी समाज के संपर्क में आए लखनऊ के लोगों की जांच कराई गई। लक्षण नजर आने पर 48 लोगों के नमूने लिए गए। जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया। इनमें पांच लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसमें तीन सदर कैंट, एक अकबरी गेट, एक आईआईएम रोड निवासी शामिल है। सभी पांच मरीजों को साढ़ामऊ अस्पताल में भर्ती कराया गया। गोमतीनगर में ढाई साल का बच्चा संक्रमण की जद में उसे केजीएमयू में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें :- कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए WHO करेगा कार्यक्रम, शाहरुख, प्रियंका होंगे शामिल

केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि 16 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसमें छह लखनऊ, आठ सीतापुर, दो आगरा के मरीज हैं। उधर, पीजीआई में दो कानपुर के मरीजों में कोराना की पुष्टि हुई है। सीएमओ ने बताया कि सदर में संक्रमण से मुक्ति के लिए 3 सदस्यीय 86 टीमों एवं 86 सुपरवाइजर ने जागरुकता फैलाई। प्रत्येक टीम में एक स्वास्थ्य विभाग से एक पुलिस विभाग से तथा एक प्रशासन से है। टीम ने घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया। टीम ने कुल 4880 घरों का भ्रमण किया। सर्विलांस एवं कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 63 लोगों के नमूने लिए गए। साढ़ामऊ में 14 केजीएमयू में 8 व कमांड में 2 मरीज भर्ती हैं।

यूपी में सबसे कम दिन के बच्चे में कोरोना की पुष्टि

यूपी में सबसे कम दिन के बच्चे में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। यह ढाई साल का बच्चा हाल ही में कनाड़ा से लौटी महिला डॉक्टर का है। तीन दिन पहले सिविल अस्पताल में बच्चे समेत परिवार के सात सदस्यों को क्वारंटीन किया गया था। हांलाकि जांच रिपोर्ट पॉजटिव आने के बाद बच्चे को केजीएमयू रेफर कर दिया गया है। केजीएमयू में बच्चे की देखभाल के लिए उसकी मां को भेजा गया है।

यह भी पढ़ें :- COVID-19…लॉकडाउन के दौरान यूपी के लोगों ने सत्योदय के साथ साझा किये अनुभव

आपको बता दें कि, 11 मार्च को कनाड़ा से गोमतीनगर स्थित घर लौटी महिला डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उन्हें केजीएमयू में भर्ती कराया गया था। कोरोना से पूरी तरह से मुक्ति मिलने के बाद 19 मार्च को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। उसके बाद महिला डॉक्टर की बुजुर्ग सास और कर्नल ससुर संक्रमण की चपेट में आ गए। दोनों को कैंट के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

महिला डॉक्टर के ससुर कर्नल की रिपोर्ट आयी निगेटिव

वहीं महिला डॉक्टर के ससुर कर्नल की रिपोर्ट में कोरोना निगेटिव की पुष्टि हुई है। हांलाकि उनकी स्थिति स्थिर है। कैंट के बेस अस्पताल में कर्नल व उनकी पत्नी भर्ती हैं। पत्नी की रिपोर्ट अभी तक पाजिटिव आई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

बांदा की युवतियों को शहर कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान ने पहुंचाई राहत सामग्री

Published

on

लखनऊ। लाॅकडाउन के बीच घरों में फंसे लोगो की मदद में सरकार को तमाम समाज सेवी संस्थाओं और संगठनों के साथ ही विरोधी पार्टियों का भी साथ मिल रहा है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सोमवार से सांझी रसोई शुरू की गयी है। इसके साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निर्देश पर हर जनपद और शहर में पार्टी की तरफ से एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। जिस पर फोन कर कोई गरीब या जरूरतमंद भोजन या राशन प्राप्त कर सकता है।

राजधानी लखनऊ में यह जिम्मेदारी शहर के कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान संभाल रहे हैं। सोमवार को श्री चौहान ने ऐसी ऐसी ही कुछ जरूरतमंद युवतियों की मदद की। लखनऊ में किराए के मकान में रहकर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रही बांदा की लड़कियों ने कांग्रेस के हेल्पलाइन नंबर पर राशन न होने की जानकारी दी। इस पर मुकेश सिंह चैहान ने इंदिरानगर में सुषमा अस्पताल के पास जाकर छात्रा शिवांगी शुक्ला को जरूरी व आवश्यक सामग्री मुहैया कराई गई। इसी तरह से इंदिरानगर में पटेल नगर विस्तार 9 में रहने वाली बांदा की मानवी शुक्ला यहां रहकर जो पीसीएस जे की तैयारी कर रहीं हैं।

यह भी पढ़ें -लखनऊ : ढाई साल के बच्चे में कोरोना की पुष्टि, केजीएमयू में किया गया क्वारंटाइन

सोमवार को उन्होंने हेल्पलाइन पर फोन कर बताया कि उनका राशन खत्म हो गया है। प्रशासन ने जिन दुकानों पर राशन खरीदने की जानकारी दी है, वह काफी दूर हैं। बिना साधन के जाना मुश्किल है। ऐसे में कांग्रेस शहर अध्यक्ष ने मानवी शुक्ला को भी उनके निवास स्थान पर जाकर राशन उपलब्ध कराया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 7, 2020, 6:14 pm
Sunny
Sunny
35°C
real feel: 34°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 18%
wind speed: 3 m/s WNW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:20 am
sunset: 5:57 pm
 

Recent Posts

Trending