Connect with us

ख़ैरियत

फैजुल्लागंज पीएचसी में मरीजों की खून जांच बंद, निजी पैथोलॉजी में जाने को हुए मजबूर…

Published

on

लखनऊ। फैजुल्लागंज में संक्रामक रोगों के मामले आने के बाद भी यहां के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं। यहां बने पीएचसी में मरीजों की खून की जांच बंद है। जांच के लिए लोगों को मजबूरन निजी पैथोलॉजी एवं डायग्नोस्टिक सेंटर का सहारा लेना पड़ रहा है। वहीं किसान की पत्नी सहित कई बुखार पीड़ितों के खून की जांच पीएचसी में नहीं हुई। किसान की पत्नी ने पायल बेचकर मिले रुपयों से निजी सेंटर पर टाइफाइड की जांच कराई। स्थानीय लोगों के मुताबिक करीब दो लाख आबादी होने के बाद भी खून की जांच एवं अन्य व्यवस्थाएं पीएचसी में स्वास्थ्य विभाग ने नहीं की है। 

यह भी पढ़ें: ट्रंप से बात करने पर PM मोदी पर भड़के ओवैसी, अमेरिकी राष्ट्रपति को लेकर कही ये बात…

फैजुल्लागंज की लक्ष्मी (54) ने सोमवार को श्याम विहार कॉलोनी में सीएमओ की ओर से लगे स्वास्थ्य शिविर में दिखाया तो उन्हें टाइफाइड की जांच के लिए कहा गया। लक्ष्मी के मुताबिक जब वह पीएचसी पहुंची तो उन्हें जांच नहीं होने की बात कहकर लौटा दिया गया। लक्ष्मी को तीन माह से बुखार चढ़-उतर रहा है। लक्ष्मी के मुताबिक उनके इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह ज्यादा देर तक खड़ी हो सकें। इसलिए वह किसी सरकारी अस्पताल में नहीं गईं। उन्होंने रुपए न होने पर अपनी पायल बेची। उससे मिले रुपए से 450 रुपए निजी सेंटर में देकर जांच कराई। वहीं फैजुल्लागंज के कृष्णलोक नगर निवासी आशीष शुक्ला, रामादेवी, बबली, नरेश, शत्रोहन, बिट्टू को बिना जांच के पीएचसी से वापस भेज दिया गया।http://www.satyodaya.com

ख़ैरियत

अब प्रतिदिन चलेंगी दो मोबाइल मेडिकल यूनिट

Published

on

डेंगू के बढ़ते प्रभाव के बाद स्वास्थ्य विभाग एलर्ट

लखनऊ। राजधानी के रुचिखंड, साले नगर आशियाना, बंगला बाजार में अब प्रतिदिन दो मोबाइल मेडिकल यूनिटें डेंगू रोग से बचाव एवं रोकथाम के संबंध में लोगों को जानकारी देंगी। इसके साथ ही यूनिट के माध्यम से मरीजों कि जांच और दवा का भी वितरण होगा। यह निर्णय डेंगू के बढ़ते मरीजों की वजह से लिया गया है।

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के निर्देश पर दो मोबाइल मेडिकल यूनिट को उक्त क्षेत्रों में संचालित किया जाएगा। प्रवक्ता के मुताबिक पहले एक ही मेडिकल यूनिट का संचालन किया जा रहा था।

16 लोगों को नोटिस

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि फाइट द बाइट अभियान के तहत स्वास्थ्य टीम ने 548 घरों एवं विभिन्न स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियों का सर्वेक्षण किया। जिसमें से 16 घरों व स्थान ऐसे मिले जहां मच्छर के पनपने की पूरी संभावना दिखी। इन घरों व स्थानों पर लगाए गए कूलर, गमले, टायर में कई दिनों से पानी भरे हुए थे। जिन्हें साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया गया। वहीं इन क्षेत्रों में बने मकानों के सामने गढ्डों में जलजमाव था।

यह भी पढ़ें :- भाजपा हर कार्यकर्ता का सम्मान करती हैः स्वतंत्र देव सिंह

सीएमओ प्रवक्ता के मुताबिक मच्छर जनित स्थानों में गीता पल्ली वार्ड, नरही, शारदा नगर, रुचिखंड, राजाजीपुरम प्रमुख रूप से शामिल है। इसके अतिरिक्त इन सभी क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन तथा स्वास्थ्य संबन्धि जानकारी दी गई। नगर निगम को उक्त क्षेत्रों में सघन फागिंग अभियान एवं व्यापक सफाई व्यवस्था कराए के लिए निर्देश दे दिया गया है।

इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए अलर्ट जारी

सीएमओ ने इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए सभी अस्पतालों को पहले से ही अलर्ट जारी कर दिया है। इसके साथ ही मरीजों की दवा के लिए पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है। वहीं राजधानी के सभी अस्पतालों में रोगियों के लिए वार्ड आरक्षित करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

मेडिकल कॉलेज में डाक्टरों ने आपस में की मारपीट, कई घायल

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के चौक थाना क्षेत्र स्थित मेडिकल काॅलेज में बीती रात दो डाॅक्टर्स के ग्रुप आपस में भीड़ गए। यह हंगामा करीब आधे घंटे चलता रहा और इस हंगामे से वहां पर मरीज व तीमारदारों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा है। जिसमें बताया जा रहा है कि कई डाॅक्टर भी चोटिल हो गए हैं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया। बताया जा रहा है मेडिकल काॅलेज में बीती रात मेडिसिन डिपार्टमेंट में भर्ती आर्थो के स्टूडेंट को देखने आये डाॅक्टर्स ग्रुप व दूसरे डाॅक्टर्स ग्रुप के बीच कुछ कहासुनी हुई और एकाएक दोनों ग्रुप आपस में मारपीट करने लगे। इस मारपीट में शामिल मेडिसिन विभाग व हड्डी विभाग के डाक्टर थे। जिसमें लात-घूंसों के साथ ही ग्लूकोज टांगने वाले स्टैंड से भी हमला किया गया।

वहीं इस घटना की जानकारी देते हुए केजीएमयू प्रवक्ता डाॅक्टर सुधीर ने बताया कि उनको केजीएमयू के मेडिसिन डिपार्टमेंट में मारपीट की जानकारी मिली है। जिसमें बताया गया है कि आर्थो का जूनियर डाॅक्टर मेडिसिन डिपार्टमेंट में भर्ती था और उसको देखने आये डाॅक्टर्स ग्रुप में किसी बात को लेकर कहासुनी हुई और मामला मारपीट तक जा पहुंचा। जिसको देखते हुए दोनों डिपार्टमेंट के प्रोफेसरों से बात की गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि एक टीम भी गठित कर दी गई है जो पूरे मामले की जांच कर रही है और जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़े- जालसाजी के आरोप में प्रणव अंसल को पुलिस ने दिल्‍ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

वहीं एसपी पश्चिम विकास चंद त्रिपाठी का कहना है कि केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में दो डाॅक्टर्स ग्रुपों के बीच हुई मारपीट का मामला सामने आया है। जिसपर बीती रात मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे मामले को शांत कराया। उन्होंने कहा कि एक पक्ष की तरफ से मिली तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और दूसरे पक्ष से भी तहरीर मिलने पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने कहा पूरे मामले की जांच की जा रही है और घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों को देखने के साथ ही रात को ड्यूटी पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड और अस्पताल के जिम्मेदारों से भी पूछताछ की जा रही है और जो भी साक्ष्य जांच में सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

ख़ैरियत

किशोरी के पेट से निकाला गया 11 किलोग्राम का ट्यूमर

Published

on

किशोरी की हालत काफी बेहतर
लखनऊ।
बलरामपुर अस्पताल के डॉक्टरों ने किशोरी के पेट से 11 किलोग्राम का ट्यूमर निकालकर उसकी जिंदगी बचाई है। ऑपरेशन के बाद से किशोरी की हालत काफी बेहतर है।
बलरामपुर अस्पताल के सर्जन डॉ. एसआर समद्दर ने बताया कि इटौंजा के उसरना गांव निवासी 13 साल की किशोरी के पेट में तेज दर्द व सूजन की शिकायत थी। तीमारदार 21 सितंबर को ओपीडी में लेकर पहुंचे। जांच में पता चला कि ट्यूमर है।

यह भी पढ़ें :- केजीएमयू में अब रात में भी तैनात रहेंगे कैजुल्टी मेडिकल अफसर

डॉ. समद्दर ने बताया कि जटिल ऑपरेशन में किशोरी के पेट को 2.30 इंच तक के चीरे से काटा गया। उसके बाद करीब 11 किलोग्राम का ट्यूमर को निकाला गया। इसमें सात लीटर द्रव्य और चार किलो सॉलिड था। ऑपरेशन करने वालों में डॉ. समद्दर के साथ ही डॉ. एसके सक्सेना, एनेस्थीसिया डॉ. कौशल, डॉ. अंजुम कौशर, स्टाफ नर्स विनीता और उर्मिला शामिल रहीं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 9, 2019, 8:41 am
Fog
Fog
26°C
real feel: 32°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 83%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 5:32 am
sunset: 5:15 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending