Connect with us

लखनऊ लाइव

भाकपा: सिक्योरिटी के नाम पर उपभोक्ताओं पर भारी आर्थिक बोझ डाल रही प्रदेश सरकार

Published

on

लखनऊ। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव डॉ. गिरीश ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने हालही में बिजली की कीमतों में 12 फीसदी से ज्याद की वृद्धि की थी लेकिन इससे भी उत्तर प्रदेश की भगवा सरकार का पेट नहीं भरा तो उसने दीपावली के अवसर पर विद्युत उपभोक्ताओं को प्रताड़ित करने का एक और तरीका ढूंढ लिया है।

उन्होंने एक बयान में खुलासा किया कि विद्युत विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को नोटिस भेज कर वित्त वर्ष 2019- 20 के लिये अतिरिक्त ‘सिक्यौरिटी राशि’ की मांग की जा रही है। जनता की निगाहों से ओझल किन्हीं मनमाने नियमों के तहत यह राशि उपभोक्ताओं द्वारा पिछले वर्ष उपभोग की गयी बिजली की औसत 45 दिन की कीमत के बराबर मांगी जा रही है।

डॉ. गिरीश का कहना है कि अगर किसी उपभोता का गत वर्ष 45 दिनों का औसत बिल 10,000 रुपये था तो उसे इस अग्रिम सिक्यौरिटी की मद में 10,000 रुपये जमा करने होंगे। इसी तरह अगर यह राशि 5, 4, 2 अथवा 1 हजार रही होगी तो इतनी ही राशि अब जमा करनी होगी। यदि किसी उपभोक्ता का गत वर्ष 45 दिन का औसत बिल 15, 20 अथवा 25 हजार रहा होगा तो उसे इतनी राशि इस मद में जमा करनी होगी। यह धनराशि नोटिस जारी होने के 30 दिनों के भीतर जमा कर विद्युत विभाग को लिखित रूप में अवगत कराना होगा। ऐसा न करने पर बिजली कनेक्शन काट दिया जायेगा।

उनका कहना है कि आर्थिक मंदी की मार से व्यथित लोगों पर जब विद्युत विभाग के ये नोटिस पहुंचने शुरू हुये तो उनके होश उड़ गए। उन्हें अपनी दीवाली अंधेरी नजर आने लगी। मध्यमवर्ग और गरीब वर्ग इस पेनल्टी की कल्पना मात्र से सिहर उठा है। उसे अपने पुश्तैनी कनेक्शन पर अलग से यह भारी राशि जमा करने का कोई औचित्य नजर नहीं आ रहा। वह इसे सरकार द्वारा जनता की खुली लूट मान रहा है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की राज्य काउंसिल ने राज्य सरकार के इस कदम की कड़े शब्दों में निंदा की है। उनका कहना है कि अभी- अभी लागू हुई बिजली की महंगी दरों से ही उपभोक्ता हलकान हैं और अब इस अतिरिक्त भार की मार को वे सहन नहीं कर पाएंगे। जैसे-जैसे ये नोटिस उपभोक्ताओं पर पहुंच रहे हैं उनकी बेचैनी बढ़ती जा रही है। कभी भी यह बेचैनी आक्रोश का रूप ले सकती है।

भाकपा राज्य सचिव डॉ. गिरीश ने कहा कि आए दिन कटौती और नित रोज हो रहे फाल्ट्स से उपभोक्ता पहले ही परेशान हैं। उनके ऊपर हाल ही में कीमतें बढ़ा कर भारी बोझ लाद दिया और अब सिक्यौरिटी के नाम पर यह चोट की जा रही है। लाखों दीप जला कर दीवाली मनाने वाले मुख्यमंत्री को जनता की दीवाली में अंधेरा घोलने वाली इस कार्यवाही को तत्काल रद्द करना चाहिये। भाकपा सरकार की इस कारगुजारी का पुरजोर विरोध करती है और इसे फौरन रद्द करने की मांग करती है। 

ये भी पढ़ें: स्थानीय निकाय केंद्रीय राजस्व सेवा संघ का हुआ गठन, प्रशान्त मिश्रा बने प्रदेश अध्यक्ष

भाकपा ने अपनी समस्त जिला इकाइयों से आग्रह किया है कि वे 16 अक्टूबर को सभी वामपंथी दलों के साथ मिल कर सरकार द्वारा थोपी जा रही इस अनैतिक वसूली के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करें। प्रदर्शन के दौरान नौजवानों, किसानों, मजदूरों, कर्मचारियों, व्यापारियों और आर्थिक मंदी से पीढ़ित अन्य तबकों की समस्याओं को भी उठाया जाएगा।http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

सड़क पर पड़ा संदिग्ध झोला उठाते ही हुआ जोरदार धमाका, बालिका व बुजुर्ग घायल

Published

on

लखनऊ। थाना बख्शी तालाब क्षेत्र में शुक्रवार शाम एक गांव में बकरी चरा रही बालिका को सड़क पर संदिग्ध झोला पड़ा दिखाई दिया। उत्सुकतावश बच्ची उस झोले को उठाकर देखना चाहा, तभी एक जोरदार धमाका हुआ, जिसमें बच्ची और एक बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गया। धमाका होते ही आस-पास के लोग दौड़े। बच्ची और बुजुर्ग को घायल देखकर हड़कंप मच गया। यह घटना थाना बख्शी का तालाब के अंतर्गत पड़ने वाले संसारपुर क्षेत्र की है। जानकारी के मुताबिक विस्फोट में घायल होने बच्ची का नाम माहिया पुत्री मोनिसा थाना कुर्सी जिला बाराबंकी है। साथ में घायल हुए बुजुर्ग की उम्र करीब 72 वर्ष है। फिलहाल दोनों घायलों की स्थिति खतरे से बाहर है।

यह भी पढ़ें-भाजपा लखनऊ महानगर ने 21 मण्डल अध्यक्ष एवं जिला प्रतिनिधि घोषित किए

वहीं विस्फोटक रखा झोला सड़क पर कहां से आया? किसने डाला? इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पायी है। घटना से बालिका तथा उसके परिवार वाले दहशत में है। वही फिलहाल विस्फोटक पदार्थ के विषय में सटीक जानकारी नहीं होना भी कहीं ना कहीं संदेह उत्पन्न करता है कहीं समाज में दहशत फैलाने के लिए किसी शरारती तत्व के द्वारा ऐसी घटना को अंजाम देना इसका कारण तो नहीं फिलहाल मामले का खुलासा होना अभी बाकी है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

सीओ कैंट को धमकाते मंत्री स्वाति सिंह का कथित ऑडियो वायरल

Published

on

लखनऊ। योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह का कथित तौर पर एक ऑडियो वायरल हुआ है, जिसमें वो सीओ कैंट को धमकाते हुए नजर आ रही हैं। हालांकि, इस ऑडियो की सत्यता का फिलहाल दावा नहीं किया जा सकता है।

ऑडियो में मंत्री स्वाति सिंह सीओ कैंट बीनू सिंह से अंसल पर हुई एफआईआर से नाराज लग रही हैं। कथित वायरल आडियो में इस तरह सीओ को धमकातीं मिली मंत्री स्वाति सिंह…

स्वाति सिंह- सीओ साहब आपने अंसल पर कोई एफआईआर लिखा है?

सीओ कैंट- हां, एक कनौडिया करके थीं, पति-पत्नी का मैटर था, उसमें लिखा गया है एफआईआर…

स्वाति सिंह- क्यों लिखा है? आपको पता नहीं है कि ऊपर से आदेश है कि अभी कोई एफआईआर लिखा नहीं जाएगा। सारे फेक एफआईआर लिखे जा रहे हैं उसके ऊपर।

सीओ कैंट- नहीं, वो तो जांच करके लिखी गई थी।

स्वाति सिंह- कौन सी जांच हो गई भई? कौन सी जांच हो गई, इतना हाईप्रोफाइल केस है पूरा जांच चल रहा है सीएम साहब तक के संज्ञान में ये सब चीजें हैं। आप कौन सी जांच कर रही हैं? अभी चार दिन हुए हैं आपको।

सीओ कैंट- नहीं तो, पहले की एप्लीकेशन है न उसकी, पांच-छह महीने पहले की।

स्वाति सिंह- अरे फर्जी है सब… खत्म करिए उसको… एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो… ठीक है? मैं गलत काम नहीं बोलती हूं, पता कर लीजिएगा।

सीओ कैंट- ठीक है।

ये भी पढ़ें: डिप्टी सीएम की चिट्ठी पर कार्रवाई शुरू, एलडीए ने 11 कंपनियों को किया ब्लैक लिस्ट

सोशल मीडिया पर मंत्री स्वाति सिंह का कथित वायरल ऑडियो कौतुहल का विषय बना हुआ है। सब इस ऑडियो की सच्चाई जानना चाहते हैं। सत्योदय ने जब सीओ कैंट से इस वायरल ऑडियो के बारे में जानने का प्रयास किया तो उनसे बात नहीं हो पाई। सीओ कैंट का सीयूजी नंबर रिसीव नहीं हो रहा है। पुलिस की तरफ से भी अभी तक इस वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं की गई है। सूत्रों के अनुसार, पीजीआई थाने में अंसल के खिलाफ धारा 406 गबन, 504 गाली-गलौच और 506 धमकी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल ने लगाया रक्तदान शिविर, रेल कर्मचारियों ने किया रक्तदान

Published

on

लखनऊ। राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय और एचडीएफसी बैंक के संयुक्त तत्वावधान में शुक्रवार को लखनऊ मंडल कार्यालय में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का शुभारंभ उत्तर रेलवे के अपर मंडल रेल प्रबंधक (प्रशा) डाॅ. वीणा कुमारी वर्मा ने किया। इस मौके पर अपर मंडल रेल प्रबंधक अमित श्रीवास्तव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, यूनियन के पदाधिकारी एवं कर्मचारी भी उपस्थित रहे। रक्तदान शिविर में कुल 41 रेलवे कर्मचारियों ने स्वैच्छिक रक्तदान किया।

शिविर में उपस्थित डाॅक्टरों ने लोगों को रक्तदान के लाभ बताते हुए कहा, 18 से 60 वर्ष की आयु वाला कोई भी स्वस्थ व्यक्ति दानदान कर सकता है। रक्तदान करने वाला व्यक्ति हेपेटाइटिस, एड्स जैसे संक्रामक बीमारियों से ग्रसित नहीं होना चाहिए। साथ ही उसका वजन 50 किलोग्राम से अधिक हो। डाॅक्टरों ने बताया कि रक्तदान करने से दिल की बीमारी का खतरा भी कम होता है।

यह भी पढ़ें-10 अरब के ईपीएफ घोटाले के विरोध में शक्ति भवन पर ‘शक्ति प्रदर्शन’

उत्तर रेलवे मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ संजय त्रिपाठी ने शिविर के सफल आयोजन पर सभी को बधाई दी। उन्होंने बताया कि मानवीय जीवन के दृष्टिकोण से रक्तदान को श्रेष्ठतम माना गया है। रेल मंडल भविष्य में भी इस प्रकार के आयोजन को आयोजित करके रेल सेवा के साथ-साथ सामाजिक गतिविधियों में भी अपना योगदान प्रदान करता रहेगा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

November 16, 2019, 1:31 am
Fog
Fog
17°C
real feel: 18°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 93%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:56 am
sunset: 4:46 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending