Connect with us

लखनऊ लाइव

कांग्रेस सरकार आने के बाद भी मध्य प्रदेश में नहीं रुक रहा सरकारी आतंक : मायावती

Published

on

फ़ाइल फोटो

लखनऊ। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने आगामी लोकसभा चुनाव को मद्देनजर रखते हुए रविवार को समीक्षा बैठक की। राज्यवार समीक्षा बैठक के क्रम में मायावती ने रविवार को मध्यप्रदेश में पार्टी की गतिविधियों की समीक्षा करते हुए आगे की तैयारियों के संबंध में निर्देश दिये।

बसपा के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित इस बैठक में सभी वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भाग लिया और मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की नई सरकार बनने के परिपेक्ष्य में वहां के नये राजनीतिक हालात का विस्तृत ब्योरा पार्टी प्रमुख के समक्ष प्रस्तुत किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में पार्टी प्रमुख मायावती ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में जो कमियां उजागर हुई हैं और जिसके फलस्वरूप आपेक्षित परिणाम पार्टी को नहीं मिल पाये हैं उन्हें तत्काल दूर करने के लिये सख्त कदम उठाये जाने की जरूरत है। पार्टी व मूवमेन्ट के हित में काफी मजबूती व दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ लगातार काम करते रहने की जरूरत है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यदि पार्टी के लोगों को सही मायने में बाबा साहेब डाॅ. भीमराव अम्बेडकर में आस्था है तो उनके अधूरे कारवां को मंजिल तक पहुंचाने के लिये लगातार पूरे तन, मन, धन, से अन्तिम सांस तक लगे रहना है। देश का संविधान किसी और से ज्यादा सर्वसमाज के करोड़ों शोषितों-पीड़ितों, गरीबों, दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों, मुस्लिमों व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों तथा अपरकास्ट के गरीबों के हित व कल्याण की गारण्टी देता है और उन्हें ही इस देश का हाकिम देखना चाहता है। मायावती ने कहा कि बड़े दुःख की बात है कि कुछ मुठ्ठीभर स्वार्थी तत्वों ने देश की पूंजी व व्यवस्था पर अपना हक जमा लिया है और देश अपेक्षा के अनुसार विकास नहीं कर पा रहा है। उन्होंने कहा कि महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी व अशिक्षा का समाप्त न होना बेहद निराशाजनक है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने इसी सिलसले में सावधान करते हुये कहा कि ऐसी स्वार्थी ताकतें इन वर्गों के वोटों का बंटवारा करके अपना राजनीतिक व चुनावी स्वार्थ हासिल करके सत्ता हथियाने में महारत रखती हैं। इसीलिए सबसे पहले सर्वसमाज में पार्टी का जनाधार बढ़ाने के साथ-साथ वोटों के बंटवारे के कारण अपनी ताकत को कमजोर होने से बचाना है। ऐसे विभिन्न संगठनों से भी लोगों को सावधान रखना है जो गुलाम मानसिकता रखते हैं और बाबा साहेब डाॅ. अम्बेडकर के कारवां को नुकसान पहुंचाते हैं। पिछले विधानसभा आमचुनावों में भी काफी कुछ ऐसा देखने को मिला। वोटों के बंटवारे को रोककर विरोधियों की साजिशों को नाकाम करना है।

इस अवसर पर मायावती ने कहा कि वैसे तो मध्य प्रदेश में बीजेपी का 15 वर्षों का लम्बा शासन समाप्त होने से प्रदेश व देश के लोगों ने राहत की सांस ली है, लेकिन नई सरकार के आरंभिक कार्यकलाप आमजनता को संतुष्ट करने वाले सही जनहितैषी नहीं लग रहे हैं। विभिन्न प्रकार की जुल्म-ज्यादती व सरकारी आतंक का पिछला क्रम अभी भी जारी लगता है। ऐसी स्थिति में बहुजन समाज पार्टी को सर्वसमाज के हित में अपना संघर्ष लगातार जारी रखना है।  http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

महापौर ने 34 महिलाओं को ‘सरल केयर सुपर डॉटर’ अवार्ड से नवाजा

Published

on

लखनऊ। सरल केयर फाउण्डेशन ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर शुक्रवार को ‘लड़कियों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और सशक्तिकरण’ विषय पर सेमिनार का आयोजन किया। निशातगंज स्थित कैफी आजमी एकेडमी में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन महापौर संयुक्ता भाटिया किया। सेमीनार में लड़कियों की शिक्षा, पोषण, कानूनी अधिकार और स्वास्थ्य जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई। समाज में लड़कियों को सुरक्षा मुहैया कराना, उनके प्रति भेदभाव व हिंसा खत्म करने को सबसे जरूरी कदम माना गया।
बच्चों को संबोधित करते हुए महापौर ने कहा कि वह अपने करियर में आगे बढ़ें। अपने स्वास्थ्य और खानपान का ध्यान रखें। अपने परिवार के साथ बातचीत करें। किसी तरह से डरे नहीं, सरकार उनके साथ है। संयुक्ता भाटिया ने कहा प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ का जो नारा दिया है उससे बालिकाओं में नई ऊर्जा का संचार हुआ है।

सरल केयर फाउंडेशन की अध्यक्ष रीता सिंह ने बताया ‘अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस‘ मनाने की शुरुआत यूनाइटेड नेशन ने 2012 में की थी। इसका मुख्य उद्देश्य लड़कियों के विकास के लिए अवसरों को बढ़ाना और लड़कियों की दुनियाभर में कम होती संख्या के प्रति लोगों को जागरूक करना, जिससे कि लिंग असमानता को खत्म किया जा सके। इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह भी है कि समाज में जागरूकता लाकर लड़कियों को वे समान अधिकार दिलाए जा सकें, जो कि लड़कों को दिए गए हैं। इस मौके पर महापौर ने समाज के अलग अलग क्षेत्रों में अपना नाम रोशन कर रही 34 लडकियों को ’’सरल केयर सुपर डॉटर आवर्ड 2019’’ से सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें-अपनी कलात्मक सोच को मिट्टी के बर्तनों में अभिव्यक्त कर रहे पाॅटर्स

इनमें प्रिया त्रिपाठी, दिव्या द्विवेदी, शिखा मौर्या, श्रेया कपूर, अंजलि सिंह, अनन्या अस्थाना, दीपांजलि सिंह, अध्यांषी कपूर, संचयिता, दीपशिखा आचार्य, बीना ननकानी, सिमरन खान, अदिति जायसवाल, शैलजा चौधरी, अंशिका वर्मा, आस्था वर्मा, शुभांगी मौर्या, सुहानी सिंह, प्रतिष्ठा सिंह चौहान, पर्णिका श्रीवास्तव, स्मृधि चन्द्रा, अंकिता वाजपेई, सुष्मिता भारती, प्रियंका भारती, भामनी छाबडा, दक्षिता मध्यान, यशस्वी पांडेय मुनमुन, रामन्शी मिश्रा, रूपाली विश्वकर्मा, आरना जेठानी,. पूजा सिंह, आस्था जैन, वर्तिका सिंह और रिची सिंह को महापौर ने अवार्ड प्रदान किये।
कार्यक्रम में महापौर संयुक्ता भाटिया के साथ दैनिक जागरण लखनऊ के स्थानीय संपादक सद्गुरु शरण अवस्थी, राजेन्द्र नगर हॉस्पिटल लखनऊ की डाक्टर सुनीता चंद्रा, अवध प्रान्त भाजपा की उपाध्यक्ष डाक्टर श्वेता सिंह, पायनियर मोंटेसरी इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल शर्मिला सिंह, कॉन्सलर सुप्रीति बाली, नेहा आनंद, स्वाति शर्मा संस्थापक रीता सिंह, शैलेंद्र सिंह सहित अन्य जन उपस्थित रहे।

Continue Reading

लखनऊ लाइव

विकसित पार्क को ही चमकाने में लगे थे अधिकारी, महापौर ने रुकवाई पैसे की बर्बादी

Published

on

लखनऊ। महापौर संयुक्ता भाटिया की पहल पर पेपर मील कॉलोनी वार्ड में हो रही पैसे की बरबादी पर रोक लगा दी गई है। साथ ही महापौर ने उसी पैसे से कूड़ा घर बने पार्क को फिर से सवारने के लिए नगर अभियंता को निर्देशित किया।

दरअसल, विश्वासखंड सेक्टर-3 के स्थानीय निवासियों ने महापौर को बताया कि उनके घर के सामने स्थित पार्क का सौंदर्यीकरण का कार्य कराया जा रहा है। जिस पार्क मे कार्य चल रहा है वहां पहले से लगी टाइलों को उखाड़ दिया गया है लेकिन उस पार्क मे मात्र रंगाई पुताई की ही आवश्यकता थी, अन्य कार्यों से मात्र पैसे कि बरबादी हो रही है। जिसमे एक विकसित पार्क को दुबारा विकसित कराया जा रहा हैं। जबकि निवासियों ने पार्क के बगल में बने कब्जे वाले पार्क को ही विकसित कराने के लिए ही निवेदन किया था। निवासियों ने बताया कि निर्माण होना था बदहाल पार्क पर और निर्माण हो रहा है विकसित पार्क में, जिसपर महापौर ने उस पार्क का कार्य को तुरंत रोके जाने के लिए निर्देशित किया।  

इस मामले में शिकायत मिलते ही महापौर ने तत्काल जोनल अधिकारी एवं नगर अभियंता को मौके पर बुला कर उस जगह का खुद निरीक्षण किया। साथ ही संयुक्ता भाटिया ने तत्काल पैसे के दुरुपयोग को रुकवाते हुए पार्क मे अवश्यकता अनुसार ही सौन्दर्यीकरण कराने के लिए निर्देशित किया। महापौर ने पड़ोस मे स्थित पार्क का अवलोकन किया जिसमे कुछ लोगों ने अपने वाहनो की पार्किंग एवं नौकरों के रहने के लिए अवैध निर्माण कर रखा था। महापौर ने तत्काल अवैध कब्जा हटाने के लिए नोटिस जारी करने के लिए जोनल अधिकारी को आदेश दिए।

ये भी पढ़ें: यूपी: नेपाल के रास्ते भारत में हो रही थी टेरर फंडिंग, चार गिरफ्तार

इसके साथ ही महापौर ने नाराजगी जताते हुए पूछा कि लगी हुई टाइल्स क्यों उखाड़ी गईं? जिसपर नगर अभियंता ने बताया कि कहीं-कहीं टाइल्स दब गई थी। जिसपर महापौर ने उन्हीं टाइल्स को दुबारा लगाने के लिए निर्देशित किया। महापौर ने कहा कि बदहाल स्थिति में पड़े पार्क को सुधारने के बजाए एक विकसित पार्क पर क्यों पैसे की बर्बादी की जा रही है। इसके स्थान पर उसी पैसे से ही उसके बगल मे पार्क के लिए छूटी जमीन जो कि इस समय कूड़ा घर बनी हुई है उसको दुबारा सुंदर पार्क बनाने के लिए विकसित किया जाए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

अपनी कलात्मक सोच को मिट्टी के बर्तनों में अभिव्यक्त कर रहे पाॅटर्स

Published

on

राजधानी में तीन दिवसीय पाॅटर्स मार्केट का हुआ शुभारंभ

लखनऊ। राजधानी में मिट्टी के बर्तनों का आकर्षक बाजार सज चुका है। अलीगंज स्थित ललित कला अकादमी में शुक्रवार को पाॅटर्स मार्केट (मिट्टी के बर्तनों का बाजार) की शुरूआत हुई। जिसका उद्घाटन निर्मला शर्मा (सेरामिक आर्टिस्ट भोपाल) ने किया। इस अवसर पर जयकृष्ण अग्रवाल, पांडेय सुरेंद्र, पांडेय राजिवनयन सहित शहर के तमाम कलाकार, कलाप्रेमी व आमजन उपस्थित रहे। पाॅटर्स मार्केट में 26 सेरामिक कलाकारों की एक सामूहिक प्रदर्शनी लगायी गई है। यह प्रदर्शनी 13 अक्टूबर तक चलेगी। पाॅटर्स मार्केट में देश भर से जुटे कलाकारों ने अपने आकर्षक डिजायन वाले बर्तनों को पेश किया है। देखने में सुंदर और कम दामों में उपलब्ध इन मिट्टी के बर्तनों को लोग न सिर्फ देख सकते हैं बल्कि इन्हें अपने घर का हिस्सा भी बना सकते हैं।

कला की अभिव्यक्ति के विभिन्न माध्यमों में सिरेमिक (बर्तन निर्माण कला) का विशेष महत्व है। देश के अलग-अलग हिस्सों में इस कला के कम ही जानकारी बचें हैं लेकिन जो हैं वह निरंतर संलग्न हैं। ये पोटर्स अपनी कलात्मक सोच को मिट्टी के बर्तनों के रूप में अभिव्यक्त कर रहे हैं और पॉटरी के विकास में योगदान दे रहे हैं।
पाॅटर्स मार्केट के बारे में जानकारी देते हुए भूपेंद्र अस्थाना ने बताया कि क्रिस्टलीय चमक आकर्षक हैं और तुरन्त आंखों पर कब्जा कर लेते हैं। कला के कई टुकड़ों में इस ग्लेज का इस्तेमाल तैरने वाली आकाश गंगाओं, ठंढा खिड़कियों, दुर्लभ रत्नों या फूलों को लाने के लिए किया जाता है। इसी तकनीक ने देर से कला प्रेमियों और कलाकारों का ध्यान अपनी ओर खींचा है।

क्रिस्टल इफेक्ट पर काम करने वाले पुणे महाराष्ट्र से आये मनोज शर्मा ने बताया कि क्रिस्टल में जिंक 20 से 25 प्रतिशत होता है। पॉट को मिट्टी से बनाने के बाद बिस्किट फायर करते हैं फिर गलेजिंग करते है। क्रिस्टलाइन की फायरिंग 1250 से 1280 तापमान पर किया जाता है। यह सधे हाथों का ही कमाल होता है। नियमित रूप से ग्लेज बनाने की प्रक्रिया में काम करने की अपेक्षा क्रिस्टलीय ग्लेज बनाने की प्रक्रिया जो अधिक तरीके, तापमान और समय काफी महत्वपूर्ण हैं।

क्योंकि इस इफेक्ट के लिए उपयोग में लाने वाले रासायनिक पदार्थ में पात्र से नीचे जाने की प्रवृत्ति होती है और फायर-साइकिल एकदम सही तापमान माप पर निर्भर करती है। ग्लेज के बहुत सारे इफेक्ट के लिए अलग अलग रसायनिक तत्व ग्रिस्टली बोरेट, कॉपर कार्बोनेट के प्रयोग होते हैं। झारखंड के जमशेदपुर निवासी मनोज शर्मा ने वर्ष 2000 में सिरेमिक में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया। तब से आज तक पुणे में अपने आप को सेरामिक कलाकार के रूप में स्थापित करने का उनका संघर्ष जारी है। पुणे कात्रज अम्बे गांव में मनोज ने अपना सिरेमिक स्टूडियो बनाया है, जहाँ अपने विचारों को सेरामिक माध्यम से कलात्मक प्रयोग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-लखनऊ में दो दिन सजेगी कविता और कहानी की महफिल, देशभर से जुटेंगे साहित्यकार

इस पोटर्स मार्किट में आए सेरामिक कलाकारों में मुम्बई से संगीता कपिला, शैलेश पंडित, मनप्रीत निश्तर हैदराबाद, मनोज शर्मा पुणे, मनोज कुमार गोरखपुर उत्तर प्रदेश, कीर्ति टंडन दिल्ली, मोनिका त्रिपाठी दिल्ली, हरप्रीत पवार दिल्ली, दुर्गा वर्मा कानपुर, नीलिमा गुप्ता इलाहाबाद, अनिल आगरा, सुदीप्त साह कोलकाता, निशांत कुमार दिल्ली, ममता रम्भा लखनऊ, प्रेम शंकर लखनऊ, कुलदीप धीमान लखनऊ, रीना सिंह भोपाल, निर्मला शर्मा भोपाल के साथ आयोजक अंजू पालीवाल, अमित वर्मा आदि कलाकार शामिल हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 12, 2019, 6:27 am
Fog
Fog
23°C
real feel: 26°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:34 am
sunset: 5:12 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending