Connect with us

लखनऊ लाइव

नन्हीं उम्र बड़ा हुनर : जपेश तलवार हुए चैती फैस्टिवल में सम्मानित  

Published

on

कहते हैं प्रतिभा उम्र नहीं देखती। गुण निखरने की कोई आयु नहीं होती। लखनऊ के जपेश भी एक ऐसा ही उदाहरण हैं जिनकी प्रतिभा ने उम्र नहीं देखी। लखनऊ सीएमएस में 8वीं कक्षा के छात्र जपेश तलवार #japeshtalwar को चैती फैस्टिवल लखनऊ में उनके खास हुनर के लिए सम्मानित किया गया।

जपेश इंडो वेस्टर्न बैंड #indowesternfusionband में हर तरह की धुन बनाते हैं। इन्होंने अभी तक पंजाबी, वेस्टर्न, इंडियन क्लासिक जैसी कई धुनें बनाई हैं। कहते हैं पूत के पैर पालने में ही दिख जाते हैं वैसे ही जपेश का हुनर भी उनके पिता विक्की तलवार को बचपन में ही दिख गया था। विक्की तलवार ने अपने पुत्र जपेश का पूरा साथ दिया और बचपन से ही उसे प्रोत्साहित करते रहे। जपेश स्कूल की म्यूजिक क्लास में भी प्रेक्टिस करते हैं और उसके बाद घर पर भी उनका बैंड है जहां वो लगातार अभ्यास करते रहते हैं।

उनकी इसी लगन का नतीजा है कि वह स्कूल से लखनऊ महोत्सव तक के मंच तक अपने धुनों का जादू बिखेर चुके हैं। सोमवार को चैती फैस्टिवल लखनऊ  के मंच पर भी जपेश ने हमेशा की तरह अपने हुनर से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। उनके शानदार प्रदर्शन के बाद संयोजक हरिश्चंद्र अग्रवाल तथा मयंक रंजन द्वारा उन्हें सम्मानित किया गया।

जपेश अपने इस हुनर को और निखारना चाहते हैं तथा वह भविष्य में अपने इसी बैंड के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं।    http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लखनऊ लाइव

आलमबाग के भीड़ भरे इलाके में बदमाशों ने दो लोगों को मारी गोली

Published

on

दोनों घायलों को ट्रामा सेंटर रेफर किया गया, पुलिस ने बरती लापरवाही

लखनऊ। राजधानी के आलमबाग क्षेत्र में सैकड़ों लोगों की भीड़ के बीच अचानक गोलियों की तड़तड़ाहट से हड़कंप मच गया। डीडी होटल के सामने कुछ युवकों ने हरदोई के जिला पंचायत सदस्य सुरेंद्र कालिया पर जानलेवा हमला कर दिया। हमले में सुरेंद्र कालिया व उनके ड्राइवर को कई गोलियां लगी हैं। हालांकि दोनों की जान बच गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को पास में अजन्ता हास्पिटल में भर्ती कराया। शहर के बीच सरेआम गोली चलने की खबर मिलते ही जेसीपी नवीन अरोड़ा (लाॅ एण्ड ऑर्डर) ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की।

इस मामले में आलमबाग पुलिस की संवेदनहीनता भी सामने आई है। गोलियां चलने की खबर पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रूप से घायलों को पैदल ही अजन्ता अस्पताल तक चला दिया। घायल सुरेंद्र कालिया किसी तरह कराहते हुए अस्पताल पहुंचा। पुलिस ने घायलों को अस्पताल तक पहुँचाने के लिए स्ट्रेचर तक का इंतजाम करना जरूरी नहीं समझा। घायलों को अजन्ता हॉस्पिटल से ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। सूत्रों के अनुसार सुरेन्द्र कालिया अजन्ता में भर्ती रेलवे ठेकेदार जुबेर सिद्दीकी को देखने आए थे।

यह भी पढ़ें-लखनऊ : स्मार्ट सिटी के तहत अमीरूदौला पुस्तकालय का होगा कायाकल्प

फिलहाल गोलियां किसने चलाई और क्यों चलाईं? इस बारे में कोई जानकारी नहीं लग पाई है। गोलियां चलाने वाले युवक मौके से फरार होने में कामयाब रहे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि एक दर्जन से ज्यादा राउंड गोलियां चली हैं। जबकि पुलिस का कहना है कि तीन राउंड फाॅयर किए गए हैं।

जेसीपी ने मौके पर पहुंचकर की पड़ताल

जेसीपी अरोड़ा ने बताया कि हरदोई के रहने वाले सुरेन्द्र कालिया यहां अजन्ता में भर्ती किसी अपने परिचित को देखने आए थे। अस्पताल से बाहर निकलते ही किसी व्यक्ति ने इन पर फाॅयरिंग की। सुरेन्द्र कालिया के सहयोगी को दो गोलियां लगी हैं। एक पैर में और एक पेट में गोली लगी है। जेसीपी ने बताया कि घटनास्थल से तीन खोखे बरामद किए गए हैं। इस मामले में सुरेन्द्र कालिया से पूछताछ आगे की कार्रवाई की जा ही है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

एसपीजीआई के निदेशक डाॅ. आरके धीमान बने केजीएमयू के कार्यवाहक कुलपति

Published

on

लखनऊ। किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के कुलपति प्रोफेसर डाॅक्टर मदनलाल बह्म भट्ट का विस्तारित कार्यकाल भी आज समाप्त हो गया। लेकिन अभी तक कोई स्थाई कुलपति नहीं मिल पाया है।। जिसके बाद एसपीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमान को केजीएमयू का कार्यवाहक कुलपति नियुक्त किया गया है। कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट का कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी किसी नियमित कुलपति की नियुक्ति नहीं हो पाई।

यूपी की राज्यपाल व कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने पीजीआई निदेशक डॉ आरके धीमान को अपने वर्तमान दायित्वों के साथ केजीएमयू कुलपति पद की जिम्मेदारी सौंपी है। यह तैनाती तीन माह या फिर नए कुलपति की नियुक्ति तक होगी। कुलपति डॉ. एमएलबी भट्ट का 13 अपैल को कार्यकाल पूरा हो गया था। उन्हें 3 माह का सेवा विस्तार दिया गया था। इस दौरान नए कुलपति की तैनाती को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई थी।

यह भी पढ़ें:- यूपीः पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1665 नए मामले, आंकड़ा पहुंचा 38,104

कमेटी ने 5 नाम राज्यपाल के पास भेजे थे। उनके साक्षात्कार भी हो गए थे। लेकिन राजभवन ने चयन प्रक्रिया भंग कर दी और नए सिरे से विज्ञापन जारी कर 20 जुलाई तक आवेदन मांगे गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

कोरोना वायरस

लखनऊः पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 168 नए मामले, 4 लोगों की मौत

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। वहीं मौतों का सिलसिला भी जारी है। जिसके चलते लोगों में दहशत का माहौल है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 168 नए मामले सामने आए है और 4 लोगों की मौत हो गई है। वहीं लखनऊ में अबतक 32 लोगों की मौत हो चुकी है और 2138 कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंच गया है। रविवार को योगी सरकार के दो मंत्री भी कोरोना की चपेट में आ गए हैै।

कोरोना की हरदोई की हरियावां सर्किल में तैनात सीओ नागेश मिश्रा की रविवार सुबह पीजीआई में निधन हो गया। दूसरे हरदोई के मल्लावां निवासी 67 वर्षीय बुजुर्ग की केजीएमयू में इलाज के दौरान मौत हो गई। रोगी को मधुमेह की समस्या थी। उसे रविवार को ही भर्ती कराया गया था। इसके अलावा इंदिरानगर लखनऊ के दो बुजुर्ग कोरोना मरीजों की केजीएमयू में इलाज के दौरान मौत हो गई है।

हरदोई की हरियावां सर्किल में तैनात सीओ नागेश मिश्रा करीब 10 दिन से बीमार थे। निमोनिया की शिकायत पर उनका इलाज चल रहा था। जिला अस्पताल में उनका कोरोना टेस्ट कराया गया जोकि निगेटिव आया लेकिन हालत में सुधार न होने पर लखनऊ रेफर कर दिया गया। शनिवार की शाम उन्हें पीजीआई में उन्हें शिफ्ट किया गया। रविवार की सुबह उनका निधन हो गया। नागेश मिश्रा सीओ के पहले हरदोई में शहर कोतवाल के अलावा सांडी, पिहानी में कोतवाल भी रहे। लखनऊ के मडियांव में भी इंस्पेक्टर रह चुके हैं।

हरदोई के ही दूसरे मल्लावां निवासी 67 वर्षीय बुजुर्ग में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद रविवार को केजीएमयू के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया था। ठीक 40 मिनट के बाद उसने दम तोड़ दिया। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक बुजुर्ग मरीज डायबिटिज से भी पीड़ित था। झटके और एक्यूट रेसिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम (एआरडीएस) आने की वजह से मरीज का श्वसन तंत्र पूरी तरह काम करना बंद कर दिया था। जिससे उनकी मौत हो गई। एआरडीएस से सांस लेने में तकलीफ होती है अथवा सांस लेना पूरी तरह से बंद हो जाता है।

यह भी पढ़ें:- यूपीः पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 1388 नए मामले, 25 लोगों की मौत

लखनऊ के दो बुजुर्ग मरीजों की भी कोरोना ने ली जान

रविवार को लखनऊ के दो बुजुर्ग मरीजों की कोरोना से मौत हो गई। दोनों इंदिरानगर के निवासी थे। इंदिरानगर निवासी 83 वर्षीय बुजुर्ग की जांच में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर 24 जून को केजीएमयू में भर्ती कराया गया था। केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक मरीज हाईब्ल्डप्रेशर से भी पीड़ित था। संक्रमण की वजह से इनकी सांस गति रूक गई और देरशाम इनकी मौत हो गई। वहीं दूसरे इंदिरानगर में भूतनाथ बाजार के दवा व्यवसाई कोरोना की चपेट में आ गए। पिता-बेटे दोनों को केजीएमयू में भर्ती कराया गया। इसमें 55 वर्षीय व्यक्ति की हालत रात में बिगड़ गई। वेंटिलेटर पर इलाज चला। मगर मरीज रेस्परेटरी फेल्योर में चला गया। ऐसे में डॉक्टरों के काफी प्रयास के बावजूद बचाया नहीं जा सका। वहीं बेटा ऑक्सीजन सपोर्ट पर है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 14, 2020, 2:16 pm
Cloudy
Cloudy
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 78%
wind speed: 2 m/s SE
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 5
sunrise: 4:53 am
sunset: 6:33 pm
 

Recent Posts

Trending