Connect with us

लखनऊ लाइव

पीएसी की गाड़ी से भिड़ा मैजिक डाला, कोई घायल नहीं, जांच में जुटी पुलिस

Published

on

लखनऊ। गाजीपुर थाना के सेक्टर-25 चौराहे पर पुलिस की एक पीएसी गाड़ी से मैजिक डाला भिड़ गया। डाला की टक्कर लगते ही पीएसी की गाड़ी रोड पर पलट गयी। दुर्घटना होते ही आस-पास के लोगों में हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचना देने के साथ पीएसी की गाड़ी में फंसे जवानों को निकालने में जुट गए। गनीमत रही कि किसी भी जवान को चोट नहीं आई। पीएसी वाहन को टक्कर मारने के बाद मैजिक डाला भी रोड के एक किनारे लुढ़क गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें-चंद्रशेखर की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस को कोर्ट ने लगाई फटकार

स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि दोनों गाड़ियाँ एक ही दिशा से आ रही थीं। चौराहे पर अचानक डाला पुलिस की गाड़ी से टकरा गया, जिसके बाद पीएसी का वाहन पलट गया। http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

हस्तनिर्मित उत्पादों की कम बिक्री पर राज्यमंत्री ने जताई नाराजगी

Published

on

राज्यमंत्री उदयभान सिंह ने गंगोत्री प्रदर्शन कक्ष का किया औचक दौरा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, मध्यम व लघु उद्योग राज्यमंत्री उदयभान सिंह ने आज स्थानीय हजरतगंज स्थित गंगोत्री प्रदर्शन कक्ष (शो-रूम) का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने गंगोत्री के माध्यम से विक्रय होने वाले उत्पादों की जानकारी प्राप्त की। साथ ही प्रदर्शन कक्ष में उत्पादों की और वृद्धि करने के निर्देश देते हुए कहा, ओडीओपी योजना राज्य सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। ओडीओपी के तहत निर्मित उत्पादों की बिक्री का गंगोत्री शो-रूम बहुत अच्छा माध्यम हो सकता है। यहां कार्यरत कर्मियों को इस ओर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

श्री सिंह ने गंगोत्री के माध्यम से उत्पादों की बिक्री कम होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा, ऐसा प्रतीत होता है कि कर्मियों के उदासीनता के कारण ही व्यापार को गति नहीं मिल पा रही है। यह शो-रूम व्यापार के एक ऐसे केंद्र पर स्थापित है जहां व्यवसाय का काफी अच्छा क्षेत्र मौजूद है। इसकी बिक्री को बढ़ाने के लिए कर्मियों को और मनोयोग से काम करना होगा। पूरे दिन में दस हजार रूपये से कम की बिक्री होना अच्छा नहीं है। कम से कम इससे 30 से 50 हजार की बिक्री प्रतिदिन होनी ही चाहिए। उन्होंने गंगोत्री शो-रूम के उत्पादों के प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए कहा कि उपभोक्ताओं को अधिक से अधिक जोड़ने का प्रयास किये जाने चाहिए। सरकार ने इस शो-रूम के माध्यम से प्रदेश के उत्पादों की बिक्री को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है।

बिक्री बढ़ने से हस्तशिल्पियों और कारीगरों का व्यवसाय बढ़ेगा तथा रोजगार के व्यापक अवसर भी सृजित होंगे। राज्य मंत्री ने शो-रूम के कर्मियों को निर्देश दिया कि वे व्यापार को बढ़ाने के लिए अन्य व्यापारियों की भांति सोच अपनाएं, ताकि उनके प्रतिष्ठान का माल की अधिक से अधिक खपत हो सके और बिक्री के लक्ष को प्राप्त किया जा सके। उन्होंने व्यापार को बढ़ाने के लिए व्यवहारिक एवं कारगर कदम उठाने पर जोर देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश व्यापार का बहुत बड़ा मार्केट है।

यह भी पढ़ें-IndvsAus : मात्र 10 रन बनाकर भी सचिन-विराट से आगे निकले रोहित शर्मा

उन्होंने प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को भी शो-रूम के उत्पादों की ओर आकृष्ट करने के निर्देश कर्मियों को दिए। राज्य मंत्री ने कहा कि शीघ्र ही वे दिल्ली स्थित गंगोत्री शो-रूम का निरीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली स्थित शो-रूम पर्यटकों को आकर्षित करने का बेहतर स्थल है। निरीक्षण के मौके पर उप अधिशाषी अधिकारी एस0आर0 सहाय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की है परंपरा…

Published

on

लखनऊ। मकर संक्रांति के दिन पतंग उड़ाने की परंपरा है। इस दिन आसमान में रंग-बिरंगी पतंगें दिखाई देती हैं। पूरे उत्तर भारत का ही आलम यही होता है। कई जगहों पर तो पतंग उड़ाने की प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं।

मैं हूं पतंग ए कागजी, डोर है उसके हाथ में

चाहा इधर घटा दिया, चाहा उधर बढ़ा दिया

नजीर अकबरबादी ने आगरा में ही यह शेर लिखा। वो खुद पतंगबाजी के शौकीन थे। वो क्या उस दौर में आगरा की पतंगबाजी कलकत्ता (कोलकाता) तक मशहूर थी। यमुना किनारे बड़े मुकाबले होते थे पतगंबाजों के बीच। वो काटा का शोर मचता था। यह शोर अब खामोश है। न पहले जैसे पतंगबाज हैं, न ही पतंगबाजी का शौक रहा।

यह भी पढ़ें: यूपी: अब ‘ग्रीन स्कूलों’ में पढ़ेंगे बच्चे, योगी सरकार ने शुरू की तैयारियां

हुसैन गंज के डी. के काइट सेंटर दुकान के मालिक कादिर बताते हैं कि जमघट जैसी दुकानदारी मकरसक्रांति में नही है। जमघट में लखनऊ के कोई छत खाली नही रहता है। सबसे ज्यादा कौन सी पतंग बिकती है पूछने पर बताया कि मझोली साइज की पतंग ज्यादा बिकती है। धागा सद्धि वाला ज्यादा बिकता है। सबसे महंगी पतंग पौना होती है। जो 11 रुपये में मिलती है।

हाजी सुबराती पतंग फरोश दुकान के मालिक ने बताया कि दुकानदारी फीकी है। बताया कि पन्नी वाली पतंग ज्यादा बिकती उन्होने कहा कि 50 से 55 साल पुरानी दुकान है आजतक हम लोगों ने चाइनीज मांझा नही बेचा। उसने कहा कि चाइनीज मांझा चौक या फिर मौलवी गंज में मिल सकता है। उन्होने बताया कि बैंगलुरु, बनारस, नोएडा, गुजरात जैसे शहर में बरेली के कारीगर जाके बनाते हैं। दुकानदार ने बताया कि पुराने लखनऊ में ज्यादा पतंग उड़ाया जाता है।http://www.satyodaya.cpm

Continue Reading

लखनऊ लाइव

CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट में जेल में बंद रोबिन वर्मा को मिली रिहाई

Published

on

लखनऊ। CAA के खिलाफ प्रोटेस्ट में जेल में बंद, सामाजिक न्याय, समता, समानता के लिए लड़ने वाले अम्बेडकरवादी नेता रॉबिन वर्मा जेल से बाहर आ गए हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों में लगातार साथियों की रिहाई के सवाल पर लोगों ने आवाज़ बुलंद की।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में फिर टला फैसला, अब 20 जनवरी को आएगा

बता दें कि आखिरकार प्रोफ़ेसर रॉबिन वर्मा आज 25वें दिन रिहा हो गए। उन्हें 20 दिसंबर की शाम दारुलशफा के पास से एक होटल से तब उठाया गया जब वे अपने मित्र एक राष्ट्रीय न्यूज़ पेपर से जुड़े पत्रकार के साथ चाय पी रहे थे। उन्हें थाने में ले जाकर बुरी तरह से पुलिस ने मारा और उनके हवाले से फर्जी खबरें चलवाई। दूसरे दिन शिया पीजी कालेज जहां वे पढ़ाते थे रॉबिन को वहां से निकाल दिया गया। रॉबिन वर्मा की एक मासूम बेटी और अभी हाल में तीन हफ्ते पहले एक बेटा हुआ। पिछले मंगलवार को अदालत ने जमानत पर उनकी रिहाई का आदेश दिया था। लेकिन रिहाई एक हफ्ते बाद आज मंगलवार को हो सकी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 14, 2020, 5:47 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
20°C
real feel: 19°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 63%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:04 pm
 

Recent Posts

Trending