Connect with us

लखनऊ लाइव

रॉयल कैफे, टुंडे कवाबी, केएफसी सहित 8 प्रतिष्ठानों पर नगर निगम की बड़ी कार्रवाई

Published

on

लखनऊ। हाईकोर्ट की सख्ती के बाद नगर निगम राजधानी में प्रतिबंधित पॉलिथीन को लेकर सक्रिय हो गया है। शहर के कई ठिकानों पर लगातार छापेमारी की जा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को शहर के सहारागंज मॉल में अभियान चलाया गया है। जोन-1 के जोनल अधिकारी नरेंद्र देव वर्मा के नेतृत्व में मॉल के 8 प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की गई है। अभियान में कुल 27.3 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री जब्त की गई है। जब्त सामग्री के आधार पर कुल 1,03,000 रुपये का जुर्माना वसूला गया है।

जिन 8 प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की गई है उनमें रॉयल कैफे से 6.4 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 25,000), के.एफ.सी से 4.5 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 10,000), बॉम्बे पावभाजी से 5.8 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 25,000), डोसा प्लासा से 100 ग्राम (जुर्माना- 1,000), टून्डे कवाबी से 900 ग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 5,000), वरकोस फ्रुट कॉर्नर से 2.2 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 10,000), जेजेटेरिया वेज फूड से 200 ग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 2,000), चाइनीज किचन से 7.2 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री (जुर्माना- 25,000) का लगाया गया है। इस छापेमारी में जो प्रतिबंधित सामग्री मिली है उनमें थर्माकोल, प्लेट, ग्लॉस, चम्मच आदि हैं।

बता दें, अभियान में जोनल अधिकारी के साथ राजेश सिंह (कर अधीक्षक), आशीष पांडेय, संजीव कुमार, राज प्रताप सिंह (सफाई एवं खाद्य निरीक्षक), अनिल मिश्रा (राजस्व निरीक्षक प्रवर्तन), चौकी इंचार्ज सहारागंज एवं प्रवर्तन दल मौजूद रहे। http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

आली फाउंडेशन दिलाएगा एसिड अटैक पीड़ितों को न्याय

Published

on

लखनऊ । आली फाउंडेशन ने उत्तर प्रदेश की एसिड अटैक से सम्बंधित कानून व एसिड अटैक पीड़ितों को न्याय के सफर तक पहुंचने के लिए अनुभवों पर एक शोध किया । शोध के निष्कर्ष व कुछ सुझावों को साझा करने के लिए आली की ओर से शुक्रवार को शीरोज कैफे में एक बैठक का आयोजन किया गया । जहां शोध की रिपोर्ट का विमोचन भी हुआ ।

आपको बता दें कि एसिड अटैक जेंडर आधारित क्रूरतम अपराधों में से एक है । आली की कोशिश है कि सर्वाइवरों के न्याय तक पहुंचने के अनुभवों के सफर को लोगों तक पहुंचाया जा सके । सरकार व उनके लोगों तक उनकी जिम्मेदारी साझा की जा सके । इसके साथ ही उन्हें कुछ सुझाव दिए जा सके । जिससे इस अपराध को रोका जा सके । पीड़िताओं के लिए न्याय तक बेहतर पहुंच बनाई जा सके ।

आली ने उत्तर प्रदेश के 10 जिलों में एसिड अटैक सर्वाइवर, पुलिस, डॉक्टर और वकीलों से बात करके यह शोध किया है । यह शोध आली की एक पहल है । जिससे पीड़िताओं के न्याय तक पहुंचने का सफर हम लोगों तक पहुंचा सके । राज्य के साथ ही न्यायप्रणाली का ध्यान इस तरफ आकर्षित का सकें । आली की कार्यकारी निदेशक रेनू मिश्रा का कहना है कि न्याय के लिए जरूरी है कि पुलिस अपनी पड़ताल में बेहतर तरीके से साक्ष्य इकट्ठा करे जिससे कोर्ट में वह केस मजबूत बने । साथ ही एसिड अटैक सर्वाइवर के लिए बेहतर माहौल व व्यवस्था बनाई जाए । जिससे वो पूर्ण रूप से कोर्ट की प्रक्रिया में योगदान दे सके । रेनू ने यह भी बताया कि एसिड अटैक पीड़ितों की घटना के बाद कई सर्जरी होती है । इस दौरान अस्पताल से उन्हें मुफ्त चिकित्सकीय सहायता मिलनी चाहिए । साथ ही जिस तरह से ऐसे मामले कोर्ट में लंबित रहते हैं, न्यायपालिका को इस पर भी ध्यान देना चाहिए । इनके केसों की सुनवाई प्राथमिकता पर हो और इनके नाजूक स्वास्थ्य की स्थिति को ध्यान में रखकर हो । ये सर्वाइवरों के लिए बेहद जरूरी कदम होगा ।

यह भी पढ़ें: राजधानी की सड़कों पर बिना हेलमेट निकले तो भरने पड़ेंगे पांच सौ रूपये का जुर्माना

कुलशेखर सिंह अपर निदेशक अभियोजन अधिकारी ने कहा कि पीड़ित मुआवजा योजना के तहत तेजाब पीड़िता भी मुआवजे के लिए आवेदन अपने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को दे सकती है । जिसपर योजना के तहत दो महीने के अंदर सहायता राशि की अनुमति दे दी जाएगी और अनुमति के एक हफ्ते में राशि पीड़िता के बैंक खाते में पहुंच जाएगी । इस योजना का ज्यादा से ज्यादा प्रचार करने की जरूरत है । जिससे कि तेजाब पीड़िताएं अपने जिले में आवेदन दे पाएं ।
इस मौके पर जस्टिस सुधीर सक्सेना, चेयरमैन स्टेट पब्लिक सर्विस ट्रिब्यूनल, एडीजी अंजू गुप्ता वुमन पावरलाइन, कुलशेखर सिंह, अपर निदेशक अभियोजन अधिकारी, छांव फाउंडेशन की प्रतिनिधि और आली की कार्यकारी निदेशक रेनू मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

राजधानी की सड़कों पर बिना हेलमेट निकले तो भरने पड़ेंगे पांच सौ रूपये का जुर्माना

Published

on

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में आये दिन बढ़ रहे अपराध को लेकर जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओ०पी०सिंह के साथ समीक्षा बैठक की थी तो वहीं अब उसके कुछ ही घंटों बाद प्रदेश के डीजीपी ओ०पी सिंह ने कल देर लखनऊ के हजरतगंज थाने में आलाधिकारियों के साथ बैठक की । वहीं डीजीपी की बैठक के बाद आज सुबह से लखनऊ पुलिस हरकत में आ गई ।

आपको बता दें कि आज लगातार सुबह से लखनऊ के अलग अलग चौराहों पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है । साथ ही लखनऊ के एसएसपी फिर से एक-एक सड़क और चौराहों पर खुद खड़े होकर चेकिंग करते हुए दिख रहे है । वहीं अभियान के मद्देनजर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पहुंचे जहां उन्होंने बिना हेलमेट के गाड़ी चालको के साथ गलत साइड से गाड़िया चलाने वालों की गाड़ियों का भी चालान किया । वहीं इस मौके पर एसपी ट्रफिक समेत कई पुलिस अधिकारी मौजूद रहे ।

यह भी पढ़ें: रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए अंतरध्वानि फाउंडेशन ने किया ब्लड डोनेट

डीजीपी ओ०पी सिंह ने कल रात लखनऊ में बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर जिम्मेदार अधिकारियों के साथ बैठक की थी और उन्हें फटकार लगाई थी जिसके बाद आज से राजधानी में थर्मल प्रिंटर से चालान सेवा शुरू कर दी गई है । जिसको लेकर राजधानी के ट्रैफिक कर्मियों को 193 थर्मल प्रिंटर दिए गए हैं । जिससे चालान काटकर वाहन चालकों तुरंत चालान रसीद देदी जाएगी साथ प्राप्त चालान रसीद से पैसा तुरंत जमा करना होगा । वहीं चालान अभियान में मौजूद एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मीडिया के सामने बोलते हुए कहा की अगर कोई बिना हेलमेट के गाड़ी चलाएगा तो उसको 500 का जुर्माना देना होगा । अगर कोई भी व्यक्ति बार-बार नियम तोड़ेगा तो उसका लाइसेंस कैंसिल कर दिया जाएगा और उसको भारी जुर्माना भी देना पड़ेगा । अगर किसी व्यक्ति के पास कैश पैसा नही रहेगा तो वो एटीएम से चालान शुल्क भरेगा जिसके लिए जल्द ही ट्राफिक विभाग को एटीएम स्वीपिंग मशीन भी मिलेगी ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए अंतरध्वानि फाउंडेशन ने किया ब्लड डोनेट

Published

on

लखनऊ । रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है । वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने विश्व रक्तदान दिवस की शुरुआत साल 2004 से की । विश्वभर में खून की कमी को पूरा करने के मकसद से वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है । तो वहीं इसी मौके पर अंतरध्वानि फाउंडेशन ने संवेदना स्वास्थ्य पर समर्पित राष्ट्रीय कार्यक्रम के प्रोजेक्ट कैन कनेक्ट जो कैंसर पर आधारित है । जिसमें कैंसर मरीजों को रक्त सम्बंधि सहायता की जाती है ।

वहीं आज बलरामपुर चिकित्सालय ब्लड बैंक लखनऊ में एक विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया । जिसमें अंतरध्वानि फाउंडेशन के निदेशक सौरभ निगम ने अपना रक्तदान किया । साथ ही इस रक्तदान शिविर को सफल बनाने में ब्लड कमांडो, गुंजन यशश्वी संस्थानों ने विषेश सहयोग दिया । रक्तदान शिविर को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाई अभिषेक चतुर्वेदी, राजीव गोयल, सचिन, सौरभ निगम ,राखी निगम, सोनू इमिलिया, अनिल चौधरी,दीप सिंह,संदेश सिंह,राम सनेही व ब्लड बैंक टीम ने ।

यह भी पढ़ें: राजधानी के डॉक्टरों ने किया पश्चिम बंगाल हड़ताल का समर्थन

वहीं सौरभ निगम ने बताया कि वे रक्तदान जागरूकता लाने में 2011 से प्रयासरत हैं और अब तक 90 रक्तदान शिविरों का सफल आयोजन कर चुके हैं जिसके लिए उनकी संस्था को अनेकों पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है । आपको बता दें की 33 लोगों ब्लड डोनेट किया । http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 14, 2019, 10:15 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
36°C
real feel: 35°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 24%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:31 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending