Connect with us

लखनऊ लाइव

केजरीवाल फार्मूले पर आगे बढ़ेगी योगी सरकार, यूपी में भी लागू होगा ऑड-ईवन!

Published

on

लखनऊ। वायु प्रदूषण से निपटने के लिए यूपी सरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की राह पर आगे बढ़ने पर गहन मंथन कर रही है। ताज्जुब नहीं कि एक-दिन के अंदर लखनऊ सहित यूपी के प्रमुख शहरों में ऑड–ईवन फार्मूला लागू हो जाए। इस बारे में उत्तर प्रदेश सरकार में वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह ने संकेत दिया है।

सोमवार को दारा सिंह ने पत्रकारों से कहा, खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके वायु प्रदूषण से निपटने के लिए पुलिस, परिवहन, नगर निगम सहित अन्य संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए हैं। वन एवं पर्यावरण मंत्री ने कहा, यदि एक-दो दिन में वायु प्रदूषण में कमी नहीं आती है तो दिल्ली की तरह यूपी में भी ऑड–ईवन फार्मूला लागू किया जाएगा। दारा सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ हुई बैठक में इस पर बात हुई है।

यह भी पढ़ें-पीएफ घोटाले पर कांग्रेस का हल्ला बोल, धरना प्रदर्शन कर ऊर्जा मंत्री का मांगा इस्तीफा

बता दें कि राष्टीय राजधानी दिल्ली के साथ उत्तर प्रदेश में भी वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। दिल्ली में पिछले वर्ष भी ऐसे ही हालात थे। जिससे निपटने के लिए केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में ऑड–ईवन फार्मूला निकाला था। ऐसा करने से सड़कों पर दौड़ने वाले वाहनों की संख्या में भारी कमी आयी थी। वायु प्रदूषण में वाहनों से निकलने वाले धुएं का भी काफी रोल होता है। इस बार भी दिल्ली में ऑड–ईवन नियम लागू कर दिया गया है। अब यूपी सरकार भी वायुमंडल में छाए स्माॅग (धूल, धुआं और कोहरा) से निपटने के लिए केजरीवाल की राह पर चलने पर गंभीरता से विचार कर रही है।

क्या है ऑड-ईवन फॉर्मूला?

ऑड-ईवन का मतलब है सम-विषम। गणित की भाषा में 1,3,5,7 और 9 को ऑड (विषम) नंबर जबकि 2,4,6,8 और 0 को इवेन (सम) नंबर कहा जाता है। इसी आधार पर ऑड-ईवन फार्मूला लागू होने के बाद एक दिन वे निजी वाहन चलेंगे जिनकी पंजीकरण प्लेट की आखिरी संख्या ईवन (सम) होगी तथा दूसरे दिन उन वाहनों को चलाने की इजाजत होगी जिनकी संख्या ऑड (विषम) होगी।http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

लखनऊ के हसनगंज थाना क्षेत्र में मेडिकल स्टोर पर युवक की गोली मारकर हत्या

Published

on

आपसी विवाद के बाद दोस्त ने युवक पर किया फाॅयर, आरोपी मौके से फरार

लखनऊ। राजधानी के हसनगंज थाना क्षेत्र में शनिवार देर शाम आपसी विवाद के बाद एक युवक को उसके ही दोस्त ने गोली मार दी। घायल युवक को तुरंत ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गयी। गोलीकांड की यह घटना दीनदयाल नगर स्थित काव्या मेडिकल स्टोर पर हुई। दवा दुकान के अंदर गोली चलते ही आस-पास के दुकानदारों में अफरा-तफरी मच गयी। जब तक लोग कुछ समझ पाते, आरोपी मौके से फरार हो गया। घायल युवक को लोगों ने तत्काल ट्रामा सेंटर भेजा और घटना की जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस ने आरोपी की बाइक कब्जे में लेकर उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है। मृतक आशुतोष त्रिवेदी के पिता ने जय सिंह नाम के युवक पर हत्या का आरोप लगाया है। मौके पर पहुंची डीसीपी उत्तरी शालिनी ने बताया कि शुरूआती पूछताछ में पता चला है कि मृतक युवक आशुतोष त्रिवेदी और आरोपी जय सिंह दोनों दोस्त हैं।

आज देर शाम दोनों काव्या मेडिकल स्टोर पर बैठे बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ है और जय सिंह ने आशुतोष को गोली मार दी।

यह भी पढ़ें-सेवा सप्ताह के 6वें दिन लखनऊ शहर के विभिन्न वार्डों में किया गया पौधारोपण

घायल को ट्रामा भेजा लेकिन बचाया नहीं जा सका। डीसीपी ने बताया कि हत्या की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है। फिलहाल पिता की तहरीर पर जय सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्जकर उसकी तलाश की जा रही है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें गठित की गयी हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

कोरोना वायरस

लखनऊ समेत यूपी में बढ़े कोरोना के रिकाॅर्ड नए मामले, 98 लोगों की मौत

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण के नए मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है। पिछले 24 घंटे में अबतक के सबसे ज्यादा रिकाॅर्ड 1,244 नए केस आए है। वहीं इसके साथ ही प्रदेश में शुक्रवार को 6,584 नए रोगी मिले है। इस दौरान यूपी में 98 लोगों की मौत हो गई है।

लखनऊ में 970 रोगी इलाज के बाद डिस्चार्ज

लखनऊ में शुक्रवार को 970 रोगियों को इलाज के उपरान्त अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है। अबतक 33,489 रोगी इलाज के उपरान्त स्वस्थ हो चुके है। वहीं 10,044 मामले अभी भी एक्टिव हैं जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इनमें से कुछ होम आइसोलेटशन में रहकर इलाज करा रहे हैं। अबतक 576 लोगों की कोविड से सांसे थम चुकी है।

लखनऊ में सबसे ज्यादा मौत

प्रदेश में कानपुर आज फिर कोरोना संक्रमण मामलों में दूसरे पायदान पर रहा है। जहां 407 नए पाॅजिटिव मरीज मिले है। इसके अलावा प्रयागराज में 336, वाराणसी में 239, लखीमपुर खीरी में 230, मेरठ में 225, गोरखपुर में 203 गाजियाबाद में 191, झांसी में 145, गौतमबुद्ध नगर में 134, अलीगढ़ में 124, सहारनपुर में 119, अयोध्या में 116, मुजफ्फरनगर में 115, हरदोई में 103, बरेली में 101 वहीं श्रावस्ती में सबसे कम 2 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान लखनऊ में सबसे ज्यादा 16, कानपुर में 13, गोरखपुर में 7, मथुरा में 6, मेरठ में 5, हरदोई में 4, प्रयागराज, अयोध्या और बुलंदशहर में 3-3, जालौन, फतेहपुर, बदायूं, बस्ती, बाराबंकी, झांसी और वाराणसी में 2-2 लोगों की जान चली गई है।

यूपी में रिकवरी रेट 78 प्रतिशत से अधिक

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में नए मामलों के साथ ही कोविड संक्रमितों की संख्या 3,42,788 पहुंच गई है। इनमें से 2,70,094 लोग इलाज के बाद पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। सूबे में फिलहाल कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट 78.79 प्रतिशत है। अबतक 4,869 लोगों की मौत हो चुकी है।

67 हजार से अधिक मामले एक्टिव

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि 67,825 मामले अभी भी सक्रिस है। आधे से ज्यादा मरीज होम आइसोलेशन में है। फिलहाल 35,124 मरीज होम आइसोलेशन में हैं और 3,926 मरीज प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करा रहे है। इसके अलावा 202 सेमी पेड अस्पताल में है। उन्होंने बताया कि अभी तक कुल 1,73,782 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प चुना और इनमें से 1,38,782 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें:- भारत-चीन सीमा विवाद पर अमेरिकी सांसद राजा कृष्णामूर्ति ने जताई चिंता

अबतक प्रदेश में 82 हजार से अधिक सैंपल की जांच

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य बताया कि गुरुवार को प्रदेश में कुल 1,55,897 कोरोना सैंपल्स की जांच की गई है। अब तक कुल 82,85,710 कोरोना नमूनों की यूपी में जांच की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि रैपिड एंटीजन टेस्ट, सीबीनैट, ट्रूनैट और आरटीपीसीआर माध्यम से टेस्टिंग की जा रही है। साथ ही बताया कि प्रदेश में अबतक 64,505 कोविड हेल्प डेस्क बनाई गई है। इसके माध्यम से कुल 7,57,435 कोविड संक्रमितों की पहचान की गई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

हेलो! मैं लखनऊ डीएम बोल रहा हूं…कोविड कमांड सेंटर से…

Published

on

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कोविड कमांड सेंटर में टेलीकाॅलर बनकर कोरोना पाॅजिटिव मरीजों का जाना हाल

लखनऊ। हेलो! मैं लखनऊ डीएम बोल रहा हूं…कोविड कमाण्ड सेंटर से…कोविड पाॅजिटिव शांतिदेवी को किस अस्पताल के लिए रेफर किया गया है…कोविड कमाण्ड सेंटर से आपको जानकारी और सहायता मिल रही है या नहीं….दवाएं मिलीं या नहीं…जांच हुई या नहीं….।

जिलाधिकारी अभिषेक ने शुक्रवार को खुद राजधानी के कोरोना पाॅजिटिव मरीजों के परिजनों से फोन पर बात कर उनके कोरोना पाॅजिटिव रिश्तेदारों के बारे में हाल जाना। डीएम लखनऊ आज अचानक स्मार्ट सिटी ऑफिस में बनाए गए कोविड-19 कंट्रोल एंड कमांड सेंटर पहुंचे। यहां पर होम आइसोलेशन व पब्लिक ग्रीवेंस रिड्रेसल सिस्टम द्वारा प्रदान की जा रही विभिन्न सेवाओं जैसे एंबुलेंस, हॉस्पिटल ऐडमिशन, डोर स्टेप मेडिसिन डिलीवरी इत्यादि कार्यों कायों की हकीकत जानने लिए खुद टेलीकाॅलर बन गए।

यह भी पढ़ें-GST आयुक्त से मिलकर व्यापारियों ने कहा, तत्काल वापस लें छापेमारी का आदेश

जिलाधिकारी ने कोविड कमांड सेंटर में काॅलिंग एजेंट बनकर होम आइसोलेट और अस्पतालों में भर्ती पाॅजिटिव मरीजों के परिजनों से सरकारी सहायता और जांच आदि के बारे में जानकारी ली। जिलाधिकारी ने कई होम आइसोलेट मरीजों के परिजनों को दवा देने, सावधानियां बरतने और रोगी के स्वास्थ्य पर नजर रखने के बारे में जानकारी दी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

September 21, 2020, 5:42 am
Fog
Fog
29°C
real feel: 36°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:24 am
sunset: 5:34 pm
 

Recent Posts

Trending