Connect with us

लखनऊ लाइव

एनडीए को रोकने के लिए विपक्ष ने तेज की मुहिम, चन्द्रबाबू नायडू ने अखिलेश और मायावती से की मुलाकात

Published

on

23 मई को एनडीए को स्पष्ट जनादेश न मिला तो विपक्ष एकजुट होकर बनाएगा सरकार

लखनऊ। 23 मई को आने वाले आम चुनावों के नतीजों से पहले विपक्ष ने भाजपा से दिल्ली गद्दी छीनने की कसरत शुरू कर दी है। आखिरी चरण का मतदान होना शेष है लेकिन दिल्ली से लेकर आन्ध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल तक येन-केन प्रकारेण सत्ता पाने का गुणा भाग शुरू हो गया है। विरोधी दलों में एक से बढ.कर एक दावेदार हैं जो खुद को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखना चाहते हैं, चाहे वह राहुल गांधी या पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी। यूपी में बसपा प्रमुख मायावती भी मौका मिलने पर दिल्ली के सिंहासन पर बैठने को उतावली हैं, सपा प्रमुख अखिलेश यादव परोक्ष रूप से उनका समर्थन भी कर रहे हैं।
इस मुहिम के अगुवा बने हैं आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू। अपनी योजना को अमली जामा पहनाने के लिए बाबू ने मैराथन मुलाकातें और बैठकें भी शुरू कर दी हैं। दिल्ली की सत्ता के समीकरण साधने के लिए शनिवार को चन्द्रबाबू नायडू लखनऊ पहंुचे। यहां सबसे पहले वह समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव से मिलने पहंुचे। दोनों के बीच क्या वार्ता हुई, इस बारे में मीडिया को फिलहाल ज्यादा जानकारी नहीं दी गयी। लेकिन माना जा रहा है कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद सभी संभावित परिस्थितियों पर विचार कर विपक्षी दलों में एकराय बनाने की दिशा में दोनों नेताओं के बीच वार्ता हुई होगी।

यह भी पढ़ें-भाजपा नेता ने ओमप्रकाश राजभर के विवादित बयान के खिलाफ दी थाने पर तहरीर

अखिलेश यादव से मिलने के बाद सीएम चन्द्रबाबू नायडू बसपा प्रमुख मायावती से मिलने उनके आवास पहंुचे। श्री नायडू ने बसपा सुप्रीमो को आम भेंट किए। इस दौरान बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा भी उपस्थित रहे। इससे पहले लखनऊ रवाना होने से पहले चन्द्रबाबू नायडू ने दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और संभावित चुनाव परिणाम पर चर्चा की।
बता दें कि शुक्रवार को नायडू ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और सीपीएम नेता सीताराम येचुरी से भी भेंट की थी और चुनाव बाद गठबंधन की संभावनाओं पर चर्चा की थी।
माना जा रहा है कि तीसरे मोर्चे को बनाने के लिए कांग्रेस की ओर से कोशिश तेज हो गई है और इसी सिलसिले में नेताओं के मिलना हो रहा है।

कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि वह एक प्रगतिशील और धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन को लेकर प्रतिबद्ध है और गठबंधन का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि यदि कांग्रेस सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है, तो तब भी उसे किसी क्षेत्रीय नेता का समर्थन करने से कोई गुरेज नहीं होगा। विपक्ष की ये सारी कोशिश इस तथ्य पर आधारित है कि अगर केंद्र नतीजों के बाद नरेंद्र मोदी फिर से स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता है तो बिना मौका गंवाए विपक्षी दलों को एकजुट रखा जा सके। इसी कोशिश की आगे बढ़ाते हुए यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने भी 23 मई को नतीजों के बाद विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है।http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

पाॅलीथिन बैन अभियान के दौरान चौक में बवाल, कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर डटी…

Published

on

अभियान के दौरान पुलिस ने व्यापारी नेता को पीटा, भीड़ ने चौक थाने का किया घेराव

लखनऊ। हाईकोर्ट की सख्ती के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा राजधानी को पाॅलीथिन मुक्त बनाने के लिए चलाया गया। चौक इलाके में भी अभियान चलाया गया। लेकिन यहाँ पुलिस और प्रशासन की एक चूक से अभियान बवाल में बदल गया। शांति पूर्ण तरीके से चल रहे अभियान के बीच पुलिस और नगर निगम की टीम दुकानों में तोड़ फोड़ करते हुए व्यापारियों से मारपीट करने लगी। विरोध करने पर पुलिस ने व्यापारी नेता को जमकर पीटा। जिसके बाद स्थिति बिगड़ गई। आरोप है कि इसके बाद चौक पुलिस व्यापारी को थाने में ले आई और वहां भी उन्हें पीटा गया। व्यापारी नेता को पुलिस द्वारा पीटे जाने की खबर मिलते ही सैकड़ों व्यापारी और दुकानदार चौक थाने की ओर कूच कर गए। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए भीड. ने थाने का घेराव कर दिया। घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को हुई तो उन्होंने मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत किया।

यह भी पढ़ें-शहर के कई क्षेत्रों में ई-रिक्शा पर लगा बैन, नाराज वाहन चालको ने किया प्रदर्शन…

प्रदर्शन कर रहे व्यापारियों की मांग थी कि मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। व्यापारियों ने दुकानें बंद कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। बवाल के चलते चौक चौराहा भी जाम हो गया। व्यापारियों के प्रदर्शन को देखते हुए इलाके में कई थानों की पुलिस फोर्स तैनात कर दी गयी है। प्रदर्शन कर रहे व्यापारियों का कहना है कि अभद्रता करने वाले व्यापारियों के खिलाफ अगर कार्रवाई नहीं हुई तो पूरे लखनऊ में दुकानें बंद कर प्रदर्शन किया जाएगा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

शहर के कई क्षेत्रों में ई-रिक्शा पर लगा बैन, नाराज वाहन चालको ने किया प्रदर्शन…

Published

on

लखनऊ में जाम के चलते लोगों को आने-जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। जिसको देखते हुए और जाम से मुक्त कराने के लिए सड़क परिवहन विभाग लखनऊ के कई रूटों पर ई-रिक्शा चलने पर रोक लगाने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में करीब 12 से अधिक रूटों को चिन्हित कर लिया गया है। लखनऊ के परिवर्तन चौक से हजरतगंज के बीच ई -रिक्शा प्रतिबंधित कर दिया गया। इससे इस मार्ग पर जाम की समस्या में कमी आई है। इसको देखते हुए लखनऊ के कई अन्य रूटों पर भी ई- रिक्शा प्रतिबंधित करने की तैयारी है। जहां आने वाले दिनों में ई- रिक्शा का संचालन पूरी तरह से बंद हो जाएगा। ऐसे रूटों की एक सूची आरटीओ ने यातायात और जिलाधिकारी कार्यालय को भेजी है। उन्होंने बताया कि ई -रिक्शा से शहर में जाम लग रहा है। इसलिए जिलाधिकारी के निर्देश पर कई रूटों से ई- रिक्शा हटेगा। वैसे भी ई- रिक्शा को मुख्य मार्गों पर चलने की छूट नहीं है।

यह भी पढ़े: दुख, दरिद्रता और पापों से मुक्ति देकर ज्ञान, ऊर्जा और सुख-समृद्धि की ओर ले जाती है बुद्ध पूर्णिमा…

 एआरटीओ ने बताया कि कैसरबाग चौराहे से पुराना आरटीओ ऑफिस तक, हुसैनगंज चौराहे से अवध हॉस्पिटल चौराहे तक, कपूरथला चौराहे से पुराना हनुमान मंदिर अलीगंज तक, रकाबगंज चौराहे से नाका चौराहे तक,आलमबाग चौराहे से अवध हॉस्पिटल तक, मेडिकल कॉलेज चौराहे से चौक तक, पत्रकार पुरम चौराहे से कैप्टन मनोज पांडेय चौराहे तक, इंदिरानगर के भूतनाथ मार्केट वाली लेन पर, चारबाग रेलवे स्टेशन से चारबाग बस अड्डे के बीच, तेलीबाग बाजार मुख्य मार्ग पर तकरीबन एक किमी के क्षेत्र में ई- रिक्शे पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी है।

दरअसल, राजधानी लखनऊ को जाम से मुक्त कराने के लिए कमान जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने संभाल रखी है। आम जनता को मुख्य मार्गों पर जाम से निजात मिल सके इसके लिए जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को कड़े निर्देश दिए हैं। इनमें ट्रैफिक, पुलिस व परिवहन विभाग शामिल हैं। जिलाधिकारी के निर्देश पर राजधानी के विभिन्न इलाकों से जहां अतिक्रमण हटाया जा रहा है वहीं कई जगह से टैम्पों स्टैंड और ई- रिक्शा का रूट भी बदला जाएगा।

इन सभी जगहों पर ई-रिक्शा का संचालन पूर्णतया प्रतिबंधित कर दिया गया है. ई-रिक्शा प्रतिबंध होने के बाद से सभी चालकों में काफी नाराज़गी है। इसके लिए उन्होंने धरना प्रदर्शन भी किया लेकिन ई-रिक्शा चालकों की कोई सुनने को तैयार ही नहीं है। चालकों की मांग है की उनको सभी रूटों पर ई-रिक्शा चलाने दिया जाये ताकि वे अपनी रोज़ी रोटी चला सके। और अपने परिवार का पालन पोषण कर सकें। लखनऊ की सड़कों पर करीब 20 हजार ई-रिक्शों का आवागमन हो रहा था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

बी.एन.सिंह की 20वीं पुण्य तिथि पर कर्मचारियों ने दी अपने मसीहा को भावपूर्ण श्रद्धांजली

Published

on

लखनऊ । राज्य कर्मचारियों की समस्याओं के लिए जो लड़ाई स्वं. बी.एन. सिंह ने लड़ी उनका अपना इतिहास है । केन्द्र के सामान वेतन भत्ते दिलाने में जो संघर्ष उन्होंने किया वह उन्हें कर्मचारियों के योद्धा की उपाधि देता है । कर्मचारी हित में उनका संघर्ष सदैव याद रखा जाएगा । आज भले ही वे हमारे बीच नही हैं लेकिन उनकी सीख पर चलकर ही हम उन्हें सच्ची श्रंद्धाजलि दे सकते है । यह विचार परिषद के महामंत्री शिवबरन सिंह यादव ने स्वं. बी.एन. की प्रतिमा के समक्ष श्रंद्धासुमन अर्पित करने के बाद रखे ।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, उ0प्र0 के संस्थापक केन्द्र-प्रान्त वेतन भत्ते एक समान की मांग को लेकर कर्मचारियों के आन्दोलन को धार देने वाले तथा 51 दिनों की हड़ताल का नेतृत्व कर राज्य कर्मचारियों को प्रोन्नति वेतनमान लाभ दिलाने वाले बी0एन0 सिंह की 20वीं0 पुण्य तिथि पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के बैनर तले प्रदेश के समस्त जनपदों में श्रद्धांजली अर्पित की गई ।

यह भी पढ़ें :वसीम रिजवी ने पीएम मोदी की सबसे बड़ी जीत का किया दावा

लखनऊ में जिलाध्यक्ष बी0एस0 डोलिया के नेतृत्व में कर्मचारी प्रेरणा स्थल बी0एन0 सिंह की प्रतिमा स्थल पर श्रद्धांजली सभा का आयोजन हुआ । जिसमें कर्मचारियों द्वारा भावभीनी श्रद्धांजली अर्पित की गई । परिषद के महामंत्री शिवबरन सिंह यादव, राम जी अवस्थी,पूर्व अध्यक्ष संगठन मंत्री संजीव कुमार गुप्ता ने स्वर्गीय सिंह के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डाला । इस अवसर पर जिलामंत्री अमिता त्रिपाठी, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह, आनन्द वर्मा, अमरजीत मिश्रा, मुकेश जोशी, अ जितेन्द्र, धर्मपाल साहू, किरन कुमारी, मणि नायर, रजनीश आरोरा, अविनाश चन्द्र श्रीवास्तव, सुभाष चन्द्र तिवारी, राजेश सिंह, बी0के0 नौटियाल आई0एन0 त्रिपाठी, इं0 दिवाकर राय, इं0 वी0के0 कुशवाहा, इं0 एन0डी0 द्विवेदी, मनोज कुमार श्रीवास्तव, इं0 राजेश वर्मा, इ0 रामवीर, इं0 राजर्षि त्रिपाठी, आशीष मिश्रा, अविनाश चन्द्र श्रीवास्तव, सुभाष चन्द्र तिवारी, अशोक कुमार सिंह, रवि शंकर चौहान, अशोक कुमार दूबे, संदीप सिंह चौहान, सहित बड़ी संख्या में राज्य कर्मचारी उपस्थित थे। सभा का संचालन प्रान्तीय महामंत्री शिवबरन सिंह यादव एवं जिला मंत्री अमिता त्रिपाठी द्वारा किया गया । समापन जिले के वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह ने किया ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 18, 2019, 7:03 pm
Mostly sunny
Mostly sunny
34°C
real feel: 32°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 31%
wind speed: 4 m/s WNW
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:18 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 8 other subscribers

Trending