Connect with us

लखनऊ लाइव

सातवें चरण का मतदान कल, यूपी की 13 लोकसभा सीटों पर होगा मतदान

Published

on

उप्र निर्वाचन आयोग की सभी तैयारियां पूरी

लखनऊ। 19 मई को होने वाले आखिरी चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग ने प्रेस काॅन्फे्रंस कर बताया कि चुनाव से संबंधित सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीड़ी तिवारी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया की लोकसभा चुनाव के इस आखिरी चरण में उत्तर प्रदेश के 11 जिलों की 13 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। जिसमें राबर्टसंगज लोकसभा सीट पर सुबह 7 बजे से शाम चार बजे तक ही मतदान होगा। श्री तिवारी ने बताया कि राबर्टसंगज लोकसभा क्षेत्र अति संवेदनशील क्षेत्र में आता है जिसके चलते शाम चर बजे तक ही मतदान कराने का निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश की इन 13 लोकसभा सीटों पर कुल मतदाताओं की संख्या 2,36,38,797 करोड़ है। जिसमें से घोसी लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या सबसे ज्यादा है, यहां 1985203 मतदाता हैं। जबकि सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र में सबसे कम मतदाताओं 16,60,069 हैं। 13 लोकसभा सीटों पर होने वाले मतदान केंद्रों की कुल संख्या 13979 है तो वहीं कुल मतदेय स्थलों की संख्या 25874 है।

यह भी पढ़ें-एनडीए को रोकने के लिए विपक्ष ने तेज की मुहिम, चन्द्रबाबू नायडू ने अखिलेश और मायावती से की मुलाकात

इस चरण में यूपी की वाराणसी, गाजीपुर, चंदौली, मिर्जापुर, गोरखपुर, महाराजगंज, राबर्ट्सगंज, देवरिया, घोसी, सलेमपुर, बलिया, बांसगांव और कुशीनगर लोकसभा सीटों पर मतदान होना है। बता दें कि लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को सात राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 59 सीटों पर रविवार को मतदान होगा। इसके साथ ही शुक्रवार शाम से 50 सीटों पर चुनाव प्रचार थम गया। चुनाव आयोग के आदेश के बाद पश्चिम बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार गुरुवार रात 10 बजे ही खत्म हो गया था। सातवें चरण में सात केंद्रीय मंत्रियों की परीक्षा होनी है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी पर भी रविवार को ही मतदान होना है। आम चुनाव के इस आखिरी चरण में कई केन्द्रीय मंत्रियों के भाग्य का फैसला होना है। जिसमें रविशंकर प्रसाद, मनोज सिन्हा, हरदीप पुरी, अश्वनी चैबे, हरसिमरत कौर बादल और अनुप्रिया पटेल शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर भाजपा और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के लिए अपने किले को बचाने की चुनौती है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लखनऊ लाइव

दिव्यांगजनों की विशेषता को समाज के सामने लाने की आवश्यकता है : महापौर

Published

on

लखनऊ। सौभाग्य फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा दिव्यांगजनों और नियोक्ताओं का सम्मान समारोह शनिवार को गोमतीनगर स्थित इंदिरा प्रतिष्ठान में अयोजित किया गया। इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने अन्य अतिथियों के साथ दिव्यांगजनों एवं नियोक्ताओं को प्रशस्ति पत्र एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया।
इस अवसर पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि दिव्यांगजनों के शरीर में यदि एक कमी होती है तो उनमें अतिरिक्त रूप से कोई न कोई विशेषता अवश्य होती है। हमारे समाज की आवश्यकता है कि हम उनकी क्षमताओं को देखते हुए उन्हें उचित मार्गदर्शन और प्रोत्साहन देने का कार्य करे।

यह भी पढ़ें-मेधा को कभी छुपाया नहीं जा सकता : महापौर

दिव्यांगजनों की विशेषता को समाज के सामने लाने की आवश्यकता है, जिससे उनकी प्रतिभा को मंच प्रदान हो सके। महापौर ने दिव्यांग जनों को नौकरी देने के लिए नियोक्ताओं की भी सराहना की। इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया संग नम्रता पाठक, अनूप श्रीवास्तव, संस्था की सचिव पूजा मेहरोत्रा, अध्यक्ष अमित मेहरोत्रा, सीओओ वैभव श्रीवास्तव, दीपिका सिंह सहित अन्य जन उपस्थित रहें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

मेधा को कभी छुपाया नहीं जा सकता : महापौर

Published

on

महापौर ने मेधावी बच्चों को किया सम्मानित

लखनऊ। इंदिरा नगर के हरिहर नगर स्थित लखनऊ मॉडल पब्लिक इंटर कॉलेज में शनिवार को आयोजित सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि महापौर संयुक्ता भाटिया ने विद्यालय के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य अजय पाल कन्नौजिया ने महापौर को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। इस अवसर पर संस्था से छात्रों ने मनमोहक प्रस्तुतियों से सभी का मन मोह लिया। इस मौके पर महापौर ने मेधावी छात्र-छात्राओं की सराहना करते हुए कहा कि मेधा को कभी भी छुपाया नहीं जा सकता है, वह अपने आप ही उभर के सामने आ जाती है। महापौर ने सूक्ति होनहार बिरवान के होत चीकने पात… का उपयोग करते हुए कहा कि मेधावी छात्र भीड़ में रहकर भी अपनी अलग पहचान बना लेता है।

इन बच्चों ने अपनी मेहनत, माता-पिता के आशीर्वाद और शिक्षकों के प्रयास से यह मुकाम हासिल किया है, जिसके लिए मैं इन्हें बधाई देती हूं साथ ही इनके आगे के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देती हूं। महापौर ने बच्चों से अपनी संस्कृति का सम्मान करने का आवाहन करते हुए कहा कि आज विदेशी लोग हमारी सदियों पुरानी संस्कृति को अपना रहे हैं। जीवन का सार, माता-पिता का सम्मान और सफलतम जीवन का निर्वहन सिर्फ भारतीय संस्कृति में ही देखने को मिलना है। इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया के साथ चेयरमैन महावीर प्रसाद कन्नौजिया, प्रबंधक श्रवण कुमार सिंह, निदेशक शिव सागर वर्मा, प्रधानाचार्या दीपा राजपाल, अजय पाल कन्नौजिया, उप प्रधानाचार्य रेणु कन्नौजिया सहित अन्य शिक्षक व बच्चे उपस्थित रहें।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

एनडीए को रोकने के लिए विपक्ष ने तेज की मुहिम, चन्द्रबाबू नायडू ने अखिलेश और मायावती से की मुलाकात

Published

on

23 मई को एनडीए को स्पष्ट जनादेश न मिला तो विपक्ष एकजुट होकर बनाएगा सरकार

लखनऊ। 23 मई को आने वाले आम चुनावों के नतीजों से पहले विपक्ष ने भाजपा से दिल्ली गद्दी छीनने की कसरत शुरू कर दी है। आखिरी चरण का मतदान होना शेष है लेकिन दिल्ली से लेकर आन्ध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल तक येन-केन प्रकारेण सत्ता पाने का गुणा भाग शुरू हो गया है। विरोधी दलों में एक से बढ.कर एक दावेदार हैं जो खुद को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखना चाहते हैं, चाहे वह राहुल गांधी या पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी। यूपी में बसपा प्रमुख मायावती भी मौका मिलने पर दिल्ली के सिंहासन पर बैठने को उतावली हैं, सपा प्रमुख अखिलेश यादव परोक्ष रूप से उनका समर्थन भी कर रहे हैं।
इस मुहिम के अगुवा बने हैं आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू। अपनी योजना को अमली जामा पहनाने के लिए बाबू ने मैराथन मुलाकातें और बैठकें भी शुरू कर दी हैं। दिल्ली की सत्ता के समीकरण साधने के लिए शनिवार को चन्द्रबाबू नायडू लखनऊ पहंुचे। यहां सबसे पहले वह समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव से मिलने पहंुचे। दोनों के बीच क्या वार्ता हुई, इस बारे में मीडिया को फिलहाल ज्यादा जानकारी नहीं दी गयी। लेकिन माना जा रहा है कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद सभी संभावित परिस्थितियों पर विचार कर विपक्षी दलों में एकराय बनाने की दिशा में दोनों नेताओं के बीच वार्ता हुई होगी।

यह भी पढ़ें-भाजपा नेता ने ओमप्रकाश राजभर के विवादित बयान के खिलाफ दी थाने पर तहरीर

अखिलेश यादव से मिलने के बाद सीएम चन्द्रबाबू नायडू बसपा प्रमुख मायावती से मिलने उनके आवास पहंुचे। श्री नायडू ने बसपा सुप्रीमो को आम भेंट किए। इस दौरान बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा भी उपस्थित रहे। इससे पहले लखनऊ रवाना होने से पहले चन्द्रबाबू नायडू ने दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और संभावित चुनाव परिणाम पर चर्चा की।
बता दें कि शुक्रवार को नायडू ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और सीपीएम नेता सीताराम येचुरी से भी भेंट की थी और चुनाव बाद गठबंधन की संभावनाओं पर चर्चा की थी।
माना जा रहा है कि तीसरे मोर्चे को बनाने के लिए कांग्रेस की ओर से कोशिश तेज हो गई है और इसी सिलसिले में नेताओं के मिलना हो रहा है।

कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि वह एक प्रगतिशील और धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन को लेकर प्रतिबद्ध है और गठबंधन का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। गौरतलब है कि एक दिन पहले ही पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि यदि कांग्रेस सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है, तो तब भी उसे किसी क्षेत्रीय नेता का समर्थन करने से कोई गुरेज नहीं होगा। विपक्ष की ये सारी कोशिश इस तथ्य पर आधारित है कि अगर केंद्र नतीजों के बाद नरेंद्र मोदी फिर से स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता है तो बिना मौका गंवाए विपक्षी दलों को एकजुट रखा जा सके। इसी कोशिश की आगे बढ़ाते हुए यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने भी 23 मई को नतीजों के बाद विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 18, 2019, 8:27 pm
Partly cloudy
Partly cloudy
31°C
real feel: 30°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 42%
wind speed: 3 m/s NW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:47 am
sunset: 6:18 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 8 other subscribers

Trending