Connect with us

लखनऊ लाइव

मौत के लिए जिम्मेदार 10 प्रमुख बीमारियों में से एक है टीबीः विशेषज्ञ

Published

on

लखनऊ। यूपी प्रेस क्लब में आज टीबी विशषज्ञों द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। इसमें कल यानि 24 मार्च को मनाये जाने वाले विश्व क्षय रोग दिवस (वर्ल्ड टीबी डे) पर पल्मोनरी एण्ड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग, केजीएमयू लखनऊ एवं अन्य संस्थानों के विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभाग किया गया। इस पत्रकार वार्ता में टीबी के कारणों, उससे होने वाले नुकसान तथा उपचार व जागरुकता के बारे में जानकारी दी गई। इस दौरान टीबी मुक्त भारत के सपने को 2025 तक साकार करने हेतु आवश्यक कार्य योजना पर प्रकाश डाला गया एवं आंकड़े भी प्रस्तुत किये गये।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान टीबी विशेषज्ञों ने बताया कि क्षय रोग आज सम्पूर्ण विश्व में 10 प्रमुख मृत्यु की जिम्मेदार बीमारियों में से एक है। 2017 में एक करोड़ लोग क्षय रोग से प्रभावित हुए जिसमें 16 लाख लोगों की मृत्यु हो गयी। इन्हीं आंकड़ों के आधार पर 10 लाख बच्चे भी क्षय रोग से प्रभावित थे। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के आधार पर 2017 में 5 लाख 58 हजार रिफैम्पिसिन रजिस्टैन्ट मरीज पाये गये, जिसमें से 82 प्रतिशत एमडीआर के मरीज थे। विश्व में टीबी इंसीडेंस 2 प्रतिशत की दर से घट रहा है। टीबी रोग को समाप्त करने के लिए टीबी इंसीडेंस को 2020 तक 4 से 5 प्रतिशत की कमी तक ले जाने की आवश्यकता है।

विशेषज्ञों ने बताया कि हर उम्र के मरीजों में 10 से 15 प्रतिशत लोगों को टीबी होने की सम्भावना बनी रहती है। भारत में हर 3 मिनट में 2 मरीजों की मृत्यु टीबी से हो रही है। भारत में हर साल लगभग 211 मरीज प्रति लाख जनसंख्या में क्षय रोग से ग्रसित होते हैं। जिनमें 7 मरीजों में क्षय रोग के साथ एचआईवी भी होता है और 11 मरीजों को एमडीआर हो जाता है। 211 मरीजो में से 32 मरीजों की क्षय रोग से मृत्यु हो रही है। हर साल लगभग 3 प्रतिशत नये एमडीआर टीबी रोग से ग्रसित मरीज सामने आ रहे हैं, लगभग 16 प्रतिशत टीबी के मरीजों में मधुमेह रोग पाया जा रहा है और लगभग 2.8 प्रतिशत मधुमेह रोगियों को टीबी रोग हो जाता है।

टीबी विशेषज्ञ डाॅक्टरों ने बताया कि भारत में लगभग 6 करोड़ मधुमेह रोगी है जिनमें से 18 लाख टीबी की चपेट में आ चुके है। ये संख्या तेजी से बढ रही है। जहां एक तरफ डब्ल्यूएचओ ने 2030 तक टीबी का अंत करने की कार्य योजना तैयार की है। वहीं भारत सरकार द्वारा 2025 तक टीबी मुक्त भारत का संकल्प लिया गया है। इस सपने को साकार करने के लिये यह जरूरी है कि जो दिशा निर्देश भारत सरकार द्वारा दिये गये है उनका अनुपालन कड़ाई से कराया जाए तथा टीबी का उपचार विशेषज्ञ चिकित्सकों की देख रेख में ही कराना सुनिश्चित किया जाये। भारत सरकार ने टीबी के मरीज के पोषण के लिए हर माह 500 रू की सहायता राशि देने का निश्चय किया है। भारत सरकार क्षय रोग के उन्मूलन के लिए प्राइवेट सेक्टर में इलाज कराने वाले मरीजों, चिकित्सकों एवं अस्पतालों को सहायता भी दे रही है। चिकित्सक एवं अस्पतालों को रोगी के उपचार और इस बीमारी की गंभीरता के प्रति जागरूक करने के लिये 250.00 रु प्रति माह 6 से 9 महीने के लिए दिये जा रहे हैं।  http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रदेश

खंड विकास अधिकारियों का ओपन ट्रांसफर के साथ दिए गये नियुक्ति पत्र

Published

on

लखनऊ। लोक सेवा आयोग से चयनित होकर आए खंड विकास अधिकारियों का ओपन ट्रांसफर के साथ ग्राम्य विकास मंत्री डाॅक्टर महेंद्र सिंह के हाथो से नवनियुक्त बीडीओ को नियुक्ति पत्र दिया गया। ग्राम्य विकास मंत्री ने सभी चयनित 16 प्रोन्नत सहायक अभियंताओं को भी चाॅइस पोस्टिंग दी। इस मौके पर मंत्री डाॅक्टर महेंद्र सिंह ने कहा बिना किसी सिफारिश और दबाव के पारदर्शी तबादले और नियुक्ति की गई है।

इस मौके पर मंत्री डाॅक्टर महेन्द्र सिंह ने कहा था की ओपन ट्रांसफर की पहली बार किसी विभाग में किया जा रहा है जहां ट्रांसपेरेंसी परफाॅर्मेंस के बेस पर सबको नियुक्ति दी जा रही है। बताया कि पूरे भारत में ग्राम विकास उत्तर प्रदेश का विभाग पहले नंबर पर है। जिसके चलते पिछले साल 12 पुरस्कार भी विभाग ने जीते थे। साथ ही कहा कि सभी स्कूलों में ग्राम विकास विभाग बहुत अच्छा काम कर रहा है जिसके लिए अधिकारियों का अच्छा परफॉर्मेंस है।

यह भी पढ़ें :- प्रयागराज मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में जुटी पुलिस की टीमें

उन्होंने कहा कि किसी भी वीडियो को किसी से सिफारिश और गुजारिश करने की जरूरत नहीं है। ओपन ट्रांसफर सबके लिए है ब्लैक बोल्ड के ऊपर लिस्ट लगा दी गई है और सब को उसी के आधार पर अपनी सहूलियत के हिसाब से मौका दिया जा रहा है। साथ ही कहा कि इस तरह के ट्रांसफर प्रक्रिया हर साल कर ली जाएगी। जिसमें मीडिया के कैमरों के सामने सब कुछ होगा और सबका ट्रांसफर पूरी ट्रांसपेरेंसी के साथ किया जाएगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

लखनऊ रेल मंडल ने नव नियुक्त ट्रैक मैन्टैनेर्स को दिया प्रशिक्षण

Published

on

लखनऊ। रेल लाइनों के सही तरीके से रख-रखाव को लेकर सोमवार को लखनऊ रेल मंडल ने एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। मंडलीय पी-पे प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ संजय त्रिपाठी एवं नव नियुक्त ट्रैक मैन्टैनेर्स भी उपस्थित रहे। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में नए कर्मचारियों को ट्रैक के सही तरीके से रख-रखाव के संबंध में जरूरी जानकारी दी गयी। अधिकारियों ने कर्मचारियों से कहा कि अपने कर्तव्यों के प्रति हमेशा सतर्क रहकर काम करें। नव नियुक्त कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिया गया कि ड्यूटी के समय आवश्यक उपकरणों और संयंत्रों को अपने साथ रखें।

कार्यक्रम में मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ संजय त्रिपाठी ने नव नियुक्त कर्मचारियों को शुभकामनाएं दी। साथ ही उनके बारे में जानकारी भी प्राप्त की। संजय त्रिपाठी ने इस मौके पर कर्मचारियों को रेलवे के लिए उनका महत्व, आवश्यकता, उनके उत्तरदायित्वों और कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। श्री त्रिपाठी ने कहा कि ट्रैक मैन्टैनेर्स, सुगम एवं सुरक्षित रेल परिचालन की धुरी हैं। इसलिए हर ट्रैक मैन्टैनेर्स की यह जिम्मेदारी है कि वह अपना कार्य पूरी जिम्मेदारी और अनुशासन के साथ करे। अपने कार्य एवं योगदान के माध्यम से देश की प्रगति में सहयोगी बने। कार्यक्रम में वरिष्ठ मंडल अभियंता (समन्वय) सुधीर सिंह, मंडल अभियंता प्रथम उत्पल कांत भी मौजूद रहे।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

आईएएस अफसर ने बंद किया अपार्टमेंट का आपातकालीन रास्ता, विरोध करने पर दिखाई दबंगई

Published

on

लखनऊ। राजधानी में रहने वाले एक आईएएस अफसर ने अपार्टमेंट में साथ रहने वाले लोगों के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है। लोगों ने अफसर को समझाने का प्रयास किया लेकिन साहब अपना रौब गांठ कर सभी को चुप करा दिया। जानकारी के अनुसार चिनहट थाना क्षेत्र स्थित रोहित रेजीडेंसी अपार्टमेंट के फ्लैट 310 में एक आईएएस अधिकारी रहते हैं। अपार्टमेंट में रहने वाले अन्य लोगों ने कहना है कि अफसर ने अपार्टमेंट कर आपातकालीन रास्ता बंद कर दिया है। जब अन्य लोगों ने विरोध किया तो अफसर अपनी पहुंच और पाॅवर बताकर दबंगई दिखाने लगा।

लोगों का कहना है कि यह आपातकालीन रास्ता आग अथवा अन्य किसी इमरजेंसी के समय लोगों के बचाव के लिए बनाया गया था, लेकिन आईएएस अफसर ने पक्का निर्माण करवा कर इस रास्ते को बंद करवा दिया है। अधिकारी की करतूत से अपार्टमेंट में रहने वाले अन्य लोगों में आक्रोश है। लोगों ने इस बारे में चिनहट पुलिस से शिकायत भी की। लेकिन पुलिस ने आईएएस अफसर के खिलाफ कार्रवाई से इनकार कर दिया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 20, 2019, 1:29 am
Fog
Fog
28°C
real feel: 35°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:10 am
sunset: 6:09 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending