Connect with us

लखनऊ लाइव

उमेश पंकज के कविता संग्रह ‘एक धरती मेरे अन्दर’ का हुआ विमोचन

Published

on

लखनऊ। कवि उमेश पंकज के पहले कविता संग्रह ‘एक धरती मेरे अन्दर’ का शनिवार को कैफी आजमी एकेडमी में विर्माचन हुआ। कार्यक्रम का आयोजन जन संस्कृति मंच और लोकोदय ने किया। जिसकी अध्यक्षता कवियित्री वन्दना मिश्र ने और संचालन कवि-कथाकार फरजाना महदी ने किया। इस मौके पर उमेश पंजन ने ‘रचना‘, ‘आग पेट की‘, ‘मल्लाह‘, ‘मेहतर‘, ‘उन्मादी भीड़‘ जैसी कई कविताएं सुनाकर अतिथियों को अपनी रचनाओं के रंगों से रू-ब-रू कराया। कविता संग्रह के विमोचन के बाद परिसंवाद का आयोजन हुआ। जिसमें कवि पंकज की कविताओं पर बोलते हुए कवि व आलोचक चन्द्रेश्वर ने कहा, इनकी कविताएं सरलता, सादगी व जनजीवन की प्रतीक हैं।
बांदा से आये आलोचक उमाशंकर सिंह परमार ने कहा, कचरा यहां व्यवस्था का प्रतीक है, कविता यथास्थित के विरुद्ध और सत्ता पर प्रहार है।

युवा आलोचक अजीत प्रियदर्शी ने कहा, ये कविताएं जन प्रतिबद्धता, प्रतिरोध और जन सरोकार की कविताएं हैं। जो बदतर हालत और जनता के टूटे सपने के लिए सत्ता की जनविरोधी नीतियों को मानती है। कवि कौशल किशोर ने कहा कि ये जीवन बदलने से अधिक जीवन बचाने की कविताएं हैं। इन कविताओं में अनुभव, संवेदना और विचार की त्रिवेणी का संगम है। इस राजनीतिक समय में रचनाकार बच नहीं सकता, उसे इससे लड़ना ही होगा। भगवान स्वरूप कटियार ने कहा कि उमेश पंकज की कविताओं में लोकजीवन के तत्व हैं। ये बदलाव की उम्मीद को नही छोड़ती। वहीं उषा राय ने कहा, पंकज की कविताएं वर्तमान समय के अनुकूल हैं।

यह भी पढ़ें-राजधानी में तेज रफ्तार का कहर जारी, हादसे में नौ माह के मासूम समेत दम्पति घायल

लेखक व पत्रकार अरूण सिंह ने कहा कि उमेश की कविताओं में नष्ट होकर भी उगने की उत्कृष्ट आकांक्षा है। यहां विरासत को बचाने की बात है। इसे कमजोर करके लड़ाई आगे नहीं बढ़ाई जा सकती है। युवा कवि व आलोचक आशीष सिंह ने कहा कि उमेश पंकज की कविता की जमीन पुरानी है पर अभिव्यक्ति नई है। कविता दबावों के बीच पनपना चाहती है और यह स्मृतियों में जाती है तो वहीं वर्तमान से टकराती भी है। लोकोदय प्रकाशन के बृजेश नीरज ने धन्यवाद ज्ञापन देते हुए कहा कि किसी रचनाकार की पहली कृति उसके सृजनात्मक जीवन में नये जन्म की तरह है। इससे उसका रचनात्मक व्यक्तित्व सामने आता हैं। उन्होने कहा कि आज की सृजनशीलता पाठकों तक पहुंचे, इस दिशा में लोकोदया सक्रिय भूमिका निभा रही हैं। अन्त में सभी रचनाकारों का भाभार प्रकट किया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लखनऊ लाइव

प्रदेश के बजट पर अखिलेश यादव ने शहर की जनता से जानी ‘मन की बात’

Published

on

लखनऊ। यूपी सरकार में मंगलवार को अपने कार्यकाल का चौथा बजट पेश कर दिया है। जिसको वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया। जिससे बाद प्रदेश के बजट को लेकर अखिलेश यादव ने जनता के मन की बात जानने के लिए विभिन्न वर्गों के लोगों से मुलाकत की। साथ की सपा और भाजपा के कामों पर जनता की राय जानी। उन्होंने कहा कि चकगंजरिया में सपा सरकार के समय विकास के तमाम कार्य हुए थे। भाजपा सरकार इसको स्वीकार नही करना चाहती है।

अखिलेश यादव ने बताया कि नौजवानों, व्यापारियों और कुछ कर्मचारी महिलाओं ने कहा कि इस बार जो बजट भाजपा सरकार ने पेश किया है वह पूरा का पूरा ना उम्मीद से भरा है। इसमें जनसामान्य के हित की कोई बात नहीं है। नौजवानों को रोजगार के नाम पर धोखा दिया गया हैं। जब राज्य में न तो निवेश हो रहा है और न उद्योग लग रहें हैं तो रोजगार की कैसे उम्मीद की जा सकती है। किसानों से साथ छलावा किया जा रहा है। व्यापारी समाज भी इस बजट से निराश हैं। महिलाओं ने कहा कि केन्द्र के बजट ने घरेलू बजट चौपट किया। अब राज्य के बजट से जीवन चलाना ही दूभर हो जाएगा।

यह भी पढ़ें:- अलीगढ़ गोलीकांड की जांच के लिए सपा भेजेगी अपना प्रतिनिधि मंडल

उन्होंने कहा कि चकगंजरिया क्षेत्र में पुलिस मुख्यालय की ‘सिंग्नेचर बिल्डिंग‘ है। इसी क्षेत्र में भव्य विश्वस्तरीय इकाना स्टेडियम है जहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मैच होते हैं। अवध शिल्पग्राम भी यही है। इस ग्राम की स्थापना का उद्देश्य लोककलाओं का संवर्धन और स्थानीय कलाओं को प्रोत्साहन देना है। शानदार शाम-ए-अवध बाजार दिल्ली के कनाटप्लेस की तरह का निर्माण कराया था। लेकिन भाजपा सरकार ने औने-पौने दामों पर बेच दिया है। मेदांता अस्पताल सपा की ही देन है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

किडजी भास्कर ने मनाया अपना वार्षिक समारोह

Published

on

लखनऊ। किडजी भास्कर ऐजुकेशन इंदिरा नगर ने अपना वार्षिक समारोह बॉलीवुड ब्लास्ट के नाम से ICCMRT सम्पन्न किया। इस वर्ष किडजी भास्कर एजुकेशन ने अपने 16 शैक्षिक वर्ष पूर्ण किए। अवध बार काउन्सिल अध्यक्ष डा0 एल0पी0 मिश्रा व किडजी निदेशिका प्रतिमा त्रिपाठी की मौजूदगी में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का आरम्भ अतिथियों के दीप प्रज्जवलित करने के बाद गणेश मंत्र व कृष्ण वन्दना के साथ हुआ। किडजी के नन्हें सितारों ने स्वेग से स्वागत कार्यक्रम से धूम मचाई। यादों की बारात कार्यक्रम ने सभी दर्शकों को अपने बचपन की याद दिलाई। झिलमिलाते पोशाकों मे सजे नन्हें मुन्नों में कॅमेडी सांग्स व पेट्रियोट्कि मेडले पर थिरकते हुए कार्यक्रम को रोमांचक बनाया। वहीं रीमिक्स सांग्स, रेट्रो सांग्स व फिकर नाट कार्यक्रमों पर सभी दर्शक अपने पैरों को थिरकने से रोक न पाए।

लॉफ्टर इज़ द बेस्ट मेडिसिन, टाइम इज़ प्रीशियस, मनी कान्ट बाए हैप्पिनेस’ जैसे विषयों पर बच्चों ने अपने विचारों को अभिव्यक्त किया। सामाजिक जागरूकता पर आधारित कार्यक्रम से नो टू पालीथीन’ सभी के द्वारा सराहा गया।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में दौड़ेगी देश की पहली रैपिड रेल

सभी कक्षाओं में पंक्चुअल, नीट एण्ड टायडी, टमी फुल आदि के लिए अवार्ड्स दिए गए। किडजी प्रिंस का अवार्ड अनसब खान व किडजी प्रिंसेस का अवार्ड क्रितिका यादव को दिया गया। इस रंगारंग कार्यक्रम की सभी ने भरपूर प्रशंसा की। http://www.satyodaya.com   

Continue Reading

लखनऊ लाइव

एमएलसी प्रत्याशी बाबा हरदेव सिंह ने प्रेस वार्ता कर गिनाई अपनी प्राथमिकताएं

Published

on

कहा, चुनाव बाद सड़क से संसद तक होगा संघर्स

लखनऊ। स्नातक निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ से एमएलसी प्रत्याशी व पीसीएस संघ के पूर्व अध्यक्ष बाबा हरदेव सिंह ने मंगलवार को प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता में एमएलसी प्रत्याशी हरदेव सिंह ने चुनाव जीतने के बाद कर्मचारियों के तमाम मुद्दों और समस्याओं के लिए सड़क से संसद तक लड़ने की बात कही। एमएलसी प्रत्याशी ने कहा कि हमने अपने तमाम मुद्दों में सबसे ज्यादा महत्व अधिकारियों, कर्मचारियों, शिक्षकों की पेंशन बहाली, सेवारत व सेवानिवृत कार्मिकों को कैशलेश इलाज की की सुविधा को प्राथमिकता पर रखा है।

इन मुद्दों पर चुनाव के बाद सरकार से मांग की जाएगी। बाबा हरदेव सिंह ने कहा कि शिक्षामित्रों, शिक्षा अनुदेशकों तथा संविदा कार्मिकों को नियमित किये जाने, होमगार्ड और प्रांतीय रक्षा दल के जवानों की सेवाएं सुरक्षित करने की भी मांग की जाएगी। स्नातक बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण के साथ रोजगार उपलब्ध कराने के लिए भी सरकार से वार्ता की जाएगी।

यह भी पढ़ें-यूपी बजट 2020ः सीएम योगी ने बताए यूपी के ऐतिहासिक बजट के बड़े लक्ष्य

सरकार से मांग की जाएगी कि बेरोजगार स्नातक, परास्नातक को 6 हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता दिया जाए। प्रतियोगी परीक्षाओं के आवेदन में शुल्क खत्म करने, प्रतियोगी परीक्षाओं एवं साक्षात्कार के लिए जाने वाले अभ्यर्थियों की यात्रा निशुल्क करने की भी मांग की जाएगी। सरकारी व अर्ध सरकारी विभागों तथा शिक्षकों के रिक्त पदों की शीघ्र भरने की मांग। बाबा हरदेव सिंह ने कहा कि हमारी मांग है कि सरकार रोजगार सुनिश्चित करे ताकि युवा बेरोजगारी कम हो। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

February 18, 2020, 10:06 pm
Clear
Clear
17°C
real feel: 17°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 67%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:11 am
sunset: 5:30 pm
 

Recent Posts

Trending