Connect with us

लखनऊ लाइव

UP : कड़ी सुरक्षा के बीच सम्पन्न हो रही प्रथम पाली की POLICE भर्ती परीक्षा, निरीक्षण पर निकले डीजीपी

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में दो दिन की पुलिस भर्ती परीक्षा का पहला दिन रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं। जिले के पुलिस कप्तान व सेक्टर मजिस्ट्रेट बारी-बारी से परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण भी कर रहे हैं। अभी तक कोई भी सॉल्वर पकड़े न जाने की सूचना आ रही है। नकल विहीन परीक्षाओं को कराने के लिए यूपी एसटीएफ को भी जिम्मेदारी सौंपी गयी है। आगरा, बरेली, मथुरा फिरोजबाद समेत 35 जिलों में करीब 720 परीक्षा केन्द्र बनाए गये है।  इस बीच डीजीपी ओपी सिंह महानगर के दयानंद कन्या इण्टर कॉलेज पहुंचे है, जहां उन्होंने सिपाही भर्ती परीक्षा क़ा जायज़ा लिया है। इस अवसर पर डीजीपी के साथ भारी पुलिस बल भी मौजूद था। उन्होंने परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया है। 

सभी परीक्षा केन्द्रों को सीसीटीवी कैमरे से लैस किया गया है, ताकि परीक्षा में किसी भी प्रकार की नकल न हो सकें। परीक्षा दो पाली में होनी है, प्रथम पाली की परीक्षा शुरु हो गयी है। वहीं, द्वितीय पाली की परीक्षा दोपहर से शुरु होगी। प्रथम पाली की परीक्षा दस बजे से 12 बजे तक तथा दूसरी पाली की परीक्षा दो बजे से पांच बजे तक परीक्षाएं होंगी।

गौरतलब है कि पुलिस भर्ती परीक्षा-2018 में 19 लाख 38 हज़ार अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए पुलिस प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किये है। किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो इसके लिए जहां, एसटीएफ टीम को लगाया गया है, तो वहीं परीक्षा केन्द्र में सेक्टर व स्टेटक मजिस्ट्रेट की तैनाती की गयी है। https://satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ख़ैरियत

अब प्रतिदिन चलेंगी दो मोबाइल मेडिकल यूनिट

Published

on

डेंगू के बढ़ते प्रभाव के बाद स्वास्थ्य विभाग एलर्ट

लखनऊ। राजधानी के रुचिखंड, साले नगर आशियाना, बंगला बाजार में अब प्रतिदिन दो मोबाइल मेडिकल यूनिटें डेंगू रोग से बचाव एवं रोकथाम के संबंध में लोगों को जानकारी देंगी। इसके साथ ही यूनिट के माध्यम से मरीजों कि जांच और दवा का भी वितरण होगा। यह निर्णय डेंगू के बढ़ते मरीजों की वजह से लिया गया है।

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के निर्देश पर दो मोबाइल मेडिकल यूनिट को उक्त क्षेत्रों में संचालित किया जाएगा। प्रवक्ता के मुताबिक पहले एक ही मेडिकल यूनिट का संचालन किया जा रहा था।

16 लोगों को नोटिस

सीएमओ प्रवक्ता डॉ. योगेश रघुवंशी ने बताया कि फाइट द बाइट अभियान के तहत स्वास्थ्य टीम ने 548 घरों एवं विभिन्न स्थानों पर मच्छर जनक स्थितियों का सर्वेक्षण किया। जिसमें से 16 घरों व स्थान ऐसे मिले जहां मच्छर के पनपने की पूरी संभावना दिखी। इन घरों व स्थानों पर लगाए गए कूलर, गमले, टायर में कई दिनों से पानी भरे हुए थे। जिन्हें साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया गया। वहीं इन क्षेत्रों में बने मकानों के सामने गढ्डों में जलजमाव था।

यह भी पढ़ें :- भाजपा हर कार्यकर्ता का सम्मान करती हैः स्वतंत्र देव सिंह

सीएमओ प्रवक्ता के मुताबिक मच्छर जनित स्थानों में गीता पल्ली वार्ड, नरही, शारदा नगर, रुचिखंड, राजाजीपुरम प्रमुख रूप से शामिल है। इसके अतिरिक्त इन सभी क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा सोर्स रिडक्शन तथा स्वास्थ्य संबन्धि जानकारी दी गई। नगर निगम को उक्त क्षेत्रों में सघन फागिंग अभियान एवं व्यापक सफाई व्यवस्था कराए के लिए निर्देश दे दिया गया है।

इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए अलर्ट जारी

सीएमओ ने इन्फ्लूएंजा एच 1 एन 1 के लिए सभी अस्पतालों को पहले से ही अलर्ट जारी कर दिया है। इसके साथ ही मरीजों की दवा के लिए पर्याप्त व्यवस्था कर दी गई है। वहीं राजधानी के सभी अस्पतालों में रोगियों के लिए वार्ड आरक्षित करने के लिए निर्देश दिए गए हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

त्योहारों पर सुरक्षा को लेकर पुलिस मुस्तैद, तैनात किए गए अतिरिक्त सुरक्षा बल

Published

on

लखनऊ। राजधानी में राम नवमी, विजयदशमी और मूर्ति विसर्जन को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जिससे कि त्योहारों के दौरान किसी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो सके। सुरक्षा को लेकर ग्रामीण व शहर के इलाकों में मूर्ति विसर्जन और दुर्गा पूजा को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। जिसमें बताया जा रहा है कि शहर और ग्रामीण इलाकों में 169 मूर्ति विसर्जन, 79 जुलूस, 32 शोभा यात्रा और 98 रावण दहन स्थलों पर फोर्स को तैनात किया गया है। जिससे कि माहौल को बिगाड़ने वाले लोगों पर निगाह रखी जा सके।

लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि राजधानी में राम नवमी, विजयदशमी और मूर्ति विसर्जन को लेकर जनपद लखनऊ में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम करते हुए मूर्ति विसर्जन के दौरान किसी भी प्रकार की घटना न हो इसको लेकर राजधानी में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गये हैं। विगत वर्षो की घटनाओं को देखते हुए लखनऊ के प्रमुख घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। प्रमुख घाटों पर स्थानीय गोताखोरों के साथ जिला पुलिस व पीएसी को तैनात किया गया है। साथ ही अतिरिक्त पुलिस बल को इलाके की संवेदशीलता के आधार पर तैनात किया गया है। जिससे की लखनऊ में शांतिपूर्ण तरीके से त्योहार को संपन्न कराया जा सके।

ये भी पढ़ें: पूर्व सांसद रमाकांत यादव सहित बसपा-कांग्रेस के कई नेता हुए साइकिल पर सवार

लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मूर्ती विसर्जन के साथ विजयदशमी के त्योहार को भी शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए ठोस कदम उठाते हुए राजधानी में सुरक्षा के लिए अतिरिक्त फोर्स को लगाया गया है। जिसमें रिक्रूट आरक्षी- 410, सबइंस्पेक्टर-175, महिला सबइंस्पेक्टर- 27, हेड कांस्टेबल- 317, आरक्षी- 660, महिला आरक्षी- 128 और पीएसी की 4 कंपनी सुरक्षा व्यवस्था को संभालेगी।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

CBSE Board की तर्ज पर NCC कोर्स शुरू करेगा UP Board…

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश बोर्ड अब सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर एनसीसी का कोर्स शुरू करने जा रहा है। जो 9 से 12 तक के छात्र-छात्राओं के लिए होगा। इसकी सूचना प्रयागराज बोर्ड द्वारा दी गयी। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि इसे अनिवार्य विषय के रूप में रखा जाएगा या फिर वैकल्पिक विषय के रूप में होगा। यह अभी स्पष्ट नहीं किया गया है। सरकार के निर्देश पर एनसीसी का कोर्स तैयार कराया जा रहा है। इससे पहले सैन्य विज्ञान कोर्स में एनसीसी एक अध्याय के रूप में है। लेकिन बहुत अधिक संख्या में इसका लाभ विद्यार्थियों को नहीं मिल पा रहा। इंटरमीडिएट स्तर पर उपलब्ध सैन्य विज्ञान में 2019 की बोर्ड परीक्षा के लिए महज 4628 परीक्षार्थी पंजीकृत थे जिनमें से 3715 सफल रहे है।

यह भी पढ़ें :- एनसी नेता फारूक की मुलाकात के बाद 10 सदस्यीय टीम से मिलेंगी महबूबा…

एनसीसी का कोर्स विकसित करने के लिए यूपी बोर्ड ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से भी संपर्क किया है। बोर्ड इसे खेल एवं शारीरिक शिक्षा विषय की तरह भी लागू कर सकता है। यह विषय 10वीं व 12वीं के सभी के लिए अनिवार्य है और इसकी परीक्षा विद्यालय स्तर पर आतंरिक रूप से ली जाती है। लेकिन इसके अंक बोर्ड की ओर से जारी होने वाली मार्कशीट में नहीं जोड़े जाते। सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि एनसीसी के लिए पाठ्यक्रम समिति की बैठक हुई है। विषय विशेषज्ञों की रिपोर्ट शासन को भेजेंगे और निर्देश मिलने के बाद शुरू किया जाएगा।


चयनित स्कूलों में बच्चों को मिलती है ट्रेनिंग
वर्तमान में एनसीसी की ट्रेनिंग चुनिंदा स्कूलों में दी जाती है। एक बटालियन 1, 2 या अधिक स्कूलों में ट्रेनिंग देता है। कक्षा 9 व 10 के लिए जूनियर डिविजन और कक्षा 11 व 12 के छात्रों को सीनियर डिवीजन में रखा जाता है। कक्षा 9 व 10 के बच्चों को दो साल की ट्रेनिंग पर ए सर्टिफिकेट, 11 व 12 के बच्चों को दो साल की ट्रेनिंग पर बी सर्टिफिकेट व स्नातक स्तर पर एक साल की ट्रेनिंग पर सी सर्टिफिकेट मिलता है। असिस्टेंट एनसीसी ऑफिसर मनोज सिंह के अनुसार स्नातक स्तर पर यदि किसी ने सीधा एनसीसी में प्रवेश लिया है तो तीन साल की ट्रेनिंग के बाद सी सर्टिफिकेट मिलता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 7, 2019, 2:48 pm
Partly sunny
Partly sunny
32°C
real feel: 36°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 48%
wind speed: 2 m/s NW
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 4
sunrise: 5:31 am
sunset: 5:17 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending