Connect with us

नखलऊ ख़ास

मामूली विवाद में युवक को मारी गोली, हालत गंभीर

Published

on

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के विभूतिखंड थाना क्षेत्र स्थित सीएनजी चौराहे के समीप कार सवार युवक को बाइक सवार बदमाशों ने विवाद के दौरान गोली मार दी। जो उसके बाएं कंधे को छूकर निकल गई। जिससे वह घायल हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें: यूपी: यात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर पलटी, 5 की मौत, दर्जनों घायल

मटियारी चिनहट निवासी (38) वर्षीय संतोष कनौजिया ने बताया कि, वह अपनी कार से विभूतिखंड स्थित पेट्रोल पंप पर कार में सीएनजी भरवाने गया था। जहां से निकलने के बाद बाइक सवार तीन लोगों से उसका किसी बात को लेकर विवाद हो गया। पीड़ित का आरोप है कि इस दौरान बाइक सवार बदमाशों ने उस पर गोली चला दी जो उसके बाएं कोहनी पर लगी। जिससे वह घायल हो गए। चीख-पुकार के दौरान राहगीरों की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने उसे इलाज के लिए लोहिया अस्पताल पहुँचाया। जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वही विभूतिखंड पुलिस के अनुसार आरोपी नशे में वह कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं है। मामला पूरी तरीके से संदिग्ध है। जिसकी जांच पुलिस लार रही है। http://www.satyodaya.com

लखनऊ लाइव

लखनऊ: लोगों ने #CoronaFighters को फूल भेंटकर किया सम्मानित

Published

on

लखनऊ। कोरोना महामारी की शुरूआत में देश के कई हिस्सों से डाक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ भेद-भाव की खबरें आई थीं। किराए पर रहने कई स्वास्थ्यकर्मियों को उनके मकान ने संक्रमण फैलने की आशंका में मकान छोड़ने का भी दबाव बनाया था। लेकिन अब तस्वीर बदल चुकी है। समाज जागरूक हो चुकी है। महामारी के खिलाफ जंग के मोर्चे में सबसे आगे तैनात इन डाक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस और सफाईकर्मियों को उनकी सोसाइटी के लोग सम्मानित कर रहे हैं। जिससे इन कोरोना फाइटर्स का भी उत्साह बढ़ रहा है। सोमवार को लखनऊ में ऐसा ही नजारा देखने को मिला।

यह भी पढ़ें-उत्तर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में सांझी रसोई शुरू, जरूरतमंदों को मिलेगा भोजन

पुराने लखनऊ के यहियागंज वार्ड की कायस्थों वाली गली में क्षेत्रीय लोगों ने जोन दो के इस्पेक्टर सचिन सक्सेना ,सुपरवाइजर प्रपुल्ल कुमार व क्षेत्रीय सफाई कर्मचारी रविन्दर कुमार समेत तमाम नगर निगम सफाईकर्मियों को समानित किया। महिलाओं और पुरुषों के साथ बच्चों ने इन कर्मवीरों को फूलों के गुलदस्ते देकर उनका उत्साहवर्धन किया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

बालों को वायरस से बचाने के लिए दरोगा सहित 75 पुलिसकर्मियों ने करवाया मुंडन

Published

on

लखनऊ। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के साथ लोगों में उसे लेकर डर भी बढ़ रहा है। लॉकडाउन में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मी भी इससे अछूते नहीं हैं। आगरा जिले की थाना फतेहपुर सीकरी पुलिस ने बालों को वायरस से बचाने के लिए मुंडन करा लिया। रविवार को इंस्पेक्टर सहित 75 पुलिसकर्मी मुंडन कराने के बाद गश्त पर निकले तो लोग हैरान रह गए। 

थाने के प्रभारी निरीक्षक भूपेंद्र सिंह बालियान ने बताया कि हमने देखा कि कई लोग मुंह पर मास्क लगाने के साथ सिर को भी ढके हैं। डॉक्टर ने बताया कि कोरोना वायरस सिर के बालों में भी चिपक सकता है। वहां से सांस के जरिए अंदर जा सकता है। इसलिए हमने मुंडन करा लिया। पूरा थाना सहमत था, इसलिए सभी पुलिसकर्मियों ने मुंडन कराया है। मुंडन के दौरान सामाजिक दूरी का पूरा ध्यान रखा गया।

रविवार सुबह मुंडन कराने वालों में प्रभारी निरीक्षक के अलावा निरीक्षक क्राइम अमित कुमार, नौ उपनिरीक्षक, 15 मुख्य आरक्षी और 49 आरक्षी शामिल हैं। मुंडन कराने के बाद ये सभी कस्बे में गश्त पर निकले। लोग इनके सिर पर बाल न देखकर चौंक गए। 

पुलिसकर्मियों ने बताया कि यह कोरोना से बचने के किया है। लोगों से कहा कि आप भी एहतियात से रहिए। सामाजिक दूरी का पालन कीजिए। हाथ बार-बार साबुन से धोते रहें। इंस्पेक्टर का कहना है कि मुंडन कराना पुलिस प्रोटोकोल का उल्लंघन नहीं है। लंबे बाल रखना अनुशासन के खिलाफ है लेकिन छोटे कराना या मुंडन कराना नहीं।

इसे भी पढ़ें-COVID-19:सिंगर कनिका कपूर की छठवीं रिपोर्ट भी आई नेगेटिव,होगी डिस्चार्ज

एसएन मेडिकल कॉलेज के सीनियर माइक्रोबायोलॉजिस्ट संजीव चौधरी ने बताया कि ऐसी कोई स्टडी नहीं है कि मुंडन कराने से कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना आंख, नाक, मुंह के जरिए शरीर में पहुंचता है। संक्रमित जगह पर हाथ लगाने के बाद अगर आंख, नाक  या मुंह पर लगाया जाए तो खतरा होता है। हाथ सिर में लगाएं तो बाल में संक्रमण आ सकता है, लेकिन ऐसे तो हाथ शरीर में कई जगह लग ही जाता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अपना शहर

लखनऊः जमातियों का इलाज करने वाले डाॅक्टर में मिले कोरोना के लक्षण

Published

on

कैंट में पकड़े गए जमातियों ने प्राइवेट डाक्टर से कराया था इलाज

लखनऊ। तब्लीगी जमात के लोगों ने पूरे देश में कोरोना वायरस ऐसा फैलाया है कि अब स्थिति पर काबू पाना मुश्किल हो रहा है। उत्तर प्रदेश में दर्जनों जमातियों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इन सभी को विभिन्न अस्पतालों में क्वारंटाइन कर इलाज किया जा रहा है। इस बीच रविवार को लखनऊ में एक डाक्टर में भी कोरोना के संदिग्ध लक्षण दिखे हैं। बांग्ला बाजार निवासी डॉ. आसिफ खान की सदर में अलीजान मस्जिद के पीछे क्लीनिक है। पिछले दिनों अलीजान मस्जिद से 12 जमातियों को पकड़ा गया था। इन सभी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। जिसके बाद इन सभी को बलरामपुर और लोकबंधु अस्पताल में क्वारंटाइन किया गया है।

यह भी पढ़ें-राहतः नोएडा व लखनऊ में लाॅकडाउन के बीच बच्चों से फीस वसूली पर रोक

डॉ. आसिफ खान ने इनमें से कई जमातियों का इलाज किया था। इसी बीच डॉ. आसिफ भी संक्रमण की चपेट में आ गए। फिलहाल डाक्टर को बीकेटी के जीसीआरजी मेडिकल हॉस्पिटल में क्वारंटाइन किया गया है। डॉ आसिफ खान की पत्नी और बच्चों को एहतियातन घर पर ही आइसोलेट किया गया है। सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। इसके साथ डाॅक्टर के क्लीनिक और घर के साथ आस-पास के क्षेत्र को सैनिटाइज किया जा रहा है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 6, 2020, 2:12 pm
Mostly sunny
Mostly sunny
36°C
real feel: 37°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 18%
wind speed: 4 m/s WNW
wind gusts: 4 m/s
UV-Index: 6
sunrise: 5:22 am
sunset: 5:56 pm
 

Recent Posts

Trending