Connect with us

संस्कृति

राशिफल: जानिए 25 फरवरी का दिन आपके लिए कैसा रहेगा…

Published

on

राशि फलादेश मेष :-(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)
मन प्रसन्न रहेगा। आप आज अपने अंदर एक नई ऊर्जा को महसूस करेंगे। आज आपका आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। परिवार एवं भाइयों से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। माता के आशीर्वाद से आपको बहुत लाभ प्राप्त होगा। स्थायी संपत्ति के योग अच्छे बनते हैं। संतान पक्ष से आप संतुष्ट रहेंगे। जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग मिलेगा। जीवनसाथी के विचारों का सम्मान करें।

🐂 राशि फलादेश वृष :- (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)
शत्रुओं के द्वारा परेशान हो सकते हैं। जीवनसाथी की धर्म के प्रति रुचि रहेगी। जीवनसाथी की भावनाओं का सम्मान करें। घर के सभी सदस्य की बातों को ध्यान से सुनकर सही निर्णय लें। परिवार में तनाव का वातावरण रहेगा। मन में निराशा की अनुभूति होगी। दिमाग आज अस्थिर रहेगा। सोचे हुए कार्यों में विलंब हो सकता है। परिवार में किसी बात को लेकर मतभेद रहेगा।

👫 राशि फलादेश मिथुन :-(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)
परिवार में प्रसन्नता का वातावरण बना रहेगा। भाइयों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। हर क्षेत्र में सफलता मिलेगी। मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। कार्य करने में मन प्रसन्न रहेगा एवं दिमाग और शरीर में कार्य करने के लिए सक्रियता बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें: प्रशिक्षण कार्यक्रम ‘निष्ठा’ का समापन, 150 शिक्षकों ने हासिल किया प्रशिक्षण

🦀 राशि फलादेश कर्क :- (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। परंतु किसी परिस्थिति के कारण थोड़ा मन में भय भी रहेगा। कार्य करने में मन उदासीन रहेगा। शत्रु से परेशान रहेंगे। पेट संबंधी विकार हो सकता है। संतान के शिक्षा एवं आगामी भविष्य के लिए चिंतित रहेंगे।

🦁 राशि फलादेश सिंह :- (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
मन में आत्मविश्वास एवं प्रसन्नता रहेगी। सोचे हुए कार्य पूर्ण होंगे एवं सभी का सहयोग प्राप्त होगा। माता के आशीर्वाद से धन संपत्ति प्राप्त करने का अवसर प्राप्त होगा। संतान पक्ष से निश्चिंत रहेंगे। संतान को सफलता प्राप्त होगी।

👩🏻‍🦰 राशि फलादेश कन्या :- (ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
मन में तनाव एवं अस्थिरता रहेगी। इस कारण से कार्य करने में रुचि नहीं रहेगी। परिवार में किसी परेशानी को लेकर चिंतित रहेंगे। भाइयों का सहयोग रहेगा, परंतु विचारों में सामंजस्य बनाकर रखें। नहीं तो विवाद हो सकता है। माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहेंगे।

⚖ राशि फलादेश तुला :- (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
मन प्रसन्न रहेगा। कार्य करने की क्षमता बढ़ेगी। धन संबंधी कार्य पूर्ण होंगे। माता के आशीर्वाद से सफलता प्राप्त होगी। संतान की शिक्षा के बाद व्यवसाय शुरू होने के योग बनते है। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। भाग्य पूर्ण रूप से सहयोग प्रदान करेगा।

🦂 राशि फलादेश वृश्चिक :- (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)
मन में कुछ अशांति बनी रहेगी एवं कोई भी कार्य करने के प्रति उदासीनता रहेगी। धर्म के प्रति आस्था बढ़ेगी। परिवार में कोई कठिनाई आ सकती है। जिसके कारण मन दुखी रहेगा। संतान के भविष्य को लेकर चिंतित रहेंगे।

🏹 राशि फलादेश धनु :- (ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)
मन में प्रसन्नता रहेगी। मस्तिष्क युवा शरीर में सक्रियता बढ़ेगी। धन की स्थिति मजबूत होगी एवं आत्मविश्वास बना रहेगा। माता का आशीर्वाद प्राप्त होगा। मान सम्मान यश बढ़ेगा। संतान की उन्नति को लेकर चिंतित रहेंगे। जीवनसाथी का भाग्य मजबूत होने के कारण आपको कार्य में सफलता मिलेगी।

🐊 राशि फलादेश मकर :- (भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)
मन में तनाव एवं अंजाना सा भय बना रहेगा। कार्य करते हुए भी कार्य पूर्ण होने में संदेह रहेगा। शत्रुओं से कष्ट होगा। धन संबंधी चिंता लगी रहेगी। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। माता को रक्त संबंधी परेशानी हो सकती है। जीवनसाथी के ग्रह तेज है।

🏺 राशि फलादेश कुंभ :- (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
मन में सोचे गए कार्यों को पूर्ण करने के लिए प्रयास करेंगे और मन में आत्मविश्वास होने से कार्यों को अच्छी तरह से संपन्न कर पाएंगे। सक्रिय दिमाग होने से विचार सकारात्मक आएंगे एवं कार्य करने में भी स्फूर्ति बनी रहेगी। संतान की सफलता से सुख प्राप्त होगा।

🐡 राशि फलादेश मीन :- (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
मन में थोड़ा तनाव रहेगा। असमंजस की स्थिति रहेगी। सही समय पर निर्णय ना ले पाने से समय अधिक व्यतीत होगा। भाइयों के बीच मतभेद हो सकता है। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें एवं पिता का स्वास्थ्य का अधिक ध्यान रखें। संतान से वैचारिक मतभेद बने रहेंगे। गुप्त शत्रु आपको परेशान करेंगे ।http://www.satyodaya.com

संस्कृति

रामनवमी: घरों में पूजा हुई लेकिन बदल गया कन्यापूजन का तरीका, जानें

Published

on

नवरात्रों में मां की उपासना करने वाले शक्ति के उपासक हर बार कन्यापूजन व हवन के बाद व्रत पारण करते हैं। मगर इस बार कोरोना वायरस संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन ने यह विधान भी बदल दिया। घरों में हवन तो हुए, लेकिन अधिकांश लोगों ने कन्यापूजन इस बार नहीं किया। कई ऐसे लोग हैं जो कन्यापूजन में दिया जाने वाला दान मानवसेवा और जीवसेवा के लिए प्रदान किया।

प्रशासन ने की मदद :

रामपुर जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार बहुत से लोगों ने कंट्रोल रूम में फोन करके कन्यापूज के पैसा और खाना जरूरतमंदों को देने के लिए कहा। ऐसे लोगों के यहां टीम भेजी गई और सामान एकत्र किया गया। जिसे जरूरतमंदों को दे दिया गया।

इसे भी पढ़ें-रामनवमी: घरों में पूजा हुई लेकिन बदल गया कन्यापूजन का तरीका, जानें

लोकसेवा भी देवी पूजन से कम नहीं:

लखनऊ के अमीनाबाद की रहने वाली आभाचंद्रा श्रीवास्तव कहती हैं कि इस मुश्किल समय में लोगों की सेवा ही देवीपूजन है। उनके परिवार ने इस बार कन्यापूजन की जगह जरूरतमंदों तक भोजन व अन्य सामग्री पहुंचाई जाएगी।

राहतकोष में जाएगा दान: दिलकुशा निवासी डॉ. प्रीति वर्मा ने बताया कि वह कन्यापूजन की जगह इस बार प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करेंगी। इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि इस कठिन समय में आसपास कोई भूखा न सोए। इस सोच से देवी भी प्रसन्न होंगी।

जीवसेवा को बनाया ध्येय :

गोमतीनगर निवासी राखी किशोर ने बताया कि लॉकडाउन के कारण सड़क पर तमाम जानवर भूखे-प्यासे घूम रहे हैं और इन्हें भी मदद की जरूरत है। वह कहती हैं कि यह मातारानी का इशारा है कि इस बार नवरात्र के 9 दिन इन सभी की सेवा में गुजरे हैं। उनका मानना है कि कन्यापूजन की जगह अगर जानवरों और जरूरतमंदों की सेवा की जाए तो यही असली पूजन होगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

संस्कृति

चैत्र नवरात्रि: आठवें दिन होती है महागौरी की पूजा,लॉकडाउन में न करें कन्या पूजन

Published

on

दुर्गाष्टमी बुधवार को है। इस दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है। कई जगह दुर्गाष्टमी के दिन कन्या पूजन का विशेष महत्व है। कन्‍या पूजन पर गुलाबी रंग के वस्‍त्र पहनना शुभ माना जाता है। मां को हलवा-पूरी और चने का भोग लगाया जाता है। इसके अलावा रामनवमी पर भी कई जगह कन्या पूजन किया जाता है।  मां की कृपा से आलौकिक सिद्धियों की प्राप्ति होती है। लेकिन भारत में कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के चलते कन्या पूजन सही नहीं है। ज्योतिषियों का कहना है कि सुबह 9 से 10 बजे तक का समय कन्या पूजन के लिए अच्छा है, लेकिन इस समय कन्या पूजन न करना ही सही है। ऐसे में आप घर में ही पूजा कर मां को हलवा पूरी का भोग लगा लें।

इसे भी पढ़ें- 22 मार्च राशिफल: जानिए किन राशियों के लिए शुभ रहेगा आज का दिन

कन्याओं की जगह मां के नौ रुपों की प्रार्थना कर उन्ही को कन्या पूजन कर लें। देवी महागौरी अमोघ फलदायिनी हैं और इनकी पूजा से भक्तों के पूर्वसंचित पाप भी नष्ट हो जाते हैं। महागौरी का पूजन-अर्चन, उपासना-आराधना कल्याणकारी है। इनकी कृपा से भक्तों को अलौकिक सिद्धियां भी प्राप्त होती हैं। कहते हैं कि जो स्त्री मां की पूजा भक्ति भाव सहित करती है उसके सुहाग की रक्षा स्वयं देवी महागौरी करती हैं।

महागौरी को लगाएं नारियल का भोग : माता महागौरी को नारियल का भोग अत्यधिक प्रिय है। यही वजह है कि माता रानी को नारियल का भोग लगाया जाता है। नारियल का भोग लगाने से घर में सुख एवं समृद्धि का आगमन होता है।

व्रत कथा : पौराणिक कथाओं के अनुसार महागौरी ने भगवान शिव को पति रूप में प्राप्त करने के लिए कठोर तपस्या की थी। इसी कारण से इनका शरीर काला पड़ गया लेकिन तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने इनके शरीर को गंगा के पवित्र जल से धोकर कांतिमय बना दिया। उनका रूप गौर वर्ण का हो गया, इसीलिए यह महागौरी कहलाईं।

सिंह को बनाया अपना वाहन : एक और मान्यता के अनुसार एक भूखा सिंह भोजन की तलाश में वहां पहुंचा जहां देवी उमा तपस्या कर रहीं थीं। देवी को देखकर सिंह की भूख बढ़ गई, लेकिन वह देवी के तपस्या से उठने की प्रतीक्षा करते हुए वहीं बैठ गया। इस प्रतीक्षा में वह काफी कमजोर हो गया। देवी जब तप से उठीं तो सिंह की दशा देखकर उन्हें उस पर बहुत दया आ गई। उन्होंने उसे भी अपना वाहन बना लिया क्योंकि वह उनकी तपस्या पूरी होने की प्रतीक्षा में स्वयं भी तप कर बैठा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

देश

चैत्र नवरात्रि 2020: चौथे दिन होगी कूष्मांडा देवी की पूजा,शुभ मुहूर्त

Published

on

लखनऊ। मां दुर्गा के चौथे स्वरूप का नाम कूष्माण्डा है। अपनी मंद मुस्कान द्वारा अंड अर्थात ब्रह्मांड को उत्पन्न करने के कारण इन्हें कूष्माण्डा देवी के नाम से अभिहित किया गया है। अत: यही सृष्टि की आदि स्वरूपा और आदि शक्ति हैं। इनका निवास सूर्यलोक में है। इन्हीं के तेज और प्रकाश से दसों दिशाएं प्रकाशित हो रही हैं।

ये अष्टभुजा देवी के नाम से भी विख्यात हैं। संस्कृत भाषा में कूष्माण्ड कुम्हडे़ को कहते हैं। बलियों में कुम्हड़े की बलि इन्हें सर्वाधिक प्रिय है। मां कूष्माण्डा की उपासना से भक्तों के समस्त रोग-शोक विनष्ट हो जाते हैं। मां कूष्माण्डा अत्यल्प सेवा और भक्ति से प्रसन्न होने वाली हैं। नवरात्र पूजन की चौथे दिन कूष्माण्डा देवी के स्वरूप की उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन अनाहत चक्र में स्थित होता है।

इसे भी पढ़ें- 28 मार्च राशिफल: इन राशियों के लोगों को मिलेगा विशेष लाभ

मां कूष्मांडा पूजा मंत्र-
करोतु सा नः शुभहेतुरीश्वरी
शुभानि भद्राण्यभिहन्दु चापदः।

लॉकडाउन में ऐसे हो रही पूजाः
चैत्र नवरात्रि का चौथा दिन आज यानी शनिवार को है। नवरात्र के चतुर्थी तिथि को मां दुर्गा के कूष्मांडा स्वरूप की पूजा होती है। माता कूष्मांडा भक्तों को रोग, शोक और विनाश से मुक्त कर आयु, यश, बल और बुद्धि प्रदान करती हैं। चैत नवरात्र पर बंद मंदिरों के अंदर मां की उपासना हो रही है। कुछ भक्त आने घरों में कलश स्थापित कर मां की अराधना कर रहे हैं। शहर के शक्ति मंदिर, खड़ेश्वरी मंदिर सहित प्रत्येक मुहल्ले के देवी मंदिरों में घट स्थापित की गई है। लेकिल लॉकडाउन के कारण भक्तों को प्रवेश बंद रखा गया है। अंदर पुरोहित मां के स्वरूपों की पूजा आरती और भोग अर्पण कर रहे हैं। शुक्रवार को मां के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा की गई।

शक्ति मंदिर जरूरतमंदों को कराएगा भोजन
कारोना से आई विपदा को देखते हुए धनबाद (झारखंड) में शक्ति मंदिर कमेटी ने निर्णय लिया है कि शनिवार से प्रत्येक दिन जब तक लॉकडाउन है जरूरतमंदों के लिये एक सौ पैकेट भोजन की व्यवस्था की जाएगी। यह जानकारी देते हुए मंदिर कमेटी के सुरेंद्र अरोड़ा ने कहा कि बैंक मोड़ थाने के सहयोग से जरूरतमंद लोगों तक वो पैकट पहुंचाये जाएंगे। पैकेट में एक दिन खिचड़ी आचार और एक दिन पूड़ी व आलू की सब्जी होगी। इस कार्य के लिए मंदिर कमेटी के अध्यक्ष एसपी सोंधी, उपाध्यक्ष राजीव सचदेव, सचिव अरुण भंडारी, संयुक्त सचिव सुरेंद्र अरोड़ा, कोषाध्यक्ष विपिन अरोड़ा, साकेत साहनी, सुरेन्द्र ठक्कर, अशोक भसीन, ब्रजेश मिश्रा, जेडी, गौरव अरोड़ा सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

April 2, 2020, 1:27 pm
Sunny
Sunny
32°C
real feel: 35°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 31%
wind speed: 3 m/s NW
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 8
sunrise: 5:26 am
sunset: 5:54 pm
 

Recent Posts

Trending