Connect with us

संस्कृति

शक्ति क्लब ने मनाई हरियाली तीज, नीता गोयल के सिर सजा तीज क्वीन का ताज

Published

on

लखनऊ। शक्ति क्लब (इंदिरा नगर) ने शुक्रवार को धूमधाम से हरियाली तीज मनाई। इस मौके पर शक्ति क्लब की महिलाओं ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में डांस और सिंगिंग की प्रतियोगिताएं हुईं। जिसमें कविता शुक्ला, जयभट्ट, सुधा कटियार, भावना श्रीवास्तव ने बेहतरीन डांस प्रस्तुत किया।

जबकि सरिता कुमार, पूजा सिंह, सुधा त्रिपाठी, सुनीता श्रीवास्तव ने सावन पर अपने सुरीले गीतों से सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम में तीज क्वीन प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया, जिसमें 80 महिलाओं ने प्रतिभाग किया। यह प्रतियोगिता पांच चरणों में संपन्न हुई। तीज क्वीन का ताज नीता गोयल के सिर पर सजा जबकि सुधा त्रिपाठी फर्स्ट रनर अप और आभा शर्मा सेकंड रनर अप रहीं।

ये भी पढ़ें: रक्षाबंधन पर अधिक से अधिक बसों का होगा संचालन…

कार्यक्रम का संचालन महासचिव मंजू शंकर ने किया। अध्यक्ष विजय लक्ष्मी रस्तोगी ने विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए। इस रंगारंग कार्यक्रम में विद्या वर्मा, नीता गोयल, सुधा सेंगर, सुईता, रीता, भवन, गीता, वीणा अग्रवाल, सरिता कुमार, सुनीता श्रीवास्तव की सहभागिता रही। हरियाली तीज सुहाग का पर्व है, इसलिए सभी सुहागनों को सुहाग की पिटारी बांटी गई। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में मंजू शंकर, कविता शुक्ला, विजय लक्ष्मी, जयश्री उपस्थित रहीं। http://www.satyoday.com

देश

शताब्दी में पहली बार आएगा नववर्ष 2020 का ऐसा कैलेंडर

Published

on

लखनऊ: हमारे सुंदर सपनों एवं भावी संकल्पों को संजोये हुए नववर्ष हमेशा एक नए कलेवर के कैलेंडर के रूप में हमारे सम्मुख आता है। तारीखों एवं दिनों के नवीन संयोगो को समाहित किए हुआ यह नया बहुप्रतीक्षित कैलेंडर अपने आप में कई विशेषताओं से युक्त होता है। इसकी यही विशेषताएं हमारी जिज्ञासा को बढ़ाती हैं कि किस तारीख को कौन सा दिन पड़ेगा। यूं तो कैलेंडर वर्ष दर वर्ष आते-जाते रहते हैं। लेकिन कैलेंडर के आने-जाने का अपना एक नियम भी होता है। नववर्ष 2020 एक लीप वर्ष है, जिससे इस नववर्ष के कैलेंडर की विशेषताएं और भी बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़ें: राशिफल: जानिए 30 दिसंबर का दिन आपके लिए कैसा रहेगा…

अपनी इन्हीं विशेषताओं को संजोये हुए नववर्ष 2020 का कैलेंडर इस शताब्दी में पहली बार आया है। इससे पूर्व यह कैलेंडर 28 वर्ष पहले पिछली शताब्दी में वर्ष 1992 में आया था। इस शताब्दी में भी यह कैलेंडर पुनः 28 वर्षों बाद 2048 व 2076 में फिर से आएगा। इस तरह इस शताब्दी में इस कैलेंडर के दोहराने की प्रक्रिया कुल तीन बार ही आएगी। विगत शताब्दी में यह कैलेंडर वर्ष 1908, 1936, 1964 व 1992 में भी कुल चार बार आया था। एक शताब्दी में किसी सामान्य वर्ष के कैलेंडर के दोहराने की प्रक्रिया अधिकतम ग्यारह बार ही आती है। जबकि एक लिपि वर्ष के कैलेंडर के दोहराने की यह प्रक्रिया एक शताब्दी में तीन या चार बार ही आती है। किन्तु, लीप वर्ष के कैलेंडर की दोहराने की प्रक्रिया एक शताब्दी में 28 वर्षों बाद ही आती है। किसी कैलेंडर के दोहराने की प्रक्रिया पूर्णतया गणितीय नियमो पर आधारित होती है।


नववर्ष 2020 के कैलेंडर पर आधारित ऐसे ज्ञानवर्धक व रोचक तथ्यों को लखनऊ पब्लिक स्कूल, लखीमपुर खीरी के गणित अध्यापक श्री अतुल सक्सेना ने अपनी स्वनिर्मित सैकड़ों वर्षों के लिए अंक-कोड कैलेंडर की तालिका के विश्लेषण के आधार पर प्रस्तुत किया है। किसी भी वर्ष के कैलेंडर को मुँह- जुबानी भी याद रखा जा सकता है। नववर्ष 2020 के लिए अंक-कोड 256240251361 है। यह अंक क्रमशः जनवरी से दिसंबर तक के सभी बारह महीनों के लिए बारह कोड हैं। किसी तारीख में उसके माह का कोड जोड़कर 7 से भाग करने पर जो अंक आता है, वही अंक उस दिन कोड होता है। शून्य से छः तक के अंक क्रमशः दिन रविवार से शनिवार तक को दर्शाते है। जैसे 26 जनवरी 2020 का दिन जानने के लिए 26 में जनवरी के माह अंक कोड 2 को जोड़ने पर आए योगफल 28 को 7 से भाग करते हैं, तो भागफल 4 और शेषफल ‘शून्य’ आता है। शेषफल ‘शून्य’ का अंक ‘रविवार’ का दिन होने का बोध कराता है। इसी प्रकार 2 जून 2020 का दिन ज्ञात करने के लिए 2 अंक में जून का माह-कोड 0 जोड़ने पर प्राप्त योगफल 2 को 7 से भाग करने पर भागफल 0 और शेषफल 2 आएगा। शेषफल 2 का अंक दिन ‘मंगलवार’ का होना बताता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

आपका दिन शुभ हो

सूर्य ग्रहण: जानिए किन राशियों के लिए खास है आज का दिन

Published

on

आज चंद्रमा का संचार दिन रात धनु राशि में हो रहा है। वहीं आज सुबह 8 बजे से 1 बजकर 36 मिनट तक ग्रहण भी लग रहा है। ग्रहण के दौरान 6 ग्रह धनु राशि में होंगे। इसका आपकी राशि पर क्या असर होगा, देखें क्या कहते हैं आपके सितारे…

मेष: आज आपकी धार्मिक प्रवृत्ति बढ़ेगी। समाज में मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी। विरोधी परास्त होंगे, यात्रा लाभकारी रहेगी। परिजनों तथा मित्रों के साथ समारोह में उपस्थित रह सकते हैं। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। नए कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी और आप उन्हें प्रारंभ कर पाएंगे। मित्रों की तरफ से शुभ समाचार मिलेंगे। भाग्य 70% साथ देगा।

वृषभ: आज का दिन मिश्रित फलदायी होगा। आज परिश्रम अधिक और लाभ कम रहेगा। कार्यों में बाधाएं आ सकती हैं। यात्रा न करें और वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। कार्यक्षेत्र में वाद-विवाद के कारण तनाव हो सकता है। परिजनों के साथ बैठकर महत्वपूर्ण चर्चा करेंगे। विद्यार्थियों को लाभ प्राप्त होगा। भाग्य 60% साथ देगा।

मिथुन: अगर कोई नया रोजगार शुरू करने की सोच रहे हैं तो अवश्य करें, सफलता मिलेगी। अविवाहितों के विवाह की बात आगे बढ़ेगी। पराक्रम में वृद्धि होगी। नए मित्र भी बनेंगे। व्यापार-व्यवसाय और कार्यक्षेत्र में लाभ के योग बन रहे हैं। उच्चस्तरीय एवं सहयोगी व्यक्तियों से मुलाकात लाभकारी रहेगी। भाग्य 72% साथ देगा।

यह भी पढ़ें: 26 दिसंबर को लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें सूतक का समय

कर्क: आज संघर्ष के बाद सफलता अवश्य मिलेगी। कोई नया ऑर्डर अथवा कॉन्ट्रैक्ट मिलने की संभावना है। शत्रु बलहीन रहेंगे। उच्च अधिकारियों की शुभ दृष्टि आपका उत्साह बढ़ाएगी। नौकरीपेशा लोगों को पदाधिकारियों तथा सरकार की तरफ से सहयोग मिलेगा। भाई-बहनों के साथ आनंदपूर्वक समय व्यतीत होगा। भाग्य 80% साथ देगा।

सिंह: कारोबार सामान्य रहेगा। मनोरंजन कार्य पर खर्च हो सकता है। आज आपको अपनी प्रतिभा का लाभ मिलेगा और आपकी पहचान बनेगी। नई योजनाएं लाभ देंगी। बिगड़े कार्य बनने लगेंगे और धर्म-कर्म में रुचि बढ़ेगी। मान-प्रतिष्ठा का लाभ मिलेगा। मित्रों के साथ आप खुशहाल रहेंगे। भाई-बंधुओं से मेलजोल बना रहेगा। भाग्य 72% साथ देगा।

कन्या: आज का दिन मध्यम फलदायी होगा। आज कोई नया कार्य न करें। जोखिमपूर्ण निवेश करने से बचें। पूरे दिन किसी से वाद-विवाद में न पड़ें। क्रोध पर नियंत्रण रखें। किसी रमणीय स्थल पर पर्यटन का आयोजन होगा। परिजनों के लिए खर्च करने का प्रसंग उपस्थित हो सकता है। भाग्य 65% साथ देगा।

तुला: आज पराक्रम में वृद्धि होगी। आपका मनोबल बढ़ेगा और कारोबार में बेहतरी आएगी। नए संपर्क बनेंगे और लाभकारी रहेंगे। भाइयों के बीच प्रेम और सहयोग बढ़ेगा। नए कार्यों में सफलता प्राप्त होने की संभावना है। पारिवारिक जीवन के विषयों को लेकर चिंतित हो सकते हैं। कहीं से धन लाभ हो सकता है। भाग्य 75% साथ देगा।

वृश्चिक: आज का दिन मिश्रित फलदायी होगा। लेन-देन के कार्यों में सावधान रहें। धन निवेश करते समय विशेष सावधानी बरतें। आज किसी को उधार न दें, क्योंकि आज दिए हुए धन के वापस आने की आशंका कम है। महत्‍वपूर्ण दस्तावेजों को आज बाहर निकालने से बचना चाहिए। भाग्य 59% साथ देगा।

धनु: आज प्रयास अथवा स्वयं कोशिश करने से प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय में उन्नति के अवसर दिखाई दे रहे हैं। सभी का सहयोग मिलेगा। कार्यों में सफलता आज अवश्य प्राप्त होगी। कलाकार एवं कारीगरों को उनकी कला का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। भाग्य 81% साथ देगा।

मकर: आज का दिन मध्यम फलदायी होगा। खर्च की अधिकता रहेगी। किसी न किसी कारण से अनावश्यक खर्च हो सकता है। व्यर्थ की यात्रा भी हो सकती है। दैनिक कार्य में विघ्न आ सकते हैं। स्त्री मित्रों के पीछे धन खर्च हो सकता है। विद्यार्थियों के लिए दिन अच्छा रहेगा। भाग्य 60% साथ देगा।

कुंभ: आज आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी। धन लाभ होगा। जोखिमपूर्ण निवेश करें तो लाभ अवश्य मिलेगा। ईश्वर की प्रार्थना तथा जप करने से राहत महसूस होगी। साथियों से सुख एवं आनंद की प्राप्ति होगी। मित्रों व स्वजनों से मुलाकात हो सकती है। किसी महत्वपूर्ण काम में सफलता मिलेगी। आर्थिक लाभ एवं भाग्यवृद्धि के योग हैं। भाग्य 78% साथ देगा।

मीन: आज आपका सितारा अनुकूल है। लाभ होगा और सफलता प्राप्त होगी। कामकाज में आ रहीं बाधाएं दूर होंगी। गृहस्थ जीवन में मधुरता बनी रहेगी। कार्यालय तथा व्यावसायिक स्थल पर आपकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। प्रमोशन के योग हैं। गृहस्थ जीवन में आनंद प्राप्त होगा। मित्रों के साथ मुलाकात होगी। भाग्य 70% साथ देगा।– (ज्योतिषाचार्यः आशुतोष वाष्डेय)http://www.satyodaya.com

Continue Reading

संस्कृति

26 दिसंबर को लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें सूतक का समय

Published

on

साल का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर 2019 को लगेगा। जब भी ग्रहण की बात होती है। तो पूछा जाता है कि ग्रहण कब है, तो आपको बता दें कि साल 2019 का अंतिम सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर के दिन होगा। यह भारत के कई हिस्सों में दिखेगा। सूर्य ग्रहण देश के दक्षिणी भाग में दिखेगा। अब बात करते हैं कि सूर्य ग्रहण किस समय दिखेगा या सूर्यग्रहण का समय क्या होगा। भारतीय मानक समय अनुसार आंशिक सूर्यग्रहण सुबह 8 बजे शुरू होगा। सूर्य ग्रहण की वलयाकार अवस्था दोपहर 12 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगी, जबकि ग्रहण की आंशिक अवस्था दोपहर एक बजकर 36 मिनट पर समाप्त होगी।


यह भी पढ़ें:महासंयोग लेकर आ रहा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानिए आपकी राशि पर क्या होगा असर

सूर्य ग्रहण में सूतक काल
सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई देने के कारण सूतक का असर रहेगा। सूतक का समय ग्रहण के एक दिन पहले ही शुरू हो जाएगा। सूतक 25 दिसंबर की शाम 5:33 मिनट से शुरू होगा और अगले दिन सुबह 10:57 पर सूर्य ग्रहण की समाप्ति के बाद खत्म होगा। ग्रहण में सूतक का विशेष महत्व होता है। हिंदू धर्म में सूतक लगने पर कई तरह के कार्यो को नहीं किया जा सकता। सूतक के समय को अशुभ समय माना गया है।

इन जगहों पर दिखाई देगा सूर्य ग्रहण

26 दिसंबर को लगने वाला ग्रहण भारत समेत यूरोप, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, पूर्वी अफ्रीका में दिखाई देगा। 

क्या है ‘सूर्य ग्रहण’?

सूर्य की परिक्रमा पृथ्वी करती है और चन्द्रमा पृथ्वी की परिक्रमा करता ह। परिक्रमा के दौरान एक दूसरे के बीच में ये आते जाते रहते हैं। जब सूर्य और पृथ्वी के बीच चन्द्रमा आ जाए तो इसे सूर्य ग्रहण कहते हैं। इसका असर पृथ्वी और पृथ्वी के लोगों पर पड़ता है। आइए जानते हैं इस दौरान आपको किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 11, 2020, 10:11 pm
Fog
Fog
11°C
real feel: 12°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 93%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:02 pm
 

Recent Posts

Trending