Connect with us

वीडियो

कॉमेडी और इमोशन से भरपूर है इरफान खान और करीना कपूर की अंग्रेजी मीडियम

Published

on

फिल्म : अंग्रेजी मीडियम
कास्ट: इरफान खान, राधिका मदन, करीना कपूर ,दीपक डोबरियाल, डिंपल कपाड़िया, रणवीर शोरे ,पंकज त्रिपाठी
निर्देशक: होमी अदजानिया

कैंसर को मात देकर एक बार फिर बड़े पर्दे पर इरफ़ान खान ने वापसी की है। इससे पहले उनकी फिल्म हिंदी मीडियम दर्शको को काफी पसंद आई थी। इस बार वो अंग्रेजी मीडियम के साथ दर्शको के दिल में छाप छोड़ने आ गए है इस कहानी का हिंदी मीडियम की कहानी से कोई लेना देना नहीं है। लेकिन दोनों फिल्मों में इरफान और दीपक डोबरियाल हैं, लेकिन उनके किरदार अलग है। अब वे दिल्ली से उदयपुर पहुंच गए हैं। हालांकि दोनों फिल्मों का केंद्रीय विषय शिक्षा ही है, लेकिन कहानी और किरदार बदल गए हैं।

कहानी …
चंपक बंसल (इरफान) उदयपुर में अपनी बेटी तारिका (राधिका मदान) उर्फ तरू के साथ रहता है। उसकी मिठाइयों की खानदानी दुकान है। गोपी (दीपक डोबरियाल) उसका कजिन है। चम्पक और तरु बहुत लड़ाई करते है लेकिन दोनों एक दूसरे के बिना रह भी नहीं पाते है इनका एक दोस्त गज्जू (कीकू शारदा ) तीनों की केमिस्ट्री बहुत मजेदार है। तरु लंदन जाकर पढ़ाई करना चाहती है। उसे स्कूल की तरफ से लंदन की ट्रूफोर्ड यूनिवर्सिटी में जाकर पढ़ने का चांस मिलता है, लेकिन चंपक की एक बेवकूफी से वह चांस हाथ से चला जाता है। तरु को लगता है कि चंपक ने ऐसा जान – बूझकर किया है, क्योंकि वह नहीं चाहता कि तरु उससे दूर जाए। चंपक उससे वादा करता है कि वह उसे किसी कीमत पर पढ़ने के लिए लंदन भेजेगा। लेकिन उसके लिए बहुत पैसों की जरूरत पड़ती है। चंपक अपना सब कुछ दांव पर लगा देता है।

चंपक, गोपी अपने दोस्त बबलू (रणवीर शौरी) के झांसे में आकर तरु के साथ लंदन पहुंच जाते हैं। लेकिन चंपक और गोपी के अंग्रेजी न जानने की वजह से इमिग्रेशन अधिकारियों को ऐसी गलतफहमी होती है कि वे दोनों को ब्लैकलिस्ट कर वापस भारत भेज देते हैं। तरु लंदन में अकेली पड़ जाती है। गज्जू के एक कजिन टोनी (पंकज त्रिपाठी) की मदद से दोनों किसी तरह फिर लंदन पहुंच जाते हैं। वहां उनकी मुलाकात पुलिस ऑफिसर नैना (करीना कपूर) और उसकी मां मिसेज कोहली (डिंपल कपाड़िया) से होती है।http://www.satyodaya.com

अपना शहर

लखनऊः दो महीने बाद खुला हजरतगंज मार्केट, दुकानों पर पसरा सन्नाटा

Published

on

सामान्य दिनों में लोगों से भरे रहने वाले बाजार में नहीं दिख रहे ग्राहक

लखनऊ। लाॅकडाउन-4 में मिली राहत के क्रम में करीब 60 दिनों बाद गुरुवार (21 मई) को राजधानी के हजरतगंज मार्केट में कुछ दुकानें खुलीं। सामान्य दिनों में दिन-रात गुलजार रहने वाले हजरतगंज बाजार पर महामारी का साफ असर दिखा। लेकिन लाॅकडाउन की सख्ती और तीखी धूप के चलते बाजार में नाममात्र के ही लोग ही दिखे। दुकानों पर पर सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जा रहा है। इक्का-दुक्का जो कस्टमर दुकान पर आ रहे हैं, उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। दुकान के बाहर तैनात गार्ड यह जिम्मेदारी निभा रहे हैं। लोगों को हैंड सैनिटाइजेशन भी कराया जा रहा है।

रेस्टोरेंट और मिठाई की दुकानें तो खुली हैं, लेकिन यहां कोई ग्राहक नहीं दिख रहा है। जिला प्रशासन ने इन दुकानों को केवल होम डिलीवरी की ही छूट दी है। ऐसा ही हाल शहर की अन्य बाजारों का भी है। सीमित दुकानें खुली हैं लेकिन महामारी का असर हर कहीं दिख रहा है। सड़कों पर ज्यादातर मुसाफिरों की ही भीड़ है।

हजरतगंज के नरही में नान्हू उर्फ शाकिर अली की टेलरिंग की दुकान भी करीब दो महीने बाद खुली है। दसको पुरानी यह दुकान पहली बार इतने लंबे समय तक बन्द रही है। अब साफ-सफाई के साथ दुकान पर काम शुरू किया गया है। दुकान मालिक ने बताया कि बिना मास्क के किसी को भी दुकान में आने की इजाजत नही हैं। इस दुकान से दस लोगों का परिवार चलता है। लॉक डाउन के दौरान दुकान बंद हुई तो मुसीबतों ने घेर लिया। अब जाकर कुछ राहत मिली है। अभी दुकान का आधा शटर ही खोला है। दुकान खुलने की खुशी तो है, लेकिन मन में भय भी है कि न जाने कब फिर बंद करना पड़ जाए।

लखनऊ ऑड-ईवन फार्मूले पर खुलेंगी दुकानें

लाॅकडाउन-4 में कोरोना मुक्त क्षेत्रों को काफी हद तक राहत मिल चुकी है। हालांकि इस कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, या यूं कहें कि महामारी का प्रकोप समय के साथ बढ.ता जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी लाॅकडाउन-4 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी की हैं। जिसके तहत कंटेनमेंट व बफर जोन को छोड़कर अन्य स्थानों पर एकल दुकानों व बाजारों को खोलने की अनुमति दे दी है। राजधानी लखनऊ में भी 21 मई से ऑड-ईवन फार्मूले के आधार पर दुकानें व बाजार खोलने की अनुमति दी गयी है। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने दुकानें खोलने से पहले अनिवार्य रूप से सैनिटाइजेशन कराने की चेतावनी दी है।

यह भी पढ़ें-अलविदा और ईद को लेकर JCP संग मौलाना ख़ालिद रशीद फरंगी महली ने की मीटिंग

बुधवार को डीएम व नगर आयुक्त ने खुद हजरतगंज मार्केट को सैनिटाइज कराया था। डीएम के निर्देशानुसार शहर की सभी दुकानें सप्ताह में एक दिन अनिवार्य रूप से बंद रहेंगी। इस दिन सभी बाजारों व दुकानों का सैनिटाइजेशन होगा। रोड के एक तरफ वाली दुकानें जिस दिन खुलेंगी, उस दिन रोड के दूसरी तरफ वाली दुकानें बंद रहेंगी। अगले दिन रोड के दूसरी तरफ वाली दुकानें खुलेंगी। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

प्रदेश

लखनऊ में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, 50 हजार का इनामी गिरफ्तार

Published

on

आरोपी के खिलाफ अंबेडकर नगर में बैंक लूटने और हुसैनगंज में हत्या का मुकदमा दर्ज

लखनऊ। लॉकडाउन में जहां चप्पे चप्पे पर पुलिस लोगों पर नजर टिकाये हुए है। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 50 हजार का इनामी बदमाश शीबू उर्फ़ पिंटू गुरुवार सुबह चारबाग में पुलिस से हुई मुठभेड़ में घायल हो गया। उसके पैर में गोली लगी है। शीबू याहियागंज चौक में पान मसाला एजेन्सी में हत्या कर लूट में शामिल था। इसके अलावा वह एचडीएफसी बैंक लूटकांड में भी था। फिलहाल शीबू को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि शीबू पर अम्बेडकर नगर के टांडा से 50 हजार रुपए का इनाम था। उसके चारबाग में होने की सूचना पर एसीपी और हुसैनगंज इंस्पेक्टर अंजनी पांडेय टीम के साथ पहुंचे थे, जहां बदमाश से मुठभेड़ हो गई। शीबू उर्फ़ काना पहले जे सी बोस मार्ग, चाइना बाजार चौकी के पास, केसरबाग में रहता था। इस समय उसका परिवार बडा पार्क के पास, पुराना किला, हुसैनगंज में रह रहा था।

शीबू के खिलाफ अंबेडकर नगर का बैंक लूटने और हुसैनगंज में हत्या का मुकदमा दर्ज है। मुठभेड़ की सूचना मिलते ही डीसीपी दिनेश सिंह और एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा मौके पर पहुंच गए। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें-अलविदा और ईद को लेकर JCP संग मौलाना ख़ालिद रशीद फरंगी महली ने की मीटिंग

पुरानी सरिया मिल ऐशबाग तिलकनगर निवासी राम निवास अग्रवाल की नेहरू क्रास चौराहे पर फर्म है। फर्म से पान मसाला समेत अन्य का थोक कारोबार किया जाता है। 20 फरवरी को दोपहर में दुकान पर राम निवासी, उनके भाई लालता प्रसाद, श्रीराम, खेमचंद्र व उनका बेटा रितेश बैठकर हिसाब करने जा रहे थे। इसी बीच हेलमेट और नकाब पहने चार बदमाशों ने लूटपाट के बाद दुकान में मौजूद नौकर कन्हई खेड़ा कैंपवेल रोड निवासी सुभाष को गोली मार दी थी। सुभाष दुकान में रखा स्टील का डस्टबिन लेकर बदमाशों को मारने दौड़ा था। गोली लगने से सुभाष लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा और हमलावर भाग निकले। सुभाष को स्थानीय लोग ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Featured

जमानत मिलने के बाद फिर गिरफ्तार हुए कांग्रेस नेता अजय लल्लू, 14 दिन के लिए भेजे गए जेल

Published

on

लखनऊ। कोरोना काल के बीच रजनीतिक उठापटक जारी है। साथ ही बस मामला अब रजनीतिक तूल पकड़ चुका है। आगरा में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ़्तारी के बाद लखनऊ पुलिस देर रात अजय लल्लू को राजधानी लेकर पहुंची। इस दौरान पुलिस ने अजय लल्लू का मेडिकल चेकअप कराया और कोरोना जांच करवाई। इसके बाद सीधे लखनऊ पुलिस ने न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने अजय लल्लू को पेश किया। जहां उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

अजय लल्लू को लखनऊ लाने की सूचना पुलिस को पहले से ही थी। इसके चलते हजरतगंज से लेकर महानगर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई। पुलिस ने अजय कुमार लल्लू का आगरा से सीधे महानगर स्थित सिविल में मेडिकल चेकअप कराया और कोरोना जांच करवाई। इसके बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने उन्हे पेश किया गया, जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। अजय लल्लू के लखनऊ लाने की सूचना जैसे ही पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को मिली वाह मिलने पहुंच गए। हालांकि भारी पुलिस बल होने के चलते कोई अजय कुमार लल्लू से नही मिल सका।

यह भी पढ़ें: खुशखबरी! एक जून से चलने वाली ट्रेनों की आज से कीजिये बुकिंग, देखें पूरी लिस्ट

इस दौरान कांग्रेस विधान मंडल दल कि नेता आराधना मिश्रा अजय कुमार लल्लू के वकील सहित कांग्रेसी न्यायिक मजिस्ट्रेट क आवास पहुंचे। आराधना मिश्रा ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है। गिरफ़्तारी के बाद से प्रदेश अध्यक्ष से बात तक नही हो सकी। इसके बाद सीधे आराधना मिश्रा सहित कई कांग्रेसी नेता तेलीबाग स्थित सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस पहुंच गए, जहां कार्यकर्ताओं ने देर रात तक प्रदर्शन कर नारेबाजी की।

दरसल कांग्रेस की ओर से बॉर्डर पर खड़े श्रमिकों को छोड़ने के लिये एक हज़ार बस का इंतेज़ाम करने का दावा किया था। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की ओर से लगातार राज्य सरकार को पत्र लिख कर बस से श्रमिको को छोड़ने कि परमीशन मांगी गई थी। कई दिनों तक दोनो तरफ़ से लेटर बाज़ी का दौर चलता रहा। वही प्रियंका गांधी से बस का विवरण सरकार से मांगा गया। इस पर प्रियंका गांधी के निजी सचिव की ओर से बसों का विवरण दिया। जिसमें कई बसों की जगह एंबुलेंस और ऑटो के नंबर थे। जब इसकी जांच की गई तो जानकारी ग़लत देने की बात सामने आई। आरटीओ लखनऊ की ओर से मंगलवार रात हजरतगंज थाने में प्रियंका गांधी के निजी सचिव, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अन्य के खिलाफ 420 के साथ कई अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया। लखनऊ पुलिस ने आगरा से अजय लल्लू को गिरफ्तार किया और देर रात उनका मेडिकल चेकअप कराने के बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। जहां से उन्हे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 22, 2020, 1:18 am
Mostly clear
Mostly clear
27°C
real feel: 27°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 43%
wind speed: 0 m/s NW
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:21 pm
 

Recent Posts

Trending