Connect with us

लखनऊ लाइव

ड्यूटी पर मुस्तैदी छोड़ लूडो में दिलचस्पी दिखा रहे पुलिसकर्मी, कहां से सुधरे शहर का यातायात

Published

on

लखनऊ। शहर में यातायात व्यवस्था की क्या हालत है यह शहर का बच्चा-बच्चा भी जनता है। जाम से जूझना राजधानी के लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुका है। शहरियों को इस समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए अब तक कई योजनाएं भी बन चुकी हैं और यातायात व्यवस्था में बड़े परिवर्तन भी किए जा चुके हैं। लेकिन फिर भी स्थिति वही…’ढाक के तीन पात’
इस समय भी लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी अभियान चला रहे हैं। लेकिन पुलिस और यातायात विभाग ही एसएसपी की इस मुहिम की हवा निकालने में लगा हुआ है। ऐसा ही एक वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि शहर के पाॅलीटेक्निक जैसे व्यस्त चौराहे पर तैनात यातायात पुलिस कर्मी मोबाइल पर लूडो खेलने में व्यवस्त हैं और पुलिस विभाग का एक इंस्पेक्टर दर्शक दीर्घा में बैठा खेल का आनंद ले रहा है।
अब पाॅलीटेक्निक जैसे व्यस्त चौराहों पर तैनात यातायात और पुलिस के जवान अपनी ड्यूटी पर मुस्तैदी के बजाय लूडो में दिलचस्पी दिखाएंगे तो राजधानी का यातायात तो सुधरने से रहा। कप्तान साहब चाहे जितना माथा पटक डालें।
बता दें कि वायरल वीडियो पॉलिटेक्निक चैराहे के ट्रैफिक बूथ का है। जहाँ एसआईटी अरुण कुमार सिंह का हमराही अविनिन्दर तोमर और उनका दिवान उन्ही के सामने यातायात व्यवस्था को छोड.कर लूडो खेलने में व्यस्थ है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लखनऊ लाइव

नगर निगम कर्मचारी साफ-सफाई को लेकर अधिकारियों के आदेश की उड़ा रहे धज्जियां…

Published

on

लखनऊ। राजधानी में आये दिन नगर निगम की लापरवाही देखने को मिलती रहती है जिससे आये दिन लोगों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। ऐसी ही एक लापरवाही यहियागंज नगर निगम वार्ड-2 में नाले का मलबा निकाले हुए एक हफ्ते से अधिक हो गया है लेकिन उस पर नगर निगम ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिसके कारण पुराने लखनऊ में स्थानिय निवासियों को संक्रामक बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही बताया जा रहा है कि जिस जगह यह गंदगी का अम्बार लगा हुआ है उस जगह पवित्र धार्मिक स्थान मंदिर-मस्जिद दोनों ही मौजूद है और आने जाने वाले लोगों को इस गंदगी के ढ़ेर से दिक्कतों का सामना करते हुए गुजरना पड़ता है।

बता दें कि लखनऊ डीएम कौशल राज शर्मा ने नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक कर राजधानी वासियों को गंदगी से फैल रही बीमारियों से निजात दिलाने के लिए सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिये थे जिसके बाद ही लखनऊ मेयर संयुक्ता भाटिया ने सफाई को लेकर राजधानी वासियों से अपील की थी। वहीं बताते चलें कि नगर आयुक्त द्वारा 72 घंटे का सफाई अभियान चलाया गया लेकिन वो भी केवल दिखावा ही रह गया क्योंकी नगर निगम के कर्मचारी इस मुहीम को ठेंगा दिखाने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिससे नगर निगम वार्ड-2 की जनता में नगर निगम के खिलाफ भारी आक्रोश भी देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़े: राजस्व के मामले में रिलायंस बनी देश की सबसे बड़ी कंपनी, इंडियन ऑयल को पछाड़ा

आपको बता दें कि पवित्र धार्मिक स्थानों मंदिर-मस्जिद के बाहर गंदे नाले का मलबा ढ़ेर किया हुआ है। पिछले 1 हफ्ते से धार्मिक स्थलों के बाहर ढ़ेर है गंदे नाले का मलबा जिससे नमाजियों को नमाज अदा करने में तो वहीं श्रद्धालुओं को पूजा पाठ करने से पहले गंदगी और दुर्गंध का सामना करना पड़ता है। धार्मिक स्थलों के अंदर और बाहर लोगों को दुर्गंध से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्रीय लोगों को भी इस गंदगी से गंभीर हादसों का सामना करना पड़ रहा है। सकरी गली में टनों के हिसाब से ढ़ेर हैं बदबूदार गंदे नाले का मलबा, कदम-कदम पर लगे हैं गंदे मलबे के ढेर, भूमिगत नाले की सफाई के दौरान नाले से नहीं निकाली गई सालों से जमी सील्ट, नाले में जमीन सील्ट निकालने और नाला सफाई के दौरान तुरंत उठान करने के लिए हाल ही में लखनऊ मेयर संयुक्ता भाटिया ने अधिकारियों को दिए थे निर्देश, अभी कुछ दिनों पहले ही डीएम कौशल राज शर्मा ने भी साफ सफाई को लेकर दिए थे दिशा निर्देश, नगर निगम अधिकारियों पर नहीं हुआ डीएम और मेयर के निर्देश का असर जिससे नगर निगम जोन-2 के अंतर्गत आने वाले यहियागंज वार्ड की क्षेत्रीय जनता में आक्रोश देखने को मिल रहा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे बजरंगबली के दरवार में, महेंद्र नाथ पांडे ने भी किया दर्शन

Published

on

फाइल फोटो

लखनऊ । 2019 लोकसभा चुनाव ख़त्म हुआ और मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ बजरंग बली के दरबार में पहुंच गए। जेठ के पहले बड़े मंगल को बीते शाम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ० महेन्द्र नाथ पाण्डेय दोनों लोग हनुमान सेतु मंदिर पहुंचे ।

यह भी पढ़ें :बसपा सुप्रीमो ने पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय को पार्टी से किया निलंबित


दोनों लोग लगभग आधा घंटा मंदिर में रहे और बजरंगबली के दर्शन व प्रार्थना की। इससे पहले उप मुख्यमंत्री डॉ० दिनेश शर्मा ने भी दिन में 2 बजे हनुमान सेतु में दर्शन पूजन किया। डॉ० शर्मा परिवार सहित लाइन में लगे और आम भक्त की तरह दर्शन किए।सभी को याद होगा कि चुनाव प्रचार के दौरान चुनाव आयोग के 72 घंटे के प्रतिबंध के दौरान भी योगी हनुमान सेतु गए थे और दर्शन.पूजन किया था। उन्होंने अलीगंज स्थित हनुमान मंदिर और उसके अगले दिन अयोध्या स्थित हनुमान गढ़ी जाकर दर्शन पूजन किया था।योगी ने ट्वीट कर यह भी लिखा कि बजरंग बली में उनकी आस्था है। संयोग से जेठ का पहला बड़ा मंगल भी था। दोनों लोगों ने हनुमान सेतु मंदिर एक साथ जाकर दर्शन.पूजन किया।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

लखनऊ लाइव

सफाई को लेकर कोर्ट ने अधिकारीयों को दिया दो दिन में हलफनामा पेश करने का निर्देश

Published

on

सांकेतिक चित्र

लखनऊ । शहर की साफ- सफाई को लेकर हाईकोर्ट इस समय सख्त रुख अपना रहा है । अदालत ने सोमवार को सुनवाई करते समय हलफनामा दाखिल न करने पर कड़ी नाराजगी जताई है । कोर्ट ने अधिकारीयों को दो दिन का समय देते हुए हलफनामा पेश करने को कहा है । साथ ही ऐसा न करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है ।

सुनवाई के समय नगर आयुक्त के साथ अन्य अधिकारी भी मौजूद थे । नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी ने कार्रवाई रिपोर्ट पेश की अगली सुनवाई 22 को होगी । न्यायमूर्ति मुनीश्वर नाथ भंडारी व न्यायमूर्ति सौरभ लवानिया की खंडपीठ साफ- सफाई, आवारा जानवरों की समस्या,पॉलिथीन के इस्तेमाल पर रोक न लगने, शहर में डेयरियों के संचालन व नालों की सफाई के बाद निकाली गई सिल्ट को न हटाने के मुद्दे पर नाराजगी जता चुकी है ।

अदालत ने इसके लिए नगर निगम, लखनऊ विकास प्राधिकरण व आवास विकास परिषद के अफसरों को कार्यवाही के निर्देश भी दिए थे । अदालत ने संबंधित कार्य से जुड़े कर्मचारियों व अधिकारीयों व ठेकेदारों के हलफनामे दाखिल करने को कहा था । इस हलफनामे में किए गए कार्य की रिपोर्ट देनी थी । कोर्ट ने यह भी कहा था कि हलफनामों की जांच कराई जाएगी और अगर यह पाया गया कि किसी ने गलत तथ्य दिए हैं तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ।

यह भी पढ़ें : भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के निर्देशक रवि सिन्हा को मिला दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड

15 मई को हुई सुनवाई के समय हाईकोर्ट ने शहर की साफ- सफाई को लेकर आदेशों पर अमल न होने पर सख्त नाराजगी जताई थी । अदालत ने जिम्मेदारों से पूछा था कि आदेश के बाद भी शहर गंदा क्यों है । जबकि साफ-सफाई को लेकर बड़ी रकम खर्च की जा रही है । कोर्ट ने यह भी कहा था कि शहर के हर क्षेत्र में कूड़ा व गंदगी दिखाई दे रही है । आवारा पशु घूम रहे हैं, प्रतिबंधित होने के बावजूद पॉलिथीन का इस्तेमाल हो रहा है, शहर में डेयरियों का संचालन हो रहा है और नालों की सफाई से निकलने वाले सिल्ट को सड़क पर ही छोड़ दिया जाता है । कोर्ट ने इन सभी मुद्दों पर दिए गए आदेशों पर हुई कार्रवाई की रिपोर्ट तलब की थी और कहा था कि इन सभी बिंदुओं पर संबंधित विभागों, व ठेकेदारों के अधिकारियों-कर्मचारियों हलफनामे दाखिल किए जाएं । इसके साथ ही कोर्ट ने साफ- सफाई के लिए जिम्मेदार सुपरवाइजर, अधिकारी व कर्मचारी और विभिन्न एजेंसियों के ठेकेदारों की सूची भी तलब की थी । अदालत ने यहां तक कहा था कि शपथपत्र न देने वाले सुपरवाइजर, अधिकारी व कर्मचारी तथा ठेकेदार को मिलने वाली तनख्वाह व भुगतान पर रोक लगा दी जाए ।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

May 22, 2019, 6:59 pm
Dreary (overcast)
Dreary (overcast)
40°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 18%
wind speed: 1 m/s W
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 4:46 am
sunset: 6:21 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending