Connect with us

सोशल ट्रेंडिंग

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के ख़ास मौके पर “हर दिन को नारी दिवस बना लो”

Published

on

आज का दिन विश्व भर की सभी महिलाओं के लिए बहुत ही ख़ास है, क्योंकि 8 मार्च को यानी की आज के दिन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है । पहले समय में जहाँ महिलाओं को पुरुषों से नीचा समझा जाता था। वहीं लोगो के मन में ये धारणा थी कि महिलाओं का जन्म सिर्फ घर के काम काज को करने और वंश बढ़ाने के लिए ही हुआ है । पर वर्तमान युग महिलाओं के लिए काफी हद तक बदल चुका है । महिलाओं ने अपने पैर में पड़ी बेढियो को तोड़कर समाज में अपनी एक नई पहचान बनाने की ठानी और उसमे सफलता भी हासिल की है । आधुनिक दौर में लोगो की धारणा में बदलाव लाने के लिए महिलाओं ने काफी संघर्ष का सामना किया है और महिलाओं के इस संघर्ष को पूरी दुनिया दिल से सलाम भी करती है। इसी सम्मान को बरकरार रखने के लिए आज के दिन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है।

वर्तमान समय में महिलाओं को हर जगह सम्मान की नज़र से देखा जाता है । महिलाओं ने अपने बल पर निडरता के साथ और अपनी बुद्दिमत्ता के प्रयोग से समाज में जो बदलाव की नीव डाली हैं  वो वाकई में काबिले तारीफ़ है । अपनी मातृभूमि भारत देश में महिलाओं को देवी का दर्ज़ा दिया जाता है क्योंकि एक नारी ही नई जान को दुनिया में लाती है । इसलिए एक नारी को देवी के रूप में पूजा जाता है । हमारे देश को आज़ादी दिलाने के लिए कुछ वीरांगनाये जैसे देवी अहिल्याबाई होलकर, मदर टेरेसा, झासी की रानी ने जो कार्य किये है उनको शत शत नमन है । आज के समय में महिलाएं किसी पर भी निर्भर हो कर कोई भी काम नहीं करना चाहती है । वो हर कार्य को अपने ढंग व तरीके के साथ करके समाज के सामने इस तरह से प्रस्तुत करना चाहती है,जिससे कि उनके पंखो को एक नई उड़ान मिल सके । जिस प्रकार से एक पुरुष आज़ादी के साथ हर कार्य को करने की चाहत रखता है,ठीक उसी प्रकार से एक महिला भी आज़ादी के साथ कार्य को करने की क्षमता व गुणवत्ता रखती है । जिससे महिला के अन्दर नई चेतना , जोश और उमंग पैदा होता हैं ।

” तुम प्रेम हो, आस्था हो , विश्वास हो ,
टूटी हुई उम्मीदों की एक मात्र आस हो
हर जान का तुम ही आधार हो
नफरत की दुनिया में केवल तुम ही प्यार हो
उठो अपने अस्तित्व को सम्भालो
केवल एक दिन ही नहीं
हर दिन नारी दिवस बना लो “ http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल ट्रेंडिंग

सिर्फ 17 मिनट में बिना दहेज शादी कर रहे हैं संत रामपाल के शिष्य, ट्विटर पर खूब हो रहा है ट्रेंड

Published

on

लखनऊ। देश में संत रामपाल महाराज के कुछ ऐसे शिष्य भी हैं जो दहेज मुक्त शादी कर रहे हैं। शादी के दौरान जोड़े संत रामपाल महाराज के उपदेश का पालन करने का वचन ले रहे हैं। आज ट्विटर पर इसी से जुड़े #MarriageIn17Minutes #DowryFreeIndia ट्रेंड कर रहे हैं।

हाल ही में रोहतक में संत कबीर प्रकट दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में 101 जोड़ों की शादी बिना दहेज व बैंड बाजे की हुई।कार्यक्रम में दिल्ली, छतीसगढ, उतराखंड, उत्तर प्रदेश, पंजाब, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, कर्नाटक और उडीसा से भी अनुयायी आए हुए थे। इसके अलावा विदेशी अनुयायियों ने भी सत्संग में शामिल हुए।

चलिए आपको बताते हैं #MarriageIn17Minutes #DowryFreeIndia के ट्रेंड करने की वजह। पढ़िए ये खबरें….

महज 17 मिनट में बने जीवनसाथी, बिना बैंड बाजा और सात फेरों के हुई शादी

झांसी के के बिजौली गांव में महज 17 मिनट में शादी हो गई। न बैंडबाजा रहा, न बराती दिखे। अग्नि के सात फेरे भी नहीं हुए। सिर्फ मांग में सिंदूर भरा और युवक-युवती के दूजे के जीवनसाथी बन गए। यह शादी बिजौली के कबीर पंथ के सत्संग पंडाल में गुरुवाणी के दौरान हुई। दरअसल, सत्संग ने शादी में फिजूल खर्ची रोकने की मुहिम चला रखी है। इसी मुहिम से प्रभावित होकर दोनों ने यहां आकर विवाह किया। दोनों ने दहेज रहित और बगैर दिखावे की शादी करके समाज के लिए फिजूल खर्ची रोकने का संदेश दिया है। शादी से प्रभावित होकर 200 परिवारों ने सामाजिक कुरीति के खात्मे के साथ ही अपने बेटे-बेटियों की दहेज रहित शादी करने का संकल्प पत्र भी भरा।

सत्संग में रिश्ता तय, एक जोड़े में आई दुल्हन बिना दिखावा 17 मिनट में गुरुवाणी से शादी

हिन्दूधर्म में शादी तय होने के बाद हर लड़की शायद यह जरूर सोचती होगी कि शादी के दौरान उसके हाथों में मेहंदी लगेगी और मांग में सिंदूर भी होगा। लेकिन धौलपुर में सिंधू पैलेस में अनोखी शादी हुई। यहां दो सगी बहनों की शादी दो सगे भाइयों से सत्संग में 17 मिनट की गुरुवाणी में करा दी गई। इसके बाद दोनों वर-वधू को सभी ने आशीर्वाद देकर विदा कर दिया। सत्संग के आयोजकों ने बताया कि ऐसी शादी धौलपुर में पहली बार हुई है। सभी संत रामपाल के अनुयायी है।

सत्संग में 17 मिनट में की शादी

कोटा-खानपुर मार्ग पर आयोजित एक दिवसीय सत्संग में 17 मिनट में दहीखेड़ा निवासी आकाश दास की शादी मध्यप्रदेश की रीनादास के साथ संपन्न हुई। इस दौरान संत के चित्र को साक्षी मानकर बिना घोड़ी बैंडबाजा, तोरण के 17 मिनट में विवाह संपन्न कराया। इस अनोखी शादी में मेहमानों को खाना खिलाने की जगह चाय, पानी व बिस्किट का इंतजाम किया गया। इस दौरान संत रामपाल के सत्संग का आयोजन किया गया।

Continue Reading

सोशल ट्रेंडिंग

योग दिवस पर राहुल ने बनाया सेना का मजाक, ट्वीटर पर हो गयी खिंचाई

Published

on

नई दिल्ली। पहले 2014 और अब 2019 के आम चुनावों में विकास और राष्टवाद के दम पर पीएम मोदी ने कांग्रेस को विपक्ष में बैठने लायक भी नहीं छोड़ा। सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने का नतीजा सबसे सामने है लेकिन राहुल समझने को तैयार नहीं हैं। वह अक्सर चीजों को समझ नहीं पाते और ऐसी गलती कर बैठते हैं जो उनसे ज्यादा कांग्रेस को नुकसान पहुंचा देती है। अब योग दिवस पर भी राहुल गांधी ऐसी ही गलती कर बैठे। शुक्रवार को भारत सहित पूरी दुनिया योग के रंग में रंगी नजर आई। पीएम मोदी ने हजारों लोगों के साथ योगासनों का अभ्यास किया और लोगों के इसके चमत्कारी प्रभावों के बारे में बताया। #InternationalYogaDay
भारतीय सेनाओं ने भी इस अवसर पर योगासनों का अभ्यास किया। लेकिन राहुल गांधी ने सेना के योग अभ्यास पर एक ऐसा ट्वीट कर दिया जिसके बाद सोशल मीडिया पर वह लगातार टोल किए जा रहे हैं। #New India

राहुल गांधी के जरिए किए गए ट्वीट में दो फोटो है। दोनों ही फोटो में कुत्ते और सेना के जवान एक साथ योग कर रहे हैं। फोटो में दिख रहे कुत्ते सेना के ही हैं और 2 आर्मी डॉग यूनिट के हैं।
राहुल ने इन तस्वीरों को ट्वीट करते हुए कैप्शन में न्यू इंडिया लिखा है। #योगदिवसकांग्रेस अध्यक्ष के ट्वीट आते ही उन पर प्रतिक्रियाएं भी आने लगीं। भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर जोरदार पलटवार किया। बाॅलीवुड एक्टर परेश रावल ने भी राहुल गांधी की आलोचना की है।

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी ट्वीट पर जवाब दिया। उन्होंने कहा, जब अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस कर रहे हैं तब इस तरह का कांग्रेस के जरिए ट्वीट करना कांग्रेस की मानसिकता, उनकी हताशा और जनता से कितने कटे हैं यह दर्शाता है। इसीलिए इस पर कोई ज्यादा टिप्पणी करने की जरूरत नहीं। हर कोई अपने लेवल पर सही कमेंट करता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सोशल ट्रेंडिंग

15 हजार बेकार प्लास्टिक की बोतलों से यहां बनाई गई 1500 फीट लंबी अनोखी दीवार

Published

on

लखनऊ। इस वक्त दुनिया जिन चुनौतियों का सामना कर रही है, उसमें प्लास्टिक से निपटने की समस्या सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। हर साल करीब 1.27 करोड़ टन प्लास्टिक समुद्र में समा जा रहा है। इसकी वजह से समुद्री जीव-जंतुओं के लिए भयावह साबित हो रहे हैं। प्लास्टिक का इस्तेमाल कम होने की जगह बढ़ता ही जा रहा है। उत्तराखंड के मसूरी में एक नई पहल की गई है। यहां पर कचरे में पड़ी प्लास्टिक से एक दीवार बनाई गई है और वो भी इसलिए ताकि प्लास्टिक के प्रति लोगों को जागरूक किया जा सके।

मसूरी के बंग्लो में कांडी बांव में 15 हजार खाली प्लास्टिक की बेकार बोतलों से एक बेहद खूबसूरत रंगीन दीवार बनाई गई है। जिसका नाम वाल ऑफ होप रखा गया है। यानि उम्मीद की दीवार। यह रंगीन दीवार करीब 1500 फीट लंबी और 12 फी ऊंची है।

इस बेहद अनोखी दीवार का डिजाइन सुबोध केरकर ने किया है। उन्होंने बताया कि वो गांव और कस्बों एंव शहरों को प्लास्टिक फ्री करना चाहते हैं जिसके लिए वह इसी काम में लगे हुए हैं।

इस प्लास्टिक वाली दीवार का निर्माण करने वो जनता को यह मैजेस देना चाहते हैं कि प्लास्टिक का इस्तेमाल कम से कम करें। इतना ही नहीं उन्होंने स्थानीय लोगों को भी यह बतलाया है कि प्लास्टिक पहाड़ों के किस हद तक खतरनाक है। इस वॉल ऑफ होप वाली दीवार का उद्घाटन सितारवादक अग्नि वर्मा ने किया है।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 24, 2019, 9:45 am
Mostly cloudy
Mostly cloudy
33°C
real feel: 39°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 62%
wind speed: 1 m/s ESE
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 3
sunrise: 4:45 am
sunset: 6:34 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending