Connect with us

सोशल ट्रेंडिंग

World day against child labour: आज भी मजदूरी के बोझ तले सिसक रहा बचपन…

Published

on

बाल मजदूरी उन्‍मूलन के लिए दुनिया भर में आज यानी 12 जून को विश्‍व बाल श्रम निषेध दिवस मनाया जा रहा है। एक तरफ आप और हम जैसे युवा एसी ऑफिस में बैठकर अपनी तनख्वाह बढ़ने का इंतजार कर रहे हैं तो वहीं आज भी दुनिया में करीब 15 करोड़ नाबालिग बच्चे दुनिया में बाल मजदूरी कर रहे हैं। इनकी उम्र 5 से 17 के बीच है।

बाल मजदूरी के खिलाफ जागरूकता फैलाने और 14 साल से कम उम्र के बच्‍चों को इस काम से निकालकर उन्‍हें शिक्षा दिलाने के उद्देश्‍य से इस दिवस की शुरुआत साल 2002 में ‘द इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन’ की ओर से की गई थी। बाल श्रम के खात्मे के लिए आज के दिन श्रमिक संगठन, स्वयंसेवी संगठन और सरकारें तमाम आयोजन करती हैं। इन सबके बावजूद बाल मजदूरी पर लगाम नहीं लग पा रही है।

यह भी पढ़ें:GOODWORK: घर से भागे नाबालिग को पुलिस ने परिजनों को सौंपा…

हर साल हजारों बच्चे दुर्व्यापार (ट्रैफिकिंग) करके एक राज्य से दूसरे राज्यों में ले जाए जाते हैं। सीमापार ट्रैफिकिंग के जरिए पड़ोसी गरीब देशों नेपाल और बांग्लादेश से भी भारत में ऐसे बच्चे हजारों की संख्या में लाए जा रहे हैं। जबरिया बाल मजदूरी, गुलामी और बाल वेश्यावृत्ति आदि के लिए इन बच्चों को खरीदा और बेचा जाता है।

आप यह जानकार हैरान हो जाएंगे कि इन बच्चों की कीमत जानवरों से भी कम होती है। तस्वीर उससे कहीं ज्यादा भयानक है जो सरकारी आकड़ों के जरिए दिखाई जा रही है। बाल मजदूरी और दासता के विरुद्ध संघर्ष करने वाले नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित श्री कैलाश सत्यार्थी द्वारा स्थापित संगठन बचपन बचाओ आंदोलन का मानना है कि तकरीबन 7 से 8 करोड़ बच्चे नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा से वंचित हैं।

जनगणना के ही मुताबिक जब हम कामगार लोगों के आंकड़े को पूरे देश के सन्दर्भ में देखते हैं तो स्थिति और भयावह नजर आती है। भारत में 5 से 14 साल के बच्चों की कुल संख्या 25.96 करोड़ है। इनमें से 1.01 करोड़ बच्चे श्रम करते हैं, यानी कामगार की भूमिका में हैं। आंकड़ों से पता चलता है कि 5 से 9 साल की उम्र के 25.33 लाख बच्चे काम करते हैं। 10 से 14 साल की उम्र के 75.95 लाख बच्चे कामगार हैं। 1.01 करोड़ बच्चों में से 43.53 लाख बच्चे मुख्य कामगार के रूप में, 19 लाख बच्चे तीन माह के कामगार के रूप में और 38.75 लाख बच्चे 3 से 6 माह के लिए कामगार के रूप में काम करते हैं। राज्यवार देखें तो उत्तरप्रदेश (21.76 लाख), बिहार (10.88 लाख ), राजस्थान (8.48 लाख), महाराष्ट्र (7.28 लाख) और मध्यप्रदेश (7 लाख) समेत पांच प्रमुख राज्यों में 55.41 लाख बच्चे मजदूरी में लगे हुए हैं।

सोचिए, कि 5 से 9 साल की उम्र क्या होती है। इस उम्र में बच्चों के ऊपर काम का बोझ विकास की निशानी है या बर्बरता की। इस उम्र में तो बच्चा स्कूल में प्रवेश लेकर तीसरी—चौथी कक्षा तक पहुंचता है। जाहिर है काम के कारण उसका स्कूल तो छूट ही जाता है। ऐसे में देश के भविष्य की क्या नींव रखी जा रही है। देश में शिक्षा का अधिकार कानून के तहत इन बच्चों का अधिकार है कि वह नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा हासिल करें लेकिन यह कैसा समाज है कि यह मजदूरी करके पसीना बहा रहे हैं।

कुछ परिस्थितियां हमें दिखाई नहीं देती, कुछ देखना नहीं चाहते, और कुछ के इतने आदी हो जाते हैं कि वह हमें असामान्य दिखाई ही नहीं देती। उन्हें हम सामाजिक स्वीकृति देकर अपने जीवन का एक हिस्सा मान बैठते हैं, भले ही वह गड़बड़ क्यों न हो। जब कोई गड़बड़ी हम स्वीकार नहीं करते हैं तो स्वाभाविक रूप से उसे सुधारने की कोशिशें भी रस्मअदायगी की तरह ही होती हैं। उनकी याद हमें किसी खास दिन पर आती है या फिर कोई बहुत बड़ी घटना होने पर। बाल मजदूरी का मुद्दा भी ऐसा ही है। वैसे बच्चों से जुड़े सारे मुद्दों के हालात ही ऐसे हैं जिन पर समाज में बहुत कम संवाद हैं, वह राजनीतिक रूप से हाशिए पर हैं, लेकिन बाल मजदूरी का मुद्दा तो ऐसा है जो दिखाई देते हुए भी अनदेखा है। इसके तमाम उदाहरण देश के कोने-कोने से हमारे सामने आते रहते हैं।http://www.satyodaya.com

सोशल ट्रेंडिंग

बच्चे की मौत के बाद हाथियों ने निकाली अंतिम यात्रा, वीडियो देख भावुक हुए लोग

Published

on

लखनऊ। दर्द सिर्फ इंसानों को नहीं होता। जानवर भी अपने करीबी के मरने पर रोते हैं। भावनाएं हर किसी की होती हैं और दर्द या खुशी हर किसी को महसूस होती है। हाल ही में एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें हाथी के बच्चे की मौत के बाद गम में डूबे हाथियों ने अंतिम यात्रा निकाली। इस वीडियो को देखकर लोग भावुक हो रहे हैं।

वायरल हो रहे वीडियो में एक हाथी मृत शरीर को अपने साथ ले जा रहा है और उसके साथ 8 अन्य हाथी और कुछ हाथी के बच्चे नजर आ रहे हैं। इस वीडियो में कई सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि हाथी बच्चे का का अंतिम संस्कार करने के लिए ले जा रहे हैं। नीचे आप यह मार्मिक वीडियो देख सकते हैं।

इस वीडियो में सड़क पर कुछ लोग भी नजर आ रहे हैं। लोग कमेंट करके कह रहे हैं कि इस मार्मिक अंतिम यात्रा को देखने के लिए सड़क पर लोगों ने अपनी गाड़ियों को रोक दिया।

इस वीडियो को इंडियन फॉरेस्ट सर्विस ऑफिसर परवीन कसवान ने ट्विटर पर शेयर किया है। उन्होंने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, ‘यह वीडियो आपको परेशान कर सकता है। अंतिम यात्रा के दौरान हाथी मृत बच्चे को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे हैं। परिवार मृत शरीर को छोड़ना नहीं चाहता।’

Continue Reading

देश

अलीगढ़ मर्डर: बॉलीवुड सेलेब्स ने भी न्याय के लिए उठाई आवाज, सोनम कपूर हुईं ट्रोल

Published

on

लखनऊ। अलीगढ़ की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। 30 मई को टप्पल इलाके में दो साल की एक बच्ची #TwinkleSharma घर के बाहर खेलते हुए गायब हो गई थी। 2 जून को बच्ची की लाश बरामद हुई, जिसे कुत्तों ने क्षत-विक्षत कर दिया था। बच्ची के परिजनों ने रेप के बाद हत्या करने का आरोप लगाया है। अब इस हटना पर बॉलिवुड ने भी अपना गुस्सा जाहिर किया है। अभिषेक बच्चन, अक्षय कुमार, अनुपम खेर, गुल पनाग सहित कई बॉलीवुड सेलेब्स ने ट्वीट कर इस घटना की निंदा की और ट्विंकल के लिए न्याय की मांग की है।




जहां सभी ने ट्वीट कर इस घटना पर अपना गुस्सा जाहिर किया है। वहीं, सोनम कपूर को उनके ट्वीट को लेकर ट्रोल किया जा रहा है। दरअसल, उन्होंने अलीगढ़ केस पर लोगों को सलाह दी है कि इसे नफरत का एजेंडा न बनाया जाए।

जबकि कठुआ के आसिफा रेप और मर्डर केस पर उन्होंने अपनी एक तस्वीर ट्वीट की थी जिसमें वो हाथ में एक तख्ती लिये थीं और उस पर लिखा था कि, मैं हिन्दुस्तान हूं, मैं शर्मिंदा हूं, अपने बच्चे के लिए न्याय मांगता हूं, 8 साल की बच्ची, जिसका कठुआ के देवी स्थान मंदिर में गैंगरेप और मर्डर हुआ।

अब लोग सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त आलोचना कर रहे हैं।




http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सोशल ट्रेंडिंग

रूस में चोर 56 टन का पुल ही उठाकर फुर हो गए और किसी को इसकी खबर तक नहीं हुई

Published

on

फाइल फोटो

मरमंस्क। आए दिन हमें देश में हो रही चोरी के कई अजीबोगरीब किस्से सुनने को मिलते हैं। रूस में एक ऐसी चोरी हुई है जिससे हर कोई हैरान है। यहां चोरों ने रेल का पुल ही चोरी कर लिया। ये पढ़कर आप भी यही सोच रहे होंगे की यहां के चोर कितने मेहनती हैं। इसकी चर्चा दुनियाभर में हो रही है। चोर ने जिस रेल के पुल को चोरी किया है उस पुल में 56 टन स्टील लगा हुआ था।

ये पुल मरमंस्क में स्थित है। इसकी लंबाई 23 मीटर है। जब स्थानीय निवासियों को इस बारे में भनक पड़ी, तो उन्होंने Kirovsk पुलिस स्टेशन में इस बारे में शिकायत दर्ज कराई।लिस ने चोरी की सारी गुजाइशों को खारिज करते हुए, इसके मालिकों पर स्टील चोरी होने की शंका जताई है। बाद में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज कर लिया है।

चोरी के बारे में पुलिस का कहना है कि पुल के सारे मैटल को पानी में नीचे खींचा गया होगा और इसके बाद इसके टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए होंगे। उसके बाद चोर यहां से ये सारा स्टील चुरा कर ले गए होंगे। पुलिस चोरों की तलाश में है। वैसे देखा जाए तो अक्सर चोरी के कई सारे मामले सामने आते हैं। लेकिन ये मामला थोड़ा अलग है।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 12, 2019, 2:58 pm
Dreary (overcast)
Dreary (overcast)
33°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 43%
wind speed: 2 m/s E
wind gusts: 2 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:30 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending