Connect with us

खेल- खिलाड़ी

मलिंगा हैं तो मुमकिन है, 12 घंटों के भीतर दो देशों में खेले दो मैच, दोनों में प्रदर्शन रहा लाजबाब….

Published

on

क्रिकेट। #गेंदबाजी की बात करें तो श्रीलंका के #लसिथ_मलिंगा (Lasith Malinga) बेजोड़ हैं। #अजीबोगरीब एक्‍शन वाले #श्रीलंका के इस तेज #गेंदबाज ने 12 घंटों के भीतर दो अलग-अगल देशों में एक टी-20 और एक 50 ओवर का मैच खेला। #आईपीएल-2019 (IPL 2019) में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians)की ओर से #चेन्‍नई_सुपर_किंग्‍स (Chennai Super Kings)के खिलाफ मैच खेलने के बाद वे श्रीलंका रवाना हुए और कैंडी में 50 ओवर का एक घरेलू क्रिकेट खेला। खास बात यह है कि दोनों ही मैचों में उन्‍होंने अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ी।# मुंबई_इंडियंस के लिए मलिंगा ने दमदार गेंदबाजी करते हुए 34 रन देकर तीन विकेट लिए थे, 50 ओवर के मैच में भी उन्‍होंने शानदार प्रदर्शन किया और 49 रन देकर सात विकेट चटकाए।

#मुंबई_इंडियंस की ओर से बुधवार को मैच खेलने के बाद मलिंगा (Lasith Malinga)गुरुवार की सुबह कैंडी के लिए रवाना हुए जहां उन्होंने सुपर फोर टूर्नामेंट में अपना जौहर दिखाया। उनकी दमदार गेंदबाजी के कारण गॉल ने कैंडी को 156 रनों के बड़े अंतर से मात दी। #श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने #मलिंगा को अप्रैल महीने के लिए #आईपीएल में खेलने की आज्ञा दे दी थी, लेकिन वह घरेलू क्रिकेट भी खेलने पहुंचे।

गौरतलब है कि आईपीएल के अंतर्गत मुंबई इंडियंस और #चेन्‍नई_सुपर (MI vs CSK) #किंग्‍स का मैच बेहद रोमांचक रहा था।

यह भी पढ़ें- RR vs RCB: आज आमने-सामने होंगी राजस्थान और बेंगलुरु, दोनों कि नजर जीत का खाता खोलने पर ….

कम स्‍कोर वाले इस मैच में #गेंदबाजों का दबदबा रहा था। चेन्‍नई के गेंदबाजों ने मैच में अच्‍छा प्रदर्शन करते हुए सूर्यकुमार यादव के अर्धशतक (59) के बावजूद #मुंबई_इंडियंस को 20 ओवर में 5 विकेट पर 170 रन तक सीमित कर दिया था। इस समय ऐसा लग रहा था कि चेन्‍नई मैच आसानी से जीत लेगी, लेकिन मुंबई ने अपने #गेंदबाजों की बदौलत पलटवार किया। नतीजा यह रहा कि चेन्‍नई टीम लगातार विकेट गंवाती रही। केदार जाधव के अर्धशतक के बावजूद 20 ओवर में 8 विकेट पर 133 रन तक ही पहुंच सकी। मुंबई के लिए लसिथ मलिंगा और हार्दिक पंड्या ने इस मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए 3-3 विकेट झटके थे।http://www.satyodaya.com

खेल- खिलाड़ी

क्रिकेटर श्रीसंत को बड़ी राहत, BCCI ने आजीवन बैन घटाकर किया 7 साल

Published

on

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने 36 साल के क्रिकेटर एस। श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को घटाकर 7 साल कर दिया है। बता दें, बीसीसीआई ने श्रीसंत पर अगस्त 2013 में प्रतिबंध लगाया था।

अब 13 सितंबर 2020 को श्रीसंत पर लगा बैन खत्म होगा। वो छह साल से चले आ रहे प्रतिबंध के कारण अपना सर्वश्रेष्ठ दौर पहले ही खो चुके हैं। इससे पहले मार्च 2019 को श्रीसंत पर सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध हटा दिया था।

सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि बीसीसीआई के पास अनुशासनात्मक कार्रवाई का अधिकार है। कोर्ट ने बीसीसीआई से श्रीसंत को सुनवाई का मौका देने और 3 महीने में सजा तय का आदेश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बीसीसीआई श्रीसंत पर अपने लगाए प्रतिबंध पर फिर से विचार करे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि लाइफटाइम बैन ज्यादा है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद श्रीसंत ने कहा था, ‘मैं लिएंडर पेस को आदर्श मानता हूं। जब वो 45 साल की उम्र में ग्रैंड स्लैम खेल सकते हैं, नेहरा 38 साल की उम्र में वर्ल्ड कप खेल सकते हैं तो मैं क्यों नहीं…? मैं तो केवल 36 साल का हूं। मेरी ट्रेनिंग जारी है।’

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

विराट कोहली की पसंद पर सीएसी ने लगाई मुहर, रवि शास्त्री फिर बने टीम इंडिया के हेड कोच

Published

on

मुंबई। रवि शास्त्री ही टीम इंडिया के कोच बने रहेंगे। पूर्व दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने एक बार फिर से रवि शास्त्री के नाम पर मुहर लगा दी है। शुक्रवार को 57 साल के रवि शास्त्री एक बार फिर भारतीय टीम के मुख्य कोच पद पर काबिज हो गए। बीसीसीआई ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शास्त्री के नाम की घोषणा की। #RaviShastri
बता दें कि 2019 के विश्व कप में खिताब की दावेदार मानी जा रही टीम इंडिया की अप्रत्याशित हार से हर कोई हैरान था। टीम के बेहद खराब प्रदर्शन के बाद माना जा रहा था कि इस बार शास्त्री का जाना तय है। लेकिन लंबी कवायद के बाद कप्तान विराट कोहली के चहेते रवि शास्त्री अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब हो गए। # RaviShastri
इससे पहले टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए 6 नामों पर मंथन किया गया। जिसमें रवि शास्त्री भी शामिल थे। शास्त्री के अलावा दो और भारतीय कोच (पूर्व क्रिकेटर लालचंद राजपूत और रॉबिन सिंह) भी शॉर्ट लिस्ट किए गए थे। सीएसी के अध्यक्ष कपिल देव और अन्य सदस्यों, पूर्व कोच अंशुमान गायकवाड तथा शांथा रंगासामी ने सभी दावेदारों का साक्षात्कार लेने के बाद रवि शास्त्री को टीम इंडिया का हेड कोच नियुक्त कर दिया।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान ने भारतीय फिल्मों की सीडी बिक्री पर लगाई रोक

बता दें कि भारतीय टीम के मुख्य कोच के लिए कप्तान विराट कोहली पहले ही अपनी पसंद जाहिर कर चुके थे। तीन हफ्ते पहले वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होते समय विराट ने कहा था कि अगर रवि भाई (रवि शास्त्री) कोच बने रहते हैं तो उन्हें खुशी होगी।

दूसरे कार्यकाल में टीम को दिलाई 81 जीत

जुलाई 2017 में दूसरी बार कोच बनने के बाद रवि शास्त्री के निर्देशन में टीम इंडिया ने 21 टेस्ट मैचों 13, अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैचों में 36 में से 25, और 60 वनडे मैचों में से 43 में जीत हासिल की। इस तरह दूसरे कार्यकाल में उनकी कोचिंग में भारत को कुल 81 मैचों में जीत मिली। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और चयनकर्ता वीबी चंद्रशेखर ने की आत्महत्या

Published

on

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और चयनकर्ता वीबी चंद्रशेखर ने आत्महत्या कर ली है। रिपोर्ट के अनुसार, चंद्रशेखर की पत्नी ने बयान दिया है कि उन्होंने चंद्रशेखर के कमरे का दरवाजा खटखटाया, काफी देर तक कोई जवाब न मिलने के बाद उन्होंने खिड़की से झांककर देखा तो चंद्रशेखर का शव पंखे से लटका हुआ था।

वीबी ने सात एकदिवसयी मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया। वह अपनी आक्रामक बल्लेबाजी शैली के लिए जाने जाते थे। तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (टीएनसीए) के एक अधिकारी ने बताया कि तमिलनाडु के पूर्व बल्लेबाज चंद्रशेखर का 6 दिन बाद यानी 21 अगस्त को 58वां जन्मदिन था, लेकिन इस जन्मदिन से पहले ही वो इस दुनिया से विदा हो गए।

चंद्रशेखर साल 1987-88 में दूसरी बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली तमिलनाडु क्रिकेट टीम के सदस्य थे। उन्होंने तब उत्तर प्रदेश के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में 160 रन और रेलवे के खिलाफ फाइनल में 89 रन की पारी खेली थी। वीबी चंद्रशेखर ने 1988 से 1990 के बीच सिर्फ सात वनडे खेले थे और 88 रन बनाए। उनके नाम वनडे में एक अर्धशतक दर्ज है, जोकि उन्होंने इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाए थे।

अप्रैल 1941 में मुंबई में जन्मे अजीत वाडेकर ने 1966 से 1974 तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला था। उन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 1958 और अंतरराष्‍ट्रीय कॅरियर की शुरुआत 1966 में की थी। पिछले कुछ सालों से चंद्रशेखर का ध्यान पूरी तरह कर्नाटक संगीत में अपनी बेटियों के करियर को बनाने पर था। वे अपने परिवार के साथ विभिन्न शहरों में संगीत कार्यक्रम में हिस्सा लेते थे।

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 22, 2019, 4:19 am
Fog
Fog
27°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 94%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:11 am
sunset: 6:07 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending