Connect with us

खेल- खिलाड़ी

खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने जैसा है कोरोना वायरस : सौरव गांगुली

Published

on

नई दिल्ली। बीसीसीआई के अध्यक्ष व भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोविड-19 महामारी के कारण हुए नुकसान से बेहद दुखी है। उन्होंने इसकी तुलना खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने से की है। इस बीमारी से दुनियाभर में अभी 34 लाख लोग संक्रमित हैं। जबकि दो लाख 40 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। गांगुली ने ‘फीवर नेटवर्क’ द्वारा शुरू किए गए ‘100 आवर्स 100 स्टार्स’ कार्यक्रम में कहा कि यह बेहद खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने जैसी स्थिति है। गेंद सीम भी कर रही है और स्पिन भी ले रही है। बल्लेबाज के पास गलती की बहुत कम गुंजाइश है।

गांगुली ने कहा इसलिए बल्लेबाज को गलती करने से बचते हुए विकेट बचाए रखकर रन बनाने होंगे और यह टेस्ट मैच जीतना होगा। उन्होंने अपने जमाने में कई दिग्गज तेज गेंदबाजों और स्पिनरों का डटकर सामना किया और उनमें सफल साबित हुए। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने खेल के मुश्किल पलों और वर्तमान के स्वास्थ्य संकट को एक जैसा बताया। कहा
मौजूदा हालात से मैं दुखी हूं। यह बेहद मुश्किल स्थिति है, लेकिन उम्मीद है कि हम सभी मिलकर यह मैच जीतने में सफल रहेंगे। गांगुली ने इस महामारी के कारण कई लोगों के जान गंवाने और इससे हुए भारी नुकसान पर दुख व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें-लखनऊः प्रेमिका के पिता व भाई ने आशीष की पीट-पीटकर की थी हत्या

उन्होंने कहा मैं वर्तमान स्थिति देखकर वास्तव में दुखी हूं क्योंकि इतने अधिक लोग इससे पीड़ित हैं। हम अब भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इस महामारी को कैसे रोकना है।

इस बीमारी के कारण डर लगता है

उन्होंने स्वीकार किया कि उन्हें खुद भी इस बीमारी के कारण डर लगता है। बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि लोग इससे इतने अधिक प्रभावित हैं। कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। ऐसी स्थिति मुझे बहुत परेशान कर देती है और मुझे भी डर लगता है। लोग किराने का सामान, खाना आदि पहुंचाने के लिए मेरे घर पर भी आते हैं। इसलिए मुझे भी थोड़ा डर लगता है। यह मिश्रित भावनाएं हैं। मैं जितना जल्दी हो सके, इस बीमारी का खात्मा चाहता हूं।

लाॅकडाउन ने घर में रहने का मौका दिया

उन्होंने कहा लॉकडाउन को एक महीना हो गया है। इससे पहले मुझे इस तरह से घर में रहने का समय नहीं मिलता था। हर दिन काम के लिए यात्रा करना मेरी जीवनशैली थी। पिछले 30-32 दिनों से मैं अपने परिवार के साथ घर पर हूं। मैं अपने परिवार के साथ हूं। अपनी पत्नी, बेटी, मां और भाई के साथ समय बिता रहा हूं। मुझे लंबे अर्से बाद ऐसा समय मिला है इसलिए मैं इसका आनंद भी ले रहा हूं।http://www.satyodaya.com

खेल- खिलाड़ी

HAPPY B’DAY Mahi: 39 साल के हुए धोनी, CRICKETERS ने इस अंदाज में किया WISH

Published

on

लखनऊ: इंडियन क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी आज 39 जन्मदिन मना रहे है। आपको बता दें एमएस धोनी का जन्म 7 जुलाई, 1981 को रांची में हुआ था। धोनी इंडियन टीम के बेस्ट कैप्टन की लिस्ट में गिने जाते हैं। रांची के एक छोटे से परिवार से आकर क्रिकेट की दुनिया में छा जाने वाले महेंद्र सिंह धोनी का आज जन्मदिन है। टीम इंडिया को दो क्रिकेट वर्ल्ड कप दिलाने वाले महेंद्र सिंह धोनी 39 साल के हो गए हैं। आपको बता दें 2004 में टीम इंडिया के लिए चुने जाने तक धोनी का जीवन चुनौतियों से भरा रहा। धोनी एक बेहद साधारण से परिवार से तालुक रखते हैं,  इस दौरान उन्हें अनेकों परेशानियों का भी सामना करना पड़ा। लेकिन उनके रास्ते के ये रोड़े क्रिकेट को लेकर उनके जुनून के सामने बौने साबित होते गए।

विराट कोहली वीरेन्द्र सहवाग ने MS Dhoni को किया बर्थडे विश

विराट कोहली ने सोशल मीडिया पर एमएस धौनी की तीन तस्वीरें शेयर की हैं। इन तीनों तस्वीरों में विराट कोहली उनके साथ हैं और तीनों ही तस्वीरें एक-दूसरे से काफी अलग हैं। माही के चाहने वाले उनके जन्मदिन पर सोशल मीडिया के जरिए बधाई दे रहे हैं। टिवटर पर हैशटैग #HappyBirthdayDhoni ट्रेंड कर रहा है।

यहां से की थी शुरुआत…

महेंद्र सिंह धोनी को 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ पहली बार खेलने का मौका मिला, लेकिन सीरीज के पहले मुकाबले में धोनी को शून्य पर ही पवैलियन लौटना पड़ा। माही के लिए अंतराष्ट्रीय करियर की शुरूआत कुछ खास नहीं रही। पूरे पारी में धोनी 3 रन बनाए, लेकिन उस समय के भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली लगातार उनपर भरोसा जताते रहे। जिसका नतीजा था कि धोनी आज इतने बड़े खिलाड़ी बनकर उभरे हैं।

2005 में चेन्नई के मैदान में धोनी को भारत के लिए श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करना का मौका मिला। जहां पर धोनी ने पहली बार 30 रन अपने खाते में जोड़े। लेकिन उन्हें दूसरी पारी में बैटिंग करने का मौका नहीं मिला। इसी सीरीज का दूसरा टेस्ट दिल्ली में खेला गया था। जहां पर धोनी के बल्ले से 51 रनों की नाबाद पारी देखने को मिली। जिसकी बदौलत भारत ने इस मुकाबले में जीत दर्ज किया। धोनी ने टी-20 क्रिकेट में 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ डेब्यू किया था। लेकिन धोनी अपने करियर के पहले टी–20 में 0 पर आउच हो गए।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

शशांक मनोहर ने ICC के चेयरमैन पद से दिया इस्तीफा, अध्यक्ष की रेस में गांगुली

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष शशांक मनोहर ने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के पहले स्वतंत्र चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया है। गवर्निंग काउंसिल की बैठक में यह बहुत पहले ही साफ हो गया था कि शशांक का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जाएगा। जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। शशांक ने नवंबर 2015 में आईसीसी चेयरमैन का पद संभाला था। आईसीसी ने कहा कि चेयरमैन शशांक मनोहर ने दो साल के दो कार्यकाल के बाद पद छोड़ दिया है। इसी के साथ बीसीसीआई का आईसीसी में वर्चस्व भी समाप्त हो गया। वहीं उप-चेयरमैन इमरान ख्वाजा चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक अंतरिम चेयरमैन होंगे।

आईसीसी बोर्ड के अगले हफ्ते तक अगले अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया को स्वीकृति देने की उम्मीद है। जिसमें भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली और इंग्लैंड व वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स आईसीसी चेयरमैन पद के मुख्य दावेदार हैं। सौरभ गांगुली की दावेदारी हालांकि इस बात पर निर्भर करती है कि उच्चतम न्यायालय उन्हें लोढा समिति के प्रशासनिक सुधारवादी कदमों के तहत अनिवार्य ब्रेक में छूट देकर बीसीसीआई अध्यक्ष पद पर बने रहने का मौका देता है या नहीं।

क्रिकेट वेस्टइंडीज के पूर्व प्रमुख डेव कैमरन, न्यूजीलैंड के ग्रेगोर बार्कले, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के क्रिस नेनजानी भी इस पद को लेकर रुचि दिखा चुके हैं। मौजूदा संविधान के अनुसार गांगुली राज्य और बीसीसीआई में पदाधिकारी के तौर पर छह साल का कार्यकाल 31 जुलाई को खत्म हो रहा है और वह आईसीसी चेयरमैन पद के लिए दावेदारी पेश करने के पात्र हैं। आईसीसी के नियमों के अनुसार मनोहर दो और साल के लिए अपने पद पर रह सकते थे क्योंकि स्वतंत्र चेयरमैन के लिए अधिकतम तीन कार्यकाल की स्वीकृति है।

यह भी पढ़ें:- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा कल, सैन्य तैयारियों का लेंगे जायजा

बता दें कि शशांक मनोहर 62 वर्ष पेशे से वकील है। वह इससे पहले दो बार बीसीसीआई अध्यक्ष रहे। वह 2008 से 2011 तक बीसीसीआई अध्यक्ष रहे और फिर अक्टूबर 2015 से मई 2016 तक दोबारा इस पद पर काबिज हुए। दूसरे कार्यकाल का एक हिस्सा आईसीसी चेयरमैन पद के दौरान रहा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

सुशांत सिंह जैसा हो सकता है हमारे साथ, लेकिन मानसिक तौर पर मजबूत: अशोक डिंडा

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय तेज गेंदबाज अशोक डिंडा को टीम इंडिया के लिए ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला। 36 वर्षीय डिंडा कोलकाता से ताल्लुक रखने है। इन्हें पिछले साल रणजी ट्रॉफी के दौरान अनुशासनात्मक कारणों की वजह से बीच में ही बाहर कर दिया गया था। इस तरह से बाहर किए गए इस तेज गेंदबाज ने कहा कि वो बंगाल क्रिकेट की राजनीति के शिकार हुए हैं। उन्होंने कहा कि वो इस सीजन में एक नई टीम के साथ अच्छी वापसी करेंगे। उत्पल चटर्जी के बाद बंगाल की तरफ से सर्वाधिक विकेट लेने वाले डिंडा को गेंदबाजी कोच राणादेब बोस के साथ तीखी झड़प के बाद टीम से बाहर कर दिया गया था। उन्होंने माफी मांगने से इनकार कर दिया था। 

बंगाल ने इस विवाद को पीछे छोड़ते हुए फाइनल में जगह बनायी और उप विजेता रहा। अब 116 प्रथम श्रेणी मैचों में 420 विकेट लेने वाले अशोक डिंडा ने कहा मैं बंगाल की टीम का हिस्सा नहीं रहूंगा। यह फैसला मैंने पिछले सत्र में ही कर दिया था। यह मेरा निजी मसला है। तेज गेंदबाज ने कहा कि पूरी दुनिया ने देखा कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत किस अवस्था से गुजरे थे। फिल्मी दुनिया ही नहीं सब जगह यही हाल है। लेकिन मैं मानसिक तौर पर काफी मजबूत हूं और किसी भी कारण से टूट नहीं सकता हूं।

यह भी पढ़ें:- UP: आगरा में फूटा मौत का कोरोना बम, 48 घंटे में 28 लोगों की गई जान

डिंडा ने भारत के लिए 13 वनडे और 9 टी 20 मैच खेले हैं। उन्होंने कहा कि कुछ टीमों के साथ मेरी बात हो रही है और अगले सीजन में मैं किस टीम की तरफ से खेलूंगा इसके बारे में अभी मैंने कुछ फैसला नहीं किया है। लेकिन मैं किसी अन्य राज्य की तरफ से खेलूंगा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

July 15, 2020, 8:49 am
Fog
Fog
28°C
real feel: 34°C
current pressure: 1000 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s E
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 4:53 am
sunset: 6:32 pm
 

Recent Posts

Trending