Connect with us

खेल- खिलाड़ी

भारत-वेस्टइंडीज का तीसरा वनडे मैच आज, सीरीज अपने नाम करने उतरेगी टीम इंडिया

Published

on

फाइल फोटो

टी-20 सीरीज में भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को यहां क्वींस पार्क ओवल मैदान पर होने वाले तीसरे वनडे मैच को जीतकर सीरीज भी अपने नाम करना चाहेगी। बता दें कि पहला मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था। जिसके बाद भारत ने दूसरा मैच डकवर्थ लुइस नियम के तहत 59 रन से जीतकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। अब उसकी नजरें सीरीज अपने नाम करने पर है। भारत अगर यह मैच हारता है तो सीरीज 1-1 से ड्रॉ रहेगा।

भारतीय कप्तान विराट कोहली फॉर्म में लौट चुके हैं। कोहली ने पिछले 11 पारियों से शतक नहीं जड़ा था, लेकिन दूसरे मैच में उन्होंने 120 रन की पारी खेलकर अपने करियर का 42वां शतक पूरा किया था। हालांकि शिखर धवन और रोहित शर्मा की सलामी जोड़ी को अच्छी शुरूआत करनी होगी। इसमें धवन संघर्ष करते नजर आ रहे हैं।

ये भी पढ़े- आर्टिकल 370 पर बोले ओवैसी – BJP को कश्मीरियों से नहीं, वहां की जमीन से प्यार है

गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार ने पिछले मैच में 31 रन देकर 4 विकेट हासिल किए थे। उनके अलावा मोहम्मद शमी और कुलदीप यादव ने भी दो-दो विकेट झटके थे। पहला और दूसरा मैच वर्षा बाधित होने के बाद इस मैच में भी बारिश की संभावना है। इस मैदान पर पिछले छह में से पांच वनडे में जिस टीम ने पहले बल्लेबाजी की है, उसे जीत मिली है। ऐसे में टॉस एकबार फिर महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली है। http://www.satyodaya.com

खेल- खिलाड़ी

विराट कोहली की पसंद पर सीएसी ने लगाई मुहर, रवि शास्त्री फिर बने टीम इंडिया के हेड कोच

Published

on

मुंबई। रवि शास्त्री ही टीम इंडिया के कोच बने रहेंगे। पूर्व दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने एक बार फिर से रवि शास्त्री के नाम पर मुहर लगा दी है। शुक्रवार को 57 साल के रवि शास्त्री एक बार फिर भारतीय टीम के मुख्य कोच पद पर काबिज हो गए। बीसीसीआई ने मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शास्त्री के नाम की घोषणा की। #RaviShastri
बता दें कि 2019 के विश्व कप में खिताब की दावेदार मानी जा रही टीम इंडिया की अप्रत्याशित हार से हर कोई हैरान था। टीम के बेहद खराब प्रदर्शन के बाद माना जा रहा था कि इस बार शास्त्री का जाना तय है। लेकिन लंबी कवायद के बाद कप्तान विराट कोहली के चहेते रवि शास्त्री अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब हो गए। # RaviShastri
इससे पहले टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए 6 नामों पर मंथन किया गया। जिसमें रवि शास्त्री भी शामिल थे। शास्त्री के अलावा दो और भारतीय कोच (पूर्व क्रिकेटर लालचंद राजपूत और रॉबिन सिंह) भी शॉर्ट लिस्ट किए गए थे। सीएसी के अध्यक्ष कपिल देव और अन्य सदस्यों, पूर्व कोच अंशुमान गायकवाड तथा शांथा रंगासामी ने सभी दावेदारों का साक्षात्कार लेने के बाद रवि शास्त्री को टीम इंडिया का हेड कोच नियुक्त कर दिया।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान ने भारतीय फिल्मों की सीडी बिक्री पर लगाई रोक

बता दें कि भारतीय टीम के मुख्य कोच के लिए कप्तान विराट कोहली पहले ही अपनी पसंद जाहिर कर चुके थे। तीन हफ्ते पहले वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होते समय विराट ने कहा था कि अगर रवि भाई (रवि शास्त्री) कोच बने रहते हैं तो उन्हें खुशी होगी।

दूसरे कार्यकाल में टीम को दिलाई 81 जीत

जुलाई 2017 में दूसरी बार कोच बनने के बाद रवि शास्त्री के निर्देशन में टीम इंडिया ने 21 टेस्ट मैचों 13, अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैचों में 36 में से 25, और 60 वनडे मैचों में से 43 में जीत हासिल की। इस तरह दूसरे कार्यकाल में उनकी कोचिंग में भारत को कुल 81 मैचों में जीत मिली। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और चयनकर्ता वीबी चंद्रशेखर ने की आत्महत्या

Published

on

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और चयनकर्ता वीबी चंद्रशेखर ने आत्महत्या कर ली है। रिपोर्ट के अनुसार, चंद्रशेखर की पत्नी ने बयान दिया है कि उन्होंने चंद्रशेखर के कमरे का दरवाजा खटखटाया, काफी देर तक कोई जवाब न मिलने के बाद उन्होंने खिड़की से झांककर देखा तो चंद्रशेखर का शव पंखे से लटका हुआ था।

वीबी ने सात एकदिवसयी मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया। वह अपनी आक्रामक बल्लेबाजी शैली के लिए जाने जाते थे। तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (टीएनसीए) के एक अधिकारी ने बताया कि तमिलनाडु के पूर्व बल्लेबाज चंद्रशेखर का 6 दिन बाद यानी 21 अगस्त को 58वां जन्मदिन था, लेकिन इस जन्मदिन से पहले ही वो इस दुनिया से विदा हो गए।

चंद्रशेखर साल 1987-88 में दूसरी बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली तमिलनाडु क्रिकेट टीम के सदस्य थे। उन्होंने तब उत्तर प्रदेश के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में 160 रन और रेलवे के खिलाफ फाइनल में 89 रन की पारी खेली थी। वीबी चंद्रशेखर ने 1988 से 1990 के बीच सिर्फ सात वनडे खेले थे और 88 रन बनाए। उनके नाम वनडे में एक अर्धशतक दर्ज है, जोकि उन्होंने इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाए थे।

अप्रैल 1941 में मुंबई में जन्मे अजीत वाडेकर ने 1966 से 1974 तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला था। उन्होंने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 1958 और अंतरराष्‍ट्रीय कॅरियर की शुरुआत 1966 में की थी। पिछले कुछ सालों से चंद्रशेखर का ध्यान पूरी तरह कर्नाटक संगीत में अपनी बेटियों के करियर को बनाने पर था। वे अपने परिवार के साथ विभिन्न शहरों में संगीत कार्यक्रम में हिस्सा लेते थे।

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

महिला टी-20 क्रिकेट को राष्ट्रमंडल खेलों में मिली entry, shooting को नहीं मिली जगह

Published

on

नई दिल्ली। 2022 में इंग्लैंड के बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में महिला टी-20 क्रिकेट टीमें चैकों-छक्कों की बरसात करती नजर आएंगी। राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) ने मंगलवार को खेलों के इस महाकंुभ में महिला टी-20 क्रिकेट को शामिल करने की घोषणा कर दी। बर्मिंघम में साल 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन 27 जुलाई से सात अगस्त तक किया जाएगा, जिसमें 18 खेलों में करीब 45000 एथलीट भाग लेंगे। प्रतियोगिता के सभी मैच बर्मिंघम के एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड में खेले जाएंगे । इसमें आठ महिला क्रिकेट टीम भाग लेगी और यह आठ दिनों तक खेला जाएगा।
साल 1998 के बाद यह पहला मौका है जब क्रिकेट को राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया है। 1998 में कुआलालंपुर में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में दक्षिण अफ्रीका की पुरुष टीम ने 50 ओवरों के प्रारुप में हुए इस प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक जीता था। सीजीएफ की अध्यक्ष लुइस मार्टिन ने कहा, आज का दिन ऐतिहासिक दिन है और राष्ट्रमंडल खेलों में फिर से क्रिकेट के लौटने का हम स्वागत करते हैं। कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों में अंतिम बार क्रिकेट 1998 में कुआलालंपुर में खेला गया था, जिसमें दक्षिण अफ्रीका की पुरुष टीम ने 50 ओवरों के प्रारूप में हुए इस प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक जीता था। इसमें जैक कैलिस, रिकी पोंटिंग और सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गज शामिल थे। वहीं भारत की धमकी के बावजूद महासंघ ने निशानेबाजी (शूटिंग) को राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल करने से इनकार कर दिया। लुई मार्टिन ने कहा कि निशानेबाजी 2022 बर्मिंघम खेलों का हिस्सा नहीं होगी।

यह भी पढ़ें-अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंची चांदी, सोने का भाव गिरा

मार्टिन ने कहा, निशानेबाजी कभी अनिवार्य खेल नहीं रहा। हमें इस पर काम करना होगा लेकिन निशानेबाजी खेलों का हिस्सा नहीं होगा। हमारे पास अब कोई जगह नहीं बची है। बता दें कि कॉमनवेल्थ गेम्स में निशानेबाजी हमेशा से भारत का मजबूत पक्ष रहा है। गोल्ड कोस्ट में पिछले खेलों में भारत ने निशानेबाजी में सात गोल्ड सहित 16 मेडल जीते थे। इस कदम का विरोध करते हुए भारत ने 2022 खेलों के बहिष्कार की धमकी दी थी। भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने इस संबंध में खेल मंत्री किरण रिजिजू से स्वीकृति मांगी है।

ओलिंपिक में क्रिकेट को मिल सकती है इंट्री

दूसरी ओर, आईसीसी ने लॉस एंजिल्स में होने वाले 2028 ओलिंपिक में क्रिकेट के शामिल होने की उम्मीद जताई है। आईसीसी खुद इसके लिए प्रयास कर रहा है। सोमवार को मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के चेयरमैन माइक गैटिंग ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चार साल में होने वाले ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करना आईसीसी के लिए मुश्किल नहीं होगा।
आईसीसी के नए कार्यकारी अधिकारी मनु स्वाहने के हवाले से गैटिंग ने कहा, ओलिंपिक आयोजन की समयावधि करीब दो हफ्ते होती है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि आईसीसी को इसके लिए कुछ परेशानी होगी। चार साल में एक बार ही दो सप्ताह का शेड्यूल बनाना होगा।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

August 18, 2019, 10:31 pm
Fog
Fog
30°C
real feel: 37°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 88%
wind speed: 1 m/s WSW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 0
sunrise: 5:09 am
sunset: 6:11 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 9 other subscribers

Trending