Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

स्पेन के राफेल नडाल ने जीता 19वां ग्रैंडस्लैम, फेडरर से महज एक कदम पीछे

Published

on

न्यूयॉर्क। स्पेन के स्टार टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने अपने करियर का 19वां ग्रैंडस्‍लैम जीत लिया है। सोमवार को उन्होंने अपने करियर का चौथा यूएस ओपन जीत यह उपलब्धि हासिल की है। नडाल ने आर्थर एश स्‍टेडियम में खेल गए पुरूष सिंगल्स क फाइनल में रूस के डेनिल मेदवेदेव को कड़े मुकाबले में दी है। नडाल ने साढ़े चार घंटे के मुकाबले में रूसी खिलाड़ी को 7-5, 6-3, 5-7, 4-6, 6-4 से मात दी। बता दें, सर्वाधिक ग्रैंड स्लैम जीतने का रिकॉर्ड रोजर फेडरर के नाम है, उन्होंने अब तक 20 ग्रैंडस्‍लैम जीते हैं।

हालांकि, फ्रेंच ओपन की बात करें तो नडाल ने सबसे ज्यादा 12 खिताब जीते हैं। वहीं, विंबलडन में दो जबकि ऑस्‍ट्रेलियन ओपन में एक खिताब जीता। यूएस ओपन में रूसी खिलाड़ी ने नडाल को कड़ी टक्कर दी। पहले दो सेट नडाल ने जीते लेकिन तीसरे और चौथे सेट में मेदवेदेव उन पर भारी पड़े। इस तरह मुकाबला पांचवे सेट में निर्णायक स्तर पर पहुंच गया। पांचवे और आखिरी सेट में नडाल ने रूसी खिलाड़ी को मात देकर इस साल का दूसरा ग्रैंड स्लैम अपने नाम कर लिया।

मेदवेदेव ने मैच के बाद बताया कि, ‘जब मैं नेट पर उन्‍हें जीत की बधाई देने पहुंचा तो नडाल ने कहा कि आपका सप्‍ताह शानदार बीता। आप बहुत अच्‍छे खिलाड़ी हैं।’ वहीं नडाल ने मैच के बाद कहा कि मेदवेदेव पर जीत सबसे इमोशनल जीत में से एक हैं।

ये भी पढ़ें: पबजी खेलने से पिता ने रोका तो बेटे ने उतारा मौत के घाट

हर वर्ष चार ग्रैंडस्लैम होते हैं

टेनिस के हर साल चार ग्रैंड स्लैम होते हैं। सबसे पहले ऑस्ट्रेलियन ओपन होता है फिर फ्रेंच, विंबलडन और सबसे आखिर में यूएस ओपन होता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अंतरराष्ट्रीय

ट्रूडो ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से की बात…

Published

on

ओटावा: कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बात की। कनाडा के प्रधानमंत्री कार्यालय ने इसकी जानकारी दी। दोनों नेताओं ने बातचीत के दौरान बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए यूक्रेन के विमान की जांच की जरुरत पर चर्चा की। गौरतलब है कि इस दुर्घटना में 176 लोग मारे गए थे जिनमें 63 लोग कनाडा के निवासी थे।
यह भी पढ़ें: बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा- दूसरी सरकारों की तुलना में अधिक सुधार…

ट्रूडो और ट्रंप ने इराक की स्थिति और ईरान के संबंध में अगले कदमों पर विचारों का आदान-प्रदान किया और क्षेत्र में सेवारत सशस्त्र बलों और राजनयिक कर्मियों की सुरक्षा के लिए चिंताओं को साझा किया। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक उन्होंने डी-एस्केलेशन की आवश्यकता पर चर्चा की और इराक में स्थिरता के लिए समर्थन जारी रखने और इस्लामिक स्टेट के खिलाफ जारी लड़ाई के महत्व पर जोर दिया। दोनों नेताओं ने इस क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के अन्य सदस्यों के साथ संपर्क में रहने और काम जारी रखने पर सहमति व्यक्त की।http://www.satyodaya.com
Continue Reading

Featured

आस्ट्रेलियाई जवानों का इराक में अभियान रहेगा जारी

Published

on

कैनबरा: आस्ट्रेलिया ने इराक में अमेरिकी एवं गठबंधन सेना पर हुए ईरान के मिसाइल हमलों के बावजूद कहा है कि बगदाद में मौजूद इसके जवान अपने अभियानों को लेकर प्रतिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री स्कॉट मॉर्रिसन ने गुरुवार को यह एलान करते हुए कहा कि इराक में मौजूद ऑस्ट्रेलियाई जवानों का अभियान जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें: प्रियंका ने BJP पर बोला हमला,कहा-अर्थव्यवस्था के सुधार पर सरकार का ध्यान नहीं


पिछले शुक्रवार को इराकी राजधानी बगदाद में अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरानी सेना के शीर्ष कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के प्रतिशोध में मंगलवार की रात ईरान की सेना ने इराक स्थित अमेरिका एवं गठबंधन सेना जिसमें ऑस्ट्रेलिया भी शामिल है के दो सैन्य ठिकानों पर कई बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला किया। इन हमलों में कोई अमेरिकी या इराकी नागरिक हताहत नहीं हुआ। इन हमलों के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर और अधिक आर्थिक प्रतिबन्ध लगाने की घोषणा की।


मोर्रिसन ने कहा,“हमारा लक्ष्य एक एकजुट एवं स्थिर इराक रहा है और हमारे प्रयासों का फोकस आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़े दायेश और इसके समर्थक नेटवर्क के खिलाफ मुकाबला पर है … हम इस महत्वपूर्ण कार्य को करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” प्रधानमंत्री ने अमेरिका एवं ईरान से तनाव को कम करने एवं संयम बरतने की भी अपील की। गौरतलब है कि इराक में तैनात गठबंधन सेना में आस्टेलिया के 300 जवान शामिल हैं जबकि अमेरिका के 5200 जवान वहां तैनात हैं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

5 दिवसीय दौरे पर चीन पहुंचे उत्तरी कमान के कमांडर जनरल रणबीर सिंह

Published

on

चीन दौरे

फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच शांति और स्थिरता को मजबूत करने के लिए पांच दिवसीय चीन दौरे पर सेना के उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह बीजिंग पहुंचे हैं। उन्होंने बुधवार को वहां के थल सेना के कमांडर जनरल हान वेइगो से मुलाकात की है। सेना ने एक बयान जारी कर कहा, जनरल सिंह चीनी सेना के शीर्ष अधिकारियों के साथ-साथ बीजिंग, चेंगडू, उरुम्की तथा संघाई में दोनों देशों के बीच शांति और स्थिरता के मुद्दे पर होने वाले सैन्य और नागरिक संस्थानों के बीच वार्ता करने वाले प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें:चूरू: नेशनल हाईवे 11 पर सामने से आ रही यात्री बस से टकराई वैन, 8 की मौत….

बता दें रणबीर सिंह का यह दौरा हाल ही में मेघालय के पूर्वी थियटर में दोनों देशों के सैनिकों के बीच ‘हैंड इन हैंड 2019’ संयुक्त अभ्यास के कुछ ही दिनों बाद शुरू हुआ है। सेना से जूड़े सूत्रों के मुताबिक वेस्टर्न थियटर कमान (चेंगडू में) भी गए और वेस्टर्न थियटर कमान के कमांडर जनरल झाओ जोंगकी के साथ वार्ता की है। उल्लेखनीय है कि चीन का यह थियटर भारत के साथ लगने वाली सीमा की निगरानी करता है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

January 10, 2020, 1:21 pm
Intermittent clouds
Intermittent clouds
13°C
real feel: 13°C
current pressure: 1020 mb
humidity: 79%
wind speed: 2 m/s W
wind gusts: 3 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 6:27 am
sunset: 5:01 pm
 

Recent Posts

Trending