Connect with us

खेल- खिलाड़ी

एक बार फिर मंडराया टीम इंडिया पर मैच फिक्सिंग का खतरा! जानिए मामला

Published

on

प्रतिकात्मक चित्र

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट को एक बार फिर मैच फिक्सिंग को लेकर बड़ा झटका लगा है। जहां सोमवार को मैच फिक्सिंग की खबर मिलते ही हलचल मच गई। पहली बार एक भारतीय महिला क्रिकेटर से लालच की चपेट में आने की सुचनी मिली है। बताया जा रहा है कि तमिलनाडु प्रीमियर लीग ने अपने कोचों और अधिकारियों को कथित मैच फिक्सिंग में शामिल होने को लेकर संदेह के घेरे में पाया गया है।

खबरों के अनुसार महिला क्रिकेट टीम की एक सदस्य को कथित तौर पर इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में मैच फिक्स करने के इरादे से संपर्क किया गया था। वहीं बीसीसीआइ की भ्रष्टाचार रोधी इकाई को दो लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने को कहा गया। यह कथित घटना फरवरी में घटी थी। जिसकी पुष्टि बीसीसीआइ एसीयू के प्रमुख अजित सिंह शेखावत ने की।

अजीत ने कहा कि वह भारतीय क्रिकेटर है और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर भी है। इसलिए आइसीसी ने इसमें एक जांच की। आइसीसी का तरफ से उस व्यक्ति को चेतावनी दे दी गई है, जो ऐसे इरादे से मिला और हमें सूचित किया एवं स्वीकार किया कि इस क्रिकेटर ने उसके इरादों की रिपोर्ट करके सही काम किया। एसीयू ने बेंगलुरु पुलिस के साथ मिलकर दो लोगों राकेश बाफना और जितेंद्र कोठारी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर दी है।

ये भी पढ़े- सीएम योगी ने पीएम मोदी को ट्वीट कर दी जन्मदिन की बधाई

यह मामला तमिलनाडु क्रिकेट संघ के द्वारा संचालित किए जाने वाले टूर्नामेंट तमिलनाडु प्रीमियर लीग के बाद सामने आया था। जबकि कुछ प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों और दो कोचों के संदिग्ध मैच फिक्सिंग के लिए बीसीसीआइ की भ्रष्टाचार रोधी इकाई की जांच के दायरे में आने से मुश्किल में फंसता नजर आ रहा है।

शेखावत ने किसी भी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी के संदिग्ध होने की संभावना से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि कुछ खिलाडि़यों ने बताया था कि उन्हें अनजान लोगों से वॉट्सएप पर संदेश आ रहे हैं। हमने खिलाडि़यों के बयान को दर्ज किया है। इन संदेशों को भेजने वालों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। कोई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी नहीं है। किसी भी खिलाड़ी को अगर संदेश मिले हैं तो उसे हमें इसकी जानकारी देनी होगी। टीएनसीए ने अपनी तरफ से आरोपों की जांच के लिए समिति नियुक्त कर दी है। http://www.satyodaya.com

खेल- खिलाड़ी

भारतीय हाॅकी टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी बलवीर सिंह का निधन

Published

on

लखनऊ। दिग्गज भारतीय हाॅकी खिलाड़ी बलवीर सिंह सीनियर का सोमवार को निधन हो गया। 96 वर्षीय बलवीर सिंह कई बीमारियों की चपेट में आ गए थे। पिछले कई दिनों से वह मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती थे। 8 मई को उन्हें निमोनिया व तेज बुखार की शिकायत होने पर भर्ती कराया गया था। जहां सोमवार सुबह साढ़े 6 बजे उनका निधन हो गया। दिग्गज हाॅकी खिलाड़ी ने अपने कॅरियर में तीन बार ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता।

यह भी पढ़ें-लेखक चेतन भगत ने बताई पीएम पीएम मोदी में ये तीन खामियां

बलवीर सिंह 1948, 1952 और 1996 ओलिंपीक गोल्ड मैडल पानें वाली टीम के अहम हिस्सा थे। बलवीर सिंह के एक बेटी और तीन बेटे हैं। बलवीर सिंह के निधन पर पीएम मोदी, गृह मंत्री हाॅकी इंडिया, विराट कोहली समेत में देश की तमाम दिग्गज हस्तियों ने शोक जताया है। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे को लेकर अभी कुछ निश्चित नहीं: अरूण धूमल

Published

on

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष ने दक्षिण अफ्रीका के दावे को नकारा

नई दिल्ली। दुनिया कोरोना वायरस का कहर जारी है। भारतीय टीम अगस्त में दक्षिण अफ्रीका का दौरा पर जाने वाली थी। लेकिन इससे पहले ही भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कोषाध्यक्ष अरूण धूमल ने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के दावे को नकारते हुए कहा कि बोर्ड ने अगस्त में दक्षिण अफ्रीका का दौरा करने को लेकर कोई प्रतिबद्धता नहीं जताई है। सिर्फ इसकी संभावनाओं पर चर्चा हुई है। दक्षिण अफ्रीका के निदेशक ग्रीम स्मिथ और कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी जॉक फॉल ने गुरूवार को कहा था कि बीसीसीआई ने तीन मैचों की टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए हामी भर दी है। लेकिन धूमल ने उनकी बातों को नकार दिया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण जब दक्षिण अफ्रीका का भारत दौरा रद हो गया था। तो हमने कहा था कि भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका का दौरा करने का प्रयास करेगी। हमने हालांकि कभी भी अगस्त में दौरा करने को लेकर कोई प्रतिबद्धता नहीं जताई थी। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि जब तक सरकार अंतरराष्ट्रीय यात्रा को मंजूरी नहीं देती बीसीसीआई किसी भी देश से प्रतिबद्धता करने की स्थिति में नहीं होगा।

दो महीने बाद क्या होगा, कुछ नहीं पता

अरूण धूमल ने कहा कि अभी हम यह भी नहीं कह सकते हैं कि हम जुलाई में श्रीलंका और फिर जिम्बाब्वे में टी-20 सीरीज के लिए टीम भेज सकते है या नहीं। यह दोनों दौरे हमारे एफटीपी कार्यक्रम का हिस्सा हैं। हमें अभी यह भी नहीं पता है कि दो महीने बाद स्थिति क्या होगी। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर कैसे प्रतिबद्ध हो सकते हैं? धूमल से जब सीएसए के क्रिकेट निदेशक सौरव गांगुली के आइसीसी अध्यक्ष पद के लिए समर्थन के बारे मे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर कोई भारतीय इस पद पर होगा तो यह वैश्विक क्रिकेट के लिए अच्छा होगा। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से घरेलू उड़ान शुरू हाने की घोषणा कर दी है।

यह भी पढ़ें-अब किसी भी आयु में वकील की मौत पर परिजनों को मिलेगी डेढ़ लाख की आर्थिक मदद

उन्होंने कहा कि बोर्ड राष्ट्रीय शिविर के लिए सुरक्षित स्थान का विकल्प तलाश सकता है। अगर बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में इसे आयोजित नहीं किया जा सकता तो धर्मशाला अच्छा विकल्प हो सकता है। धर्मशाला में इंडोर स्टेडियम की भी सुविधा है। क्योंकि यह मेरा राज्य संघ है। ऐसे में मैं इसकी पैरवी नहीं कर सकता लेकिन विकल्पों की तलाश के बाद अगर बीसीसीआई को लगता है कि धर्मशाला में शिविर हो सकता है तो हम हर तरह के इंतजाम के लिए तैयार हैं। यहां तक की जिस पवेलियन होटल में भारतीय टीम रूकती है वह भी एचपीसीए (हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ) का हिस्सा है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

खेल- खिलाड़ी

खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने जैसा है कोरोना वायरस : सौरव गांगुली

Published

on

नई दिल्ली। बीसीसीआई के अध्यक्ष व भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोविड-19 महामारी के कारण हुए नुकसान से बेहद दुखी है। उन्होंने इसकी तुलना खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने से की है। इस बीमारी से दुनियाभर में अभी 34 लाख लोग संक्रमित हैं। जबकि दो लाख 40 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। गांगुली ने ‘फीवर नेटवर्क’ द्वारा शुरू किए गए ‘100 आवर्स 100 स्टार्स’ कार्यक्रम में कहा कि यह बेहद खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने जैसी स्थिति है। गेंद सीम भी कर रही है और स्पिन भी ले रही है। बल्लेबाज के पास गलती की बहुत कम गुंजाइश है।

गांगुली ने कहा इसलिए बल्लेबाज को गलती करने से बचते हुए विकेट बचाए रखकर रन बनाने होंगे और यह टेस्ट मैच जीतना होगा। उन्होंने अपने जमाने में कई दिग्गज तेज गेंदबाजों और स्पिनरों का डटकर सामना किया और उनमें सफल साबित हुए। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने खेल के मुश्किल पलों और वर्तमान के स्वास्थ्य संकट को एक जैसा बताया। कहा
मौजूदा हालात से मैं दुखी हूं। यह बेहद मुश्किल स्थिति है, लेकिन उम्मीद है कि हम सभी मिलकर यह मैच जीतने में सफल रहेंगे। गांगुली ने इस महामारी के कारण कई लोगों के जान गंवाने और इससे हुए भारी नुकसान पर दुख व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें-लखनऊः प्रेमिका के पिता व भाई ने आशीष की पीट-पीटकर की थी हत्या

उन्होंने कहा मैं वर्तमान स्थिति देखकर वास्तव में दुखी हूं क्योंकि इतने अधिक लोग इससे पीड़ित हैं। हम अब भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इस महामारी को कैसे रोकना है।

इस बीमारी के कारण डर लगता है

उन्होंने स्वीकार किया कि उन्हें खुद भी इस बीमारी के कारण डर लगता है। बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि लोग इससे इतने अधिक प्रभावित हैं। कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। ऐसी स्थिति मुझे बहुत परेशान कर देती है और मुझे भी डर लगता है। लोग किराने का सामान, खाना आदि पहुंचाने के लिए मेरे घर पर भी आते हैं। इसलिए मुझे भी थोड़ा डर लगता है। यह मिश्रित भावनाएं हैं। मैं जितना जल्दी हो सके, इस बीमारी का खात्मा चाहता हूं।

लाॅकडाउन ने घर में रहने का मौका दिया

उन्होंने कहा लॉकडाउन को एक महीना हो गया है। इससे पहले मुझे इस तरह से घर में रहने का समय नहीं मिलता था। हर दिन काम के लिए यात्रा करना मेरी जीवनशैली थी। पिछले 30-32 दिनों से मैं अपने परिवार के साथ घर पर हूं। मैं अपने परिवार के साथ हूं। अपनी पत्नी, बेटी, मां और भाई के साथ समय बिता रहा हूं। मुझे लंबे अर्से बाद ऐसा समय मिला है इसलिए मैं इसका आनंद भी ले रहा हूं।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

June 2, 2020, 3:15 pm
Mostly cloudy
Mostly cloudy
33°C
real feel: 39°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 58%
wind speed: 1 m/s NW
wind gusts: 1 m/s
UV-Index: 2
sunrise: 4:43 am
sunset: 6:27 pm
 

Recent Posts

Trending