Connect with us

सिनेमा

शरद मल्होत्रा ने इंस्टाग्राम पर शेयर की अपनी रोका सेरेमनी की तस्वीरें

Published

on

लोगों के दिलों में राज करने के साथ एक खास पहचान बनाने वाले टीवी एक्टर शरद मल्होत्रा शादी के बंधन में बंधने जा रहे है । शरद दिल्ली बेस्ड डिजाइनर रिपसी भाटिया से 20 अप्रैल को शादी करने वाले है। शादी से पहले शरद और रिपसी ने अपने रोका सेरेमनी की कुछ तस्वीरे इंस्टाग्राम पर शेयर की है। इन तस्वीरों में दोनों रोमांटिक पोज देते हुए नजर आ रहे हैं।

बता दें कि शरद और रिपसी दोनों को ही शादी के नाम से बहुत ज्यादा डर लगता था, लेकिन एक दुसरे से मुलाकात करने के बाद दोनों का यह डर प्यार में तब्दील हो गया। जिसके बाद शरद और रिपसी ने शादी करने का फैसला ले लिया और 20 अप्रैल को दोनों शादी भी करने वाले है। दोनों की शादी की तैयारियां जोरों- शोरो पर है। कुछ दिन पहले इस कपल की शादी का कार्ड भी सामने आया था।

खबरों के मुताबिक 18 अप्रैल से शादी की सारी रस्में मुंबई में शुरू हो जाएंगी, जिसके बाद कोलकाता में 3 मई को रिसेप्शन पार्टी भी होगी।

शरद मल्होत्रा ने “बनू मैं तेरी दुल्हन” सीरियल में लीड एक्टर के रूप में छोटे पर्दे पर एंट्री ली थी। इस सीरियल में लीड एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी के साथ शरद मल्होत्रा का लंबे समय तक अफेयर चलने के बाद ब्रेकअप हो गया था। जिसके बाद पूजा बिष्ट के साथ भी शरद के अफेयर की खबरें भी आई थी । बता दें कि शरद पूजा बिष्ट के साथ सगाई भी करने वाले थे लेकिन लड़ाई- झगड़ो के चलते शरद ने पूजा के पिछले साल सगाई तोड़ ली थी।

http://www.satyodaya.com

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सिनेमा

फिर विवादों में बिग बाॅस, ट्वीटर यूजर्स ने बेड शेयरिंग को बताया लव जेहाद

Published

on

लखनऊ। टीवी का सबसे विवादित और हिट शो बिग बाॅस इस बार अपनी शुरुआत से ही विवादों में घिर गया है। कलर्स चैनल पर प्रसारित होने वाले इस शो में अलग-अलग स्वभाव और क्षेत्रों के सितारों को एक साथ एक घर में एक परिवार की तरह रहना होता है। तीन महीने तक चलने वाले इस शो में घर के सदस्यों को अलग-अलग टास्क दिए जाते हैं। शो का संचालन बाॅलीवुड अभिनेता सलमान खान करते हैं।

बिग बाॅस-13 में इस बार महिला प्रतिभागियों को पुरुष प्रतिभागियों के साथ बेड शेयर करने का टास्क दिया गया है। बिग बाॅस के आदेश को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स इस टीवी शो को जमकर टोल कर रहे हैं। ट्वीटर यूजर्स का कहना है कि इस शो के माध्यम से लव जेहाद फैलाया जा रहा है। इसलिए इस पर तुरंत बैन लगना चाहिए। टोलर्स के निशाने पर सलमान खान भी हैं। ट्वीटर यूजर्स का कहना है कि इस शो की आड़ में हिन्दू धर्म की लड़कियों को लव जेहाद में पफंसाया जा रहा है। कुछ यूजर्स का कहना है कि अजनबी लड़के और लड़की का एक साथ बेड शेयर करना हिन्दू और इस्लाम दोनों धर्मों के खिलाफ है। #जेहाद_फैलाता_bigboss

शहनाज ने सिद्धार्थ पर लगाया आरोप

विवादों के बीच बिग बाॅस की प्रतिभागी शहनाज ने बेड शेयरिंग को लेकर ऐसा खुलासा किया है कि सभी लोग हैरान रह गए। शहनाज ने अपने पार्टनर सिद्धार्थ डे पर आरोप लगाया है कि रात में वह उससे चिपक जाता है, यहां-वहां छूता है। शहनाज ने यह बात चिल्ला-चिल्लाकर तब कही जब सिद्धार्थ बाॅथरूम में थे। शहनाज का शोर सुनकर अन्य प्रतिभागी भी मौके पर जमा हो गए। सिद्धार्थ हंसते हुए बाहर निकलते हैं और शहनाज के आरोपों को गलत बताते हैं। #जेहाद_फैलाता_bigboss

इसके बाद शहनाज कहती हैं, यही वजह है कि मैं पिछले कई दिनों से सिद्धार्थ को इग्नोर कर रही हूं। हालांकि फिर शहनाज यह भी कहती हैं कि मैं फिर भी उसके साथ बेड शेयर करूंगी, क्योंकि वह बहुत प्यारा है। शहनाज के आरोपों पर अन्य प्रतिभागियों ने आपत्ति जतायी। बिग बाॅस की प्रतिभागी आरती सिंह ने कहा कि शहनाज को किसी के चरित्र पर इस तरह से मजाक में भी नहीं कहना चाहिए।

आज सभी की क्लास लगाएंगे सलमान

बिग बाॅस सीजन 13 में शनिवार की रात काफी हंगामा होने वाला है। आज रात इस सीजन का पहला वीकेंड का वार होने वाला है जिसमें सलमान खान सभी कंटेस्टेंट की जमकर क्लास लगा रहे हैं। चैनल के आफीशियल इंस्टाग्राम पर कार्यक्रम के आगामी एपिसोड का एक वीडियो शेयर किया गया है। जिसमें सलमान खान प्रतिभागियों की क्लास लगाते हुए दिख रहे हैं। गुस्से में सलमान सभी से घर छोड. देने की बात कहते हुए दिख रहे हैं। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सिनेमा

पुण्यतिथि आज: कानों में मिश्री घोल देते हैं महेन्द्र कपूर के सदाबहार नगमे

Published

on

लखनऊ । महेन्द्र कपूर ऐसे गायक, जिनके गाये हुए गीत आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं। अपने गीतों से कई पीढिय़ों को सम्मोहित करने वाले बहुमुखी प्रतिभा के धनी महेन्द्र कपूर हिन्दी फिल्मी संगीत के स्वर्णकाल की प्रमुख हस्तियों में से एक थे और जब भी देशभक्ति के गीतों का जिक्र होता है, लोगों के जेहन में सबसे पहला नाम उनका ही आता है।

उनके गाये हुए देशभक्ति गीत लोगों को देश के लिए कुछ कर गुजरने की भावना से भर देने की अपूर्व क्षमता रखते हैं। ‘मेरे देश की धरती सोना उगले…, ‘भारत का रहने वाला हूँ…, ‘अबके बरस तुझे धरती की… जैसे गीतों के साथ देशभक्ति गीतों का पर्याय बन गए। महेन्द्र कपूर ने अपने चार दशक के फिल्मी सफर में करीब 25 हजार गीत गाए। उनकी प्रतिभा हिन्दी तक ही सीमित नहीं थी, बल्कि उन्होंने पंजाबी, मराठी, भोजपुरी आदि क्षेत्रीय भाषाओं के गीतों को भी स्वर दिया।

महेन्द्र कपूर का जन्म 9 जनवरी, 1934 को अमृतसर में हुआ था। गायकी के क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए उन्होंने जल्द ही अमृतसर से मुंबई का रूख कर लिया। बचपन से ही महेन्द्र कपूर महान गायक मोहम्मद रफी से बहुत प्रभावित थे। वे एक तरह से मोहम्मद रफी के शागिर्द थे। उनके प्रति उनके मन में अपार श्रद्धा थी। शायद यही वजह है कि कई बार उनके गानों में खासकर शुरुआती दौर के उनके गानों में रफी के प्रभाव की साफ झलक मिलती है। उनकी दिली इच्छा थी कि वह हिन्दी फिल्मों में गायें।

शुरुआत में महेन्द्र कपूर ने शास्त्रीय संगीत की तालीम प्राप्त की थी। उन्होंने शास्त्रीय गायन और संगीत की शिक्षा पंडित हुस्नलाल, पंडित जगन्नाथ बुआ, उस्ताद नियाज अहमद खान, अब्दुल रहमान खान और तुलसीदास शर्मा से ली थी। उनके जीवन में प्रमुख मोड़ उस समय आया, जब उन्होंने ‘मेट्रो मर्फी ऑल इंडिया गायन प्रतियोगिता जीत ली। 1957 में हुई इस प्रतियोगिता के जज संगीतकार नौशाद अली थे, जिन्होंने फिल्म ‘सोहनी महिवाल के गीत ‘चांद छुपा और तारे डूबे को महेन्द्र कपूर की आवाज में रिकॉर्ड किया। इसके बाद उनको वी. शांताराम की फिल्म ‘नवरंग में गाने को मौका मिला। इस फिल्म में उन्होंने “आधा है चंद्रमा रात आधी” गीत गाया था, जो कि कामयाब रहा। सी. रामचंद्र के संगीत से सजे इस गीत ने महेन्द्र कपूर के पांव फिल्म जगत में मजबूती से जमा दिए। इसके बाद उन्होंने ‘भारत कुमार के नाम से मशहूर मनोज कुमार और बी. आर. चोपड़ा के बैनर तले बनी अधिकतर फिल्मों के गीतों के लिए भी आवाज दी।

एक समय महेन्द्र कपूर की आवाज ‘भारत की जीवंत आवाज कहलाती थी। देशभक्ति गीतों का ख्याल आते ही सबसे पहला नाम उनका ही आता था, लेकिन ‘चलो एक बार फिर से और ‘किसी पत्थर की मूरत से गाने से उनके गानों में विविधता प्रदर्शित होती है। इसके अलावा वह पहले भारतीय गायक थे, जिसने कोई अंग्रेजी गाना रिकॉर्ड किया था। यही नहीं महेन्द्र कपूर ने लगभग सभी भाषाओं में 25,000 से भी ज्यादा गाने गाए। सदैव मस्त नगमे सुनाने का वादा करने वाले महेन्द्र कपूर अगले कई दशक तक संगीत प्रेमियों को अपनी आवाज से मोहित करते रहे। उन्होंने जब फिल्मी जगत में पदार्पण किया, वह हिन्दी फिल्म संगीत का स्वर्णकाल था और पाश्र्व गायकों में मोहम्मद रफी, मुकेश, मन्ना डे, हेमंत कुमार और तलत महमूद जैसे कई बड़े नाम पहले से ही स्थापित थे। ऐसे में नई प्रतिभा के लिए राह बनाना आसान नहीं था। यह एक कठिन चुनौती थी, लेकिन धुन के पक्के और ‘पुरुषार्थ से भरे कपूर ने न सिर्फ अपनी अलग पहचान बनाई, बल्कि पाश्र्व गायन की विविधता को नये आयाम भी प्रदान किए। महेन्द्र कपूर के परिवार में पत्नी, तीन पुत्रियां और एक बेटा रोहन कपूर है। उनके पुत्र ने भी हिन्दी फिल्मों ‘फासले और ‘लव 86 में काम किया, लेकिन वे सफल नहीं हो सके।

निर्माता-निर्देशक बी. आर. चोपड़ा की फिल्मों ‘धूल का फूल, ‘गुमराह, ‘वक्त, ‘हमराज और ‘धुंध आदि में गाये हुए महेन्द्र कपूर के गीत बेहद लोकप्रिय हुए। देशभक्ति फिल्मों से अपनी अलग पहचान बनाने वाले मनोज कुमार के साथ उनकी वैसी ही जोड़ी बनी, जैसी राजकपूर के लिए मुकेश की थी। मनोज कुमार के लिए उन्होंने कई फिल्मों में पाश्र्व गायन किया, जिनमें ‘उपकार, ‘पूरब और पश्चिम, ‘क्रांति, ‘रोटी कपड़ा और मकान आदि शामिल हैं। उन्होंने ‘भारत कुमार उर्फ ‘मनोज कुमार के अलावा दिलीप कुमार, राजकुमार, राजेंद्र कुमार, सुनील दत्त, धर्मेंद्र, विश्वजीत और राज बब्बर आदि अभिनेताओं के लिए भी पाश्र्व गायन किया। बी. आर. चोपड़ा से उनका साथ टीवी धारावाहिक ‘महाभारत में भी रहा। धारावाहिक महाभारत के शीर्षक गीत को महेन्द्र कपूर ने ही स्वर दिया था। धारावाहिक के प्रारम्भ से ही महेन्द्र कपूर की आवाज से सजे श्लोक आदि दर्शकों को टी.वी. के सामने बांधे रखने में बेहद सफल हुए।

महेन्द्र कपूर ने दादा कोंडके के लिए उनकी अधिकतर मराठी फिल्मों में भी गीत गाए। उन्होंने सी. रामचंद्र, ओ.पी. नैय्यर, कल्याणजी-आनंदजी और लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल जैसे विभिन्न संगीतकारों के साथ काम किया। लेकिन उनकी जोड़ी रवि के साथ बनी। उन्होंने रवि के साथ मिलकर कई हिट गीत दिए। इन गीतों में ‘चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएं…, ‘नीले गगन के तले.., ‘तुम अगर साथ देने का वादा करो…और ‘किसी पत्थर की मूरत से आदि गीत शामिल हैं।
वैसे तो महेन्द्र कपूर ने अपने कैरियर में हजारों गीत गाये, लेकिन निम्नलिखित कुछ गीत ऐसे हैं, जिन्होंने उन्हें अमर बना दिया-तुम अगर साथ देने का वादा करो – हमराज लाखों हैं यहां दिल वाले पर प्यार नहीं मिलता – किस्मत चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएं – गुमराह तेरे प्यार का आसरा चाहता हूं – धूल का फूल मेरे देश की धरती सोना उगले – उपकार मेरा रंग दे बसंती चोला – शहीद (1965) है प्रीत जहाँ की रीत सदा – पूरब और पश्चिम अब के बरस तुझे – क्रांति नीले गगन के तले – हमराज किसी पत्थर की मूरत से – हमराज फकीरा चल चला – फकीरा अपने लम्बे कैरियर में महेन्द्र कपूर ने कई पुरस्कार प्राप्त किये।

यह भी पढ़ें: सेना में भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का सरगना गिरफ्तार

1968 में ‘उपकार के गीत मेरे देश की धरती सोना उगले के लिए महेन्द्र कपूर को ‘राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला था। इसके अतिरिक्त 1964, 1968 और 1975 में उनको ‘फिल्म फेयर अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें ‘लता मंगेशकर पुरस्कार से भी सम्मानित किया। देश-विदेश में उन्होंने अनेक चेरिटी शो किए। सुनील दत्त और नर्गिस के साथ सीमा पर तैनात फौजी जवानों के लिए उन्होंने कार्यक्रम दिए। भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘पद्मश्री प्रदान करके इस गायक का मान बढ़ाया।

यह भी पढ़ें: कुछ प्याजू एसएमएस

27 सितंबर, 2008 को 74 वर्ष की आयु में दिल का दौरा पडऩे से महेन्द्र कपूर का निधन हो गया, लेकिन आज भी उनके सदाबहार नगमें कानों में मिश्री घोलते हैं। आज भले ही महेन्द्र कपूर हमारे बीच नहीं है, लेकिन वे एक ऐसी विरासत छोड़कर गए हैं, जहां उनकी आवाज का जादू हमेशा बना रहेगा। http://www.satyodaya.com

Continue Reading

सिनेमा

जल्द लौटेगी मुन्ना भाई और सर्किट की जोड़ी, संजय ने किया खुलासा

Published

on

मुंबई। बॉलिवुड के ‘बाबा’ बोले तो संजय दत्त अपने चाहने वालों को जल्द ही एक तोहफा देंगे। ये तोहफा उनकी जबरदस्त मुन्ना भाई सीरीज की तीसरी किस्त के रूप में होगा। जी हां, अब आपका इंतजार खत्म हुआ क्योंकि संजय दत्त ने इस बात पर मुहर भी लगा दी है कि वो अगले साल तक इस फिल्म की शूटिंग शुरू कर सकते हैं।

मुन्ना भाई सीरीज का पहला पार्ट ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ ने लोगों को अपना दीवाना बना दिया था। इस फिल्म को देखने के बाद हर कोई जादू की झपकी देता घूम रहा था। वहीं, जब दूसरा पार्ट ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ आया तब गांधीगिरी बोले तो न्यू फैशन ट्रेंड हो गया था।

ये भी पढ़ें: मायावती को एक और झटका, बसपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष हुए ‘साइकिल’ पर सवार

हालांकि, इस फिल्म की तीसरी किस्त आने में काफी लंबा इंतजार करना पड़ा है। हर कोई जानना चाहता था कि आखिर कब लौटेगी मुन्ना भाई और सर्किट की जोड़ी। संजय ने बताया कि तीसरे पार्ट के लिए राजकुमार हिरानी इन दिनों स्क्रिप्ट लिखने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि स्क्रिप्ट पूरी होने पर फिल्म अगले साल के अंत तक फ्लोर पर आ जाएगी। संजय की इस फिल्म का टाइटल ‘द एंड ऑफ मुन्ना भाई’ रखा जा सकता है।http://www.satyodaya.com

Continue Reading

Category

Weather Forecast

October 14, 2019, 7:31 am
Fog
Fog
22°C
real feel: 26°C
current pressure: 1010 mb
humidity: 93%
wind speed: 0 m/s N
wind gusts: 0 m/s
UV-Index: 1
sunrise: 5:35 am
sunset: 5:10 pm
 

Recent Posts

Top Posts & Pages

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 10 other subscribers

Trending